चीन में अपनी कूटनीति की धाक जमा रहे PM मोदी को लेकर अमेरिका से आयी एक बेहद चौकाने वाली रिपोर्ट, जिसे देख कांग्रेस समेत मायावती,अखिलेश के उड़े होश

नई दिल्ली : हाल ही में यूपी में उपचुनाव हुए जिनमें भाजपा की हार हुई। हार के पीछे कारण बताया जा रहा था कि पार्टी को हराने के लिए विपक्ष एकजुट हो गए थे. इसी के बाद अटकलों ने भी जोर पकड़ लिया कि अगले लोकसभा चुनाव में विपक्ष एकजुट होकर भाजपा के खिलाफ लड़ेंगे और नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनने से रोक लेंगे. लेकिन अब पीएम मोदी को लेकर जो खबर आ रही है, उसे देख कांग्रेस समेत सभी विपक्षी पार्टियों की सिट्टी-पिट्टी गम हो गयी है.

New Delhi: Recently in Uttar Pradesh, the bye-elections happened in which BJP lost. The reason behind the defeat was that the opposition was united to defeat the party. After this the speculation also caught hold that in the next Lok Sabha elections, the opposition will unite and fight against the BJP and prevent Narendra Modi from becoming the Prime Minister again. But now the news about PM Modi is coming to see that all the opposition parties, including the Congress, have become satiated.

2019 नहीं, 2029 तक नरेंद्र मोदी रहेंगे प्रधानमंत्री
दुनिया में सबसे ताकतवर कौन है, इसका आकलन दो तरह से किया जाता है. पहला आर्थिक ताकत और दूसरी सैन्य क्षमता, इन दोनों मापदंडों पर अमेरिका नंबर वन है. मगर अमेरिका के बाद कौन है, यही जानने के लिए ब्लूमबर्ग मीडिया समूह ने दुनिया के 16 देशों के नेताओं का एक आकलन किया. इस सर्वे का नतीजा देख दुनियाभर के नेताओं ने दाँतों तले उंगलियां दबा ली.

Narendra Modi will be prime minister till 2019, not 2029
Who is the most powerful in the world, it is estimated in two ways. First economic strength and second military capability, America is number one on both of these parameters. But to find out who is after the US, the Bloomberg Media Group conducted an assessment of leaders from 16 countries around the world. Seeing the result of this survey, leaders from around the world pressed fingers under their teeth.

आपको याद होगा कि कांग्रेस के राज में रोबोट प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को “अंडर अचीवर” और “असफल” करार दिया गया था. मगर ब्लूमबर्ग मीडिया समूह के हालिया सर्वे के मुताबिक़ ना केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बेहद ताकतवर नेता हैं, बल्कि मोदी 2029 तक प्रधानमंत्री बने रहे सकते हैं.

You will remember that in the Congress rule, the robot Prime Minister Manmohan Singh was termed as “under aceiver” and “unsuccessful”. But according to the recent survey of the Bloomberg Media Group, not only Prime Minister Narendra Modi is a very powerful leader, but Modi can remain Prime Minister till 2029.

दुनिया के सबसे ताकतवर नेता बने मोदी
2014 में पीएम बनने वाले नरेंद्र मोदी का कद इतना बड़ा हो गया है कि भारत में कोई भी समकक्ष नेता उनकी बराबरी करता नजर नहीं आ रहा. उनके प्रशंसक एक 10 साल का बच्चा भी है तो वहीं 90 साल का बुजुर्ग भी. लोगों के बीच उनकी गजब की लोकप्रियता को देखते हुए राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि 2019 में भी उनके नेतृत्व में सरकार बनेगी और उसके बाद 2024 में भी नरेंद्र मोदी तीसरी बार चुनाव जीत कर देश के प्रधानमंत्री बन जाएंगे.

Modi becomes the world’s most powerful leader
In 2014, the height of Narendra Modi, who became PM, has become so big that no equal leader in India is being seen as equals. His fan is also a 10-year-old child, while the 90-year-old elderly too. In view of the popularity of his popularity among the people, it is discussed in political corridors that in the year 2019, a government will be formed under his leadership, and in 2024, Narendra Modi will be the Prime Minister of the country by winning elections for the third time.

महागठबंधन की उडी धज्जियां
इस खबर ने देश की राजनीति में सियासी खलबली मचा दी है और अपने-अपने स्वार्थ के लिए एकजुट हुए विपक्ष के महागठबंधन की धज्जियां उड़ा दी हैं. यूपी चुनाव में कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ने वाली समाजवादी पार्टी और बीजेपी को रोकने के लिए जी-जान लगाने वाली बसपा, दोनों ही कांग्रेस के साथ गठबंधन बनाकर मोदी को रोकने का सपना देख रही थी.

Splinter shackles
This news has created a political upheaval in the politics of the country and has blamed the great coalition of united opposition for self-interest. In the UP elections, the Samajwadi Party, which fought the Congress together with the Congress, and the BSP, which was trying to stop the BJP, was dreaming to stop Modi by making an alliance with the Congress.

मगर अब जबकि पीएम मोदी के 2029 तक प्रधानमंत्री बने रहने की भविष्यवाणी हो गयी है तो यूपी में महागठबंधन चूर-चूर हो गया है. आगामी लोकसभा चुनाव के लिए सपा-बसपा ने कांग्रेस को झटका देते हुए उससे अपना पिंड छुड़ा लिया है.

But now that PM Modi is predicted to be the prime minister till 2029, the alliance in UP has shattered. For the coming Lok Sabha elections, the SP-BSP has shredded Congress from the body while shaking the body.

सपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने भी कांग्रेस को खरी-खरी सुनाते हुए कह दिया है कि यूपी में कांग्रेस की हैसियत सिर्फ दो सीटों की है, लिहाजा कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं किया जाना चाहिए.

Former National President of SP, Mulayam Singh Yadav, has also told the Congress that the Congress has a two-seat capacity in the UPA, hence the coalition should not be formed with the Congress.

यह भी देखे

https://youtu.be/WE3MmmBzG4k

https://youtu.be/o9LQnPMci4I

source political report

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *