विकास को सनकी बताने वाले पप्पू पर टूट पड़े गुजराती मुस्लिम, देख भाग खड़े हुए कांग्रेसी युवराज !

अहमदाबाद : गुजरात चुनाव की तारीख का ऐलान होने को है, परन्तु उससे पहले ही गुजरात के मुसलमानों ने कांग्रेस को ऐसा जोरदार झटका दिया है, जिसे देख राहुल गाँधी चारों खाने चित्त हो गये है, कांग्रेसी ने बीजेपी के नाम से मुसलमानों को डराने की काफी कोशिशे की, मगर जमीन हकीकत जब सामने आई तब कांग्रेस को PM मोदी को लोकप्रियता और उनके काम करने के तरीके का अहसास हुआ !

कांग्रेस के खिलाफ गुजराती मुसलमान
दरअसल 2002 में हुए गुजरात दंगो को लेकर कांग्रेस सदा ही मुसलमानों के बीच BJP को लेकर डर का माहौल बनाने की कोशिश करती रही है, मगर गुजरती मुस्लिमों को पता है कि उन दंगो को भडकने के पीछे कहीं ना कहीं कांग्रेस का बड़ा हाथ है “मोदी जी के PM बनने के बाद गुजरात में कभी भी दंगे नही हुए” !

गुजरात की ग्राउंड रियल्टी बताती है कि गुजरात के मुस्लिमों के मन में BJP के लिए सम्मान की भावना कूट कूट कर भारी हुई हैं, और यही वजह है की पिछले विधान सभा चुनाव 2012 में BJP ने एक दर्जन से मुसलमान बहुल्य सीटो पर जीत का परचम लहराया था , खुद BJP अध्यक्ष अमित शाह कहते है कि गुजरात में हर पांच से एक मुस्लिम बीजेपी को वोट देता है, यानि 20 फीसदी मुस्लिम बीजेपी के साथ है !

जरी धर्म की राजनीति में जुटी भ्रष्टचारी कांग्रेस
इस बार भी कांग्रेस ने एक ओर तो बीजेपी को मुसलमान विरोधी पार्टी के तौर पर दिखाने की खूब कोशिश की है और दूसरी और हिन्दुओं में भी फुट डलवाने की भरपूर कोशिशें जारी है, पाटीदार , दलित और OBC वर्ग के लोगों को भड़का कर राहुल गाँधी वोट पाने की हसरत रखें है लेकिन गुजरात के मुस्लिम ने कांग्रेस को इस बार भी हार का मुंह दिखाने का मन बना लिया है !

गुजरात का मुस्लिम मतदाता 2007 के विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस का परंपरागत वोटर माना जाता रहा है लेकिन 2007 के बाद BJP ने कांग्रेस के इस वोट बैंक में सेंधमारी की है, 2012 के विधान सभा चुनाव में मुसलमानों का करीब 20 फीसदी वोट बीजेपी को मिला है, इसी का नतीजा रहा है कि 25 मुस्लिम बाहुल्य सीटों में सीटों पर बीजेपी और 9 सीटों पर कांग्रेस ने दर्ज की थी !

कांग्रेस की सीटों पर BJP का कब्जा
BJP अल्पसंख्यक मोर्चे के गुजरात प्रदेश अध्यक्ष सूफी महबूब अली चिस्ती ने आजतक से कहा- मुस्लिम बहुल्य वागरा , जम्बुसर, डभोई, कर्जन, पदरा, धोलका,जामनगर,भूंज, अंजारा, मांगरोल, जूनागढ़ , रोजकोट जैसी सीटें BJP जितने में सफल रही है. ये सभी सीटें BJP ने टारगेट बनाकर कांग्रेस से छिनी थी, ये वोट सीटें थी, जिन्हें BJP 5 से 7 हजार वोट से कांग्रेस से हार जाया करती थी, गुजरात में BJP के 200 से अधिक नगर पार्षद मुस्लिम है और उसमें लगभग 100 चेयरमैन मुस्लिम !

गुजरात दंगा और कर्फ्यू मुक्त
सूफी महबूब अली चिस्ती ने कहा BJP सदस्यता अभियान के दौरन गुजरात के 5 लाख मुस्लिम बीजेपी के प्राइमरी सदस्य बने हैं. उन्होंने कहा कि पिछले 15 सालों में बीजेपी के राज में गुजरात दंगा और कर्फ्यू मुक्त बना है. जबकि कांग्रेस के दौर में एक भी साल ऐसा नहीं गुजरा जब दंगा न हुआ हो. उन्होंने कहा मुसलमानों को चाहिए क्या सुरक्षा और विकास. गुजरात में दोनों मुसलमानों को मिल रहा है !

गुजरात के मुसलमानों के बेहतर हालात
सूफी महबूब अली चिस्ती ने कहा कि गुजरात के मुसलमानों की हालत देश के दूसरे मुसलमानों से बेहतर है. गुजरात के सरकारी नौकरियों में मुसलमानों की 9 फीसदी भागीदारी, गुजरात पुलिस में 10.5 फीसदी मुसलमान और गुजरात में मुसलमानों की साक्षरता दर 80 फीसदी है, जो गुजरात के हिंदुओं के बराबर है. उन्होंने कहा कि गुजराती मुस्लिमों ने कारोबार में भी काफी तरक्की की है. अल्पसंख्यकों के विकास के लिए बने 15 सूत्रीय कार्यक्रम को बेहतर तरीके से गुजरात में लागू किया गया है. इसके लिए यूपीए सरकार ने गुजरात को गुड ग्रेड दिया था. वहीं कांग्रेस शासित राज्य पिछड़ गए !

मोदी ने अल्पसंख्यक विकास वित्त निगम के जरिए की मुसलमानों की मदद
सूफी महबूब अली चिस्ती ने बताया कि गुजरात अल्पसंख्यक विकास वित्त निगम को अटल बिहारी बाजपेयी सरकार के दौरान 60 हजार करोड़ कर्ज दिया था. इसके बाद यूपीए सरकार से मदद मांगी जाती रही लेकिन उन्होंने नहीं दिया और कहा था कि पहले जो धन कर्ज लिया गया है उसका 32 करोड़ ब्याज गुजरात अदा करे. मोदी सरकार ने सत्ता में आते ही ब्याज को माफ किया और 20 हजार करोड़ रुपये एलार्ट किया है. इसके चलते 100 मुस्लिम छात्रों को MBBS,इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट की पढ़ाई के लिए विदेश भेजा गया है !

यानी देखा जाए तो गुजराती मुसलमान इस बार भी कमल के बटन को दबाने जा रहा है. ओपिनियन पोल के मुताबिक़ बीजेपी प्रचंड बहुमत से गुजरात में सरकार बनाने जा रही है. कांग्रेस की जाति-धर्म की राजनीति एक बार फिर मोदी की विकास की राजनीति के सामने दम तोड़ती दिखाई दे रही है !

source dd bharti

विकास को सनकी बताने वाले पप्पू पर टूट पड़े गुजराती मुस्लिम, देख भाग खड़े हुए कांग्रेसी युवराज !

अहमदाबाद : गुजरात चुनाव की तारीख का ऐलान होने को है, परन्तु उससे पहले ही गुजरात के मुसलमानों ने कांग्रेस को ऐसा जोरदार झटका दिया है, जिसे देख राहुल गाँधी चारों खाने चित्त हो गये है, कांग्रेसी ने बीजेपी के नाम से मुसलमानों को डराने की काफी कोशिशे की, मगर जमीन हकीकत जब सामने आई तब कांग्रेस को PM मोदी को लोकप्रियता और उनके काम करने के तरीके का अहसास हुआ !

कांग्रेस के खिलाफ गुजराती मुसलमान
दरअसल 2002 में हुए गुजरात दंगो को लेकर कांग्रेस सदा ही मुसलमानों के बीच BJP को लेकर डर का माहौल बनाने की कोशिश करती रही है, मगर गुजरती मुस्लिमों को पता है कि उन दंगो को भडकने के पीछे कहीं ना कहीं कांग्रेस का बड़ा हाथ है “मोदी जी के PM बनने के बाद गुजरात में कभी भी दंगे नही हुए” !

गुजरात की ग्राउंड रियल्टी बताती है कि गुजरात के मुस्लिमों के मन में BJP के लिए सम्मान की भावना कूट कूट कर भारी हुई हैं, और यही वजह है की पिछले विधान सभा चुनाव 2012 में BJP ने एक दर्जन से मुसलमान बहुल्य सीटो पर जीत का परचम लहराया था , खुद BJP अध्यक्ष अमित शाह कहते है कि गुजरात में हर पांच से एक मुस्लिम बीजेपी को वोट देता है, यानि 20 फीसदी मुस्लिम बीजेपी के साथ है !

जरी धर्म की राजनीति में जुटी भ्रष्टचारी कांग्रेस
इस बार भी कांग्रेस ने एक ओर तो बीजेपी को मुसलमान विरोधी पार्टी के तौर पर दिखाने की खूब कोशिश की है और दूसरी और हिन्दुओं में भी फुट डलवाने की भरपूर कोशिशें जारी है, पाटीदार , दलित और OBC वर्ग के लोगों को भड़का कर राहुल गाँधी वोट पाने की हसरत रखें है लेकिन गुजरात के मुस्लिम ने कांग्रेस को इस बार भी हार का मुंह दिखाने का मन बना लिया है !

गुजरात का मुस्लिम मतदाता 2007 के विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस का परंपरागत वोटर माना जाता रहा है लेकिन 2007 के बाद BJP ने कांग्रेस के इस वोट बैंक में सेंधमारी की है, 2012 के विधान सभा चुनाव में मुसलमानों का करीब 20 फीसदी वोट बीजेपी को मिला है, इसी का नतीजा रहा है कि 25 मुस्लिम बाहुल्य सीटों में सीटों पर बीजेपी और 9 सीटों पर कांग्रेस ने दर्ज की थी !

कांग्रेस की सीटों पर BJP का कब्जा
BJP अल्पसंख्यक मोर्चे के गुजरात प्रदेश अध्यक्ष सूफी महबूब अली चिस्ती ने आजतक से कहा- मुस्लिम बहुल्य वागरा , जम्बुसर, डभोई, कर्जन, पदरा, धोलका,जामनगर,भूंज, अंजारा, मांगरोल, जूनागढ़ , रोजकोट जैसी सीटें BJP जितने में सफल रही है. ये सभी सीटें BJP ने टारगेट बनाकर कांग्रेस से छिनी थी, ये वोट सीटें थी, जिन्हें BJP 5 से 7 हजार वोट से कांग्रेस से हार जाया करती थी, गुजरात में BJP के 200 से अधिक नगर पार्षद मुस्लिम है और उसमें लगभग 100 चेयरमैन मुस्लिम !

गुजरात दंगा और कर्फ्यू मुक्त
सूफी महबूब अली चिस्ती ने कहा BJP सदस्यता अभियान के दौरन गुजरात के 5 लाख मुस्लिम बीजेपी के प्राइमरी सदस्य बने हैं. उन्होंने कहा कि पिछले 15 सालों में बीजेपी के राज में गुजरात दंगा और कर्फ्यू मुक्त बना है. जबकि कांग्रेस के दौर में एक भी साल ऐसा नहीं गुजरा जब दंगा न हुआ हो. उन्होंने कहा मुसलमानों को चाहिए क्या सुरक्षा और विकास. गुजरात में दोनों मुसलमानों को मिल रहा है !

गुजरात के मुसलमानों के बेहतर हालात
सूफी महबूब अली चिस्ती ने कहा कि गुजरात के मुसलमानों की हालत देश के दूसरे मुसलमानों से बेहतर है. गुजरात के सरकारी नौकरियों में मुसलमानों की 9 फीसदी भागीदारी, गुजरात पुलिस में 10.5 फीसदी मुसलमान और गुजरात में मुसलमानों की साक्षरता दर 80 फीसदी है, जो गुजरात के हिंदुओं के बराबर है. उन्होंने कहा कि गुजराती मुस्लिमों ने कारोबार में भी काफी तरक्की की है. अल्पसंख्यकों के विकास के लिए बने 15 सूत्रीय कार्यक्रम को बेहतर तरीके से गुजरात में लागू किया गया है. इसके लिए यूपीए सरकार ने गुजरात को गुड ग्रेड दिया था. वहीं कांग्रेस शासित राज्य पिछड़ गए !

मोदी ने अल्पसंख्यक विकास वित्त निगम के जरिए की मुसलमानों की मदद
सूफी महबूब अली चिस्ती ने बताया कि गुजरात अल्पसंख्यक विकास वित्त निगम को अटल बिहारी बाजपेयी सरकार के दौरान 60 हजार करोड़ कर्ज दिया था. इसके बाद यूपीए सरकार से मदद मांगी जाती रही लेकिन उन्होंने नहीं दिया और कहा था कि पहले जो धन कर्ज लिया गया है उसका 32 करोड़ ब्याज गुजरात अदा करे. मोदी सरकार ने सत्ता में आते ही ब्याज को माफ किया और 20 हजार करोड़ रुपये एलार्ट किया है. इसके चलते 100 मुस्लिम छात्रों को MBBS,इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट की पढ़ाई के लिए विदेश भेजा गया है !

यानी देखा जाए तो गुजराती मुसलमान इस बार भी कमल के बटन को दबाने जा रहा है. ओपिनियन पोल के मुताबिक़ बीजेपी प्रचंड बहुमत से गुजरात में सरकार बनाने जा रही है. कांग्रेस की जाति-धर्म की राजनीति एक बार फिर मोदी की विकास की राजनीति के सामने दम तोड़ती दिखाई दे रही है !

source dd bharti

पीएम मोदी ने किया कांग्रेस के खिलाफ सबसे बड़ा खुलासा कांग्रेस खेमे में हलचल

भीलवाड़ा (राजस्थान)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि भारत 26/11 मुंबई आतंकी हमले व उसके दोषियों को कभी नहीं भूलेगा और हम उचित समय का इंतजार कर रहे हैं क्योंकि कानून अपना काम करेगा। यहां एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, “भारत 26/11 हमले को कभी नहीं भूलेगा और न ही उसके दोषियों को। हम उचित समय का इंतजार कर रहे हैं।” इस दौरान सभा में मौजूद लोगों ने उन्हें प्रोत्साहन दिया।

उन्होंने कहा, “कानून अपना काम करेगा। मैं देश को आश्वस्त करना चाहता हूं।”

2008 में 26/11 हमले पर राजनीति करने के लिए कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, “आज जब 26 नवंबर है, जब दिल्ली में रिमोट कंट्रोल के माध्यम से मैडम का राज चलता था, तब महाराष्ट्र में कांग्रेस की सरकार थी। उस वक्त महाराष्ट्र में भी कांग्रेस की सरकार थी और दिल्ली में भी कांग्रेस की सरकार थी और मुंबई में 26/11 आतंकियों ने हमला करके हमारे देश के नागरिकों को, जवानों को गोलियों से भून दिया था।

Narendra Modi

उन्होंने कहा, “उस आतंकवाद की भीषण घटना को आज 10 साल हो रहे हैं। मुझे याद है कि जब मुंबई में आतंकवाद की घटना घटी थी उस समय राजस्थान में चुनाव अभियान चल रहा था।”

मोदी ने कहा कि जब भी कोई अन्य पार्टी का नेता हमले की निंदा करता तो कांग्रेस नेता उसपर राजनीति करने का आरोप लगा दिया करते थे।

उन्होंने कहा, “तब वे (कांग्रेस) क्या कहते थे, मुझे अभी भी याद है। वे कहते थे कि यह युद्ध है, पाकिस्तान ने भारत पर हमला किया है। और यह लोग राजनीति कर रहे हैं। उस वक्त केंद्र सरकार को हाथ मजबूत करने चाहिए थे और आतंकी हमलों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। वे उस समय बड़े-बड़े उपदेश दे रहे थे।”

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर राजस्थान चुनाव में जीत हासिल करने के लिए 26/11 मुंबई हमले का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया और सीमा पार भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर सवाल उठाने पर पार्टी पर हमला बोला।

Narendra Modi

उन्होंने कहा, “मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूं कि 10 साल पहले जब इतनी बड़ी घटना घटी, पूरी दुनिया हैरान थी और कांग्रेस उस समय उसमें चुनाव जीतने के हथकंडे अपना रही थी।”

मोदी ने कहा, “वहीं कांग्रेस उस समय देशभक्ति के पाठ पढ़ाती थी। जब मेरे देश की सेना ने पाकिस्तान को उसके घर में जाकर सर्जिकल स्ट्राइक किया, आतंकवादियों का हिसाब चुकता किया। ऐसे समय कांग्रेस ने सवाल उठाया कि वीडियो दिखाओ वीडियो सर्जिकल स्ट्राइक हुआ या नहीं।”

उन्होंने कहा, “क्या देश का जांबाज जवान ऐसे ऑपरेश्न में हाथ में कैमरा लेकर जाएगा? उस वक्त उन्हें देशभक्ति याद नहीं आई?”

मोदी ने यह भी कहा कि उनके चार के शासन के दौरान जम्मू एवं कश्मीर में आतंकी हमलों पर लगाम लगाई गई।

उन्होंने कहा, “याद करिए वो वक्त जब देश ृभर में आतंकी घटनाएं होती थी। हमने आतंकवाद के खिलाफ ऐसे लड़ाई लड़ी है कि उनको कश्मीर की धरती के बाहर निकलना मुश्किल हो रहा है क्योंकि उन्होंने अपनी मौत देख ली है।”

राजस्थान की 200 सदस्यीय विधानसभा के लिए सात दिसंबर को चुनाव होना है। मतगणना 11 दिसंबर को होगी।

source:hindi.roomsnewspost

राजस्थान चुनाव से ठीक पहले पुष्कर के बह्मा मंदिर में पूजा के दौरान राहुल गांधी ने किया गोत्र का खुलासा,पुजारी भी रहा गए हैरानं

नई दिल्ली : चुनावी माहौल बनता देख कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी अपने आपको जनेऊ धारी हिन्दू बताने में जुटे हैं तो कभी शिव भक्त बता रहे हैं. हालाँकि इतने सालों से कांग्रेस पार्टी राम मंदिर के विरोध में खड़ी है. कांग्रेसके रणदीप सुरजेवाला ने कहा था कि कांग्रेस पार्टी का DNA ब्राह्मण है. इसके बाद से राहुल गाँधी के गोत्र पर सवाल खड़े होने लगे थे. जिसके बाद से राजस्थान में आज खुद राहुल गाँधी ने अपने गोत्र का खुलासा कर दिया है

अभी मिल रही खबर के मुताबिक सोमवार को राजस्थान में चुनाव प्रचार के दौरान विश्व प्रसिद्ध पुष्कर मंदिर पहुंचे राहुल गांधी से जब यहां के पुजारी ने उनका गोत्र पूछा तो उन्होंने इसका जवाब दे दिया. पूजा के दौरान पुजारी ने मंत्रोच्चार के दौरान राहुल गांधी से उनका गोत्र पूछा था, जिसपर उन्होंने झट से इसका जवाब दे दिया.

पुष्कर के मंदिर में राहुल गांधी ने की पुष्कर सरोवर की पूजा भी की. जब पूजा करवा रहे पंडित राजनाथ कौल ने कांग्रेस अध्यक्ष से उनका गोत्र पूछा तो राहुल गांधी ने अपना गोत्र का नाम लेते हुए कहा कि वह कौल दत्तात्रेय गौत्र के है.

पुष्कर के पुजारी ने बताया कि इनका गोत्र दत्तात्रेय है और ये कश्मीरी ब्राह्मण हैं. पुजारी ने कहा, ‘आज राहुल गांधी आए, इनका गोत्र दत्तात्रेय है और ये कश्मीरी ब्राह्मण हैं। ये इलाहाबाद नहर पर रहते थे, इसलिए इनका नाम नेहरू पड़ा।’

तो वहीँ आरोप लगाया जा रहा है कि कांग्रेस राजस्थान में ब्राह्मण कार्ड खेलने की कोशिश कर रही है क्यूंकि 8 फीसदी वोटर ब्राह्मण हैं.

पुष्कर पहुंचे राहुल गांधी ने लिखा, ‘मैं राहुल गांधी पुत्र स्व. श्री राजीव गांधी आज दिनांक 26-11-2018 सोमवार को राजी खुशी पुष्कर दर्शन व पूजा-अर्चना करने आया। मेरे कुल पुरोहित दीनानाथ कौल व राजनाथ कौल द्वारा पूजन करके मन बहुत प्रसन्न हुआ। मैं भारत व विश्व में अमन चैन व शांति की कामना करता हूं।

सॉफ्ट हिंदुत्व की राह पर चल रहे कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजस्थान विधानसभा चुनाव में सामाजिक समरसता का संदेश देने की कोशिश के साथ चुनाव प्रचार का आगाज कर दिया है. इसी कड़ी में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी जहां एक तरफ हिंदू आस्थाओं के सबसे बड़े केंद्र तीर्थराज पुष्कर पहुंचकर पूजा-अर्चना की वहीं दूसरी तरफ राहुल गांधी ने सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह पर बड़ी शिद्दत के साथ इबादत भी की.

गौरतलब है कि हाल ही में मध्यप्रदेश में बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक प्रेसवार्ता में राहुल गांधी से उनका गोत्र पूछा था जिसके बाद काफी विवाद भी हुआ था क्यूंकि वे अपना गोत्र तक नहीं बता सके थे जिसके बाद से कई सवाल खड़े होने लगे थे कि आख़िरकार ये कैसे जनेऊ धारी ब्राह्मण हैं जिन्हे अपना गोत्र तक नहीं पता.

source:dd bharti

कर्नाटक चुनाव से ऍन पहले सिद्धारमैया का बेहद खौफनाक ब्यान, हिन्दुओ पर कर डाली ये शर्मनाक टिप्पड़ी

नई दिल्ली : कर्नाटक के मुख्यमंत्री और वरिष्ट कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री साथ ही उपराष्ट्रपति को आतंकवादी क्रिमिनल अपराधी घोषित कर दिया है, आज सिद्धारमैया ने कहा की जो भी हिन्दू बीजेपी के साथ है या बीजेपी को वोट देते है, या बीजेपी का समर्थन करते है वो सभी अपराधी है, वो सभी आतंकवादी है, कर्णाटक में चुनाव है और सिद्धारमैया की कुर्सी दांव पर है, और अब कर्णाटक में मोदी और योगी की हवा देखकर सिद्धारमैया ने हिन्दुओ को आतंकवादी घोषित कर दिया है.

It is not the first time that the Congress has declared Hindus as a terrorist, even when Sonia Gandhi’s government at the Center, their home minister, saffron terrorists, used to talk of Hindu terrorists and Rahul Gandhi even bigger than Hindu al-Qaeda The threat was told, and today Siddaramaiah declared the millions of Hindus as terrorists.

आपकी जानकारी के लिए बता दें की देश का हर हिन्दू बीजेपी के साथ है ऐसा नहीं है, पर ये भी सच है की करोडो करोडो हिन्दू बीजेपी के साथ है, बीजेपी का समर्थन करते है और बीजेपी को वोट देते है, और आज सिद्धारमैया ने ऐसे करोडो हिन्दुओ को आतंकवादी घोषित कर दिया.

For your information, let us know that every Hindu in the country is not with BJP, but it is also true that millions of crores of Hindus are with BJP, they support BJP and vote for BJP, and today Siddaramaiah has Crores declared Hindus as terrorists.

बता दें की सिद्धारमैया 5 साल से मुख्यमंत्री है, उनके राज्य में हिन्दू कार्यकर्ताओं की बड़े पैमाने पर हत्या हुई है, अब चुनाव है, टीपू भक्ति भी सिद्धारमैया ने खूब की और इनका घोषणापत्र भी लगभग इस्लामिक देशों के घोषणापत्र की तरह है, अब सिद्धारमैया ने उन हिन्दुओ को आतंकवादी बता दिया जो बीजेपी के साथ है, बीजेपी को वोट देते है.

Say that Siddaramaiah has been chief minister for 5 years; Hindu workers have been killed in large scale in their state. Now the election is done; Tipu Bhakti also has a lot of siddaramaiah and its manifesto is almost like the declaration of Islamic countries, now Siddaramaiah Those Hindus who have been with BJP, have voted for the BJP.

वैसे ये कोई पहली बार नहीं है की कांग्रेस ने हिन्दुओ को आतंकवादी घोषित किया हो, जब केंद्र में सोनिया गाँधी की सरकार थी तब भी इनके गृहमंत्री भगवा आतंकी, हिन्दू आतंकी की बात करते थे और राहुल गाँधी ने तो हिन्दुओ को अल कायदा से भी बड़ा खतरा बताया था, और आज सिद्धारमैया ने करोडो हिन्दुओ को आतंकवादी, अपराधी घोषित कर दिया

It is not the first time that the Congress has declared Hindus as a terrorist, even when Sonia Gandhi’s government at the Center, their home minister, saffron terrorists, used to talk of Hindu terrorists and Rahul Gandhi even bigger than Hindu al-Qaeda The threat was told, and today Siddaramaiah declared the millions of Hindus as terrorists.

यह भी देखें :

https://www.youtube.com/watch?v=m7CoPymK4gw

 

https://www.youtube.com/watch?v=8WfEyICu_NM

बड़ी खबर: BJP ने लोकसभा सांसद बदरुद्दीन को लेकर किया बड़ा खुलासा, बंगलादेशी घुसपैठियों में मचा हडकंप

आपकी जानकारी के लिए बता दें की असम में प्रतिशत के हिसाब से पश्चिम बंगाल से भी ज्यादा मुसलमान है, जी हां 2011 के आंकड़ों के अनुसार असम में 36% मुसलमान है, और इनमे से अधिकतर बांग्लादेशी है, जिन्हे कांग्रेस ने घुसाया, आधार, वोटर कार्ड सब बनाया

For your information, let us know that according to the percentage of Assam, there is more Muslim than West Bengal, according to the 2011 data, 36% of Muslims in Assam are most of them, and most of them are Congressmen who have entered, base, Voter Card made all.

अब बीजेपी सरकार ने सत्ता में आने के बाद से ही बंगलादेशीयों की पहचान शुरू कर दी, और एक लिस्ट बनाया जिसे NRC ड्राफ्ट भी कहते है, ये उन लोगों की लिस्ट है जो की असम के असली निवासी है, सरकार ने जो पहली बनाई है, 3.29 करोड़ में से 1.91 करोड़ लोगों का ही इस लिस्ट में नाम है

Now the BJP government has started identifying Bangladeshi people since coming to power, and made a list called NRC Draft, this is a list of those who are the real residents of Assam, the government has made the first, Out of 3.29 crore, 1.91 million people have names in this list.

यानि 1 करोड़ 38 लाख के आसपास घुसबैठिये है, हालाँकि ये लिस्ट अभी पूरी नहीं की गयी है, इसका फिर से एक बार वेरिफिकेशन चल रहा है और उसके बाद लगभग 1 करोड़ बांग्लादेशियों को असम से साफ़ कर दिया जायेगा, सरकार ने 6 लाख के आसपास सुरक्षाबल भी तैनात कर दिए है, अब देखिये ये बड़ी जानकारी

That is, there is an intruder around 1.38 million, although this list has not been completed yet, once verification is underway, and after that nearly 10 million Bangladeshis will be cleaned from Assam, the government has around 6 lakhs The security forces have also been deployed, now see this big information.

https://twitter.com/Prof_HariOm/status/948202456739020801?ref_src=twsrc%5Etfw&ref_url=http%3A%2F%2Fwww.guiltfree.online%2Fbjp-and-loksabha-badruddin%2F

सरकार ने जो नागरिको की लिस्ट बनाई है, उसमे असम के मुस्लिम बहुल संसदीय इलाके धुबरी से लोकसभा सांसद बदरुद्दीन अजमल उसके विधायक बेटे अब्दुर रहीम अजमल और भाई सिराजुद्दीन अजमल और इनके पुरे परिवार का नाम नहीं है

In the list of people who have made the list of the citizens, Lok Sabha MP from Badaruddin Ajmal, Muslim legislator from Assam’s Muslim-dominated parliamentary constituency, Badruddin Ajmal, his legislator son Abdur Rahim Ajmal and brother Sirajuddin Ajmal and their entire family are not named.

अर्थात ये लोग भी बांग्लादेशी है, और तमाम बंगलादेशीयों के अलावा इन्हे भी खदेड़ा जायेगा, अब कांग्रेस के कारण देखिये, अवैध बांग्लादेशी तो भारत में घुसे ही, और यहाँ तक की ये लोग लोकसभा सांसद भी बनने में कामयाब रहे, आपकी जानकारी के लिए बता दें की पश्चिम बंगाल का एक तृणमूल सांसद भी बांग्लादेशी है, अभी हम आपको उसका नाम नहीं बता रहे परन्तु कुछ दिनों में सबूत के साथ खुलासा करेंगे

That is, these people are also Bangladeshi, and they will be expelled in addition to all the Bangladeshi nationals, now look at the reasons of Congress, illegal Bangladeshi migrated to India, and even these people have been successful in becoming a Lok Sabha MP, tell for your information. Given that a Trinamool MP from West Bengal is also a Bangladeshi, we are not currently telling you his name, but in some days we will disclose with evidence.

यह भी देखें:

https://www.youtube.com/watch?v=m7CoPymK4gw

 

https://www.youtube.com/watch?v=8WfEyICu_NM

प्रकाश राज का बडबोला बयान, स्वामी ने मारा ऐसा तमाचा बोलती हुई बंद

कर्नाटक में विधानसभा की 224 सीटों के लिए 12 मई को चुनाव होने हैं. नतीजों की घोषणा 15 मई को की जाएगी. 4.9 करोड़ मतदाताओं वाले राज्‍य में मुख्‍य मुकाबला सत्‍तारूढ़ कांग्रेस और बीजेपी के बीच है! कांग्रेस और भाजपा समर्थक आमने-सामने हैं और टीवी कार्यक्रमों और चुनावों पर चर्चा के दौरान खूब बहस और आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है।

In Karnataka, elections will be held for 224 seats on May 12. The results will be announced on May 15. The main contest in the state of 4.9 crore voters is between the ruling Congress and the BJP! Congress and BJP supporters are face-to-face and a lot of debate and accusations continue in the discussions on TV programs and elections.

ऐसे ही एक कार्यक्रम के दौरान फिल्म अभिनेता और भाजपा के मुखर विरोधी माने जाने वाले प्रकाश राज और भाजपा नेता सुब्रमण्यन स्वामी टाइम्स नाउ के एक कार्यक्रम के दौरान आमने-सामने आ गए। जब प्रकाश राज ने भाजपा सरकार की आलोचना करनी शुरु की तो लोगों ने उन पर राजनीति करने का आरोप लगाया.

During such a program, Prakash Raj and BJP leader Subramanian Swamy, considered to be the vocal opponents of the film actor and the BJP, came face to face during a show of Times Now. When Prakash Raj started criticizing the BJP government, people accused him of doing politics.

इस पर बॉलीवुड अभिनेता प्रकाश राज ने कहा कि वो अलग तरह की राजनीति करते है और देश की लोगो की मदद करने की कोशिश करते है! प्रकाश राज ने कहा कि वह राजनेताओं से सवाल इसलिए करते हैं, ताकि देश के नेता देश की जनता के प्रति जवाबदेह रहें! इस पर भाजपा नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने पलटवार करते हुए कहा कि आप ऐसा सिर्फ भारत में कर सकते हैं, पाकिस्तान में नहीं!

On this, Bollywood actor Prakash Raj said that he does different politics and tries to help the country’s people! Prakash Raj said that he does question the politicians so that the leaders of the country remain accountable to the people of the country! On this, BJP leader Subramanian Swamy reversed saying that you can do just this in India, not in Pakistan!

आगे प्रकाश राज ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि जब भी इन नेताओं से सवाल किया जाता है तो ये पाकिस्तान भेजने की बात करने लगते हैं। इसके जवाब में सुब्रमण्यन स्वामी ने कहा कि वह उन्हें पाकिस्तान भेजने की बात नहीं कर रहे हैं, बल्कि वह सिर्फ यह कह रहे हैं कि पाकिस्तान आपको नहीं लेगा, क्योंकि पाकिस्तान आपको एडजस्ट कर ही नहीं सकता।

Further, Prakash Raj said in his favor that whenever whenever these leaders are questioned, they start talking about sending Pakistan. In response, Subramanian Swamy said that he is not talking about sending him to Pakistan, but he is just saying that Pakistan will not take you, because Pakistan can not adjust you.

सुब्रमण्यन स्वामी की इस बात पर लोगों ने खूब मजे लिए। बता दें कि प्रकाश राज कई बार सार्वजनिक मंचों पर मोदी सरकार की आलोचना कर चुके हैं। यही वजह है कि अभिनेता, मोदी सरकार समर्थकों के निशाने पर हैं!

People of Subramanian Swamy have enjoyed this on this topic. Explain that Prakash Raj has often criticized the Modi government on public forums. This is the reason why Modi government is targeting this actor.

कार्यक्रम के दौरान प्रकाश राज ने यह भी कहा कि भाजपा की आलोचना करने के कारण उन्हें आजकल बॉलीवुड फिल्मों में भी काम मिलना बंद हो गया है। प्रकाश राज ने कहा कि सरकार के खिलाफ आवाज उठाने के कारण उन्हें टारगेट किया जा रहा है। हालांकि दक्षिण भारतीय फिल्मों के साथ ऐसा नहीं है।

During the program, Prakash Raj also said that due to criticism of BJP, he has stopped working in Bollywood movies nowadays. Prakash Raj said that he is being targeted due to raising voice against the government. However, it is not so with South Indian films.

प्रकाश राज ने कहा कि ‘उनकी आलोचना करने वाले लोग इतने मजबूत नहीं हैं कि मुझे गरीब बना सकें। मेरे पास अभी भी काफी पैसा और ताकत है, जिससे मैं आगे और कमा सकता हूं! वो लोग मुझे नहीं रोक सकते!’

Prakash Raj said that people who criticized him are not so strong that they can make me poor. I still have enough money and strength, so that I can earn more! Those people can not stop me! ‘

 

https://www.youtube.com/watch?v=m7CoPymK4gw

 

https://www.youtube.com/watch?v=8WfEyICu_NM

आगराः AIMIM के शहर अध्यक्ष ने MLA ने BJP को रेप केस में फंसाने के लिए रची ये बड़ी साजिश

पूरा विपक्ष मिला हुआ है और ये विपक्ष बीजेपी को 2019 में रोकने के लिए बीजेपी को महिला विरोधी और बलात्कारी पार्टीघोषित करने में लगा है, इस विपक्ष के साथ मीडिया गटबंधन करके चल रही है, क्यूंकि कांग्रेस की सरकार आएगी तो मीडिया के संपादको और पत्रकारों के 2014 से पहले वाली लाइफ वापस आयेगी, जहाँ ये PM के साथ विदेशी दौरों में जाते थे, और इनके 7 सितारा होटल का खर्च भारत सरकार के खजाने से चुकाया जाता था, मसाज, लड़की, शबाब और बहुत कुछ, पर मोदी तो सिर्फ दूरदर्शन वालो को ही सरकारी खर्च पर लेकर जाते है, चूँकि वो सरकारी चैनल है

The whole opposition is mixed and the opposition BJP has been trying to declare BJP as a female anti-rape party and in order to stop it in 2019, the media is being organized with this opposition, because the Congress government will come, media editors and journalists Life before 2014 will come back, where it used to go on overseas visits with PM, and the expenses of their 7-star hotel were paid by the treasury of the Indian government, Massage, girl, shabab and many more, but Modi only takes the Doordarshan people on government expenditure, since they are the official channel

अब बीजेपी को बलात्कारी पार्टी घोषित करने के लिए किस तरह और किस स्तर पर साजिश की जा रही है, वो भी समझने की कोशिश कीजिये, आगरा में ओवैसी की पार्टी AIMIM के जिला अध्यक्ष मोहम्मद इदरिस के खिलाफ उत्तर प्रदेश की पुलिस ने FIR दर्ज किया है, हालाँकि मोहम्मद इदरिस अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है, ये एक पत्रकार के साथ (इसका खुलासा पुलिस ने नहीं किया है की कौन सा पत्रकार), तो मोहम्मद इदरिस एक पत्रकार के साथ मिलकर आगरा के एत्मादपुर सीट से बीजेपी के विधायक राम प्रताप चौहान को रेप केस में फंसाने की तैयारी कर रहा था

Now, try to understand the way in which and at what level the conspiracy is being made to declare BJP a rapist party, the FIR has lodged against the District President of AIMIM, Mohammed Idris, in Owaisi’s party in Agra. , Although Mohammed Idriss has not been arrested yet, with a journalist (who has not disclosed what the police has not disclosed), then Mohammad Idris with a journalist Together, preparations were made to trap BJP’s MLA Ram Pratap Chauhan from the Etmdpur seat in Agra.

प्लान ये था की एक युवती को पैसा देकर तैयार किया जाये, जो इस विधायक से पहले कभी मिली हो, किसी भी काम से, तो क्या होगा की युवती विधायक पर रेप की शिकायत दर्ज करवाएगी, फिर मीडिया शुरू हो जाएगी, कोर्ट की क्या जरुरत है, मीडिया के लोग 10 मिनट में बीजेपी विधायक को भले ही वो नार्को टेस्ट तक की मांग करे फिर भी बलात्कारी घोषित कर देंगे, और बाद में 3-5 साल में मामला झूठा भी निकले तो निकले, तबतक बीजेपी के खिलाफ राजनितिक रोटियां तो सिक ही जाएँगी

The plan was that a girl should be prepared by giving money, which she has never met before this legislator, from any work, what will happen that the girl will file a complaint of rape on the MLA, then the media will start, what is the need of the court The people of the media, in 10 minutes, will ask the BJP legislator even if he demands the Narco Test, he will still be a rapist, and later in 3-5 years, if the case goes out false, then it will come out of the BJP. Graph political loaves will be so sick

तो मोहम्मद इदरिस बीजेपी के विधायक को बलात्कारी घोषित करने के लिए एक लड़की और एक स्क्रिप्ट तैयार कर रहा था वो भी एक पत्रकार के साथ मिलकर, पर इस से पहले की राज्प्रताप चौहान के खिलाफ रेप की शिकायत दर्ज करवाने कोई लड़की पहुंची, इस मामले का खुलासा हो गया, और मोहम्मद इदरिस के खिलाफ साजिश रचने के मामले में FIR दर्ज कर लिया गया

So Mohammed Idris was preparing a girl and a scriptwriter to declare the MLA of BJP MLA as a rapist, she also came in contact with a journalist, but before this, a girl approached the police to register a complaint against Rajapatap Chauhan. Was revealed, and FIR was registered in the case of conspiracy against Mohammed Idris

अन्यथा अब कुछ ही दिनों में आप टीवी खोलते, सोशल मीडिया खोलते तो मीडिया और कैम्ब्रिज अनालिटिका आपको बता रही होती की बीजेपी बलात्कारी पार्टी है यूपी के एक और बीजेपी विधायक ने महिला का रेप किया, इस स्तर की साजिश देश में चल रही है

Otherwise, in a few days, when you open the TV, open social media, media and Cambridge analytics would tell you that the BJP is a rape party, another BJP MLA from UP raped the woman, the plot of this level is going on in the country.

https://youtu.be/WE3MmmBzG4k

https://youtu.be/o9LQnPMci4I

source namopress.in

पहले के कांग्रेस की इंदिरा गाँधी और अब के मोदीजी की इन फोटो के बीच का फर्क देखकर हैरान रह जायेंगे आप !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी कार्यशैली को लेकर हमेशा से ही चर्चा में रहते हैं. मोदी जी किसी भी कार्य को पूरी शिद्दत के साथ पूरा करते हैं वहीं अपनी विपक्षी पार्टी के नेताओं का भी पूरा ध्यान रखते हैं. पीएम मोदी विपक्षी पार्टियों के साथ भी एक दोस्ताना संबंध बना के चलते हैं. उन्हें पता है कि सबको साथ लेकर ही देश का विकास संभव है. पीएम मोदी ने कई बार सदन में कहा भी है कि मुझे देश के सेवा करने के लिए आप सभी लोगों का सहयोग चाहिए. वहीँ अगर बात देश की पहली महिला पीएम इंदिरा गाँधी की करें तो उनकी कुछ तस्वीरें देखकर आप हैरान रह जाएंगे.

Prime Minister Narendra Modi always talks about his style of functioning. Modi ji completes any work with complete confidence and at the same time he takes full care of the leader of his opposition party. PM Modi also makes a friendly relationship with opposition parties. They know that the development of the country is possible only by taking everyone along. PM Modi has said in the House many times that I want all the people’s support to serve the country. If you talk about the country’s first woman PM Indira Gandhi, then you will be surprised to see some of her photographs.

दरअसल, सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं. इन तस्वीरों में जहाँ एक तरफ प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी अपने मंत्रियों के साथ मीटिंग कर रही हैं. इस मीटिंग में आप देख सकते हैं कि इंदिरा गाँधी कुर्सी पर बैठी हुई हैं और उनके सभी मंत्री उनके सामने खड़े हैं. इन मंत्रियों में से कोई भी इंदिरा गाँधी के सामने कुर्सी पर नहीं बैठा है. वहीँ अगर बात पीएम मोदी की करें तो उनकी तस्वीर देखकर आप भी उन पर गर्व करेंगे.

Indeed, some pictures on social media are becoming viral. In these photographs, on one hand Prime Minister Indira Gandhi is meeting with her ministers. In this meeting you can see that Indira Gandhi is sitting on the chair and all her ministers are standing in front of her. None of these ministers have been sitting in front of Indira Gandhi. If you talk to PM Modi, you will also be proud of seeing his picture.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की जो तस्वीर वायरल हो रही है उसमें वह विपक्ष के नेताओं के साथ किसी मुद्दे पर चर्चा करते हुए दिखाई दे रहे हैं, जिसमें राहुल गाँधी के साथ गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, राज बब्बर, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया आदि दिखाई दे रहे हैं और यह सभी नेता कुर्सी पर ही बैठे हैं. कई मौंको पर देखा भी गया है कि पीएम मोदी राहुल गाँधी के साथ एक मित्र की तरह से बात करते हुए नजर आए.प्रधानमंत्री मोदी विरोधियों के साथ भी अपने नम्र व्यवहार के लिए जाने जाते है. कई मौकों पर उन्होंने अपने इस स्वभाव का परिचय दिया है और लोगों का दिल जीता है

In the picture of Prime Minister Narendra Modi, who is getting viral, he is seen discussing an issue with the leaders of the opposition, including Rahul Gandhi, Ghulam Nabi Azad, Mallikarjun Kharge, Raj Babbar, Punjab Chief Minister Amarinder Singh and Jyotiraditya Scindia is appearing etc. And all the leaders have been sitting in the chair. It has also been observed on several occasions that PM Modi is seen talking to Rahul Gandhi in a way of talking to a friend like him. The Prime Minister Modi is also known for his humble behavior with the opponents. On many occasions they have introduced this nature and won the hearts of the people

इन दोनों तस्वीरों को देखकर आप खुद समझ सकते हैं कि इन दोनों प्रधानमंत्रियों के छवि किस तरह की है. जहाँ इंदिरा गाँधी ने देश लोकतंत्र में एक काला अध्याय ( आपातकाल ) लिखा वहीँ वर्तमान में पीएम मोदी के शासन में देश की छवि विश्व स्तर पर बेहतर होती जा रही है. अब भारत का लोहा विश्व की बड़ी शक्तियां भी मानने लगी हैं. वहीँ इंदिरा गाँधी के शासनकाल को लोग तानाशाही के रूप में देखते थे. इंदिरा गाँधी ने अपने शासनकाल में आपातकाल की घोषणा करके इस बात का सबूत भी दे दिया था

By looking at these two pictures, you can understand yourself how the image of these two Prime Ministers is. While Indira Gandhi wrote a dark chapter (emergency) in the country’s democracy, at present, the image of the country is getting better at the world globally under PM Modi’s rule. Now India’s iron has begun to accept the biggest powers of the world. In the same way, the people of Indira Gandhi’s reign were seen as dictatorships. Indira Gandhi gave evidence of this fact by declaring an Emergency during her reign

यह भी देखे

https://youtu.be/WE3MmmBzG4k

https://youtu.be/o9LQnPMci4I

source polotical report

कांग्रेस की राहुल पर PM मोदी पर खुली चुनौती जनता ने दिखाई औकात कहा कि …

कांग्रेस देश की सबसे पुरानी पार्टी होने के साथ साथ भारत की गद्दी पर आज़ादी के बाद से ६० सालो तक राज किया है! अगर कांग्रेस ईमानदारी से शाशन चलती तो सोने का चिड़िया कहे जाने वाला देश आज गरीबी और बेरोजगारी का मार नहीं झेल रहा होता! लेकिन अब इन लोगों का असली चेहरा सबके सामने आगया है। इनकी असलियत से अब सब वाकिफ हो चुके हैं। कांग्रेस लगभग हर हर राज्य से समाप्त होने की कगार पर है। असल में कांग्रेस ने कभी देश की विकासनीती पर काम ही नही किया। हर कोई अपना रुतबा दिखाने में मशगूल रहा!

Congress, along with being the oldest party in the country, has ruled India for 60 years since Independence! If the Congress was honestly shashan, then the country which is called a goldfinch would not have been killed by poverty and unemployment! But now the real face of these people has come in front of everyone. Now they are all aware of their reality. The Congress is on the verge of ending from almost every state. In fact, Congress has never worked on the development of the country. Everyone has been able to show their status!

अभी हाल ही में राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी को चुनौती देते हुए कहा, ‘चाहे वह नीरव मोदी, ललित मोदी और राफेल सौदे का मामला हो। पीएम मोदी संसद में खड़े होने से घबड़ाते हैं। राफेल सौदे पर मोदी जी के सामने मुझे 15 मिनट बोलने दिया जाए तो वह मेरे सामने खड़े नहीं हो पाएंगे।’ इसी को लेकर राहुल गाँधी का खूब मज़ाक उड़ा था। मीडिया हो या सोशल मीडिया सब जगह यूजर ने ट्रोल किया था…

Recently, Rahul challenged Prime Minister Modi, saying, “Whether it is a case of neer-Modi, Lalit Modi and Rafael Deal. PM Modi is afraid to stand in Parliament. If I allow 15 minutes to speak to Modiji on the Rafael deal, he will not be able to stand in front of me. “Rahul Gandhi was ridiculed for this. Media or social media was trolled by the user everywhere

अपने मिनट वाले बयान की आलोचनाओ के बाद कांग्रेस ने इस मामले में ऑनलाइन सर्वे कर जनता की राय मांगनी चाही और कहा की – क्या आपको लगता है कि प्रधान मंत्री मोदी 15 मिनट की बहस के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की चुनौती को स्वीकार करने की हिम्मत दिखाएंगे? कांग्रेस द्वारा कराये गए इस पोल में अबतक कुल 25000 से ज्यादा लोगो ने हिस्सा लिया!

After criticizing his minute statement, the Congress should demand public opinion by doing online survey in this matter and said – do you think Prime Minister Modi dares to accept the challenge of Congress President Rahul Gandhi for a 15-minute debate? Show? More than 25000 people participated in this poll conducted by Congress.

लेकिन कांग्रेस को लगा था की मोदी जी की लोकप्रियता काम हो रही है और इस तरह से करके मोदी पर निशाना साधा जायेगा! लेकिन जो नतीजे आये उससे साफ़ जाहिर है की मोदी जी भारतीयों के दिलो पर राज करते है! ये पोल का परिणाम कांग्रेस के मुंह पर करारा तमाचा है

But the Congress had thought that the popularity of Modi ji is being done and in such a way, Modi would be targeted. But the results that came out clearly show that Modi ji reigns on the hearts of Indians! The result of this poll is the conclusion of the Congress.

यह भी देखे

https://youtu.be/WE3MmmBzG4k

https://youtu.be/o9LQnPMci4I

source polotical report