शर्मनाक: ममता ने दशहरा के दिन दुर्गा विसर्जन पर हिन्दुओं का किया ऐसा दमन, संविधान की उड़ा डाली धज्जियां

पश्चिम बंगाल भारत का हिस्सा है, ममता बनर्जी की संपत्ति या कोई मुस्लिम देश नही है, नही है,बंगाल में जाने के लिए किसी भारतीय को ममता बनर्जी से इजाजत लेने की जरूरत नही है, पर ममता बनर्जी ऐसी तानाशाह हो चुकी है की संविधान और कानून की भी खुलेआम धज्जियां उडा रही है,

West Bengal is a part of India, Mamta Banerjee’s property or no Muslim country, there is no need to take any permission from Mamta Banerjee to go to Bengal, but Mamta Banerjee has become such a dictator that the constitution and The law is also openly debunked,

हुआ ये की ममता बनर्जी ने मूर्ति विसर्जन के खिलाफ आदेश दिया था,जिसके बाद कई हिन्दुओं ने घिश्ना करी की वो ममता बनर्जी का गैर क़ानूनी फैसला नही मानेंगे क्यूंकि भारत का संविधान धार्मिक त्यौहार मनाने की छुट देता है, बीजेपी के तंजिदर सिंह ने भी ऐसी घोषणा की थी और वो दशहरा और मूर्ति विसर्जन के लिए आज कलकाता पहुंचे,पर ममता बनर्जी की सरकार ने तंजिदर सिंह को एयरपोर्ट पर ही हिरासत में ले लिया,

After this, Mamta Banerjee had ordered against idol immersion, after which many Hindus complained that she would not accept Mamta Banerjee’s non-legal verdict, because the Constitution of India leaves the celebration of religious festival, BJP’s Tanjidar Singh too The announcement was made and they reached Calcutta today for Dussehra and Murthy immersion, but Mamta Banerjee’s government took Tanjidar Singh into custody at the airport,

और ममता बनर्जी ने आदेश दिया कि तंजिदर बग्गा को वापस दिल्ली भेज दो, सुबह ही तंजिदर एयरपोर्ट पहुंचे,उन्होंने इन्ही हिन्दुओं के साथ दशहरा और मूर्ति विसर्जन हिस्सा लेना था पर ममता बनर्जी ने इन हिन्दुओं के धार्मिक आजादी हनन किया और एयरपोर्ट पर ही इन्हे हिरासत में ले लिया,

And Mamta Banerjee ordered that Tanjird Bagga should be sent back to Delhi, in the morning she reached the Tanjird Airport, she had to take part in the Dussehra and Murthy immersion with these Hindus, but Mamta Banerjee had violated the religious freedom of these Hindus and her custody at the airport. Taken in,

ममता ने दशहरा के दिन किया हिन्दुओं का दमन, नही मनाने दिया त्यौहार,संविधान की धज्जियां उड़ाई

Mamta did the suppression of Hindus on Dussehra, not celebrated festival, demolition of constitution

और अब तंजिदर सिंह और एनी हिन्दुओं को दशहरा और मूर्ति विसर्जन में हिस्सा भी नही लेने दिया गया,जबकि भारत में धार्मिक आजादी हमे संविधान से मिली हुई है और बंगाल में जाने के लिए ममता बनर्जी के वीजा की जरूरत भी नही थी,पर ममता बनर्जी की सर्कार तुष्टिकरण के नाम पर हिन्दुओं के अधिकारों का बर्बरता से हनन कर रही है,

And now Tangier Singh and Ani Hindus were not allowed to participate in Dussehra and idol immersion, whereas religious independence in India is from the Constitution and Mamta Banerjee’s visa was not needed to go to Bengal, but Mamta Banerjee The Government of India is violating the rights of Hindus in the name of appeasement,

बंगाल में गैर क़ानूनी रोहिंग्या मुस्लमान और बंगलादेशी तो रह सकते है, घुस सकते है पर देश के अन्य इलाकों के हिन्दू बंगाल जाकर अपने त्यौहार नही मना सकते है,

Non-legal Rohingya Muslim and Bangladeshi can live in Bengal, but they can enter but Hindus from other parts of the country cannot go to Bengal to celebrate their festivals,

source,www.dainikbharat.org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *