यूपी चुनाव में अमित शाह के इस फोर्मुले ने भरी सर्दी में छुड़ाए माँ बेटे के पसीने !

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव के नतीजे लगभग आ चुके हैं. भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में एक बार फिर बाजी मारी है. लेकिन इन नतीजों में सबसे बड़ी बात जो वही वो ये कि राहुल गाँधी अपना घर भी नहीं बचा सके. राहुल गांधी का संसदीय क्षेत्र और कांग्रेस का गढ़ माने जाने वाली अमेठी में भी भारतीय जनता पार्टी ने परचम लहराया है |

New Delhi: The results of body elections in Uttar Pradesh have almost come. The Bharatiya Janata Party has once again betrayed the state. But the biggest thing in these conclusions is that the same Rahul Gandhi can not even save his house. In the Amethi, which is considered as a parliamentary constituency of Rahul Gandhi and a Congress stronghold, the Bharatiya Janata Party has wooed the pancham.

अमेठी में दो नगर पालिका,गौरीगंज और जायस समेत दो नगर पंचायतें अमेठी और मुसााफिरखाना हैं. अमेठी की नगर पंचायत सीट भाजपा की चंद्रमा देवी जीत गई हैं. इसके साथ ही फिलहाल तक आए रुझानों के अनुसार अमेठी की गौरीगंज नगरपालिका सीट पर भाजपा आगे चल रही है. अमेठी के गौरीगंज नगरपालिका सीट से भाजपा को जीत मिली है, जबकि जायस नगरपालिका में भी भाजपा को बढ़त मिली है. अभी तक यहां एक भी चुनाव में भाजपा अपना खाता नहीं खोल सकी थी. यह अपने आप में एक इतिहास है |

Amethi has two municipal panchayats including two municipalities, Gauriganj and Jayas, Amethi and Musafirkhana. Amethi’s Nagar Panchayat seat has won the BJP’s, Chandra Devi. At the same time, according to trends, the BJP is moving forward in the Gauriganj Municipality seat of Amethi. The BJP has won from Gauriganj municipality seat of Amethi, whereas in the Jayas municipality, the BJP has got an edge. So far, in a single election, the BJP could not open its account. It has a history in itself.

चुनाव के इन रुझानों के आधार पर बीजेपी नेता स्मृति इरानी ने कांग्रेस के राजकुमार राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि राहुल गांधी अपने निर्वाचन क्षेत्र में ही नहीं जीत रहे हैं. इससे साफ है कि जनता में उन्हें समर्थन नहीं मिल रहा है. गुजरात में स्मृति ने कहा कि जो अपने क्षेत्र में नहीं जीत सकता, वह गुजरात में क्या सपने लेकर आए हैं |

On the basis of these trends of elections, BJP leader Smriti Irani tightened tears on Congress vice-president Rahul Gandhi and said that Rahul Gandhi is not winning in his constituency alone. It is clear from them that they are not getting support from the public. In Gujarat, Smriti said that what cannot win in its territory, what dreams have come in Gujarat?

बता दें कि बीजेपी 2014 के लोकसभा चुनाव से ही बीजेपी कांग्रेस के गढ़ में सेंध लगाने में जुटी हुई है। इसी क्रम में उसने राहुल के मुकाबले कद्दावर नेता स्मृति को राहुल के मुकाबले अमेठी में उतारा था. वहीं, विधानसभा चुनाव की बात की जाए तो कांग्रेस और सपा ने गठबंधन में चुनाव लड़ा था. इसके बावजूद अमेठी की 5 में से 4 सीटें बीजेपी ने जीती थी और कांग्रेस का खाता तक नहीं खुला था |

Let me tell you that BJP has been involved in breaking the Congress stronghold since the 2014 Lok Sabha elections. In the same sequence, she had brought Kadtar leader Smriti to Rahul in Amethi compared to Rahul. At the same time, if the talk of assembly elections, the Congress and the SP contested in the coalition. Despite this, 4 out of 5 seats of Amethi won by BJP and the Congress account was not open.

पिछले चुनावों के नतीजे देखें तो रायबरेली भी कांग्रेस के हाथ से फिसल रहा है. विधानसभा चुनाव में यहां कि 5 सीटों में से 2 पर बीजेपी ने कब्जा कर कांग्रेस को झटका दिया था. 2014 में भले ही सोनिया जीती हों लेकिन उनका वोट बैंक कम हुआ था. उस वक्त सपा ने उनके खिलाफ कोई कैंडिडेट मैदान में नहीं उतारा था |

Seeing the results of the last elections, Rae Bareli is also slipping from the hands of the Congress. In the Assembly elections here, 2 of the 5 seats BJP had captured and shocked the Congress. In 2014 even if Sonia won, but her vote bank was reduced. At that time, SP had not fielded any candidate against him.

जीत के बाद यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी के चुनाव सबकी आंखों को खोलने वाला है, जो लोग गुजरात के संदर्भ में बात कर रहे थे उनका खाता भी नहीं खुला है और अमेठी में भी सूपड़ा साफ हुआ है |

After winning, UP CM Yogi Adityanath said that the elections of UP are going to open all eyes, those who were talking about Gujarat, their account is not even open and Amethi has also been cleared.

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=g-H5DwYD5dc

https://www.youtube.com/watch?v=6KzO3XxanXM