हिन्दू कर सेवकों की सबसे बड़ी जीत, शाबरमति एक्सप्रेस अग्निकांड में हुआ ये बड़ा खुलासा, PM मोदी-शाह ख़ुशी से पागल..

GUJRAT, hindu muslim, muslims, news, PAKISTAN, terrorist

अहमदाबाद: साल 2002 में हुए गोधरा ट्रेन अग्निकांड में 16 साल से फरार एक आरोपी को गुजरात पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. एक अधिकारी ने इस संबंध में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि गोधरा बी डिविजन पुलिस की एक टीम ने याकूब पटालिया (63) को गोधरा से गिरफ्तार किया. उन्होंने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि उसे मंगलवार सुबह एक इलाके में देखा गया. उन्होंने बताया कि गश्त के दौरान पुलिस को आरोपी की मौजूदगी के बारे में सूचना मिली. उसके बाद तत्काल कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

Ahmedabad: In the 2002 Godhra train fire, one of the accused, who has been absconding for 16 years, has been successful in arresting the Gujarat Police. An official informed about this. He told that a team of Godhra B division police arrested Yakub Patalia (63) from Godhra. He told that the secret information was received that he was seen in an area on Tuesday morning. He informed that during the patrol, the police received information about the presence of the accused. After that, he was arrested while taking immediate action.

पटालिया को एसआईटी को सौंपा जाएगा
अधिकारी ने बताया कि पटालिया को विशेष जांच टीम (एसआईटी) को सौंप दिया जाएगा जो मामले की जांच कर रही है. पटालिया पर उस भीड़ में शामिल होने का आरोप है जिसने 27 फरवरी 2002 को गोधरा रेलवे स्टेशन के पास साबरमती रेलवे स्टेशन के पास साबरमती एक्सप्रेस के डिब्बों में आग लगाई थी.

PATALIA TO BE SIGNED TO SIT
The officer said that Patalia will be handed over to the Special Investigation Team (SIT), who is investigating the matter. The Patiala is accused of joining the crowd who had set fire to the compartments of Sabarmati Express near Sabarmati railway station near Godhra railway station on February 27, 2002.

उसके खिलाफ सितंबर 2002 में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. साथ ही उस पर खिलाफ आईपीसी और रेलवे कानून के विभिन्न प्रावधानों के तहत आरोप लगाए गए. पुलिस ने बताया कि घटना के बाद से ही पटालिया फरार था.

An FIR was lodged against him in September 2002. Alongside it, allegations were made against him under different provisions of IPC and Railway Law. The police said that since the incident, Pantialia was absconding.

आरोपी का भाई भी हुआ था गिरफ्तार
पटालिया के एक भाई कादिर पटालिया को भी 2015 में गिरफ्तार किया गया था और सुनवाई के दौरान ही कादिर की 2015 में जेल में मौत हो गई. उसका एक अन्य भाई अयूब पटालिया वडोदरा केंद्रीय जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है.

The accused’s brother was arrested
Kadir Patalia, a brother of Patalia too was arrested in 2015 and during the hearing Kadir died in jail in 2015. His brother Ayub Patalia is serving life imprisonment in Vadodara Central Jail.

खास बातें
गोधरा ट्रेन अग्निकांड में 16 साल बाद आरोपी की गिरफ्तारी
आरोपी को विशेष जांच टीम (एसआईटी) को सौंपा जाएगा
गश्त के दौरान पुलिस को मिली आरोपी के दिखने की सूचना

कला जगत में देखें:

Leave a Reply