पहले के कांग्रेस की इंदिरा गाँधी और अब के मोदीजी की इन फोटो के बीच का फर्क देखकर हैरान रह जायेंगे आप !

congress

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी कार्यशैली को लेकर हमेशा से ही चर्चा में रहते हैं. मोदी जी किसी भी कार्य को पूरी शिद्दत के साथ पूरा करते हैं वहीं अपनी विपक्षी पार्टी के नेताओं का भी पूरा ध्यान रखते हैं. पीएम मोदी विपक्षी पार्टियों के साथ भी एक दोस्ताना संबंध बना के चलते हैं. उन्हें पता है कि सबको साथ लेकर ही देश का विकास संभव है. पीएम मोदी ने कई बार सदन में कहा भी है कि मुझे देश के सेवा करने के लिए आप सभी लोगों का सहयोग चाहिए. वहीँ अगर बात देश की पहली महिला पीएम इंदिरा गाँधी की करें तो उनकी कुछ तस्वीरें देखकर आप हैरान रह जाएंगे.

Prime Minister Narendra Modi always talks about his style of functioning. Modi ji completes any work with complete confidence and at the same time he takes full care of the leader of his opposition party. PM Modi also makes a friendly relationship with opposition parties. They know that the development of the country is possible only by taking everyone along. PM Modi has said in the House many times that I want all the people’s support to serve the country. If you talk about the country’s first woman PM Indira Gandhi, then you will be surprised to see some of her photographs.

दरअसल, सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं. इन तस्वीरों में जहाँ एक तरफ प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी अपने मंत्रियों के साथ मीटिंग कर रही हैं. इस मीटिंग में आप देख सकते हैं कि इंदिरा गाँधी कुर्सी पर बैठी हुई हैं और उनके सभी मंत्री उनके सामने खड़े हैं. इन मंत्रियों में से कोई भी इंदिरा गाँधी के सामने कुर्सी पर नहीं बैठा है. वहीँ अगर बात पीएम मोदी की करें तो उनकी तस्वीर देखकर आप भी उन पर गर्व करेंगे.

Indeed, some pictures on social media are becoming viral. In these photographs, on one hand Prime Minister Indira Gandhi is meeting with her ministers. In this meeting you can see that Indira Gandhi is sitting on the chair and all her ministers are standing in front of her. None of these ministers have been sitting in front of Indira Gandhi. If you talk to PM Modi, you will also be proud of seeing his picture.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की जो तस्वीर वायरल हो रही है उसमें वह विपक्ष के नेताओं के साथ किसी मुद्दे पर चर्चा करते हुए दिखाई दे रहे हैं, जिसमें राहुल गाँधी के साथ गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, राज बब्बर, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया आदि दिखाई दे रहे हैं और यह सभी नेता कुर्सी पर ही बैठे हैं. कई मौंको पर देखा भी गया है कि पीएम मोदी राहुल गाँधी के साथ एक मित्र की तरह से बात करते हुए नजर आए.प्रधानमंत्री मोदी विरोधियों के साथ भी अपने नम्र व्यवहार के लिए जाने जाते है. कई मौकों पर उन्होंने अपने इस स्वभाव का परिचय दिया है और लोगों का दिल जीता है

In the picture of Prime Minister Narendra Modi, who is getting viral, he is seen discussing an issue with the leaders of the opposition, including Rahul Gandhi, Ghulam Nabi Azad, Mallikarjun Kharge, Raj Babbar, Punjab Chief Minister Amarinder Singh and Jyotiraditya Scindia is appearing etc. And all the leaders have been sitting in the chair. It has also been observed on several occasions that PM Modi is seen talking to Rahul Gandhi in a way of talking to a friend like him. The Prime Minister Modi is also known for his humble behavior with the opponents. On many occasions they have introduced this nature and won the hearts of the people

इन दोनों तस्वीरों को देखकर आप खुद समझ सकते हैं कि इन दोनों प्रधानमंत्रियों के छवि किस तरह की है. जहाँ इंदिरा गाँधी ने देश लोकतंत्र में एक काला अध्याय ( आपातकाल ) लिखा वहीँ वर्तमान में पीएम मोदी के शासन में देश की छवि विश्व स्तर पर बेहतर होती जा रही है. अब भारत का लोहा विश्व की बड़ी शक्तियां भी मानने लगी हैं. वहीँ इंदिरा गाँधी के शासनकाल को लोग तानाशाही के रूप में देखते थे. इंदिरा गाँधी ने अपने शासनकाल में आपातकाल की घोषणा करके इस बात का सबूत भी दे दिया था

By looking at these two pictures, you can understand yourself how the image of these two Prime Ministers is. While Indira Gandhi wrote a dark chapter (emergency) in the country’s democracy, at present, the image of the country is getting better at the world globally under PM Modi’s rule. Now India’s iron has begun to accept the biggest powers of the world. In the same way, the people of Indira Gandhi’s reign were seen as dictatorships. Indira Gandhi gave evidence of this fact by declaring an Emergency during her reign

यह भी देखे

source polotical report

Leave a Reply