इजराइल के बाद भारतीय सेना में आये ये ज़बरदस्त हथियार, पाकिस्तान फ़ौज में मचा हाहाकार !

नई दिल्ली: पाकिस्तान के मटियामेट होने का वक़्त आ गया है. पीएम मोदी ने पाकिस्तान को अलग-थलग करने में सफलता पा ली है और अमेरिका समेत दुनिया के कई बड़े देशों ने पाकिस्तान का साथ छोड़ दिया है. वहीँ भारतीय सेना को भी पाकिस्तान की ईंट से ईंट बजाने का सामान मिलने जा रहा है, जिसके बाद एलओसी पर पाकिस्तानी सेना एक भी गोली चलाने की हिम्मत नहीं कर सकेगी|

New Delhi: Pakistan’s deadline has come. PM Modi has succeeded in isolating Pakistan and many other world countries including the US have left Pakistan. In the same way, Indian Army is going to get bricks of Pakistan bricks, after which the Pakistani army will not be able to dare to shoot a single shot.

डीआरडीओ द्वारा बनाये गए वेपन लोकेटिंग रेडार ‘स्वाति’ को तो भारतीय सेना को पहले ही सौंपा जा चुका है. खबर है कि ऐसे 30 रडार भारतीय सेना को जल्द ही मिलने वाले हैं, जिन्हे पाकिस्तान से सटी सीमा और एलओसी पर तैनात किया जाएगा| बता दें कि ‘स्वाति’ के नाम से ही पाक फ़ौज थर-थर काँप उठती है. दरअसल भारत के साथ आमने-सामने लड़े गए सभी युद्धों में पाकिस्तान को हमेशा मुँह की खानी पड़ी है. ऐसे में पाक सैनिक छुप कर सीमा पार से गोलियां, मोर्टार और रॉकेट दागते रहते है|

Weapon locating radar ‘Swati’ created by DRDO has already been handed over to the Indian Army. It is reported that such radars are expected to soon meet the Indian Army, which will be deployed on the border with Pakistan and the LoC. Let us know that the name of ‘Swati’ only raises the Pak army. Indeed, in all the war fought with India, Pakistan has always lost its face. In this way, the Pak soldiers hide the bullets, mortars and rockets from across the border.

भारतीय सेना भी जवाबी कार्रवाई करती तो है लेकिन गोलीबारी करने वाले पाक सैनिकों की सटीक जानकारी न होने की वजह से भारतीय सेना के सामने मुश्किल आती है. मगर 30 स्वाति रडार सिस्टम की एलओसी पर तैनाती के बाद जैसे ही पाकिस्तान की तरफ से छिप कर हमला होगा, भारतीय सेना के जवानों को तुरंत पता चल जाएगा कि फायरिंग कहां से हो रही है, रॉकेट कहां से दागे जा रहे हैं और उनकी दूरी और ट्रेजेक्टरी क्या है|

The Indian army also responded, but due to lack of accurate information of the Pakistani soldiers firing, the Indian army faces difficulties. But after the deployment of 30 Swati radar system, after the deployment of Pakistan by the side of the LoC, Indian Army personnel will know immediately where the firing is from where the rockets are being pressed and their distance and What is the tragedy?

30 नए स्वाति रडार के जरिए यह सब जानकारी चंद मिनटों में मिल जाएगी और उसके बाद भारतीय सेना सटीक हमला करेगी और पाकिस्तानी पोस्ट या गोलीबारी की जगह को पलक झपकते ही तबाह कर देगी|

Through 30 new Swati radars, all this information will be found in a few minutes and after that the Indian army will attack exact and will destroy the Pakistani post or firing place with a blink of sight.

स्वाति रडार सिस्टम के द्वारा दुश्मन की ओर से हो की जा रही गोलीबारी की सटीक लोकेशन या ठिकाने का पता चल जाता है. ये दुश्मन के मोर्टार रॉकेट लॉन्चर और आर्टिलरी गन को सिर्फ एक से दो मिनट में तबाह करने की ताकत रखता है. स्वाति रडार सिस्टम की रेंज 30 से 50 किलोमीटर तक है|

The exact location of the firing or detection of enemy firing by Swati Radar system is known. It has the power to destroy enemy mortar rocket launcher and artillery guns in just one to two minutes. The Swati radar system ranges from 30 to 50 kilometers.

सबसे ख़ास बात ये है कि इस रडार सिस्टम को फायर सिस्टम से जोड़ा जाएगा, जिससे सीमा पर होने वाली फायरिंग की जानकारी के साथ दुश्मन को ऑटोमैटिक मुहतोड़ जवाब दिया जा सकेगा. मतलब यहाँ पाक फ़ौज ने मोर्टार दागा और पलक झपकते ही ‘स्वाति’ मोर्टार हमले की जगह का पता लगाते हुए आटोमेटिक हमला कर देगा और दुश्मन के संभलने से पहले ही उसका काम-तमाम हो जाएगा|

The most important thing is that this radar system will be connected to the fire system, allowing the enemy to respond automatically with information about firing on the border. This means that the Pak army will blast the mortar and in the blink of an eye, the ‘Swati’ mortar will attack an automatic attack by attacking the place and it will be full of work before the enemy takes over.

ये रडार सिस्टम रात में भी काम करता है, मतलब पाक फ़ौज जो कायरों की तरह से रात में छिप कर हमला करती है, वो भी इसके कारण रुक जाएगा. 30 नए रडार की तैनाती के बाद पाक सैनिक या आतंकी पहाड़ों में छिपकर अपने पापी मंसूबों को कभी अंजाम नहीं दे पाएंगे, एलओसी से सटे 50 किलोमीटर के दायरे में किसी भी पाकिस्तानी पोस्ट या बंकर से फायरिंग हुई तो अगले ही पल वो पूरा इलाका धुआं-धुआं हो जाएगा|

These radar systems also work in the night, that means the Pak army, which, like the cowardly, attacks in the night, will be stopped, which will also stop because of it. After the deployment of 30 new radars, Pak soldiers or terrorists will not be able to execute their sinners by hiding in the mountains, if any Pakistani post or bunker firing within 50 km radius adjacent to the LoC, then the next time the smoke of the entire area- Smoke will occur.

जिस-जिस इलाके में ‘स्वाति’ की तैनाती हो चुकी है, वहां पाक फ़ौज के हमले बंद हो गए हैं. इसकी वजह यह है कि भारतीय सेना को इस रडार से पाकिस्तान की चौकी और पोस्ट की सटीक लोकेशन मिल जा रही है, जिससे भारतीय सेना भी मुंहतोड़ जवाब दे रही है|

In the area where ‘Swati’ has been deployed, the attacks of the Pak army have ceased. The reason for this is that the Indian Army is getting an accurate post of Pakistan post and post from this radar, which is giving the Indian Army a shocking response.

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=4Tyz5onsJbA

https://www.youtube.com/watch?v=dsJje-_3hzs

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *