हिन्दू कर सेवकों की सबसे बड़ी जीत, शाबरमति एक्सप्रेस अग्निकांड में हुआ ये बड़ा खुलासा, PM मोदी-शाह ख़ुशी से पागल..

अहमदाबाद: साल 2002 में हुए गोधरा ट्रेन अग्निकांड में 16 साल से फरार एक आरोपी को गुजरात पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. एक अधिकारी ने इस संबंध में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि गोधरा बी डिविजन पुलिस की एक टीम ने याकूब पटालिया (63) को गोधरा से गिरफ्तार किया. उन्होंने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि उसे मंगलवार सुबह एक इलाके में देखा गया. उन्होंने बताया कि गश्त के दौरान पुलिस को आरोपी की मौजूदगी के बारे में सूचना मिली. उसके बाद तत्काल कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

Ahmedabad: In the 2002 Godhra train fire, one of the accused, who has been absconding for 16 years, has been successful in arresting the Gujarat Police. An official informed about this. He told that a team of Godhra B division police arrested Yakub Patalia (63) from Godhra. He told that the secret information was received that he was seen in an area on Tuesday morning. He informed that during the patrol, the police received information about the presence of the accused. After that, he was arrested while taking immediate action.

पटालिया को एसआईटी को सौंपा जाएगा
अधिकारी ने बताया कि पटालिया को विशेष जांच टीम (एसआईटी) को सौंप दिया जाएगा जो मामले की जांच कर रही है. पटालिया पर उस भीड़ में शामिल होने का आरोप है जिसने 27 फरवरी 2002 को गोधरा रेलवे स्टेशन के पास साबरमती रेलवे स्टेशन के पास साबरमती एक्सप्रेस के डिब्बों में आग लगाई थी.

PATALIA TO BE SIGNED TO SIT
The officer said that Patalia will be handed over to the Special Investigation Team (SIT), who is investigating the matter. The Patiala is accused of joining the crowd who had set fire to the compartments of Sabarmati Express near Sabarmati railway station near Godhra railway station on February 27, 2002.

उसके खिलाफ सितंबर 2002 में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. साथ ही उस पर खिलाफ आईपीसी और रेलवे कानून के विभिन्न प्रावधानों के तहत आरोप लगाए गए. पुलिस ने बताया कि घटना के बाद से ही पटालिया फरार था.

An FIR was lodged against him in September 2002. Alongside it, allegations were made against him under different provisions of IPC and Railway Law. The police said that since the incident, Pantialia was absconding.

आरोपी का भाई भी हुआ था गिरफ्तार
पटालिया के एक भाई कादिर पटालिया को भी 2015 में गिरफ्तार किया गया था और सुनवाई के दौरान ही कादिर की 2015 में जेल में मौत हो गई. उसका एक अन्य भाई अयूब पटालिया वडोदरा केंद्रीय जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है.

The accused’s brother was arrested
Kadir Patalia, a brother of Patalia too was arrested in 2015 and during the hearing Kadir died in jail in 2015. His brother Ayub Patalia is serving life imprisonment in Vadodara Central Jail.

खास बातें
गोधरा ट्रेन अग्निकांड में 16 साल बाद आरोपी की गिरफ्तारी
आरोपी को विशेष जांच टीम (एसआईटी) को सौंपा जाएगा
गश्त के दौरान पुलिस को मिली आरोपी के दिखने की सूचना

कला जगत में देखें:

https://youtu.be/fBRvBB-0gH0

दलित-मराठा संघर्ष में मोदी सरकार का बड़ा धमाका, एक वार से आज़ादी गंग तबाह, राहुल गाँधी सकते में !

नई दिल्ली: कोरेगांव भीम में हुई हिंसा के बाद मुम्बई पुलिस ने एक शानदार कदम उठाया है और दलित हिंसा से हुए नुक्सान की भरपाई हिंसा फैलाने वालों से ही वसूल करने के आदेश दिए हैं. मुम्बई पुलिस ने उन सभी आयोजकों के खिलाफ एक्शन लेने का फैसला लिया है, जिन्होंने हिंसा फैलाई और जिसके कारण तीन दिनों के लिए मुम्बई थम गयी|

New Delhi: Following the violence in Koregaon Bhima, the Mumbai Police has taken a great step and ordered the recovering from the violence caused by Dalit violence from the people who spread violence. The Mumbai Police has decided to take action against all the organizers, who spread violence and due to which Mumbai was stopped for three days.

रिपब्लिक टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक़ मुंबई पुलिस अब इस तेजी से केस की जांच में जुट गयी है और हिंसा के दौरान मिली सभी सीसीटीवी की फुटेज को खंगाला जा रहा है, जिनसे पता चला है कि कई नेता भीड़ को भड़काने में शामिल थे और लोगों को सार्वजनिक संपत्ति का ज्यादा से ज्यादा नुक्सान करने के निर्देश दे रहे थे|

According to the report of the Republic TV, the Mumbai Police has gathered in this fast investigation of the case and the footage of all the CCTVs found during the violence is being investigated, which has revealed that many leaders were involved in provoking the crowd and people Directing the public to make maximum losses.

विरोध के दौरान 200 से ज्यादा बसें, सैकड़ों बाइक, कार और निजी वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया गया. पुलिस इस बात का पता भी लगा रही है कि हिंसा, तोड़फोड़, आगजनी व् दलित संगठन के बंद के कारण कितना नुक्सान हुआ है|

During the protest, more than 200 buses, hundreds of bikes, cars and private vehicles were also handed over to the fire. The police is also aware that the loss of violence, demolition, arson and the Dalit organization has taken place due to the closure.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ पुलिस को संदेह है कि जिग्नेश मेवानी और उमर खालिद ने भड़काऊ भाषणबाजी की, जिसके कारण दंगा भड़का. जिसके बाद सुनियोजित षड्यंत्र के तहत शहर की शान्ति भंग करने और उपद्रव मचाया गया|

According to media reports, the police suspect that Jignesh Mewani and Omar Khalid did the provocative speeches, which led to the riot. After which, under the planned conspiracy, the city’s peace and dissolution were organized.

भड़काऊ बयान देने के आरोप में दलित नेता जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. दोनों के खिलाफ आईपीसी के सेक्शन 153(a), 505 and 177 के अंतर्गत हिंसा भड़काने के लिए केस दर्ज किया गया है. इसके अलावा पुलिस ने इस मामले में अब तक 16 एफआईआर दर्ज करते हुए 300 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया है|

A case has been registered against Dalit leader Jignesh Mawni and Omar Khalid for giving provocative statements. The case has been registered against both the sections 153 (a), 505 and 177 for inciting violence. Apart from this, the police has so far arrested more than 300 people while registering 16 FIRs in this case.

सबसे हैरानी की बात ये भी है कि खुद को जनता का हीरो बताते हुए लोगों को दंगे भड़काने के लिए उकसाने वाले जिग्नेश मेवानी और उमर खालिद, दोनों ही एफआईआर दर्ज होते ही फरार हो गए हैं और पुलिस से छिप रहे हैं. लोगों को उकसाने के लिए भाषणबाजी के दौरान खुद को किसी हीरो की तरह से बताने वाले ये ढोंगी अब पुलिस की गिरफ्तारी के डर से छिपते फिर रहे हैं|

Most surprisingly, Jignesh Mewani and Omar Khalid, who have provoked themselves to provoke the riots by describing themselves as public heroes, are already absconding, and have been absconding from the police. These inconsistencies, like telling someone like a hero during speeches to provoke people, are now hiding behind the fear of police arrest.

मगर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ मेवानी और खालिद अभी भी मुंबई में ही हैं और कोंग्रेसी नेताओं के संपर्क में हैं. ऐसे में राहुल गाँधी की जवाबदेही बनती है कि आखिर क्यों वो जिग्नेश मेवानी और उमर खालिद जैसे आतंक समर्थकों के समर्थन में खड़े हैं|

But according to some media reports, Mevani and Khalid are still in Mumbai and are in touch with Congress leaders. In such a situation, Rahul Gandhi’s accountability is created why he is standing in support of terror supporters like Jignesh Mewani and Omar Khalid.

मुंबई पुलिस ने दलित आंदोलन के आयोजकों से नुक्सान की भरपाई करने का बेहद सटीक फैसला लिया है, जो इस तरह की सभी राजनीतिक पार्टियों व् उनके गुंडों के लिए एक अच्छा सबक रहेगा, जो अपने स्वार्थ के लिए विरोध व् बंद के नाम पर सार्वजनिक संपत्ति को नुक्सान पहुंचाते हैं|

The Mumbai Police has taken a very precise decision to compensate the organizers of the Dalit movement, which will be a good lesson for all political parties and their goons, who, for the sake of their selfish interests, Do damage.

शान्ति भंग कर साम्प्रदायिक तनाव पैदा करने वाले ऐसे लोगों से नुक्सान का सारा पैसा वसूल कर इन्हे सलाखों के पीछे पहुंचाने का काम शुरू हो गया है. जिसका देश की जनता ने स्वागत किया है. सोशल मीडिया पर लोगों ने मुंबई पुलिस व् राज्य की बीजेपी सरकार की तारीफ़ की है|

After breaking the peace, such people who have created communal tension have started taking away all the money of the damage and getting them behind the bars. Which is welcomed by the people of the country. People on social media have praised the Mumbai Police and the BJP Government of the state.

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=dsJje-_3hzs

https://www.youtube.com/watch?v=4Tyz5onsJbA

मोदी को बूढ़ा और बोरिंग कहने वाले जिग्नेश को पहेलवान योगेश्वर दत्त ने दी ऐसी पटखनी की एक बार में हो गए चित्त !

गुजरात विधानसभा नतीजे आने के महज 24 घंटे ही बीते थे और  विधायक जिग्नेश मेवानी ने जिस तरह की भाषा का प्रयोग  प्रधानमंत्री  के लिए किया उससे उनकी मानसिकता और चाल चरित्र उजागर होता है और तो और जिग्नेश की आईएएस तरह की भाषा सुनकर उनके दोनों साथियों ने भी अट्टहास लगाकर उसका समर्थन कर दिया! जिग्नेश के इस वयान के बाद हर कोई उनके इस घमंड की भाषा की आलोचना कर रहा है |

The results of the Gujarat assembly only lasted 24 hours and the newly elected independents, Jignesh Mewani, used the language not only for the prime minister but also for a person of his father’s age, his masculinity and move character are exposed. And Jignesh’s IAS kind of language heard both his colleagues even supported him! After this word of Jignesh, everybody is criticizing the language of his arrogance.

जिग्नेश की इस बेतुकी भाषा के बाद पहलवान योगेश्वर दत्त ने भी उनके इस कृत्य के लिए कड़ी आलोचना की है | योगेश्वर दत्त समय समय पर अपने विचार देश के समाजिक और अन्य मुद्दों पर ट्विटर के जरिये लोगो के बीच रखते है |

After this insatiable language of Jignesh, wrestler Yogeshwar Dutt has also strongly criticized for his action. Yogeshwar Dutt from time to time puts his views on the social and other issues of the country through Twitter.

आज तक न्यूज़ चॅनेल पर अंजना के प्रश्न पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए जिग्नेश मेवाणी ने कहा कि “मोदी जी अब बूढ़े हो गए हैं! उनसे कहिये कि वो हिमालय पर चले जाएं और वहीं जाकर अपनी हड़िया गलाए! जब अंजना ने पूछा कि मोदी बोरिंग हैं और आप बहुत इंटरेस्टिंग हैं? जिग्नेश ने इस सवाल के जवाब में कहा कि जी हां मैं बहुत दिलचस्प हूं! लोगो ने मुझे 19 हजार वोट से जिताया है |

Till date, responding to Anjana’s question on the news channel, Jignesh Mewani said, “Modiji is now old! Tell them that they should go to the Himalayas and go there and get your strike! When Anjana asked that Modi is boring and you are very interested? Jignesh replied in response to the question that yes, I am very interesting! The people have won me 19 thousand votes.

जैसा की आप जानते है कांग्रेस को गुजरात में करारी हार का मुँह देखना पड़ा है | कांग्रेस के साथ ये तीन तिकड़ी नेताओ के होने के बावजूद भी गुजरात में बीजेपी को 182 में से 99 सीटों पर फतह हासिल हुई है | वही कांग्रेस इन तीनो के जरिये काफी लम्बे समय से अपने लिए माहौल तैयार कर रही थी |

As you know, Congress has had to face defeat in Gujarat. In spite of having these three trio leaders with the Congress, BJP has secured 99 of the 182 seats in Gujarat. The same Congress had been creating an environment for itself from a very long time.

कांग्रेस तब खुलकर इनका समर्थन नहीं कर रही थी, लेकिन जैसे गुजरात में चुनाव हुए ये तीनो जाकर कांग्रेस के गॉड में बैठ गए! कांग्रेस ने इस चुनाव में पिछली बार के मुकाबले थोड़ा अच्छा प्रदर्शन किया और उन्हें कुछ ज्यादा सीटें भी मिली है! लेकिन इसके पीछे जातिवाद की राजनीती है |

The Congress was not openly supporting them, but as soon as the elections in Gujarat came, they all sat in the Congress party! The Congress has performed a little better than the last time in this election and they have got a lot more seats! But behind it is the politics of racism.

जिग्नेश के वयं से आहत पहलवान योगेश्वर दत्त ने ट्वीट कर कहा, “आश्चर्य होता है अपने देश पर जहाँ पर आतंकवादियों को तो सम्मान दिया जाता है और प्रधानमंत्री को गालियाँ दी जाती हैं | प्रधानमंत्री पूरे देश का सम्मान हैं उनको गाली देना देश को गाली देना है!यदि संविधान में यह दंडनीय अपराध बना दिया जाए तो शायद किसी की हिम्मत नहीं होगी फिर ऐसा करने की!”

Yogeshwar Dutt, a wounded man from Jignesh himself, tweeted, “It is a surprise that wherever terrorists are honored in their country and the prime minister is given abuses. The Prime Minister is the honor of the whole country, abusing them, abusing the country! If this criminal crime is made in the constitution, then nobody will have the courage to do so. ”

यह भी देखे :

https://youtu.be/aGHeWHD0uXg

BREAKING: गुजरात चुनाव के हैरान करने वाले नतीजे देख मोदी समेत कांग्रेस परेशान,आखरी क्षण मे लगा बड़ा झटका

गुजरात विधानसभा की 182 सीटों पर वोटों की गिनती शुरू हो चुकी है. शुरुआती में 182 सीटों के रुझान आ चुके हैं. बीजेपी 105 और कांग्रेस 71 सीट पर आगे है. 6 सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार आगे है. गुजरात के सीएम विजय रूपाणी राजकोट पश्चिम सीट से चुनाव जीत गए है.

कांग्रेस के नेता अर्जुन मोढवाडिया बीजेपी के बाबूभाई बोखारिया से हार गए है. निर्दलीय उम्मीदवार दलित नेता जिग्नेश मेवाणी वडगाम सीट से आगे चल रहे है. राधनपुर सीट से कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर पीछे चल रहे है, मेहसाणा से डिप्टी सीएम नितिन पटेल आगे चल रहे है, हार्दिक पटेल की वीरमगाम सीट से बीजेपी आगे चल रही है.

पोरबंदर सीट से कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाढिया आगे चल रहे है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष जीतू वघानी भावनगर वेस्ट सीट से पीछे चल रहे है. मणिनगर सीट से बीजेपी प्रत्याशी सुरेशभाई पटेल कांग्रेस की श्वेता ब्रह्मभट्ट से आगे चल रहे है.
अहमदाबाद की एलिसब्रिज सीट से पहला नतीजा आया है. इस सीट से हमेशा बीजेपी जीतती आई है इस बार यहां से बीजेपी के प्रत्याशी राकेश शाह ने जीत दर्ज की है.

अहमदाबाद की जमालपुर खड़िया सीट से कांग्रेस के इमरान ने जीत दर्ज की है.अकोता से बीजेपी की सीमाबेन मोहिले जीतीं , राजकोट वेस्ट से सीएम विजय रूपाणी जीते, घाटलोडिया से बीजेपी उम्मीदवार भूपेंद्र पटेल जीते , गोंडल सीट से बीजेपी की गीताबा जाड़ेजा, असरवा से बीजेपी प्रदीप भाई परमार जीते.

गणदेवी सीट से बीजेपी के नरेशभाई पटेल जीते, झलोद, से कांग्रेस उम्मीदवार भावेशभाई काटारा जीते, मांजरपुल सीट से बीजेपी के योगेश पटेल जीते, करंज सीट से बीजेपी उम्मीदवार जीते , मणिनगर सीट से बीजेपी के सुरेशभाई पटेल जीते, नारणपुरा से बीजेपी के कौशिक भाई पटेल जीते.

जामगनर दक्षिण से बीजेपी रणछोड़ा भाई फालदू जीते, , निकोल सीट से बीजेपी के जगदीश पांचाल जीते, मांडवी सीट से कांग्रेस के आनंदभाई चौधरी जीते, लिमखेड़ा सीट से बीजेपी के शैलेश भाई भामर जीते, ओलपाड सीट से बीजेपी के मुकेश पटेल जीते , वलसाड की पारडी से बीजेपी के कनुभाई देसाई जीते , सूरत पश्चिम सीट से बीजेपी के पूर्णेश मोदी जीते.

सावली सीटे से बीजेपी के केतनभाई इनामदार जीते, पोरबंदर सीट से बीजेपी के बाबूभाई बोखारिया ने कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया को 1855 वोट से हराया, कलोल सीट से बीजेपी की सुमनबेन चौहान जीतीं, वलसाड से बीजेपी के भरतभाई पटेल जीते, उधना सीट से बीजेपी के विवेक पटेल जीते, शेहरा से बीजेपी के जेठाभाई अहीर जीते , नाडियाड सीट बीजेपी के पंकजभाई देसाई जीते.

वेजलपुर सीट से बीजेपी के प्रत्याशी जीतेसोमनाथ में कांग्रेस प्रत्याशी जीत दर्ज की है
उत्तर गुजरात उत्तर गुजरात में 32 सीटें हैं. जिनमे से 17 सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है. 13 सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशी आगे है. जबकि दो सीटों पर अन्य आगे है.

मध्य गुजरात

मध्य गुजरात में 61 हैं जिनमे से 40 सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है. जबकि 20 सीटों पर कांग्रेस आगे चल रही है.एक सीट पर अन्य आगे है.

दक्षिण गुजरात
दक्षिण गुजरात में 35 सीटे हैं जिनमेें 23 सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है जबकि 10 सीटों पर कांगेस आगे चल रही है, दो सीटों पर अन्य आगे है.

सौराष्ट्र

सौराष्ट्र में 54 सीटें है जिनमें से 22 सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है जबकि 32 सीटों पर कांग्रेस आगे चल रही है. 0 सीट पर अन्य आगे है.

गुजरात विधानसभा चुनाव जहां पीएम मोदी के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न हैं तो वहीं कांग्रेस पार्टी के नए अध्यक्ष राहुल गांधी की यह सबसे बड़ी अग्निपरीक्षा हैं. इस बार के गुजरात चुनाव को 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले का सेमीफाइनल माना जा रहा है. लेकिन 22 साल से राज्य की सत्ता पर काबिज इस पार्टी को कई तरह के सामाजिक समीकरणों के चलते विरोध का सामना करना पड़ा था.

बीजेपी के खिलाफ जाति आधारित समीकरण बैठाने की जुगत में कांग्रेस ने हार्दिक पटेल, अल्पेश ठाकोर और मेवाणी का सहारा लिया है जो पाटीदारों, अन्य पिछड़ा वर्ग और दलितों की ओर से युवा तुर्क बनकर उभरे हैं.
इस बार के चुनाव में बीजेपी के खिलाफ पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी ने खुले तौर पर बीजेपी को वोट ना देने की अपील की थी.

अल्पेश ठाकोर तो कांग्रेस के टिकट से चुनाव भी लड़ रहे हैं.जिग्नेश मेवाणी भी निर्दलीय के रूप में चुनाव मैदान में है और कांग्रेस ने उनके खिलाफ अपना उम्मीदवार नहीं खड़ा किया. हार्दिक ने खुले तौर पर तो कांग्रेस का समर्थन नहीं किया था लेकिन अपनी रैलियों में वह लगातार बीजेपी को वोट नहीं देने की अपील करते रहे है.

https://youtu.be/3RYXqytjRfc

गुजरात नतीजों पर हार्दिक पटेल ने उठाए EVM हैकिंग पर सवाल, तो अहमदाबाद कलेक्टर ने दिखाई औकात |

पाटीदार आरक्षण के लिए आन्दोलन करने वाले हार्दिक पटेल, आज कांग्रेस के लिए हथियार बने हुए हैं. इस हथियार को कांग्रेस बीजेपी के खिलाफ इस्तेमाल कर रही है. हालांकि हार्दिक पटेल चुनाव से पहले कांग्रेस को जीत के करीब समझ रहे थे, लेकिन अब वोटिंग हो जाने के बाद उनके विश्वास में कमी नजर आ रही है. दो चरणों के चुनाव हो जाने के बाद उनके बयानों में हताशा नजर आने लगी है. वो सीधे तौर पर अब बीजेपी को टारगेट करके इधर-उधर के बयान दे रहे हैं!

Hardik Patel, who is in the movement for reservation for Patidar, has become a weapon for Congress today. The Congress is using this weapon against the BJP. Though Hardik Patel had understood the victory of Congress before the elections, but now after voting, his faith is showing a decrease. After the two phases have been elected, their statements are showing frustration. He is now directly targeting the BJP and making statements about it here and there!

चुनाव के नतीजे 18 दिसम्बर को आने हैं लेकिन उसके पहले ही हार्दिक पटेल ऐसे बयान देने लगे हैं जिनसे लगता है कि उन्हें चुनाव आयोग पर यकीन नही रहा और अब वो चुनाव हार ही जायेंगे. हालाँकि एग्जिट पोल तो पहले ही हार्दिक पटेल समर्थित कांग्रेस को हारा हुआ बता रहे हैं. जिनकी वजह से उनकी खिसियाहट और बढ़ी हुई है. अब हार्दिक पटेल ने नया दांव अजमाने की कोशिश की है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि “बीजेपी चुनाव हार रही है, लेकिन शनिवार और रविवार की रात को EVM में बड़ी गड़बड़ी करने जा रही है.” हताशा का स्तर ऐसा है कि उनका अब EVM और चुनाव आयोग से विश्वास उठ गया है. जबकि इसी चुनाव के सहारे वो बीजेपी को पटखनी देने की बात कर रहे थे!

The results of the election are due on December 18, but before that, Hardik Patel has started making statements that seem unlikely that he will be defeated by the Election Commission and now he will lose the elections. However, the exit polls are already saying that Hardik Patel supported Congress is defeated. Because of that, their bluff has increased. Now Hardik Patel has tried to steer the new stakes. He wrote on Twitter that “BJP is losing the election, but on Saturday and Sunday night there is a big mess in the EVM.” The level of frustration is such that the belief has now got lost from the EVM and the Election Commission. With the help of this election, he was talking about giving the BJP brilliance!

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “मेरी बातों पर सिर्फ़ हँसी आएगी लेकिन विचार कोई नहीं करेगा, भगवान के द्वारा बनाए गई हमारे शरीर में छेड़छाड़ हो सकती है तो मानव के द्वारा बनाई गई EVM मशीन में क्यों छेड़छाड़ नहीं हो सकती !! ATM हेक हो सकते है तो EVM क्यूँ नहीं !!!”

He wrote on twitter: “Only laughs at my point of view, but no one will think, our bodies created by God can be tampered with, so why the EVM machine created by humans can not be tampered with !! ATM can be hacked, why not EVM !!! ”

हार्दिक इतने बौखलाए हुए है कि उन्होंने यहां तक कह दिया कि “अहमदाबाद की एक कंपनी के द्वारा १४० सोफ्टवेर एंजिनियर के हाथों से ५००० EVM मशीन के सोर्स कोर्ड से हेकिंग करने की तैयारी हैं।” अब हार्दिक के इन ट्वीट्स से आप आसानी से समझ सकते हैं कि चुनाव के नतीजे अभी आये भी नही हैं और हार्दिक का मानसिक संतुलन किस कदर डोल गया है!

Hardik is so distraught that he even said that “a company of Ahmedabad is preparing to hack with source code of 5000 EVM machine by the hands of the 140 Software Engineer.” Now you can understand these Tweets from Hardik That the results of the election have not yet come and how the mental balance of hearty has gone!

अहमदाबाद कलेक्टर ने दिया जवाब

EVM हैकिंग के हार्दिक पटेल के आरोपों को अहमदाबाद प्रशासन ने बकवास बताया है और कहा है कि इसपर कोई सफाई देने की जरूरत नहीं है क्योंकि इन आरोपों में दम नहीं है। अहमदाबाद की कलेक्टर अवंतिका सिंह ने समाचार एजेंसी एएनआई को कहा कि इस संबंध में यदि किसी किस्म की सफाई दी जाती है तो वह चुनाव आयोग द्वारा दी जाएगी। कलेक्टर अवंतिका सिंह ने कहा, ‘ये आधारहीन आरोप हैं, मैं नहीं समझती हूं कि किसी सफाई की जरूरत हूं, यदि किसी तरह की सफाई जारी की भी जाएगी तो यह चुनाव आयोग द्वारा जारी की जाएगी।

Ahmedabad Collector’s Answer

Hardik Patel’s allegations of EVM hacking have been described by the Ahmedabad administration as nonsense and have said that there is no need to give any clarification on this because these allegations are unheard of. Ahmedabad’s Collector Avantika Singh told the news agency ANI that if any kind of cleanliness is given in this regard, then it will be given by the Election Commission. Collector Avantika Singh said, “These are baseless allegations, I do not think there is a need for cleanliness, if any kind of cleanliness is issued then it will be issued by the Election Commission.

गुजरात चुनाव: फर्जी ओपिनियन पोल शेयर कर कांग्रेस फिर हुयी शर्मशार, चाणक्या टूडे ने भी बताया झूठा!

New Delhi: देश की दोनों बड़ी पार्टियों कांग्रेस और बीजेपी ने गुजरात चुनाव जितने के लिए हर वो प्रयास किया जिससे उन्हें सफलता हासिल हो सके! गुजरात में पहले चरण का मतदान समाप्त हो गया है, अब गुजरातियों के साथ साथ हर भारतीय को गुजरात के चुनाव परिणामो का बेशब्री से इंतजार है! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृह राज्य होने की वजह से हर कोई जानना चाहता है की क्या गुजरात में आज भी मोदी का जलवा कायम है या नहीं! गुजरात के 182 सीटों पर दो चरण में मतदान हो रहे हैं! दूसरे चरण के लिए मतदान 14 दिसंबर को डाले जाएंगे! गुजरात चुनाव को लेकर देश के लगभग सभी न्यूज़ चैनेलो ने अपने अपने ओपिनियन दिखाए और लगभग सभी ओपिनियन पोल में भाजपा ही जीतती नजर आ रही है!

मीडिया में आ रही खबरों की माने तो गुजरात में बीजेपी पिछली बार से भी अच्छा कर रही है, और कांग्रेस बुरी तरह हार रही है! सेक्युलर मीडिया और कांग्रेस के आईटी सेल ने गुजरात में हवा बनाने के लिए खूब झूठ फैलाये, कांग्रेस की फर्जी लहार बताई, मीडिया वालों ने तो कांटे की टक्कर जितनी बात कही! कांग्रेस के उपाध्यक्ष श्री राहुल गाँधी हर छोटे बड़े मंदिर जा जाकर दर्शन कर रहे है, जिससे वो हिन्दू वोट को अपनी ओर कर सके! इनसबके बाबजूद भी बीजेपी को ही बहुमत मिलता दिख रहा है!

गुजरात चुनाव के ओपिनियन पोल को देखकर कांग्रेस के नेता इतने हतास हो गए है की अब फर्जी ओपेनियन पोल भी सोशल मीडिया वेब्सीटेस पर शेयर करने लगे है! फोटोशॉप का उपयोग कर फर्जी सर्वे तैयार किये जा रहे है और लोगो के बिच ये दिखने की कोशिश की जा रही है की गुजरात का इलेक्शन कांग्रेस जित रही है! ऐसा इसलिए भी किया जा रहा है क्युकी अभी दूसरे चरण का मतदान होना बाकी है! इस तरह के फर्जी ओपिनियन पोल्ल को दिखाकर कांग्रेस लोगो को गुमराह कर रही है!

लेकिन एक बात जग जाहिर है की कोन्ग्रेस्स का फर्जीवाड़ा ज्यादा समय तक चलता है! अब पहले चरण में उनके नेता ने आरोप लगाया था की EVM को ब्लूटूथ के जरिये हैक किया जा रहा है, लेकिन शाम होने से पहले ही दूध का दूध और पानी का पानी हो गया और कांग्रेस को एक बार फिर शर्मशार होना पड़ा!

अब कांग्रेस के एक नेता ने फर्जी ओपिनियन पोल शेयर किया है जिसमे चाणक्या के नाम का उपयोग कर एक फोटो लोगो से साझा किया जा रहा है! लेकिन चाणक्या के वेरिफ़िएड ट्विटर अकाउंट ने इस तरह के किसी भी ओपिनियन पोल से इंकार किया है! रोहन गुप्ता नाम के कांग्रेस नेता ने अपने ट्विटर अकाउंट एक फर्जी पोल्ल शेयर किया है, देखिये!

चाणक्या टूडे ने भी बताया झूठा और इस तरह के किसी भी सर्वे से किया इंकार:-

सोशल मीडिया पर कांग्रेस के इस कृत्य के लिए लोग खूब आलोचना कर रहे है-

Video: नहीं बोलूंगा जय श्री राम, पहले तुम 5 बार अल्लाह हू अकबर बोलो : जिग्नेश मेवानी

अभी कुछ दिनों पहले ही गुजरात चुनाव की कद्दावर तिकड़ी में से एक जिग्नेश मेवाणी पर एक विवादित संगठन से चेक लेने की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुयी थी! और अब जिग्नेश मेवानी एक नए विवाद में घिरते नजर आ रहे है, इन्होने जय श्री राम कहने से इंकार किया और साथ ही यह भी कहा की पहले तुमलोग अल्लाह हु अकबर बोलो! वैसे तो जिग्नेश हिन्दुओ का ही नाम होता है, पर जिग्नेश मेवानी हिन्दू नहीं है, ये गौरी बामपंथी गैंग के मेंबर मालूम पड़ते है, ये मोदी के अलावा गाय को भी मारने की बात कर चुके है, मीडिया ने इन्हे प्रचारित कर दलित नेता बना दिया, और कांग्रेस अब इसकी साथी है!

जिग्नेश मेवानी के बारे में अगर आप नहीं जानते तो आपको एक और जानकारी दे देते है, देशद्रोही नक्सली अरुंधति रॉय ने इसे चंदा दिया था, और इतना ही नहीं केरल के इस्लामिक आतंकी संगठन PFI ने भी जिसके ISIS से भी लिंक है, उसने भी जिग्नेश मेवानी को चन्दा दिया था

जिग्नेश मेवानी गुजरात में एक सभा कर रहा था, वो एक विधानसभा सीट से चुनाव भी लड़ रहा है, कांग्रेस ने अपना उमीदवार वहां से हटा दिया है, जिग्नेश मेवानी गुजरात में एक सभा कर रहा था, तभी वहां पर कुछ हिन्दू आ गए, और उन्होंने जिग्नेश मेवानी से जय श्री राम कहने के लिए कहा!

पर जिग्नेश मेवानी ने जय श्री राम कहने से साफ़ इंकार कर दिया, और इसने उल्टा हिन्दुओ को कहा की तुम 5 बार अल्लाह हू अकबर बोलो, फिर हिन्दुओ ने वहां मोदी-मोदी के नारे लगाने शुरू कर दिए, और गौरी लंकेश के इस भक्त को बोलने नहीं दिया!

इस वीडियो को ABP न्यूज़ के पत्रकार विकास भदौरिया ने ट्विटर पर शेयर किया है:-

जनेहू धारी राहुल को मिला महिला का मूंहतोड़ जवाब जिसे देख कांग्रेसी गुजरात परिणाम से पहले ही डूब मरेंगे

यह तो सब जानते है की बीजेपी के केंद्र में आते ही मानो राजनीति में भूचाल आ गया था लेकिन बीजेपी ने सत्ता को अपने सिर पर चढ़ने न देते हुए वो नामुमकिन काम कर दिखाए जो आज से पहले भारत के इतिहास में किसी ने नहीं सोचा था|

It is known to everybody that as soon as BJP came to the center of the party, it was as if there was a storm in politics, but the BJP did not do the impossible to climb the head on its head and showed it impossible to do any work that nobody had thought of in the history of India before today.

आज हर इंसान की जुबान पर मोदी का नाम है और 2019 में दोबारा मोदी सरकार है | ऐसे में कांग्रेस बुरी तरह बौखला रखी है | उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि गुजरात और हिमाचल चुनाव जीतने के लिए क्या करें! और क्या न करे |

Today, Modi is the name of every human being, and again in the year 2019 is the Modi government. In such a situation, the Congress has been very disturbed. They do not understand what to do to win Gujarat and Himachal elections! What else does not.

मौजूदा खबर अनुसार बता दें कि राहुल गांधी अच्छे से जान चुके है कि वो कितनी भी मेहनत कर ले या फिर कितना भी पैसा लगा ले लेकिन मोदी सरकार के लिए लोगों में जो अपनापन है उसे खरीद नहीं सकते और न ही बदल सकते है |

According to the current news, tell Rahul Gandhi that he can work harder or even take any amount of money, but he can not buy or change the person’s identity in the people for the Modi government.

ऐसे में राहुल गांधी के पास केवल एक ही विकल्प बचता है और वो है भगवान| लेकिन कहते है न जो इंसान ड्रामा करता है वो दूर से पहचाना और पकड़ा जाता है और इस बार भी यही हुआ राहुल के साथ भी |

In such a situation, Rahul Gandhi only has one option, and that is God. But it is said that the person who does the drama is far from recognized and caught, and this time it happened with Rahul too.

जानकारी के लिए बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार में जुटे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी राज्य में ताबड़तोड़ दौरे कर रहे हैं| राहुल अब सूरत में मेघमाया मंदिर पहुंचे हैं जहां उन्होंने मत्था टेका है | दरअसल, तीन दिन के दौरे निकले राहुल गांधी लगातार मंदिरों के दर्शन कर रहे है | इससे पहले उन्होंने इस दौरे की शुरुआत प्रसिद्ध अक्षरधाम मंदिर से की थी | अक्षरधाम मंदिर स्वामी नारायण पंथ का है | और पटेल समुदाय में इसके काफी अनुयायी हैं |

For information, tell Congress Vice President Rahul Gandhi, who is campaigning for the Gujarat assembly elections, are touring the state of Maharashtra. Rahul has now reached Meghmaaya temple in Surat where he has been in Mattha. Actually, Rahul Gandhi, who is on a three-day tour, is constantly seeing the temples. Earlier, he started this tour with famous Akshardham temple. Akshardham Temple belongs to Swami Narayana Panth. And there are lots of followers in the Patel community.

आपको बता दे इससे पहले राहुल ने रविवार को केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि देश में सबसे भ्रष्ट राज्य गुजरात है! राहुल के मुताबिक सूरत के व्यापारियों ने उन्हें कहा कि पुलिसकर्मी हर दो महीने में उनके पास आते हैं! और उनसे रिश्वत की मांग करते हैं! जिसके बाद गुजरती लोगों में राहुल के खिलाफ आक्रोश राहुल पर उस वक़्त टूट पड़ा जब वो मंदिर पहुंचे थे |

Before telling you, Rahul had on Sunday targeted the Center and the state government, saying that the most corrupt state in the country in Gujarat! According to Rahul, traders from Surat told them that the policemen come to him every two months! And ask them for a bribe! After which the people who passed in the ruckus against Rahul were broken when Rahul reached the temple.

https://youtu.be/XAWtwYF2j8M

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=6KzO3XxanXM

यूपी चुनाव में अमित शाह के इस फोर्मुले ने भरी सर्दी में छुड़ाए माँ बेटे के पसीने !

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव के नतीजे लगभग आ चुके हैं. भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में एक बार फिर बाजी मारी है. लेकिन इन नतीजों में सबसे बड़ी बात जो वही वो ये कि राहुल गाँधी अपना घर भी नहीं बचा सके. राहुल गांधी का संसदीय क्षेत्र और कांग्रेस का गढ़ माने जाने वाली अमेठी में भी भारतीय जनता पार्टी ने परचम लहराया है |

New Delhi: The results of body elections in Uttar Pradesh have almost come. The Bharatiya Janata Party has once again betrayed the state. But the biggest thing in these conclusions is that the same Rahul Gandhi can not even save his house. In the Amethi, which is considered as a parliamentary constituency of Rahul Gandhi and a Congress stronghold, the Bharatiya Janata Party has wooed the pancham.

अमेठी में दो नगर पालिका,गौरीगंज और जायस समेत दो नगर पंचायतें अमेठी और मुसााफिरखाना हैं. अमेठी की नगर पंचायत सीट भाजपा की चंद्रमा देवी जीत गई हैं. इसके साथ ही फिलहाल तक आए रुझानों के अनुसार अमेठी की गौरीगंज नगरपालिका सीट पर भाजपा आगे चल रही है. अमेठी के गौरीगंज नगरपालिका सीट से भाजपा को जीत मिली है, जबकि जायस नगरपालिका में भी भाजपा को बढ़त मिली है. अभी तक यहां एक भी चुनाव में भाजपा अपना खाता नहीं खोल सकी थी. यह अपने आप में एक इतिहास है |

Amethi has two municipal panchayats including two municipalities, Gauriganj and Jayas, Amethi and Musafirkhana. Amethi’s Nagar Panchayat seat has won the BJP’s, Chandra Devi. At the same time, according to trends, the BJP is moving forward in the Gauriganj Municipality seat of Amethi. The BJP has won from Gauriganj municipality seat of Amethi, whereas in the Jayas municipality, the BJP has got an edge. So far, in a single election, the BJP could not open its account. It has a history in itself.

चुनाव के इन रुझानों के आधार पर बीजेपी नेता स्मृति इरानी ने कांग्रेस के राजकुमार राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि राहुल गांधी अपने निर्वाचन क्षेत्र में ही नहीं जीत रहे हैं. इससे साफ है कि जनता में उन्हें समर्थन नहीं मिल रहा है. गुजरात में स्मृति ने कहा कि जो अपने क्षेत्र में नहीं जीत सकता, वह गुजरात में क्या सपने लेकर आए हैं |

On the basis of these trends of elections, BJP leader Smriti Irani tightened tears on Congress vice-president Rahul Gandhi and said that Rahul Gandhi is not winning in his constituency alone. It is clear from them that they are not getting support from the public. In Gujarat, Smriti said that what cannot win in its territory, what dreams have come in Gujarat?

बता दें कि बीजेपी 2014 के लोकसभा चुनाव से ही बीजेपी कांग्रेस के गढ़ में सेंध लगाने में जुटी हुई है। इसी क्रम में उसने राहुल के मुकाबले कद्दावर नेता स्मृति को राहुल के मुकाबले अमेठी में उतारा था. वहीं, विधानसभा चुनाव की बात की जाए तो कांग्रेस और सपा ने गठबंधन में चुनाव लड़ा था. इसके बावजूद अमेठी की 5 में से 4 सीटें बीजेपी ने जीती थी और कांग्रेस का खाता तक नहीं खुला था |

Let me tell you that BJP has been involved in breaking the Congress stronghold since the 2014 Lok Sabha elections. In the same sequence, she had brought Kadtar leader Smriti to Rahul in Amethi compared to Rahul. At the same time, if the talk of assembly elections, the Congress and the SP contested in the coalition. Despite this, 4 out of 5 seats of Amethi won by BJP and the Congress account was not open.

पिछले चुनावों के नतीजे देखें तो रायबरेली भी कांग्रेस के हाथ से फिसल रहा है. विधानसभा चुनाव में यहां कि 5 सीटों में से 2 पर बीजेपी ने कब्जा कर कांग्रेस को झटका दिया था. 2014 में भले ही सोनिया जीती हों लेकिन उनका वोट बैंक कम हुआ था. उस वक्त सपा ने उनके खिलाफ कोई कैंडिडेट मैदान में नहीं उतारा था |

Seeing the results of the last elections, Rae Bareli is also slipping from the hands of the Congress. In the Assembly elections here, 2 of the 5 seats BJP had captured and shocked the Congress. In 2014 even if Sonia won, but her vote bank was reduced. At that time, SP had not fielded any candidate against him.

जीत के बाद यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी के चुनाव सबकी आंखों को खोलने वाला है, जो लोग गुजरात के संदर्भ में बात कर रहे थे उनका खाता भी नहीं खुला है और अमेठी में भी सूपड़ा साफ हुआ है |

After winning, UP CM Yogi Adityanath said that the elections of UP are going to open all eyes, those who were talking about Gujarat, their account is not even open and Amethi has also been cleared.

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=g-H5DwYD5dc

https://www.youtube.com/watch?v=6KzO3XxanXM

मशहूर ब्लॉगर काजल त्रिवेदी ने खोली हार्दिक पटेल की पोल, गुजरात में पटेलों ने समर्थन देने से किआ इन्कार !

गुजराती विधानसभा चुनाव की गहमागहमी में एबीपी न्यूज़ के शिखर सम्मेलन में कथित पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने दावा किया कि इस बार सत्ताधारी बीजेपी को हार की कड़वी घूंट पीनी पड़ेगी।

This alleged Patidar leader Hardik Patel claimed that BJP will win more than 85 seats and will be left behind by the magical figures of this, this Baba Hardik Patel predicted.

इस कथित पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने दावा किया कि बीजेपी ज्यादा से ज्यादा 85 सीटें जीत सकती हैं और बहुमत के जादुई आंकड़े से पीछे रह जाएगी, ये बाबा हार्दिक पटेल ने भविष्यवाणी की।

This alleged Patidar leader Hardik Patel claimed that BJP can win more than 85 seats and will be left behind by the majority of the magical figures, this Baba Hardik Patel predicted.

कॉंग्रेस का दामन पकड़े हुए हार्दिक पटेल से एबीपी न्यूज़ के शिखर सम्मेलन में कई सवाल पूछे गये परन्तु हार्दिक पटेल ज़वाब को घुमा-फिरा कर ताल गया और हर सवाल का बिल भाजपा पर फाड़ गया।

Hardik Patel, who was holding the Congress, had asked several questions at the ABP News Summit but Hardik Patel turned around and turned the tables and every question was bogged down on the BJP.

जब हार्दिक पटेल से पूछा गया कि कि जिस कांग्रेस ने केरल में खुलेआम गाय का काटा, उस पार्टी का वो सपोर्ट कैसे करेंगे? सवाल के जवाब में हार्दिक पटेल ने कहा कि गाय की हत्या का अधिकार किसी को नहीं है “लेकिन गाय की हत्या के नाम पर किसी की जान लेना बड़ा गुनाह है।’ और इस तरह से केरल मे हृ बीफ पार्टी के सवाल को वो ताल गया और दूसरे मुद्दे पर आ गया।

When Hardik Patel was asked, how would he support that party of Congress which opened the cow in Kerala openly? In response to the question, Hardik Patel said that nobody has the right to kill the cow. “But killing someone in the name of cow’s killing is a big crime.” And in this way, he had a rhythm in the question of the heart beef party in Kerala. And came to the other issue.

इसी कार्यक्रम में रेस्पेक्टेड गेस्ट के रूप में एक गुजराती महिला बैठी हुई थीं और हार्दिक पटेल की इस बेतुकी बातों को ध्यान से सुन भी रही थी। उस गुजराती एंग्री यंग लेडी का मन तो बहुत किया हार्दिक को कारारे जवाब देने का पर यह सम्भब ना था क्योकि यह कोई डिबेट शो नहीं था की अपनी बात राखी जा सके।

In this program, a Gujarati woman was sitting as a recommended guest and was listening to Hearty Patel’s absurd words. The Gujarati angry young lady did a great deal of heartwarming but it was not possible to answer it because it was not a debate show that could keep its point.

वरना यह गुजरात को दबंग लेडी पुरे आंकड़ो के आधार पर जवाब देने के लिये पुरे भारत में जानी जाती हैं। जी हाँ आपने ठीक पहचाना यह सोशल वर्कर और वीडियो ब्लॉगर काजल त्रिवेदी थीं।

Otherwise, it is known to all the people in Gujarat to give answers on the basis of Dabangg Ladies based on the total data. Yes, you were a well-known social worker and video blogger Kajal Trivedi.

आपको बता दें की इस कार्यक्रम के बाद शाम को काजल त्रिवेदी जी ने फेसबुक पोस्ट भी किया था की “I AM on ABP News Live #शिखर_सम्मेलन…..सामने बेठा है ग़द्दार मगर चाहते हुए भी इसे मुँह-तोड़ जवाब नहि दे सकती”।

Let us tell you that after the program, Kajal Trivedi had posted a Facebook post in the evening that “I AM on ABP News Live # Pichaar Sammelan … .It is a bad guy, but he can not answer it even if he wants it”.

इस पोस्ट को बहुत समर्थन मिला और लोगो ने बहुत कमेंट भी किये। अलोक तिवारी कानपुर नाम के मित्र ने पोस्ट पर कमेंट किया की ‘सच मे चेहरा देखकर ऐसा ही लग रहा है कि अभी हार्दिक पटेल को 2 – 4 कंटाप रसीद कर देंगी, मिलेगा मौका चिंता न करे।।’

This post got a lot of support and the people did a lot of comments too. A friend named Alok Tiwari Kanpur commented on the post that ‘seeing the face really is like feeling that the hearty Patel will get 2-4 contingent receipt now, do not worry about the chance.’

काजल त्रिवेदी जी को जो मौका चाहिए था वो मौका इन्होंने खुद ही बना लिया । जी हाँ आज अपने लाइव वीडियो में काजल जी ने हार्दिक पटेल की इस सारी बेतुकी बातों और भाजपा पे लगाये गए आरोपो का जवाब भी दिया और हार्दिक की जमकर क्लास भी लगा डाली। आप काजल त्रिवेदी के इस लाइव वीडियो को खुद ही देख लीजिये –

The chance that Kajal Trivedi wanted was the opportunity he himself made. Yes, today in his live video, Kajal gave the answer to all the ridiculous statements of Hardik Patel and the allegations made by the BJP on him and he also put a class on Hardik’s fiercely. You see this live video of Kajal Trivedi on your own –

गुजरात की बेटी ने छुड़ा दिये हार्दिक के पसीने

गुजरात की बेटी ने छुड़ा दिये हार्दिक के पसीने

Posted by ModiNama on Thursday, November 30, 2017