CM योगी ने किया दंगाइयों का ऐसा बुरा हाल ,मायावती समेत मेवनी के उड़े होश |

मेरठ : देशभर के कई राज्यों में भारत बंद के नाम पर हिंसा की जा रही है. आंदोलन सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के विरोध में शुरू हुआ था, मगर राजनीतिक पार्टियों द्वारा वोटबैंक के लिए इसका इस्तमाल शुरू हो गया है. राहुल गाँधी जैसे कई नेताओं ने हिंसक आंदोलन को अपना समर्थन दिया है. देशभर में दंगे किये जा रहे हैं और किसी में इतनी हिम्मत नहीं हो रही कि हिंसा को रोके. मगर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिना किसी वोटबैंक की परवाह किये ऐसा सख्त कदम उठाया, जिसे देख देशभर में उनकी तारीफों के पुल बांधे जा रहे हैं.

Meerut: In many states across the country, violence is being taken in the name of the Bandh. The movement started by the Supreme Court against the change in the SC-ST Act, but political parties have started using it for votebank. Many leaders like Rahul Gandhi have supported their violent movement. Riots are being carried out across the country and nobody is getting so much courage to stop violence. But UP Chief Minister Yogi Adityanath took such a stern step, without worrying about any votebank, which is being seen as a bridge of his praise across the country.

मेरठ में हिंसा का खौफनाक मंजर
दरअसल आंदोलन के नाम पर देश के अलग-अलग शहरों में दलित संगठन और उनके समर्थक हिंसक प्रदर्शन कर रहे हैं. बता दें, कई जगहों पर ट्रेनें रोकी गई हैं. इसके अलावा कुछ शहरों में झड़प की घटनाएं भी सामने आई हैं. कारों को जलाया जा रहा है. बसों को आग के हवाले किया जा रहा है.

Meerut’s Creepy Violence
Actually, in the name of movement, in different cities of the country, the Dalit organization and their supporters are performing violently. Tell me, trains have been stopped in many places. Apart from this, incidents of skirmishes have also emerged in some cities. Cars are being lit. Buses are being handed over to the fire.

यूपी के मेरठ जिले में भारी बवाल देखने को मिल रहा है. हुड़दंगी प्रदर्शनकारियों ने हाईवे जाम कर पहले शोभापुर पुलिस चौकी में आग लगा दी और फिर उसके बाद वाहनों को आग के हवाले कर दिया. मेरठ में एक जगह नहीं बल्कि कई स्थानों पर प्राइवेट वाहनों में आग लगाई गई. विधायक के प्रतिनिधि के घर पर भी हमले की ख़बरें आ रही हैं.

In Uttar Pradesh’s Meerut district, there is a huge turnout. Hooddangi protesters hurled the highway and set fire to the first Shobhapur police post and then handed the vehicles to the fire. Private vehicles were set on fire in Meerut but not at one place. News of attack on the MLA’s house is also coming.

योगी की पुलिस ने ठिकाने लगाए दंगाइयों के दिमाग
अपने प्रदेश में हिंसा का ऐसा रूप यूपी के सीएम योगी को कतई बर्दाश्त नहीं. वोटबैंक की राजनीति की परवाह किये बिना यूपी के सीएम योगी ने हिंसा करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाये हैं. यूपी पुलिस ने मेरठ में हिंसा फैला रहे युवाओं पर लाठी चार्ज किया है. ऐसी जमकर लाठियां भांजी जा रही हैं, जिसकी याद इन हुड़दंगियों को कई बरसों तक रहेगी.

Yogi’s police attacked the rioters
Such a form of violence in his state does not tolerate the CM Yogi of UP. Regardless of the politics of Votebank, CM Yogi of UP has taken strict action against those who have committed violence. UP police have charged the blacksmith on the youth spreading violence in Meerut. Such stereotypes are going to be niggardly, whose memory will remain for many years for these hooligans

वोटबैंक की खातिर जहाँ एक ओर देश के कई बड़े-बड़े नेता मुँह तक नहीं खोल पा रहे हैं, वहीँ योगी अपने प्रदेश में ऐसे गुंडों के खिलाफ सख्ती दिखा रहे हैं. योगी के एक्शन ने साबित कर दिया है कि वो वोटबैंक की राजनीति से ऊपर उठकर राज करने वाले नेता हैं, जो सबको एक सामान नज़र से देखते हैं.

For the sake of vote bank, on one hand many big leaders of the country are not able to open their mouths, the yogi is showing strictly against such goons in their territory. The action of the yogi has proved that he is the leader of ruling out the votebank politics, who sees everyone with a similar look.

सोशल मीडिया पर लोगों ने योगी के एक्शन को लेकर ख़ुशी जाहिर की है. वहीँ कुछ लोगों ने तो योगी को भावी पीएम तक घोषित कर दिया है. लोगों का कहना है कि प्रदर्शन शांतिपूर्ण होना चाहिए. प्रदर्शन के नाम पर हिंसा बिलकुल बर्दाश्त नहीं की जानी चाहिए.

People on social media have expressed happiness about the action of the yogi. Some people have declared the yogi to the future PM. People say that performance should be peaceful. Violence should not be tolerated at all in the name of display.

यह भी देखे

https://www.youtube.com/watch?v=VxtYK7YXsQ8&feature=youtu.be

https://www.youtube.com/watch?v=VxtYK7YXsQ8&feature=youtu.be

source name political report

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *