चीन की धरती पर कदम रखते ही भारत के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी,बीएसई ने आज रच दिया नया इतिहास, सारे रिकॉर्ड हुए धराशायी

नई दिल्ली : पीएम मोदी आज चीन के विदेशी दौरे पर हैं. चीन के वुहान शहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भव्य स्वागत किया गया. यहाँ तक की खुद चीन के राष्ट्रपति शी जिंगपिंग ने प्रोटोकॉल तोड़कर पीएम मोदी कर गर्मजोशी से स्वागत किया.

New Delhi: PM Modi is on foreign tour of China today Prime Minister Narendra Modi received a grand reception in Wuhan city of China. Even China’s President Xi Jinping himself warmly welcomed the PM Modi by breaking the protocol.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत के लोग वास्तव में बेहद गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं कि मैं पहला ऐसा भारतीय प्रधानमंत्री हूं, जिसकी अगवानी के लिए आप (शी जिनपिंग) दो बार राजधानी से बाहर आए.

PM Modi said that the people of India are truly proud that I am the first Indian Prime Minister, for whom you (Shi Jinping) come out twice from the capital

अभी मिल रही ताज़ा खबर के मुताबिक आज भारत के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी आयी. शेयर बाजार ने मई सीरीज की शुरुआत दमदार की तो वहीं अंत भी धमाकेदार रहा. एशियाई बाजार में उछाल के बीच बंबई शेयर बाजार में आज बहार का दिन है.

According to the latest news available today, there was a great news for India today. If the stock market started the May series, then the end was also bullish. Between the boom in the Asian market today is the day outside of the Bombay Stock Exchange.

जैसे ही सुबह बाजार खुला शेयर बाज़ार में भारी उछाल देखा गया. दोपहर 1.30 बजे 301 अंकों की उछाल के साथ सेंस्टिव इंडेक्स सेंसेक्स ने नया इतिहास रच दिया और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक 35,014.82 पर चल रहा था. निफ्टी में 84 अंकों का उछाल रहा और ये 10,702.35 अंक पर पहुंच गया.

As soon as the morning market saw a huge surge in open stock market. At 1.30 pm, the BSE Sensex created a new history with a 301-point surge and the BSE Sensex Index of Bombay Stock Exchange was running at 35,014.82. The Nifty was up by 84 points and it reached 10,702.35 points.

रोज रिकॉर्ड तोड़ता शेयर बाजार इस बात का सबूत है कि पीएम मोदी की अगुवाई में जिस तरह देश आगे बढ़ रहा है, उससे तमाम क्षेत्रों की कंपनियों में विश्वास जगा है.नोटबंदी और जीएसटी जैसे आर्थिक सुधारों के कदम उठाने के बाद आर्थिक जगत में मोदी सरकार की साख मजबूत हुई है, और कंपनियां, शेयर बाजार, आम लोग सभी सरकार की नीतियों पर भरोसा कर रहे हैं.

The stock market is losing evidence that this is the evidence that the way the country is moving forward under the leadership of PM Modi is going to win trust in companies of all the sectors. After taking steps for economic reforms such as Nodbindi and GST, Modi Government in the financial world The credibility of this has been strengthened, and companies, stock markets, the common people are reliant on all government policies.

ये तो कुछ भी नहीं आप जानकार दंग रह जाएंगे मोदी के नेतृत्व में लगातार मजबूत हो रही अर्थव्यवस्था के कारण सरकार ने पहली बार विनिवेश के जरिये साल 2017-18 में अभी तक 54,337 करोड़ रुपये प्राप्त हो चुके हैं. यह एक अपना में ज़बरदस्त रिकॉर्ड है.

Nothing will be left to you knowing. Because of the continuous strengthening economy under Modi’s leadership, the government has received 54,337 crores for the first time in 2017-18 through disinvestment. It has a tremendous record in its own right.

विदेशी मुद्रा भंडार में ऐतिहासिक वृद्धि
मोदी की सरकार बनने के बाद देश में विदेशी मुद्रा भंडार में ऐतिहासिक वृद्धि हुई है. अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में इस साल कई रिकॉर्ड बने हैं. भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल महीन में देश का विदेशी मुद्रा भंडार 423.12 अरब डॉलर के भारीभरकम रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया. विदेशी मुद्रा भंडार ने 400 अरब डॉलर का स्‍तर पहली बार इस साल सितंबर के पहले हफ्ते में पार किया था. जबकि कांग्रेस शासन काल के दौरान 2014 में विदेशी मुद्रा भंडार 311 अरब पर अटका रहा करता था.

Historical rise in foreign exchange reserves
After the formation of Modi’s government, there has been a historic increase in foreign exchange reserves in the country. There are several records this year in the field of economy. According to the latest data released by the Reserve Bank of India, in April, the country’s foreign exchange reserves reached a record high of 423.12 billion dollars. Foreign exchange reserves crossed the $ 400 billion mark for the first time in the first week of September this year. During the Congress regime, during 2014, the foreign exchange reserves remained staggering at 311 billion rupees.

सफल नीलामी प्रक्रिया
मोदी सरकार में पहली बार कोयला ब्लॉक और दूरसंचार स्पेक्ट्रम की सफल नीलामी प्रक्रिया अपनाई गई. इस प्रक्रिया से कोयला खदानों (विशेष प्रावधान) अधिनियम, 2015 के तहत 82 कोयला ब्लॉकों के पारदर्शी आवंटन के तहत 3.94 लाख करोड़ रुपये से अधिक की आय हुई.

सरकार के आंकड़ों के अनुसार कांग्रेस सरकार में अप्रैल-जुलाई 2013-14 में अनुमानित व्‍यापार घाटा 62448.16 मिलियन अमरीकी डॉलर का था, वहीं अप्रैल-जनवरी, 2016-17 के दौरान 38073.08 मिलियन अमेरिकी डॉलर था. जबकि अप्रैल-जनवरी 2015-16 में यह 54187.74 मिलियन अमेरिकी डॉलर के व्‍यापार घाटे से भी 29.7 प्रतिशत कम है. यानी व्यापार संतुलन की दृष्टि से भी मोदी सरकार में स्थिति उतरोत्तर बेहतर होती जा रही है और 2013-14 की तुलना में लगभग 35 प्रतिशत तक सुधार आया है.

Successful auction process
The successful auction process of the coal block and telecom spectrum was adopted for the first time in the Modi government. Through this process, under the coal mines (Special Provisions) Act, 2015, the transparency allocation of 82 coal blocks generated more than Rs 3.94 lakh crore rupees.

भारत हर क्षेत्र में अपना झंडा गाड़ता जा रहा है
आज तेज़ी से भारत हर क्षेत्र में अपना झंडा गाड़ता जा रहा है. कभी हथियार खरीदने के लिए दूसरे देशों के आगे हाथ फैलाना पड़ता था. हज़ारों करोड़ देकर पुरानी तकनीक के बेकार हथियार खरीदे जाते थे लेकिन आज भारत में ‘मेक इन इंडिया’ योजना के तहत दुनिया सबसे शक्तिशाली कंपनी भारत में आकर हथियार बना रही है वो भी सबसे आधुनिक तकनीक वाले. आज ये हथियार भारत दूससरे देशों को बेचकर शक्तिशाली देशों के साथ कंधे से कन्धा मिलाकर खड़े हो रहा है.

India is flipping its flag in every sphere
Today India is rapidly flipping its flag in every sphere. Ever had to spread arms ahead of other countries to buy arms. Untamed weapons of old technology were purchased by giving thousands of crores but today, in India, under the ‘Make in India’ scheme, the world’s most powerful company is making weapons in India, it is also the most advanced technology. Today, these arms are selling to other countries and standing with shoulders from powerful countries.

यह भी देखे

https://youtu.be/WE3MmmBzG4k

https://youtu.be/o9LQnPMci4I

source political report

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *