गुजरात चुनाव से ऐन पहले कांग्रेस ने खेला बड़ा दाव कहा हमे कश्मीर को आजाद कर देना चाहिए |

congress, hindu muslim, news, politics

कल सोनिया गाँधी के सबसे करीबी नेता अहमद पटेल के ISIS आतंकी से तार जुड़े और आज पूर्व गृहमंत्री  और कांग्रेस के वरिष्ठनेता पी चिदंबरम ने एक ऐसी बात कही जिससे साफ हो गया की अंग्रेज अफसर हयूम द्वारा बनाई गई ये कांग्रेस पार्टी भारत के लिए कितना बड़ा खतरा है. ये पार्टी देश को बर्बाद करने की ठान चुकी है!

Yesterday, Sonia Gandhi, the closest leader of Sonia Gandhi, joined the ISIS terrorists and today the former Home Minister and senior Congress leader P. Chidambaram said such a thing, that it was clear that the Congress party created by the British officer Haume, how big a threat to India is. This party has decided to ruin the country.

पी चिदंबरम का मानना है कि कश्मीर को भारत से अलग कर देना चाहते है, आजाद कर देना चाहते है.आज चिदंबरम ने एक कार्यक्रम मे कहा कि कश्मीर के लोग आजादी चाहते है और हमे उनकी मांग को सुनना चाहिए. यानि वो लोग जो चाहते है हमे वो करना चाहिए. कश्मीर को भारत से आजाद कर देना चाहिए. इनको आजादी मिलनी चाहिए!

P Chidambaram believes that Kashmir wants to separate India from India and want to liberate it. Today, Chidambaram said in a program that the people of Kashmir want freedom and we must listen to their demands. That is, the people who want us, we should do that. Kashmir should be liberated from India. They should get freedom.

कांग्रेस पार्टी के इस वरिष्ठ नेता ने अपने बयान से साफ कर दिया की ये कश्मीर को भारत का हिस्सा नहीं मानता और इसके अनुसार भारत ने कश्मीर को गुलाम बना रखा है. अब एक छोटा सा विशलेषण कीजिये कि कश्मीर नाम ही ऋषि कश्यप के नाम पर रखा गया है, ये हजारों साल से इस्लाम के अस्तित्व में आने से भी पहले से भारत का हिस्सा है. यहाँ के लोग कश्मीर हिन्दू है, न की अरबी मुस्लिम, हिन्दू कभी भी कश्मीर को भारत से अलग करने की मांग नहीं करते!

This senior Congress leader has made it clear by his statement that he does not consider Kashmir as part of India and accordingly, India has made Kashmir a slave. Now make a small analysis that Kashmir is named after Rishi Kashyap, it is also a part of India even before coming into existence of Islam for thousands of years. People here are Kashmiri Hindus, not Arabs of Muslims, Hindus never demand separation of Kashmir from India.

सेकुलरिज्म ने जिहादियों को संरक्षण दिया, जिहादियों ने अपनी संख्या कश्मीर में बधाई, और उसके बाद मूल हिन्दुओं को वहा से क़त्ल कर भगा दिया, और सेकुलरों ने भी जिहादियों का साथ दिया, और अब सेक्युलर कह रहे है की कश्मीर के लोग यानि जिहादी लोग, आजादी चाहते है कश्मीर को आजादी कर दो. गिलानी, मीरवाइज, मशरत आलम, यासीन मालिक जैसे लोग कश्मीर को भारत से अलग करने की मांग करते है. और चिदंबरम जो कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता है उनका समर्थन करते है, उनको आजादी दे दो.

The secularism protected the jihadis, the jihadis congratulated their numbers in Kashmir, and after that the original Hindus were murdered there, and the secularists also supported the jihadis, and now the secular is saying that the people of Kashmir, i.e. jihadi people People want freedom, let Kashmir be free. People such as Geelani, Mirwaiz, Mushrat Alam, Yasin Bane demand separation of Kashmir from India. And Chidambaram, who is a senior Congress leader, supports them, give them freedom.

पहले तो नेहरु ने आधे कश्मीर पर पाकिस्तान को कब्ज़ा करने दिया, फिर धारा 370 लगाकर अन्य भारतीयों का कश्मीर में बसना नामुमकिन कर दिया, और फिर वहां से हिन्दुओं को भाग दिया गया और अब चिदंबरम कहते है कश्मीरियों को आजाद दे दो. आखिर ये लोग चाहते क्या है और करना क्या चाहते है ये तो साफ जाहिर हो रह है!

First, Nehru allowed Pakistan to occupy half of Kashmir, and then by making Article 370, it was impossible for other Indians to settle in Kashmir, and then from there the Hindus were divided and now Chidambaram says that let the Kashmiris free. It is clear that what you want and what you want to do.

यह भी देखें!

source : dainik-bharat.org

Leave a Reply