पीएम मोदी के इस फैसले से कई मुस्लिम देशों की हालत हुई ख़राब, कांग्रेसियों के मुहं पर भी पड़ा तमाचा!

नई दिल्ली : आज भारत बहुत तेज़ी से प्रगति कर रहा है जितना कि पिछली सरकारों ने कभी सोचा भी नहीं होगा. बेहद महत्वपूर्ण प्राकर्तिक संसाधन जैसे कोयला और मुस्लिम देशों के तेल के कुंवे बहुत ही कम मात्रा में अब बचे हैं. आने वाले कुछ सालों में यह पूरी तरह से विलुप्त हो जायेंगे. ऐसे में अब मोदी सरकार ने अपने लिए गए क्रन्तिकारी फैसले पर आज पहला चरण सफलतापूर्वक रख दिया.

New Delhi: Today India is progressing very fast as the previous governments will never have thought. Extremely important animal resources such as coal and Muslim countries have little survival in the small quantities of oil. In the coming years, it will completely become extinct. In such a situation, the Modi government has successfully placed the first step on the revolutionary decision taken by him today.

पीएम मोदी की महत्वाकांक्षी योजना से ऑटो इंडस्ट्री में मचा हड़कंप….                                                      मीडिया रिपोर्ट्स से आ रही बड़ी खबर के अनुसार अब आम आदमी को पेट्रोल की महंगाई की मार से आज़ादी मिलने जा रही है. साथ ही मोदी विरोधियों के हाथ से तेल के दाम बढ़ने पर मोदी को घेरने वाला मुद्दा भी छिन जाने वाला है. आपको याद होगा सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने एलान किया था कि मोटर कार उद्योग वाले चाहे या न चाहे. मैं आप लोगों को पूछूंगा नहीं, बल्क‍ि सीधे ही तुरंत फैसला ले लूंगा. हम बिजली से चलने वाली कारें लाकर रहेंगे. तो आपको जानकार बहुत ख़ुशी होगी कि मोदी सरकार ने टाटा मोटर्स को 10,000 इलेक्ट्रिक कारों की बनाने का आर्डर दे दिया है.

PM Modi’s ambitious plan to stir rumors in auto industry…                                    According to the big news coming from media reports, now the common man is going to get freedom from the petrol price hike. At the same time, the issue of enclosing Modi on the rise of oil prices by Modi opponents is also going to be lost. You must remember, Road Transport Minister Nitin Gadkari had said that whether the motor car industry likes or not. I will not ask you people, but will take the decision right away. We will be carrying electric running cars. So you will be very happy that the Modi government has ordered Tata Motors to make 10,000 electric cars.

नवंबर महीने से ही दिखने लगेगा असर, क्रांति का पहला कदम…
यह आर्डर सरकारी कंपनी एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड यानी EESL ने टाटा मोटर्स को दिया है. जिसके बाद दो चरणों में ये कारें भारत में चलेंगी. आपको जानकर हैरानी होगी की पहले चरण में 500 कारें तो दो महीने बाद यानि नवंबर 2017 में ही आ जाएँगी. बाकी 9,500 अगले साल तक बन कर तैयार हो जाएँगी. सबसे पहले परिक्षण करने के लिए यह कारें सिर्फ नेताओं सांसदों को दी जाएँगी. जिसका पैसा उन्हें अपनी जेब से भरना होगा.यानी कि पीएम मोदी समेत मंत्रिमंडल और विरोधी कांग्रेस पार्टी समेत सभी आपको बिजली वाली कारों में सड़कों पर दिखाई देने लगें जिसके बाद इसे भारत में इलेक्ट्रिक कारों की का पहला कदम करार दिया जायेगा.

The effect will be seen from November only, the first step of the revolution…          This order has been given to Government of India, Energy Efficiency Services Ltd., EESL, to Tata Motors. After which these cars will move to India in two phases. You will be surprised to know that in the first phase, 500 cars will come in two months later ie November 2017. The remaining 9,500 will be ready by the next year. To test first, these cars will be given to leaders only MPs. They will have to fill their pockets with their pockets. Everybody, including the PM Modi and the anti Congress party, will be seen on the roads in the electric cars, after which it will be termed as the first step of the electric cars in India.

पुराने बल्ब की जगह LED…                                                                                                  आपको बता दें ईईएसएल(EESL) बिजली मंत्रालय के तहत काम करती है. ये वही कंपनी है जिसने मोदी सरकार के साथ मिलकर ज़्यादा बिजली खपत वाले बल्ब पुरानी ट्यूबलाइट और CFL की जगह LED वाले कम बिजली पर ज़्यादा समय तक चलने वाले बल्ब लाकर एक ज़बरदस्त क्रांति लायी थी. सरकार ने सब्सिडी से पूरे देश में गरीबों के घर में एलईडी बल्ब लगवाए थे. लेकिन बिजली वाली कारों के इस बड़े आर्डर से ये साफ हो गया है कि भारतीय कार बाजार का खेल अब पूरी तरह से बदलने वाला है.

LED bulb replaced LED…                                                                                              Tell you EESL works under the Ministry of Power. This is the same company which brought together a powerful revolution in collaboration with the Modi government, bringing bulb vintage tubelite and CFLs with more power consuming LED bulbs for longer periods of time. The government had installed LED bulbs in the homes of the poor all over the country with subsidy. But with this big order of electric cars it has become clear that the game of Indian car market is now completely changing.

प्रदुषण से मिलेगी आज़ादी, भारत पछाड़ेगा दिग्गज देशों को….                                                                ऐसा ही कुछ अब एक बार फिर हो रहा है पूरे सरकारी विभागों में आज 5 लाख पेट्रोल व डीजल वाहनों का इस्तेमाल होता है. जिन्हे अब इलेक्ट्रिक कारों से बदल दिया जाएगा. उसके बाद पूरे देश में सिर्फ इलेक्ट्रिक कार ही चलेंगी. नीति आयोग की एक रिपोर्ट के मुताबिक अगर देश में बिजली से चलने वाली कारों का इस्तेमाल होने लगेगा तो पेट्रोल व डीजल की मांग में फीसदी तक की कमी आएगी और कार्बन उत्सर्जन में भी की बड़ी कटौती होगी.

Freedom will be provided by pollution, India will retain biggies…                            Something like this is happening once again in the entire government departments, 5 lakh petrol and diesel vehicles are used today. Which will now be replaced by electric cars. After that, only electric cars will run all over the country. According to a report of the Policy Commission, if electricity cars are used in the country, the demand for petrol and diesel will be reduced by a percentage and there will be a great reduction in carbon emissions.

पीएम मोदी का मुस्लिम देशों को सबसे घातक झटका भारत आज की तारीख में मुस्लिम देशों के तेल का सबसे बड़ा आयात करने वाला देश है. जिससे सालाना अरबों रूपए देश के बाहर मुस्लिम देशों सऊदी अरेबिया, इराक, ईरान की जेब में चला जाता है. लेकिन भारत में तेल की मांग बुरी तरह गिरने से इन मुस्लिम देशों की नींव बुरी तरह हिल जायेगी जो बेशुमार दौलत जमा करके ऐश मार रहे हैं.

PM Modi’s most fatal blow to Muslim countries India is the largest importer of oil in Muslim countries today. By which billions of rupees go out of the country in the pockets of Muslim countries Saudi Arabia, Iraq and Iran. But due to the falling demand of oil in India, the foundation of these Muslim countries will be shaken horribly, which are killing ashes by accumulating wealth.

मेक इन इंडिया से शुरू हो चुकी है इलेक्ट्रिक बस…                                                                            तो वहीँ अभी कुछ दिन पहले ही पीएम मोदी के “मेक इन इंडिया” योजना से इलेक्ट्रिक बस का सपना सच हो सका है. इस 26 सीटर वाली बस को हिमाचल प्रदेश में कुल्लू-मनाली-रोहतांग पास वाले रूट पर 22 सितम्बर से ही चला दिया गया है. केवल 4 घंटे में यह बस फुल चार्ज हो कर 200 किलोमीटर की दूरी तय कर लेती है.

Electric Bus has started from Make in India…                                                            So right now, just a few days back, the dream of electric bus from PM Modi’s “Make in India” scheme has come true. This 26-seater bus has been run on the route of Kullu-Manali-Rohtang near Himachal Pradesh on September 22. In just 4 hours this bus covers a distance of 200 km by full charge.

मोदी सरकार ने कह दिया है कि जो कार कंपनियां इस मिशन में सरकार के साथ होंगी, वे फायदे में रहेंगी. लेकिन जो सिर्फ पैसे कमाने के चक्कर में पेट्रोल-डीजल कार पर ही अटके रहेंगे वे अपने हालत के लिए खुद ज़िम्मेदार होंगी. टाटा मोटर्स ने ईईएसएल(EESL) के फैसले का स्वागत किया है और कहा है कि वह देश में ई-मोबिलिटी में बड़े बदलाव में योगदान देकर गर्व महसूस कर रही है. टाटा मोटर्स के देखा देखि अब महिंद्रा एंड महिंद्रा और निसान कार कंपनी भी जल्द इलेक्ट्रिक कार लांच करेगी.

The Modi government has said that the car companies that will be with the government in this mission will be in benefit. But only those who are stuck on petrol and diesel cars will be responsible for their condition. Tata Motors has welcomed EESL’s decision and said that he is proud to contribute to major changes in e-mobility in the country. Now seen by Tata Motors, Mahindra and Mahindra and Nissan Cars will also launch electric cars soon.

यह भी देखे

https://youtu.be/Uzs16fYnw1k

https://youtu.be/VxtYK7YXsQ8

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *