बड़ी खबर:BJP में नरेश अग्रवाल को शामिल करने की वजह आयी सामने, ये है असली वजह, जिसे सुन आपकी आंखे खुली की खुली रह जाएँगी!

politics

बीजेपी नरेश अग्रवाल जैसे शख्स को पार्टी में लेगी ऐसा किसी ने सोचा नहीं था, बीजेपी के समर्थक भी हैरान हो गए जब खबर आयी की नरेश अग्रवाल को बीजेपी में शामिल किया जा रहा है, बहुत से समर्थकों ने भी नरेश अग्रवाल का विरोध किया, लोगों को समझ में नहीं आया की आखिर क्यों नरेश अग्रवाल जैसे आदमी को बीजेपी शामिल कर रही है! वैसे भी कहा गया है की राजनीती समझना हर किसी के बस की बात नहीं! आम िसंसान राजनीती सिर्फ उतना ही जान-समझ पाता है जितना कि राजनीति से जुड़े लोग चाहते हैं! और यही कारण है कि बहुत बार पार्टियों और नेताओं के लिए फैसलों पर जनता गुस्सा रहती है, लेकिन असलियत नहीं समझ पाती!

Someone like BJP Naresh Agarwal will take the party, nobody thought that the supporters of the BJP were surprised when the news came that Naresh Agrawal was being included in BJP, many supporters also opposed Naresh Agarwal, people Why did not understand why Rajesh is joining BJP like a man like Agarwal! Anyway, it has been said that understanding politics is not just about everyone! Common sense politics just gets to know as much as the people of politics want! And this is the reason that many times the people are angry with decisions for parties and leaders, but they can not understand the reality!

पर अब एक नयी जानकारी और एक नया गणित सामने आ रहा है, इस खबर के बारे में मशहूर अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने भी लिखा है! वैसे बीजेपी भी जानती थी की नरेश अग्रवाल को पार्टी में शामिल करने से भाजपा समर्थक नाराज होंगे, इसके बाबजूद भी बीजेपी ने नरेश अग्रवाल को क्यों शामिल किया इसपर देखिये ये नया गणित!

But now a new information and a new math are coming out, the famous newspaper Indian Express has also written about this news! By the way, BJP also knew that BJP’s supporters would be angry with Naresh Agrawal’s involvement in the party, in spite of this, why the BJP included Naresh Agarwal, see this new math!

जानिए आखिर क्यों ऐसे नेता के साथ काम करके अपनी छवि को दांव पर रखेगी भाजपा जैसी पार्टी?
अब ऐसा तो है नहीं कि भाजपा और उसके नेता नरेश अग्रवाल जैसे हलके व्यक्तित्व के आदमी को अच्छे से नहीं जानते, लेकिन इसके पीछे काफी गहरी राजनीतिक वजह है! और फिर अमित शाह, जिन्हें राजनीति का चाणक्य कहा जाता है, ऐसी गलती कैसे कर सकते हैं?

Know why a party like BJP will keep its image on the job by working with such a leader?
Now it is not that the BJP and its leader Naresh Agarwal do not know the person of light personality, but there is a deep political reason behind it! And then Amit Shah, who is called Chanakya of politics, how can such a mistake?

उत्तर प्रदेश से राज्यसभा में एक उमीदवार भेजने के लिए 37 विधायक चाहिए, अब सपा के पास अभी 47 है, सपा जया बच्चन को भेज रही है, यानि 37 विधायक जया के लिए, फिर सपा के पास बचे है 10 विधायक! वहीँ मायावती से सपा ने कहा है की आप लोकसभा के उपचुनावों में सपा की मदद करती हो तो बाकि 10 सपा विधायक भी आपको राज्यसभा जाने के लिए वोट देंगे, इसी के बाद गोरखपुर और फूलपुर में मायावती ने अपने उम्मीदवार नहीं उतारे और सपा को समर्थन दे दिया!

37 candidates need to send a candidate from Uttar Pradesh to Rajya Sabha, now SP is now 47, SP Jaya is sending Bachchan, i.e. for 37 MLAs Jaya, then 10 survivors of SP are left. On the other hand, SP has said that from Mayawati, if you help the SP in the bye-elections of the Lok Sabha, the remaining 10 MLAs will also vote for you to go to the Rajya Sabha, after this, Mayawati did not raise her candidate in Gorakhpur and Phulpur and support the SP. Gave!

अब सपा के 10, मायावती के पास खुद के 19 है, यानि टोटल 29 हो गया, कांग्रेस के 7 है यानि टोटल 36 हो गया, और RLD का 1 है यानि टोटल कुल मिलाकर 37 हो गया, यानि मायावती आसानी से राज्यसभा जाएँगी, अब बीजेपी ने इसी को देखते हुए नरेश अग्रवाल को पार्टी में ले लिया है!

Now 10 of SP’s, Mayawati herself has 19, i.e. total 29, Congress has 7, i.e. total 36, and 1 of RLD i.e. total total has increased to 37, i.e. Mayawati will go easily to Rajya Sabha, now BJP has taken Naresh Agarwal in the party, seeing this!

यह भी देखे

SOURCENAME :POLITICALREPORT

Leave a Reply