अभी अभी : 500,000,000,000 के घोटाले में हुई बड़ी गिरफ़्तारी, माँ बेटे दहशत में खोज रहे छुपने का रास्ता |

congress

नई दिल्ली : कांग्रेस ने देश में खरबों रुपये की लूट व् भ्रष्टाचार किये हैं, ये बात किसी से छिपी नहीं है. पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ जो मुहिम चलाई हुई है, उसमे आज एक बड़ी सफलता हाथ लगी है. अब तक तो भ्रष्टाचारी कारोबारी ही शिकंजे में फंस रहे थे, मगर अब पहली बार कांग्रेस का एक करीबी धरा गया है. फर्ज़ी दस्तावेज के ज़रिये बैंकों को हज़ारों करोड़ रुपये का चूना लगाने के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय, यानी ईडी ने गगन धवन नामक एक शख्स को गिरफ्तार किया है |

New Delhi : The Congress has done loot or corruption of trillions of rupees in the country, it is not hidden from anyone. In the campaign against PM Modi’s campaign, there has been a great success today. So far the corrupt businessmen were stuck in the clutches, but now for the first time the Congress has been a close hold. Enforcement Directorate, i.e. ED arrested a man named Gagan Dhawan, on charges of looting thousands of crores of rupees through fraudulent documents.

काले धन को सफेद करने के आरोप में कांग्रेस का करीबी गिरफ्तार…
गगन धवन को कांग्रेस नेताओं का करीबी बताया जाता है. गगन को पांच हज़ार करोड़ रुपये के एक घोटाले के सिलसिले में मनी लॉन्ड्रिन्ग एक्ट के तहत दिल्ली में गिरफ्तार किया गया. गगन धवन पर आरोप है कि इसने कई नौकरशाहों और नेताओं के काले धन को सफ़ेद बनाने का गोरखधंधा यानी मनी लॉन्ड्रिंग किया है |

Congress closest to charges of black money laundering …
Gagan Dhawan is said to be close to the Congress leaders. Gagan was arrested in Delhi under the Money Laundering Act in connection with a scam of five thousand crores. Gagan Dhawan is alleged to have lent the money to the white money of many bureaucrats and politicians, that is, money laundering.

जांच एजेंसियों को कई नौकरशाहों को लाखों रुपये का भुगतान किए जाने से जुड़े दस्तावेज़ भी मिले हैं, जिनमें IRS सुभाष चंद्रा को 30 लाख रुपये दिए जाने से जुड़ा दस्तावेज भी शामिल है. इसके अलावा IAS मानस शंकर रे को 40 लाख रुपये दिए जाने का दस्तावेज़ भी बरामद हुआ है. इस मामले में दिल्ली पुलिस के कई बड़े अधिकारियों की भूमिका की भी जांच की जा रही है |

Documents related to payment of millions of rupees to investigating agencies have also been received by many bureaucrats, including the documents related to the payment of Rs 30 lakh to IRS Subhash Chandra. Apart from this, a document of Rs 40 lakhs was also recovered from IAS Manas Shankar Ray. In this case, the role of many big police officers of Delhi Police is also being investigated.

500000000000 रुपये का है घोटाला…
कांग्रेस की सरपरस्ती में पल रहे और देश को लूट-लूट कर खोखला कर रहे ये नौकरशाह भी अब जल्द ही हिरासत में आएंगे और धीरे-धीरे इसमें शामिल कोंग्रेसी नेताओं के कच्चे-चिट्ठे खुलना भी अब तय माना जा रहा है. ज़रा सोचिये कि कांग्रेस खुद तो घपले करती ही थी, साथ ही आईएएस व् आईपीएस अफसर भी भ्रष्टाचार में लगे रहते थे. जिन्हे देश चलाने की जिम्मेदारी दी जाती है, वो ही देश की जनता के टैक्स के पैसों में घुन की तरह लगे हुए हैं |

500,000,000,000 rupees scam …
These bureaucrats, who are still in the custody of the Congress, who are being looted and looting the country, will soon come into custody and gradually opening up of the raw and political leaders of the Congress leaders involved in them is also being considered. Just think that the Congress itself would have been screwed, as well as the IAS and IPS officers were also engaged in corruption. Those who are given the responsibility of running the country, they are engaged in the income of the people of the country like the mite of tax.

कोंग्रेसी नेताओं के लिए बड़ी मुश्किल हुई खड़ी…
बहरहाल अब गगन धवन को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया जाएगा, जहां उसे पूछताछ के लिए रिमांड पर दिए जाने की मांग की जाएगी. रिमांड में गगन धवन की अच्छी तरह से पूजा-आरती करके उससे सब सच उगलवाया जाएगा. नौकरशाहों समेत नेताओं तक के सारे राज्यों पर से पर्दाफ़ाश कराया जाएगा |

For the Congress leaders, it has been very difficult …
However, now Gagan Dhawan will be presented in Patiala House Court, where he will be demanded on the remand for questioning. In the remand, Gagan Dhawan’s well-worshiped rituals will be spared all the truth. All the bureaucrats including the leaders will be exposed on the states.

बता दें कि ईडी ने अगस्त में गगन धवन और दिल्ली के एक पूर्व विधायक के ठिकानों पर छापेमारी भी की थी और गगन धवन का नाम सीबीआई की संदेसारा ग्रुप की FIR में भी है. कांग्रेस के खिलाफ ये एक बड़ा एक्शन माना जा रहा है, इससे पूछताछ के आधार पर कई नौकरशाहों व् नेताओं की गिरफ्तारी भी हो सकती है |

Let me tell you that the ED had conducted raids on the premises of Gagan Dhawan and a former Delhi legislator in August and Gagan Dhawan’s name is also in the FIR in the CBI’s Saadasara Group. This is being considered as a major action against Congress, it may also arrest many bureaucrats and leaders on the basis of inquiry.

देखिये यह वीडियो!

source : ddbharti.in

Leave a Reply