5 लाख रोहिंग्या ने बांग्लादेश में घुसते ही शुरू किया ऐसा खतरनाक कांड, जिसे देख PM मोदी समेत बिपिन रावत के भी उड़े होश !

नई दिल्ली: शांतिप्रिय बौद्ध के देश म्यांमार में आतंक मचाने के बाद सेना गहरी नींद से जागी और बौद्धों का खून देखकर ताबड़तोड़ एक्शन में आई और 5 लाख रोहिंग्या को देश के बहार खदेड़ दिया, जिसके बाद सभी मुस्लिम देशो के पीठ दिखने के बाद बांग्लादेश ने बड़ा दिल दिखाते हुए इन्हे पनाह दी, लेकिन अब वही शुरू हुआ जिसका सबको डर था,

New Delhi: After terrorizing the country of peace-loving Buddhism in Myanmar, after seeing the deep sleep in place and the blood of Buddhists came in an armaments action and dispelled 5 lakh Rohingyas out of the country, after which after seeing the backs of all Muslim countries, Bangladesh He gave his shelter while showing a big heart, but now he started the fear of which everyone was afraid,

बांग्लादेश पुलिस ने गिरफ्तार किये रोहिंग्या 

अभी बांग्लादेश मीडिया से मिल रही बहुटी बड़ी खबर के मुताबिक बांग्लादेश पुलिस ने तीन रोहिंग्या समेत कई शरणार्थियों को गिरफ्तार कर लिया है, ये रोहिंग्या ने बांग्लादेश में नशीली दवाओं की तस्करी शुरू कर दी है, ये सभी आरोपी रोहिंग्या बांग्लादेश कके युवाओ में मेथामफेटामाईन की 8 लाख गोलियों की तस्करी करवा रहे थे, पहले हम आपक्को बता दें ये नशिली दवा बहुत ही ज्यादा खातरनाक है,

Rohingyas arrested by Bangladesh Police

According to the multi-media report received from Bangladesh media, Bangladesh Police has arrested several refugees including three Rohingyas, Rohingya has started trafficking drugs in Bangladesh, all of them accused Rohingya Bangladesh, 8 of methamphetamine Thousands of smugglers were being smuggled, first let us tell you this drug is very cumbersome,

बहुत खतरनाक है यह नशे की गोलियां 

इस नशे की दवाई को थाई में “याबा” कहते है जिसका दूसरा मतलब ” पागल करने वाली दवा “है. रोहिंग्या ने गिरफ्तारी में कबूल किया है कि ये दवा अब तक बांग्लादेश में फ़ैल चुकी है, कई रोहिंग्या शरणार्थी के रूप इ इसे युवाओं तक ज्यादा से ज्यादा पहुंचा रहे है,यह एक शक्तिशाली और नशे की लत के लिए उत्तेजित करने वाली मेथाफेटामाईन और कैफीन का मिश्रण है, जिसे सुनने के बाद 5 लाख रोहिंग्या अब बांग्लादेश पुलिस के लिए बड़ा खतरा बन गये है,

It’s very dangerous this addictive pills

This drug is called “yaba” in Thai, which means “bad medicine”. Rohingya has admitted in the arrest that the drug has spread to Bangladesh so far, many Rohingya refugees are reaching it to the youth as much as possible, it is a powerful and addictive stimulant methamphetamine and caffeine. After mixing, 5 lakh Rohingya after hearing has now become a big threat to Bangladesh Police,

रोहिंग्य तस्कर इन गोलियों को जमीन या समुन्द्र के रास्ते कॉक्स बाज़ार में पहुँचाने की कोशिश में लगे थे और आप जानकर हैरानी होई कि ये वही कॉक्स बाज़ार है जिसके आसपास लाखों रोहिंग्या कैंप लगाकर रह रहे हैं,आमतौर पर ये लाल-नारंगी या हरे जैसे चमकीले रंगों में होते है, इन टैबलेटो पर आर या डब्ल्यूवाई जैसे विशेष लोग होते है, कभी कभी इन गोलियों का स्वाद अंगूर,नारंगी,वेनिला जैसी कैंडी की तरह होता है.

Rohingya smugglers were trying to get these pills in the cox market by land or sea, and you were surprised to know that this is the same cox market around which lakhs of Rohingya are staying camped, usually like bright red or orange or green In these colors, there are special people like R. or WHY on these tablets; Sometimes these pills taste like ginger, orange, vanilla, and candy. is.

यह खतरनाक नशीली दवाई पिछले काफी दिनों से बांग्लादेश में बनती जा रही थी.बताया गया है कि ये दवा युवाओ में बहुत मशहूर हो गयी है. ऐसे में एक साथ 8 लाख मात्रा में ऐसी नशे की गोलियों के मिलने से बांग्लादेश के रैपिड एक्शन बटालियन अधिकारीयों के होश उड़ गए.

This dangerous drug has been going on in Bangladesh since last few days. It has been said that these medicines have become very famous in youth. In such a situation, the presence of such addictive pills in 8 lakhs of ammunition became sensitized by Bangladesh’s Rapid Action Battalion officers.

जनसँख्या जिहाद

आपको बता दें इससे पहले रोहिंग्या ने जनसँख्या जिहाद पहले ही फैलाना शुरू कर दिया.80 हज़ार रोहिंग्या महिलाएं गर्भवती हैं. जिनके पहले से 7 से 8 बच्चे हैं वे भी गर्भवती हैं. बांग्लादेशी सरकार को भी अब डर सताने लगा है कि विरोधी इनसे सरकार को पलटने की साज़िश कर सकते हैं.

Population jihad

Let you know before Rohingya started spreading the population Jihad already. 80 thousand Rohingya women are pregnant. Those who already have 7 to 8 children are also pregnant. The Bangladeshi government is now frightened that the opposition can intrigue them to overthrow the government.

भारत में घुस आये हैं 40 हज़ार रोहिंग्या

यह खबर भारत के लिए भी बहुत ज़रूरी है क्यूंकि 40 हज़ार अवैध रूप से रोहिंग्या भारत के कई इलाकों में फ़ैल गए हैं. जिनके लिए मोदी सरकार ने एडवाइजरी जारी करते हुए सुप्रीम कोर्ट को भी कड़ा जवाब दे दिया है कि ख़ुफ़िया एजेंसियों ने खबर दी है कि इनके पाकिस्तान एजेंसी ISI और आतंकी संगठन ISIS से कनेक्शन हैं. इन रोहिंग्या इस्तेमाल आतंकी संगठन भारत में भी म्यांमार की तरह आतंक फैला सकते हैं. जिसके विरोध में अब ममता बेनर्जी और ओवैसी जैसे नेता तो प्रशांत भूषण और कपिल सिब्बल जैसे वकील बचाव पक्ष में खड़े होकर केस कर रहे हैं और सरकार से रोहिंग्या के आतंकी होने के सबूत मांग रहे हैं.

40 thousand Rohingya have entered India

This news is also important for India as 40 thousand illegally Rohingya have spread to many areas of India. For whom the Modi government has issued advocacy, the Supreme Court has also given a strong reply that intelligence agencies have reported that they have connections with ISI and terror organization ISIS. These Rohingya terrorists used in India can spread panic in Myanmar too. Against this, leaders like Mamta Banerjee and Owaisi are standing in defense of Prashant Bhushan and Kapil Sibal and demanding proof of Rohingyas being terrorized by the government.

तो वहीँ कई वामपंथी पत्रकार और लेखक और अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग कूद पड़ा है. उसे पीओके में पाक फ़ौज का अत्याचार नहीं दिखता, चीन में मुसलमानों से मुहर्रम से पहले चटाई और कुरान छीन ली गयी लेकिन उस पर भी अधिकारों का हनन नहीं दिखता. लेकिन भारत रोहिंग्या विरोध उसे सात समुन्द्र दूर बैठ कर दिख जाता है.

So many leftist journalists and writers and the International Human Rights Commission have jumped. He does not see the tyranny of Pak army in PoK, before the Muhram in China, the mat and the Koran were snatched from before, but they do not even see the violation of rights. But opposing Rohingya India is seen sitting at seven seas away from him.

source-www.ddbharti.com

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *