अभी अभी : 500,000,000,000 के घोटाले में हुई बड़ी गिरफ़्तारी, माँ बेटे दहशत में खोज रहे छुपने का रास्ता |

नई दिल्ली : कांग्रेस ने देश में खरबों रुपये की लूट व् भ्रष्टाचार किये हैं, ये बात किसी से छिपी नहीं है. पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ जो मुहिम चलाई हुई है, उसमे आज एक बड़ी सफलता हाथ लगी है. अब तक तो भ्रष्टाचारी कारोबारी ही शिकंजे में फंस रहे थे, मगर अब पहली बार कांग्रेस का एक करीबी धरा गया है. फर्ज़ी दस्तावेज के ज़रिये बैंकों को हज़ारों करोड़ रुपये का चूना लगाने के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय, यानी ईडी ने गगन धवन नामक एक शख्स को गिरफ्तार किया है |

New Delhi : The Congress has done loot or corruption of trillions of rupees in the country, it is not hidden from anyone. In the campaign against PM Modi’s campaign, there has been a great success today. So far the corrupt businessmen were stuck in the clutches, but now for the first time the Congress has been a close hold. Enforcement Directorate, i.e. ED arrested a man named Gagan Dhawan, on charges of looting thousands of crores of rupees through fraudulent documents.

काले धन को सफेद करने के आरोप में कांग्रेस का करीबी गिरफ्तार…
गगन धवन को कांग्रेस नेताओं का करीबी बताया जाता है. गगन को पांच हज़ार करोड़ रुपये के एक घोटाले के सिलसिले में मनी लॉन्ड्रिन्ग एक्ट के तहत दिल्ली में गिरफ्तार किया गया. गगन धवन पर आरोप है कि इसने कई नौकरशाहों और नेताओं के काले धन को सफ़ेद बनाने का गोरखधंधा यानी मनी लॉन्ड्रिंग किया है |

Congress closest to charges of black money laundering …
Gagan Dhawan is said to be close to the Congress leaders. Gagan was arrested in Delhi under the Money Laundering Act in connection with a scam of five thousand crores. Gagan Dhawan is alleged to have lent the money to the white money of many bureaucrats and politicians, that is, money laundering.

जांच एजेंसियों को कई नौकरशाहों को लाखों रुपये का भुगतान किए जाने से जुड़े दस्तावेज़ भी मिले हैं, जिनमें IRS सुभाष चंद्रा को 30 लाख रुपये दिए जाने से जुड़ा दस्तावेज भी शामिल है. इसके अलावा IAS मानस शंकर रे को 40 लाख रुपये दिए जाने का दस्तावेज़ भी बरामद हुआ है. इस मामले में दिल्ली पुलिस के कई बड़े अधिकारियों की भूमिका की भी जांच की जा रही है |

Documents related to payment of millions of rupees to investigating agencies have also been received by many bureaucrats, including the documents related to the payment of Rs 30 lakh to IRS Subhash Chandra. Apart from this, a document of Rs 40 lakhs was also recovered from IAS Manas Shankar Ray. In this case, the role of many big police officers of Delhi Police is also being investigated.

500000000000 रुपये का है घोटाला…
कांग्रेस की सरपरस्ती में पल रहे और देश को लूट-लूट कर खोखला कर रहे ये नौकरशाह भी अब जल्द ही हिरासत में आएंगे और धीरे-धीरे इसमें शामिल कोंग्रेसी नेताओं के कच्चे-चिट्ठे खुलना भी अब तय माना जा रहा है. ज़रा सोचिये कि कांग्रेस खुद तो घपले करती ही थी, साथ ही आईएएस व् आईपीएस अफसर भी भ्रष्टाचार में लगे रहते थे. जिन्हे देश चलाने की जिम्मेदारी दी जाती है, वो ही देश की जनता के टैक्स के पैसों में घुन की तरह लगे हुए हैं |

500,000,000,000 rupees scam …
These bureaucrats, who are still in the custody of the Congress, who are being looted and looting the country, will soon come into custody and gradually opening up of the raw and political leaders of the Congress leaders involved in them is also being considered. Just think that the Congress itself would have been screwed, as well as the IAS and IPS officers were also engaged in corruption. Those who are given the responsibility of running the country, they are engaged in the income of the people of the country like the mite of tax.

कोंग्रेसी नेताओं के लिए बड़ी मुश्किल हुई खड़ी…
बहरहाल अब गगन धवन को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया जाएगा, जहां उसे पूछताछ के लिए रिमांड पर दिए जाने की मांग की जाएगी. रिमांड में गगन धवन की अच्छी तरह से पूजा-आरती करके उससे सब सच उगलवाया जाएगा. नौकरशाहों समेत नेताओं तक के सारे राज्यों पर से पर्दाफ़ाश कराया जाएगा |

For the Congress leaders, it has been very difficult …
However, now Gagan Dhawan will be presented in Patiala House Court, where he will be demanded on the remand for questioning. In the remand, Gagan Dhawan’s well-worshiped rituals will be spared all the truth. All the bureaucrats including the leaders will be exposed on the states.

बता दें कि ईडी ने अगस्त में गगन धवन और दिल्ली के एक पूर्व विधायक के ठिकानों पर छापेमारी भी की थी और गगन धवन का नाम सीबीआई की संदेसारा ग्रुप की FIR में भी है. कांग्रेस के खिलाफ ये एक बड़ा एक्शन माना जा रहा है, इससे पूछताछ के आधार पर कई नौकरशाहों व् नेताओं की गिरफ्तारी भी हो सकती है |

Let me tell you that the ED had conducted raids on the premises of Gagan Dhawan and a former Delhi legislator in August and Gagan Dhawan’s name is also in the FIR in the CBI’s Saadasara Group. This is being considered as a major action against Congress, it may also arrest many bureaucrats and leaders on the basis of inquiry.

देखिये यह वीडियो!

source : ddbharti.in

एनटीपीसी पावर प्लांट में दर्दनाक हादसे में हुई 20 लोगों की मौत, हादसे के पीछे ये बड़े नाम !

लखनऊ (जेएनएन): रायबरेली के ऊंचाहार स्थित एनटीपीसी (नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन) की बिजली उत्पादन इकाई में ब्वॉयलर फटने के भीषण हादसे का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मारिशस से सीधे संज्ञान लेते हुए राहत कार्य के कड़े दिशा-निर्देश दिए हैं। उन्होंने घायलों का निशुल्क इलाज कराए जाने का भी निर्देश दिया है। हादसे में अब तक 20 लोगों के मरने व 90 से अधिक के घायल होने की सूचना है।

Lucknow (JnN): Chief Minister Yogi Adityanath has given strict instructions to the relief operations while taking cognition directly from Mauritius, in a fierce accident that triggered a boiler accident in NTPC (National Thermal Power Corporation) power plant located at Unchahar in Rae Bareli. He has also instructed to provide free treatment for the injured. So far 20 people have died and over 90 injured in the incident.

मुख्यमंत्री योगी ने प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार को फोन कर घटना की जानकारी ली और त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने हादसे पर गहरा दुख जताते हुए घटना में मारे गए लोगों के परिवारीजन को दो-दो लाख रुपये, गंभीर घायलों को 50-50 हजार व मामूली रूप से घायलों को 25-25 हजार रुपये आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की है। राज्यपाल राम नाईक ने भी भीषण हादसे में लोगों की मृत्यु पर गहरा दुख जताते हुए घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। प्रमुख सचिव गृह के मुताबिक राहत कार्य के लिए एनडीआर की टीम ऊंचाहार भेजी गई है। मुख्यमंत्री ने सभी घायलों को त्वरित व निशुल्क इलाज उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। साथ ही राहत कार्य में पूरी सतर्कता बरते जाने को कहा है। इस क्रम में मुख्य सचिव राजीव कुमार ने प्रमुख सचिव चिकित्सा व अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को कड़े दिशा निर्देश दिया है। सीएम के निर्देश के बाद वरिष्ठ अधिकारी हरकत में आ गए। कमिश्नर अनिल गर्ग, आइजी जयनारायण सिंह व स्वास्थ्य विभाग के अपर निदेशक मौके पर पहुंच गए हैं।

Chief Minister Yogi called the principal secretary home Arvind Kumar and took information about the incident and instructed him to take immediate action. While expressing deep sorrow over the accident, the Chief Minister announced a compensation of Rs two lakh to the survivors of the victims, 50-50 thousand to the seriously injured and Rs 25-25 thousand for the minorities in the incident. Governor Ram Naik also expressed deep anguish over the death of the people in the fierce tragedy, and wished the wounded to be soon recovering. According to the Principal Secretary Home, NDR team has been sent to Unchahar for relief work. The Chief Minister has instructed all the injured to provide quick and free treatment. Along with this, it has asked to keep full alertness in relief work. In this order, Chief Secretary Rajiv Kumar has given strict instructions to Principal Secretary Medical and other senior officers. After the instructions of the CM, senior officials came into action. Commissioner Anil Garg, IG Janarayan Singh and Additional Director of Health Department have reached the spot.

रायबरेली के आलावा इलाहाबाद व लखनऊ के अस्पतालों में अलर्ट जारी कर दिया गया है ताकि घायलों के पहुंचने पर उन्हें तत्काल इलाज उपलब्ध हो सके। रायबरेली के प्रशासन व पुलिस के अधिकारी मौके पर राहत कार्य में जुटे हैं। गंभीर रूप से घायलों को इलाज के लिए एसजीपीजीआइ लखनऊ लाने का निर्देश दिया गया है। मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या व सुरेश खन्ना ने रायबरेली पहुंचकर हालात का जायजा लिया है। प्रमुख सचिव गृह ने देर रात 20 लोगों की मौत की पुष्टि की है | एडीजी कानून-व्यवस्था आनन्द कुमार के मुताबिक हादसे में गंभीर रूप से झुलसे 22 लोगों को उपचार के लिए लखनऊ के विभिन्न अस्पतालों में लाया गया है। जबकि, 15 गंभीर घायलों का रायबरेली में उपचार चल रहा है। एनटीपीसी के अधिकारियों ने उन्हें बताया कि कुछ मरीजों कुछ मरीजों को इलहाबाद भी भेजा गया है। उनकी संख्या पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है।

In addition to Rae Bareli, alerts have been issued in hospitals in Allahabad and Lucknow so that immediate treatment can be made available to the injured. Officials of Rae Bareli and police officers are engaged in relief work on the spot. It has been instructed to bring SGPGI Lucknow to seriously treat the injured. Minister Swami Prasad Maurya and Suresh Khanna have reached the Rae Bareli and took stock of the situation. The Chief Secretary has confirmed the death of 20 people late in the night. According to Anand Kumar, ADG law and order, 22 people seriously injured in the accident have been brought to different hospitals in Lucknow for treatment. Whereas, 15 seriously injured patients are being treated in Rae Bareli. NTPC officials told him that some patients have also been sent to some patients in Allahabad. Attempts are being made to find out their numbers.

ऐसे हुआ हादसा: एडीजी कानून-व्यवस्था आनन्द कुमार के मुताबिक यह हादसा बुधवार शाम पांच से साढ़े पांच बजे मध्य का है। शुरुआती पड़ताल में सामने आया है कि ब्वॉयलर के नीचे जलने वाली आग की राख पाइप से बाहर नहीं निकल सकी थी। जिससे ऐश पाइप में गैस का प्रेशर बनने से पाइप व ब्वॉयलर में जोरदार ब्लास्ट हो गया। कुछ दिन पहले ही नया ब्वॉयलर लगाया गया था। जिस क्षेत्र में घटना हुई है, उसके आसपास पुलिस ने घेरेबंदी कर ली है और घायलों को उपचार के लिए अस्पताल भिजवाया जा रहा है। एनडीआरएफ की टीम भी राहत कार्य में जुटी है। केंद्रीय ऊर्जामंत्री आरके सिंह और प्रदेश के ऊर्जामंत्री श्रीकांत शर्मा गुरुवार की दोपहर 12 बजे दुर्घटना स्थल का दौरा करेंगे। इस बीच शर्मा ने विद्युत उत्पादन निगम के अफसरों को राज्य के बिजली घरों में ब्वॉयलर आदि की सुरक्षा की नए सिरे से जांच के निर्देश दिए हैं ताकि किसी तरह के हादसे की आंशका न रहे। उल्लेखनीय है कि उच्च दवाब के साथ ही ब्वॉयलर का तापमान 540 डिग्री सेल्सियस से अधिक होता है।

The incident happened: According to the ADG law and order Anand Kumar, the accident is between mid-five to five p.m. on Wednesday evening. Initial investigations have revealed that the ash of fire burning under the boiler could not get out of the pipe. Due to the gas pressure in the ash pipes, the pipes and boilers were strongly blasted. A few days ago a new boiler was installed. The police has surrounded the area in which the incident took place and the injured are being sent to the hospital for treatment. NDRF team is also involved in relief work. Union power minister RK Singh and state’s energy minister Srikant Sharma will visit the accident site at 12 noon on Thursday. Meanwhile, Sharma has directed the officers of the Power Generation Corporation to scrutinize the security of boilers etc. in the state’s power houses so that there is no fission of any kind of accident. It is notable that with the high pressure, the temperature of the boiler is more than 540 degrees Celsius.

आज आएंगे राहुल गांधी: रायबरेली कांग्रेस प्रवक्ता अमेठी अनिल सिंह ने बताया कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार की सुबह आठ बजे फुर्सतगंज आ जाएंगे। यहां से वह सीधे ऊंचाहार जाएंगे। हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारीजन से मुलाकात कर संवेदना व्यक्त करेंगे। गुजरात का दौरा छोड़ राहुल गाँधी अब लखनऊ क्यूँ आएंगेअब उन्हें केसे इसकी याद आ गयी | ब्वॉयलर फटने से राज्य को ऊंचाहार स्थित एनटीपीसी के तापीय बिजली घर से लगभग 170 मेगावाट बिजली मिलना ठप हो गई है। पावर कारपोरेशन के अफसरों ने बताया कि 500 मेगावट की यूनिट में राज्य की एक-तिहाई हिस्सेदारी है। चूंकि मौसम कुछ ठंडा हो गया है इसलिए 170 मेगावाट बिजली न मिलने के बावजूद प्रदेशवासियों को तय शेड्यूल से बिजली मिलती रहेगी।

Rahul Gandhi: Rae Bareli Congress spokesman Amethi Anil Singh told that Congress Vice President Rahul Gandhi will arrive at Fursatganj at 8 o’clock on Thursday morning. From here, he will go straight to the elevation. Meet the people of the people who lost their lives in the accident and expressed condolences. How will Rahul Gandhi leave Gujarat tour now, why should he come to Lucknow? Now he remembered them. With the bursting of the boiler, the state has stopped getting power of about 170 MW from the thermal power station of NTPC situated in Nahachar. Power Corporation officials said that the state has one-third share in the 500 MW unit. Since the weather has cooled down, despite the non-availability of 170 MW electricity, the people of the region will get electricity from the scheduled schedule.

एनटीपीसी ने दिए जांच के आदेश: एनटीपीसी प्रबंधन ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं। इसमें घटना के कारणों का पता लगाया जाएगा। यह जानकारी एनटीपीसी के एडिशनल डायरेक्टर जनरल (मीडिया एंड कम्युनिकेशन) राजेश मल्होत्रा ने दी। उन्होंने बताया कि एनटीपीसी ने घटना के तत्काल बाद राहत व बचाव कार्य के लिए जिला प्रशासन के साथ मिलकर हर जरूरी कदम उठाए हैं। एनटीपीसी प्रबंधन इस घटना के पीडि़तों व उनके परिवारीजन के साथ खड़ा है।

Order of inquiry given by NTPC: NTPC management has ordered to investigate the incident. The causes of the incident will be detected in it. This information was given by NTPC Additional Director General (Media and Communication) Rajesh Malhotra. He told that NTPC has taken all necessary steps in collaboration with the district administration for the relief and rescue work immediately after the incident. NTPC management is standing with the victims of this incident and their families.

वही एक और गुत्प ख़बर भी आई है के एनटीपीसी उन्चाहर के एक अभियंता ने ये बताया के इस घटना की जानकारी पहले से ही थी लेकिन ऊँचे पद पर बेठे अध्हिकारियों ने लापरवाही दिखाई और ये अमानवीय घटना हुई | उसने यह भी बताया के इस पावर प्लांट में सुरक्षा के भी अच्छे खासे प्रबंध नहीं किये गएँ हैं | उस अभियंता ने अपना नाम गुप्त रखने को बोला है | अब इससे यही ज़ाहिर होता है के पिछली सरकार से ही लापरवाही बरती जा रही थी जो आज ये घटना का रूप ले गयी| वेसे भी समाजवादी पार्टी ने घोटालों के अलावा करा ही क्या था |

The same thing has been reported from another NTPC unit engineer of NTPC told that this incident had already been informed but the high office officers showed negligence and this inhuman incident happened. He also said that even good security arrangements have not been made in this power plant. The engineer has said to keep his name secret. Now it shows that the previous government was being careless, which today took the form of the incident. What was the Samajwadi Party did besides the scandals?

उचित मुआवजा देने की मांग: कांग्रेस ने रायबरेली के ऊंचाहार में पावर प्लांट हादसे की उच्चस्तरीय जांच के साथ पीडि़तों को उचित मुआवजा देने की मांग की। साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी व उपाध्यक्ष राहुल गांधी के निर्देश पर प्रभारी महासचिव गुलाम नबी आजाद व प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर गुरुवार को ऊंचाहार जाएंगे। प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि पीडि़तों को हर संभव मदद पहुंचाने में कांग्रेस कार्यकर्ता जुटे हैं। उन्होंने कहा कि घटना से सोनिया गांधी और राहुल गांधी बेहद दुखी है और पीडि़त परिवारों के साथ है।

Demand for proper compensation: Congress demanded proper compensation to the victims, with a high level inquiry into the power plant accident in Uchahar in Rae Bareli. In addition, in-charge of the charge of Congress President Sonia Gandhi and Vice President Rahul Gandhi, incharge General Secretary Ghulam Nabi Azad and state President Rajbabar will go to Uehachhar on Thursday. State President Rajbabber expressed grief over the incident and said that Congress workers are busy spreading every possible help to the victims. He said that from the incident Sonia Gandhi and Rahul Gandhi are extremely unhappy and with the families of the victims.

उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग: समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि हादसे के शिकार लोगों के साथ सबकी संवेदनाएं हैं। घायलों को उचित इलाज के अलावा पीडि़त परिवारों को तत्काल आर्थिक मदद का इंतजाम सरकार को करना चाहिए। पूर्व मंत्री व वरिष्ठ सपा नेता शिवपाल यादव ने हादसे पर दुख जताते हुए उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की। राष्ट्रीय लोकदल के मीडिया प्रभारी अनिल दुबे ने घटना की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग करते हुए मृतकों के परिवारीजन को 20-20 लाख रुपये राहत राशि प्रदान करने की पैरोकारी की है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव डा. गिरीश ने राहत व बचाव कार्य सेना के सुपुर्द करने की मांग की। उन्होंने पूरे हादसे के कारणों की तह तक जाने को सीबीआइ जांच कराने की मांग की।

Demand for high level inquiry: Samajwadi Party’s main spokesman Rajendra Chaudhary said that everyone has sympathy with victims of the accident. In addition to proper treatment to the injured, the government should arrange for immediate financial assistance to the victims families. Former minister and senior SP leader Shivpal Yadav demanded a high level inquiry into the incident and expressed grief over the incident. The National Lok Dal’s media in charge, Anil Dubey, has demanded a high-level inquiry into the incident and has provided a relief of Rs.20 lakhs to the relief workers of the dead. The Secretary of the Communist Party of India, Dr. Girish demanded that the relief and rescue work be handed over to the army. They demanded a CBI inquiry to go to the bottom of all the causes of the accident.

देखिये विडियो में किस तरह से पावर प्लांट में बायलर से धुआं निकल रहा है |

सच्चा मुस्लमान अल्लाह के अलावा किसी के सामने नहीं झुकता तो फिर इंदिरा के पास ऐसा क्या राज़ था के झुक गए हामिद अंसारी !

पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, ये पक्के किस्म के कट्टरपंथी हैं, और इन्होने खुद ही इस बात को साबित भी किया है, तिरंगे को सलामी देने से ये इंकार कर चुके है, पूजा की थाली, तिलक लगाने, वन्दे मातरम गाने से ये इंकार कर चुके है, और साफ़ कर चुके है की हामिद अंसारी पक्के मुसलमान है, भारतीय बाद में मुसलमान पहले है |उनके लिए इस्लाम और कुरान पहले है बाद में देश है |

Former Vice-President Hamid Ansari, he is a hard-boater fanatic, and he himself has proven that he has refused to salute the Tiranga, refusing to sing pooja plate, tilak, and sing Vande Mataram It is clear that Hamid Ansari is a pukka Muslim, the Indian is the first Muslim after him. Islam and the Koran are the first for them, then there is a country later.

कट्टरपंथी कहते है की, इस्लाम में मुसलमानो के लिए अल्लाह के अलावा किसी की भी पूजा करना, अल्लाह के अलावा किसी के भी आगे झुकना, अल्लाह के अलावा किसी की भी जय करना हराम है, वंदे मातरम का मतलब होता है देश तुझे सलाम, या देश तुझे प्रणाम | लेकिन कोई भी मुस्लमान न वन्देमातरम बोलता न भारत माता की जय | ये इन सब चीज़ों को इस्लाम के विरुद्ध मानते हैं |

The fundamentalists say that to worship Muslims except for Allah in Islam, bowing before anyone other than Allah, it is harassing to anybody other than Allah, Vande Mataram means that the country will salute you, or O God, bow down to you! But no Muslim would speak Vande Mataram neither Jai of Bharat Mata. They consider these things against Islam.

कट्टरपंथी इसका विरोध ये कहकर करते है, की अल्लाह के अलावा ये किसी को प्रणाम नहीं कर सकते, चलिए इस्लाम में तिरंगे, वंदे मातरम के सामने प्रणाम करना, झुकना हराम है, कुरआन में ये नहीं है, फिर हामिद अंसारी जो पक्के कट्टरपंथी है, वो इंदिरा गाँधी के सामने क्यों प्रणाम कर रहे है, क्या इंदिरा उनके लिए इस्लाम से ऊपर है | अगर वो इतने ही कट्टरपंथी हैं, इस्लाम को इतना ही मानते हैं तो वोह क्यों इंदिरा गाँधी के तस्वीर के आगे झुके अगर इस्लाम के हिसाब से अल्लाह के आगे ही झुगना सबसे बढकर होता है तो हामिद अंसारी क्यूँ ढोंग कर रहे हैं |

The opponents protest by saying that it can not bow to anyone other than Allah, let’s bow to Islam in front of Tricolor, Vande Mataram, bowing down, it is not in Koran, then Hamid Ansari, who is a staunch fanatic, Why is he bowing down to Indira Gandhi, is Indira above them for Islam. If they are so fanatic, they believe Islam is so much, why would they bow down before Indira Gandhi’s picture, if Islam is going to grow swiftly in accordance with Islam then why Hamid Ansari is pretending.

और अगर इंदिरा को प्रणाम कर सकते है ये कट्टरपंथी तत्व तो भारत को क्यों नहीं, फिर वंदे मातरम से आपत्ति क्यों, साफ़ है की कहीं न कहीं दोगलापन दिखाई देता है, और ये तस्वीर इस बात को साबित करती है | ये कट्टरपंथी मुसलमानों का ढोंग ओ दोगलापन है जो इनी अह्ष्णुहिंता फेला रहे हैं देश में और वो चाहते हैं के हम लोग सब अल्लाह को माने क्यूंकि उनके अनुसार अल्लाह ही है एक बाकी कुछ नहीं है |

And if I can bow down to Indira, why is this fundamentalist element not to India, then why objection to Vande Mataram, it is clear that somewhere in the world, there is some double-mindedness, and this picture proves this fact. This is the hypocrisy of the fundamentalist Muslims, and it is the doubleness which is being done in this country, and they want us all to believe in Allah, because according to them Allah is nothing but nothing else.

हमारी सरकार और हमें जल्दी ही इसके खिलाफ आवाज़ उठानी पड़ेगी और इन कट्टरपंथियों को यहीं रोकना होगा नै तो वो दिन शेष नि होगा जब हिंदुस्तान जेसे हिन्दू राष्ट्र में मुस्लिमों का राज्य होगा और हिन्दू धीरे धीरे खत्म हो जाएँगे |

And if I can bow down to Indira, why is this fundamentalist element not to India, then why objection to Vande Mataram, it is clear that somewhere in the world, there was some double-mindedness, and this picture this fact is proven. This is the hypocrisy of the fundamentalist Muslims, and it is the doubleness which is being done in this country, and they want us all to believe in Allah, because according to them Allah is nothing but nothing else.

बंगाल और ओडिसा दोनों पर तुगन खान ने हमला किया था, पर बंगाल इस्लामिक है जबकि ओड़िया हिन्दू, ऐसा क्यों ?

इतिहास जो हमें जानना चाहिए ….बंगाल (बांग्लादेश सहित) आज इस्लामी हो गया, वहीँ ओडिसा आज भी 96% हिन्दू है …. कैसे ? जबकि दोनों ही इलाकों पर इस्लामिक हमलावरों ने सन 1000 के बाद एक साथ हमला किया था, फिर ऐसा क्या हुआ की बंगाली बोलने वाले लोग आज अधिकतर इस्लामिक है, मुसिलम है, पर ओड़िया बोलने वाले लोग हिन्दू है, कभी आपने इसका कारण सोचा है ?

History which we should know …. Bengal (including Bangladesh) today became Islamic, yet Odisha is still 96% Hindu … How? Whereas Islamic attackers attacked both the areas together after 1000 AD, then what happened that the people who spoke Bengali today are mostly Islamic, muslim, but the people who speak Oriya are Hindus, have you ever thought of the reason?

सन 1248 ( 13वी शताब्दी ) इस्लामिक हमलावर तुगन खान ने उडीसा पर हमला किया । उस समय वहां पर राजा नरसिम्हादेवा का राज था । राजा नरसिम्हादेव ने फ़ैसला किया कि इस्लामी हमलावर को इसका जवाब छल से दिया जाना चाहिये । उन्होने तुगन खान को ये संदेश दिया कि वो भी बंगाल के राजा लक्ष्मणसेन की तरह समर्पण करना चाहते हैं, जिसने बिना युद्ध लडे तुगन खान के सामने हथियार डाल दिये थे।

1248 (13th Century) Islamic invader Tuhin Khan attacked Orissa. At that time there was the rule of King Narasimaveda. King Narasimha Deo decided that the answer to the Islamic attacker should be given in a trick. He gave this message to Tujan Khan that he too wanted to surrender like King Laxmansena of Bengal, who had put arms in front of a warrior, Tuhin Khan.

तुगन खान ने बात मान ली और कहा कि वो अपना समर्पण “पूरी” शहर में करे, इस्लाम कबूल करे और जगन्नाथ मंदिर को मस्जिद में बदल दे । राजा नरसिम्हादेव राज़ी हो गए और इस्लामिक लश्कर “पूरी” शहर की तरफ़ बढने लगा, इस बात से अन्जान कि ये एक जाल।है। राजा नरसिम्हादेव के हिंदू सैनिक शहर के सारे चौराहों , गली के नुक्कड़ ओर घरों में छुप गये।

Tujan Khan accepted the offer and said that he should dedicate his dedication to the “whole” city, accept Islam and convert the Jagannath temple into a mosque. King Narasimadhe agreed and the Islamic militant started moving towards the “whole” city, unaware that it is a trap. The Hindu soldiers of King Narasimhadev hid all the intersections of the city, the streets and the houses in the streets.

जब तुगन खान के इस्लामिक लश्कर ने जगन्नाथ मंदिर के सामने पहुंचे, उसी समय मंदिर की घंटिया बजने लगी और ‘जय जगन्नाथ’ का जयघोष करते हिंदू सैनिको ने इस्लामिक लश्कर पर हमला कर दिया। दिनभर युद्ध चला, ज्यादातर इस्लामिक लश्कर को कब्जे में कर लिया गया और कुछ भाग गये । इस तरह की युद्धनीति का उपयोग पहले कभी नहीं हुआ था । किसी हिंदू राजा द्वारा जेहाद का जवाब धर्मयुद्ध के द्वारा दिया गया हो।

When the Islamic LeT of Tujan Khan reached the Jagannath temple, at that time the temple bells started and the Hindu soldiers praising ‘Jai Jagannath’ attacked the Islamic LeT. The war was going on throughout the day, mostly the Islamic LeT was captured and some fled. This kind of battle was never used before. Jihad has been answered by a Hindu king by the Crusades.

राजा नरसिम्हादेवा ने इस विजय के उपलक्ष्य में ” कोनार्क” मंदिर का निर्माण किया । गूगल पर कम से कम ज़रूर देखिये इस शानदार मंदिर को । अगर लड़ोगे तो जीतने की गुंजाइश तो होगी ही, मुर्दे लड़ नहीं सकते इसीलिए वो धर्मनिरपेक्षता का ढोंग करते हैं । और दुनिया को यह दिखाते है कि धर्म के अनुयायी है. और उसका पालन करते है।

King Narasamideva constructed the “Konark” temple in honor of this victory. At least look at this magnificent temple on Google. If you fight, then there will be room for victory. They can not fight, hence they pretend to secularism. And show the world that there is a follower of religion. And follow him.

बंगाली भाषा जहाँ थी वहां का राजा लक्ष्मणसेन ने बिना लड़े हथियार डाल दिया, नतीजा देखिये, आज अधिकतर बंगाली बोलने वाले लोग मुसलमान है, बंगाल सिर्फ पश्चिम बंगाल ही नहीं बल्कि बांग्लादेश भी बंगाल ही था, आज अधिकतर बंगाली लोग मुसलमान है, बंगाल इस्लामिक है, वहीँ ओड़िया बोलने वाले लोग 96% हिन्दू है।

Where the Bengali language was, the King Laxmansen put the weapon without any war, see the result, today most Bengali speakers are Muslims, Bengal is not only West Bengal but Bangladesh was also Bengal, today most Bengali people are Muslims, Bengal is Islamic , Those who speak Oriya are 96% Hindu.

source : dainik-bharat.org

हिमाचल में BJP के सीएम पद का नाम हुआ पक्का- कांग्रेस में मचा हडकंप, राहुल भी हुए हैरान!

शिमला: जहाँ एक तरफ राजनितिक पार्टियां गुजरात और हिमाचल प्रदेश चुनाव की तैयारियों में ज़ोर शोर से लग गयी है | हिमचाल में चुनाव से पहले जहाँ कांग्रेस से राहुल गाँधी ने बड़ा खतरा लेते हुए वीरभद्र सिंह को अपनी पार्टी का सीएम कैंडिडेट घोषित किया है जबकि वो खुद भ्रष्टाचार के आरोप में लिप्त हैं, उनकी संपत्ति जब्त हो रही है | वहीँ दूसरी तरफ आज अमितशाह ने बीजेपी सीएम कैंडिडेट का एलान कर सबको चौंका दिया |

Shimla: Where on one side political parties have come up with loud noise in Gujarat and Himachal Pradesh preparations. Before the election in Himachal, where Rahul Gandhi has taken a bigger risk from Congress, he has declared Virbhadra Singh as his CM candidate while he himself is involved in corruption charges, his property is seized. On the other hand Amit Shah surprised everyone by calling the BJP CM candidate today.

हिमाचल प्रदेश में बीजेपी ने सीएम कैंडिडेट का किया एलान : अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भारतीय जनता पार्टी ने आखिरकार अपने सीएम उम्मीदवार के नाम का ऐलान कर दिया है. दो बार मुख्यमंत्री रह चुके प्रेम कुमार धूमल पर अडवाणी, अमितशाह, पीएम नरेंद्र मोदी ने भरोसा जताया है. हिमाचल के राजगढ़ में एक रैली के दौरान बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने उनके नाम की घोषणा की है. तो वहीँ कांग्रेस ने वीरभद्र सिंह को अपनी पार्टी का सीएम कैंडिडेट घोषित पहले ही कर चुकी है |

BJP announced in Himachal Pradesh CM candidate: According to the big news now available, just before the Himachal Pradesh assembly elections, the Bharatiya Janata Party has finally declared its CM candidate’s name. Advani, Amit Shah, PM Narendra Modi have expressed confidence in two-time Chief Minister Prem Kumar Dhumal. During a rally in Himachal’s Rajgarh, BJP national president Amit Shah has announced his name. So the Congress has already declared Virbhadra Singh as the CM candidate of his party.

कांग्रेस की बढ़ी मुश्किलें : अमित शाह ने आज एलान करते हुए कहा “वीरभद्र जी यहां रोज पूछते हैं, अपने काम का हिसाब नहीं देते, भ्रष्टाचार के जवाब नहीं देते. गुड़िया के न्याय की बात नहीं करते | हमें पूछते हैं कि बीजेपी किसके नेतृत्व में लड़ रही है | मित्रों देशभर में बीजेपी मोदी जी के नेतृत्व में लड़ रही है |

Increasingly difficulties of Congress: Amit Shah declares today, “Virbhadra ji asks every day, does not give account of his work, does not answer corruption, does not talk of justice of dolls. Fighting is being fought in the country under the leadership of BJP Modi.

अगर आपको सुनना है कि हिमाचल में बीजेपी किसके नेतृत्व में लड़ रही है, तो मैं आज स्पष्ट किए देता हूं वीरभद्र जी हिमाचल के अंदर भारतीय जनता पार्टी धूमल जी के नेतृत्व में चुनाव लड़ने के लिए जा रही है | मैं वीरभद्र जी को कहना चाहता हूं कि 2017 का यह चुनाव हमारे वरिष्ठ नेता धूमल जी के नाम पर लड़ेंगे उनके नेतृत्व में लड़ेंगे” | जिससे कांग्रेस और मौजूदा विधायक की मुश्किलें काफी बढ़ गयी हैं |

If you want to hear who is fighting under BJP leadership in Himachal, then I will clarify today Virbhadra is going to contest the election under the leadership of Bharatiya Janata Party Dhumal ji inside Himachal. I want to tell Virbhadra that this election of 2017 will fight under the leadership of our senior leader Dhumal, who will fight under his leadership “, which has greatly increased the difficulties of Congress and the present legislator.

आपको बता दें 2 बार हिमाचल के सीएम रह चुके प्रो. प्रेम कुमार धूमल इस बार सुजानपुर विधानसभा सीट से मैदान में हैं | इससे पहले वे बमसन सीट से लड़ते थे | इस बार पार्टी हाईकमान ने इनका विधानसभा क्षेत्र बदला है | ऐसे में सभी की नजरें इन पर हैं | वे 1998-2003 और 2008-2012 तक राज्य के सीएम रहे | 1991 में एक बार फिर धूमल ने हमीरपुर लोकसभा सीट से जीत दर्ज की |

Let me tell you, once the Himachal CM remains Prem Kumar Dhumal is in the fray from the Sujanpur assembly seat this time. Earlier he used to fight the Bamson seat. This time the party high command has changed their constituency area. In this way everyone’s eyes are on them. He was the CM of the state from 1998-2003 and 2008-2012. In 1991, Dhumal again won from Hamirpur Lok Sabha seat.

इसके बाद भाजपा ने उन्हें हिमाचल प्रदेश राज्य इकाई का अध्यक्ष नियुक्त किया | आपको बता दें कि हिमाचल में 9 नवंबर को चुनाव होना है | चुनाव से पहले ही कांग्रेस बेहद कमज़ोर दिखाई पड़ रही है | एकतरफ सीएम वीरभद्र सिंह पर भ्रष्टाचार के आरोप दूसरी तरफ एक के बाद कांग्रेस के बड़े सदस्य का भाजपा में शामिल होना | कांग्रेस के लिए बड़े खतरे की और इशारा कर रहा है |

After this, the BJP appointed him the President of Himachal Pradesh State unit. Let us tell you that elections are going to be held in Himachal on 9th November. Even before the elections, the Congress is seen very weak. On one hand, allegations of corruption on CM Virbhadra Singh, on one hand, joining the BJP in large numbers after the Congress. It is pointing to big threat to Congress.

लव जिहाद बना रेप जिहाद, इस तरह हो रहा हिन्दू लड़कियों का शिकार, जानिए पूरा सच |

लव जिहाद लाइव : शाम 7 बजे घर से अपने बीमार बच्चे के लिए दवाई लेने मार्किट निकला था, दवाई ले कर जेब मे डाली ही थी की अचानक आशीष तिवारी जी का फ़ोन आया, बोले भाईसाहब 2 लड़के पकड़े हैं एक लड़की का बलात्कार करते हुए रंगे हांथों, मैंने कहा पकड़ कर रखिये में आ रहा हूं, वहां पहुँच कर देखा तो आशीष भाई ने लड़को को बैठा रखा था, मैंने पूछा क्या नाम है बेटा? तो एक ने अमित कुशवाह तो दूसरे ने राजू पाल नाम बताया!

Love Jihad Live : At 7.00 in the evening, the market was going to take medicine for his sick child from the house, taking medicine and pocket was in the sack, that suddenly Ashish Tiwari’s phone came, he said, “Two boys are holding a girl dressed in rape.” Hands, I said keep holding in. I reached there and saw Ashish Bhai sitting on the boys, I asked what is the name boy? So one Amit Kushwah and the other named Raju Pal.

स्थानीय लोगों ने इनकी अच्छी मरम्मत की थी और लड़की को जाने दिया था, पुलिस को बुलाया गया और इन दोनों लड़को को थाने ले जाया गया, अब कंप्लेंट कौन करेगा? तो हम वापस उस लड़की का घर ढूंढते हुए उसके घर पहुँचे, पहले तो माँ बाप ने साफ इनकार कर दिया कि उनकी बेटी के साथ कोई घटना नही हुई, लेकिन जब मैंने आशीष भाई ने और चौबे जी ने खूब समझाया की हम आपके साथ हैं तब वे माने और शिकायत दर्ज करवाने को राजी हुए, हम उन्हें ले कर थाने पहुचे, तब तक पुलिस वालों ने दोनों की जम कर धुनाई की, अमित और राजू तब तक कुछ ना बोले!

Local people had repaired them and let the girl go, the police were called and these two boys were taken to the police station, who will complain now? So we went back to the house looking for that girl’s house, at first the parent refused to deny that there was no incident with her daughter, but when I told Ashish Bhai and Chaubey Ji, he explained that we are with you They agreed to register and complain, we took them and reached the police station, till then the policemen, both of them did not smoke, Amit and Raju did not say anything till then.

हम FIR करवाने लगे तभी कुछ बॉडी बिल्डर टाइप मुसलमान लोग आए और एक बोला में तालिब खान का भाई हूँ दूसरा बोला में आसिफ बेग का भाई हूँ, भाई साहब लड़को से गलती हो गयी उन्हें माफ कर दीजिए, हमने कहा नही भाई आपको गलत फ़हमी हुई है हमारा तालिब और आसिफ से कोई लेना देना नही है, तो वे बोले आप बलात्कार वाले केस में आये हो ना?

When we started to get FIR, some body builder type Muslims came and one of them said Talib Khan’s brother. In the second talk, I am the brother of Asif Beg, brother, a mistake made by the boys, forgive him, we said no brother, you misunderstood Is there nothing to do with our Talib and Asif, then they said that you have come in a rape case, do not you?

हम उन्ही लड़कों के भाई हैं, बुरी तरह पिट चुके और लॉकअप में बंद अमित और राजू के पास मैं गया और पूछा तालिब कौन है? तो एक उच्चक के आया और बोला ‘में हूँ’, मैने पूछा आसिफ कौन है तो दूसरा बोला ‘मैं हूँ’, मैंने कहा बेटा अभी पूछा तब तो आप कुछ और नाम बता रहे थे? दोनों ने कोई जवाब नही दिया, पहले जो पब्लिक से पीट चुके थे पुलिस से भी पीट चुके थे और तब भी अपना असली नाम नही बता रहे थे उन्होंने अपने भाइयों को देखते ही अपने असली नाम बता दिए!

We are brothers of those boys, badly beaten and locked in the lockup, I went to Amit and Raju and asked who is Talib? Then came one of the words and said, ‘I am in’, I asked who is Asif and the other said, ‘I am’, I said, son asked now, then you were telling some other names? Both did not give any answer, the ones who had beaten the public earlier had beaten the police and even then they were not even telling their real name, they gave their real names after seeing their brothers.

दोनों ही इस लड़की का पीछा हिन्दू बनकर करते थे और आज मौका मिलते है बलात्कार करने को उतारू हो गए, अब मुस्लिम भीड़ इकट्ठी होने लगी और पुलिस पर दबाव बनाने लगी, हम सब तक खबर पहुचाई गयी मामला दबा दो वर्ना अच्छा नही होगा, देख लेंगे एक एक को, घर नही पहुँच पाओगे वगैरह, पुलिस छेड़छाड़ का मामला दर्ज कर रफा-दफा करने के मूड में आ गयी, तभी मेरा दिमाक घूमा और मैंने हिन्दू जागरण मंच के प्रांतीय मंत्री श्री बसंत गोड्याले जी को फ़ोन लगा कर पूरी वस्तुस्थिति सुनाई!

Both used to pursue this girl as Hindus and today they get a chance to rape, now the Muslim mob has started collecting and pressing the police, we have reached the news all the way, it will not be good to see the case, it will not be good Lane will not be able to reach home, even if the police filed a case of tampering and got into the mood of rafting, only then my heart went out and I was the minister of the Hindu Jagran Manch The Godyale G put the phone to hear the full facts.

जल्दी ही उनकी टीम थाने पर हाज़िर थी, कुछ ही देर में वे खुद वा उपाध्यक्ष ऊदल सिंह परिहार जी, विभाग महामंत्री श्री प्रकाश सिंह तोमर जी, जिला मंत्री सचिन चंदेल जी, व अन्य साथी भी आ गए, हम सब अड़ गए कि मामला बलात्कार का है, जबकि पुलिस रिपोर्ट अपने हिसाब से लिखना चाहती थी, हम सब इस पर अड़ गए कि जो बेटी बोलेगी वो लिखना होगा, आखिर काफी जद्दोजहद के बाद बार बार आवेदन में पुलिस द्वारा बदलाव करवाने के बाद अब पुलिस अटक गई कि धाराएं कौन सी लगाएं? मैंने थाने में मौजूद किताब में से ही उन्हें धाराओं के पन्ने खोल-खोल कर पकड़ा दिए, पुलिस हैरान परेशान अब करें तो क्या करें पढ़े लिखे लोग से पल्ला पड़ गया, आखिरकार हार कर पुलिस ने मुकदमा कायम किया!

Soon his team was present at the police station, in a short while, he himself came to the place of Vice President, Uddal Singh Parihar, Department of Public Relations, Shri Prakash Singh Tomar, District Minister Sachin Chandel and other colleagues. While the police report wanted to write accordingly, we all got stuck on it that whatever daughter would speak, he would have to write it, after quite a lot of persecution after the police changed the application again and again Now the police got stuck in which to find the streams? From the book in the police station, I opened the pages of the curtains openly, and the police wondered what to do now, then what to do, read the people who were lost, finally the police set the case.

ये रही FIR की कॉपी जिसमे दोनों के असली नाम दर्ज है, लव जिहाद अब रेप जिहाद की शक्ल ले चूका है, पर समाज तो सो रहा है, भला हो आशीष भाई का और कॉलोनी वालो का कि उस लड़की की इज़्ज़त बचा ली, और हिन्दू जागरण मंच का वरना बलात्कार का मामला छेड़छाड़ का मामला बता कर रफा-दफा कर दिया जाता, FIR लिखवा कर हम सब सुबह के 3:30 घर को लौटे!

It is a copy of the FIR which has the real name of both, Love Jihad has now taken the shape of RAJ Jihad, but the society is asleep, it is Ashish Bhai’s and the colony that saved the respect of that girl, and Hindus The case of rape in the Jagaran stage, or else, by raping the person by making a case of tampering, we got back to 3:30 in the morning by entering the FIR.

source : dainik-bharat.org

एक बार फिर मणिपुर चुनावों में बीजेपी की हुई बड़ी जीत, कांग्रेस में छाया मातम !

कांग्रेस पंजाब के गुरदासपुर संसदीय सीट जीतकर काफी खुश हो रही थी लेकिन उसके बाद कांग्रेस के खेमे में सिर्फ मायूसी ही आयी है | अभी पीछे ही मणिपुर ग्राम पंचायत चुनाव नतीजे 2017 में बीजेपी ने इतिहास रच दिया था,जहाँ बीजेपी का कोई बजूद नहीं था आज वहां बीजेपी ने वो कर दिखाया था जो कोई नही कर सका,ये लोगों का विस्वास है,और अब जिला परिषद चुनाव में बीजेपी ने अपना डंका बजाते हुए सबका सूपड़ा साफ़ कर दिया है और सभी 6 सीट पर जीत दर्ज की है |

Congress was happy to win the Gurdaspur parliamentary seat of Punjab, but after that there has been only disappointment in the Congress camp. Manipur gram panchayat election results back in 2017, when BJP had created history, where there was no development of BJP, today the BJP showed it that no one could do it, it is the people’s trust, and now in the Zilla Parishad elections The BJP has cleared all the slogans while playing its rug and won all six seats.

मणिपुर में पाचवें ग्राम पंचायत चुनाव के नतीजे 14 तारीख को आए थे इसी महीने में.बीजेपी की उन चुनावों में बहुत बड़ी जीत हुई थी लेकिन मीडिया में इस बात की चर्चा नहीं की थी | आपको बता दें इसी साल दो राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं | यही वजह है कि मीडिया इस खबर को टीवी पर नहीं दिखा रही है हाँ अगर बीजेपी हारती तो खबर जरूर आती | अब जैसे कि जिला परिषद चुनावों में भी बीजेपी ने सबका सूपड़ा साफ़ कर दिया है तो ये खबर भी मीडिया में नहीं आई है |

The results of the fifth Gram Panchayat elections in Manipur came on the 14th of this month. The BJP had won a lot in those elections, but this was not discussed in the media. Let us tell you that assembly elections are going to be held in two states this year. This is the reason why the media is not showing this news on TV, yes if the BJP loses, the news will definitely come. Now, even in the Zilla Parishad elections, BJP has cleared all the sums, then the news has not come in the media.

इसी महीने मणिपुर राज्‍य के छह जिलों में 60 जिला परिषद,सीट में से 40 सीट पर जीत हासिल करके इतिहास रचा था | एक समय था जब कांग्रेस बोलती थी की बीजेपी का कभी बजूद नहीं बना पाएगा इन राज्यों में लेकिन वहां की जनता ने दिखा दिया वो किसके साथ है | अभी हाल ही में मणिपुर में बीजेपी ने अपना पहला मुख्यमंत्री राज्य को दिया था और अब बीजेपी का अच्छा प्रदर्शन जारी है | खुद मणिपुर के मुख्यमंत्री ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी

In this month, 60 district councils in six districts of Manipur state had won history by winning 40 out of the seats. There was a time when the Congress used to say that the BJP will never be able to create a place in these states but the people there have shown who it is with. More recently, in Manipur, BJP gave its first Chief Minister to the state and now BJP is doing a good show. The Chief Minister of Manipur himself tweeted this information.

जिस तरह से बीजेपी की जीत पहले महारष्ट्र फिर गुजरात निकाय चुनावों में हुई और अब मणिपुर में ये जनता का साफ़ संदेश है कि उनका विस्वास आज भी बीजेपी है और मोदी जी पर है | नार्थ ईस्ट में बीजेपी की पकड अब धीरे-धीरे मजबूत होती जा रही है जो आने वाले लोकसभा चुनावों के नजरिये से शुभ संकेत है |

The way in which the BJP won the first elections in Gujarat and then in the Gujarat body elections and now there is a clear message of public that Manipur is still BJP and Modi is on the side. The BJP’s grip in the North East is gradually getting stronger, which is an auspicious sign from the perspective of the upcoming Lok Sabha elections.