योगी राज में आतंकियो और कांग्रेस के कनेक्शन खुली ये बड़ी पोल,राहुल समेत पुरे कांग्रेस में भगदड़

आपको याद नहीं है तो एक घटना बताते ही साल था 2017और जगह थी उत्तर परेश की राजधानी लखनऊ जहाँ पर ats ने सैफुल्ला नाम के isis आतंकी का एनकाउंटर किया ठगा तब उत्तर परेश में चुनाव थे योगी मुख्यमंत्री नहीं बने थे नतीजे नहीं आये थे |

If you do not remember then the year was 2017 as per an incident and the place was Lucknow, the capital of Uttar Paresh where ats attacked the terrorists named as Saifullah. Answer: There were elections in Uttar Paresh. The Yogi did not become the chief, the results did not come.


तब आंतकी सैफुल्ला के परिवार से मिलने एक मौलना गया था जिसका नाम है आमिर राशिदी मदनी,जिसकी तस्वीर आप ऊपर देख रहे है इसका विडियो भी मोजूद है इश्ने उत्तर परेश की पुलिस को खुलेआम धमकी देते हुए कहा था की वर्दी वालो हमारे लडको को टच किया तो वर्दी के साथ खाल भी उतरवा दोंगा सपा राज में यही होता था जरा दूसरी चीज पर नजर डालिये |

Then a visit was made to meet the family of Saifullah, whose name is Amir Rashidi Madani, whose picture you see above is also recorded in the video. Ishnay responded to Paresh’s police openly and threatened that the uniforms touched our boys So with the uniform also, take down the skins, this was the same thing in the SP Raja. Just look at the other thing.

कैरान :ये उत्तर प्रदेश का क़स्बा जहाँ हिन्दुओ के लिए जीना मुश्किल कर दिया गया था इस इलाके मे मुस्लिम आब्दी 95% हो गयी क्यूंकि हिन्दू इलाका छोड़ने पर मजबूर हो गया था हजारों हिन्दुओं को यहं से अत्त्याचार करके भगा दिया गया था पर कैरान के हालत बदल रहे है

Karan: This town of Uttar Pradesh, which was made difficult for living for Hindus, became Muslim 95% in this area.Because the Hindus were forced to leave the area, thousands of Hindus were discharged from it, but the condition of the Karan is changing.

कैराना की मायावती और अखिलेश यादव के राज में ये स्तिथि हो गयी थी की, हिन्दू घर छोड़ने पर मजबूर थे, वो हरियाणा और उत्तराखंड के इलाके में पलायन कर रहे थे, मुकीम काला और फुकरान जैसे गैंग इलाके में सक्रिय थे, जो हिन्दुओ पर भीषण अत्याचार करते थे, हिन्दू अपने घरों पर “ये मकान बिकाऊ है” लिखने को मजबूर थे, हिन्दुओ के घरों पर ताले लटके दिखाई देते थे और हिन्दू पलायन को मजबूर थे

In the reign of Mayawati and Akhilesh Yadav of Kairana, it was established that Hindus were forced to leave their house, they were migrating to the areas of Haryana and Uttarakhand, were active in gang areas like Mukim Kala and Fukran, which were horrifying on Hindus Hindus used to torture, Hindus were forced to write “these houses are sold” on their homes, locals in Hindu homes were seen hanging and Hindus were forced to flee

पर सर्कार बदली और योगी आई मुकीम काला और फुकरान गैंग गुंडों का एनकाउंटर शरू हुआ और अब स्तिथि ये है कि कैरान में हिन्दुओं के घरो पर लटके ताले खुलने लगे है और माकन बिकाऊ है मिटाया जा रहा है, खबर के मुताबिक 1दर्जन से अधिक हिन्दू अपने घरो में लौट 1 दर्जन से ज्यादा घरों के ताले फिर से खुल गए है, मुसारिक, जावेद, फुकरान, गय्यूर, इरशाद जैसे जिहादियों ने आत्मसमर्पण कर दिया है और खुद बोल रहे है की साहेब हमे पकड़ लो, हम जेल में ही ठीक है

But the worker changed and the Yogi started the encounter of Muqim Black and Fukaran gang goons and now the situation is that the locked locks on the houses of Hindus have started to open and Maken is available to be wiped, according to the news, more than 1 dozen Hindus More than 1 dozen home locks have been reopened after returning home, jihadis like Musharik, Javed, Fukan, Sayyur, Irshad have surrendered and themselves are saying that the Sah Hold on us, we are fine in jail

अंकित मित्तल नाम का हिन्दू अपने परिवार के साथ अपने घर वापस आ गया है, अंकित कैराना में सिनेमा हॉल चलाता था, अंकित ने बताया की 2014 में उस से 5 लाख की फिरौती मांगी गयी थी, इस्लामिक गैंग भयानक अत्याचार करने लगे थे, इसी कारण उसे अपने परिवार को ले जाकर हरिद्वार में बसना पड़ा, पर अब अंकित लौट आया है

The Hindu named Ankit Mittal has returned to his house with his family, was running a cinema hall in Ankit Karaana, Ankit told that in the year 2014, a ransom of 5 lakh was sought from him, the Islamic gang started doing terrible torture, for this reason He had to take his family and settle in Haridwar, but now he has returned.

अंकित मित्तल ने ये भी कहा की अब पुरे परिवार को वापस कैरान लेकर आयगा और पूरा परिवार फिर से कैरान में ही होली मनायागा क्यूंकि योगी सरकार है अब कोई दर नहीं है स्थानीय गुंडे इलाका छोड़कर भाग गए है कई का एनकाउंटर कर दिया गया है और अब हिन्दुओं के लिए स्तिथि यहाँ रहने लायक हो गयी अंकित मित्तल ने भी कहा की अन्य लोग भी अपने घरों मी जल्द लौटेंगे और ऐसे कई लोगो से उसकी बाय भी हुई है

Ankit Mittal also said that now the whole family will bring back the Karan and the whole family will celebrate Holi again in Karan
As the Yogi government is no longer there is no rate, the local goose has fled the area and many have been encroached and now the status of the Hindus is worth living here, Ankit Mittal also said that other people will return their homes soon and such Many people have also bitten by them

sourcename:politicalreport

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *