CBSE पेपर लीक मामले में नया मोड़,कांग्रेसी मिलावट के मिले ये बड़े सबूत, स्कूली छात्र रह गए हैरान

नई दिल्ली : 10 वी और 12वी की सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा का प्रश्न पत्र व्हटसअप पर लीक हो गया था. जिसके बाद दिल्ली की बड़ी कोचिंग सेंटर से पूछताछ चल रही है. इसके बाद मंत्री प्रकाश जावेड़कर ने कहा सालों से चले आ रहे एजुकेशन सिस्टम को बदला जाएगा. साथ ही दुबारा परीक्षा करने का एलान किया गया.

New Delhi: The question papers of CBSE board examination of 10th and 12th were leaked to whitsupup. After that, inquiries are going on in Delhi’s big coaching center. After this, Minister Prakash Javadekar said that the education system running for years will be replaced. Along with this it was announced to test again.

छात्रों के आंदोलन पर कांग्रेस ने किया कब्ज़ा!

सीबीएसई ने दसवीं और 12वीं के एक-एक विषय की परीक्षा दोबारा करवाने का निर्णय लिया है.जिसका विरोध कई दिनों से छात्र कर रहे हैं. लेकिन जहा भी कांग्रेस थोड़ी भीड़ देखती है जो बीजेपी का विरोध कर रही हो वो वहां कूद पड़ती है. देखिये कितनी चालाकी से कांग्रेस ने 12वी के छात्रों के आंदोलन पर कब्ज़ा लिया और अपनी मनमानी मांगें मनवाने का षड़यंत्र रचा.

Congress has captured the movement of students!

CBSE has decided to re-examine the examinations of one-tenth and 12th subject. Those who have been protesting for many days are doing the students. But wherever the Congress sees a crowd that is opposing the BJP, it jumps there. See how cleverly the Congress has captured the movement of 12 V students and constituted a conspiracy to concede its arbitrary demands.

अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक पेपर लीक के खिलाफ दो दिनों से दिल्ली और देश के कई शहरों में प्रदर्शन जारी है. लेकिन 12वी के छात्रों के प्रदर्शन में बड़ी चौंकाने वाली बात सामने आयी कि स्कूल के छात्रों के प्रदर्शन को कांग्रेस के कॉलेज छात्र संगठन ने कब्ज़ा कर लिया.

According to the big news now available, the demonstration is going on in many cities of Delhi and the country for two days against paper leaks. But in the performance of the students of 12 V, a shocking thing came to light that the students of the school were captured by the college student organization of Congress.

इसके साथ ही आंदोलन पर कब्ज़ा करते ही छात्रों की मांगों को साइड कर दिया गया और अपनी मनमानी ढंग से मांगे मनवाने के लिए विरोध करने लगे. इससे पहले जब दिल्ली में एसएससी के छात्रों ने विरोध किया था तब भी JNU के वामपंथी छात्र संगठन ने उसे कब्जाने की कोशिश करी थी लेकिन छात्रों ने JNU के छात्र नेताओं को भगा दिया था.

Along with this, the demands of the students were made as soon as the movement was over and they started protesting for their demands arbitrarily. Earlier, when the SSC students protested in Delhi, JNU’s Left student organization had tried to grab it but the students had expelled JNU student leaders

HRD से की ऐसी मांग कि नाराज हुए स्कूली छात्र!

कांग्रेस की स्टूडेंट विंग एनएसयूआई के चार सदस्यों और एक स्कूली छात्र ने मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडेकर को पत्र लिखकर अपनी मनमानी मांगे रखी. साथ ही केंद्र सरकार का पुतला जलाया गया. ये 12वी के छात्रों के विचार कभी नहीं थे वे सिर्फ शांतिपूर्ण विरोध कर रहे थे लेकिन कांग्रेस ने उस आंदोलन में अपनी राजनीति घुसेड़ दी है.

Such a demand from HRD school students angry!

Four members of Congress student wing NSUI and a school student wrote their letter to HR minister Prakash Javadekar and kept their arbitrary demands. At the same time, the effigy of the central government was burnt. These 12 V students did not have the idea that they were only peaceful protesters, but the Congress has launched its politics in that movement.

कांग्रेस की स्टूडेंट विंग एनएसयूआई ने मांगे रखी कि दुबारा परीक्षा न करवाई जाय बल्कि सभी छात्रों को एवरेज बेस्ट स्कोर अलॉट कर दिये जाएं. इस मांग से 12वी के छात्र बेहद खफा है.

The student wing of the Congress, NSUI, demanded that the examination be canceled and all the students should be allotted the best best score. With this demand, students of 12 V are very upset.

आरपी विद्यालय के कक्षा 12वीं के चात्र रविंदर ने कहा, “ये हमारी मांग हरगिज़ नहीं है, मुझे दूसरों की तरह एवरेज नंबर क्यों दिया जाएगा? मुझे अन्य विषयों में मेरी परफॉर्मेंस के आधार पर नंबर दिये जाने चहिए. फिर चाहे मैंने 40 नंबर के सवाल हल किये हों चाहे 70 के.” एवरेज मार्किंग पर रविंदर के स्कूलमेट योगेश ने कहा, “यह हमारी मांग बिलकुल नहीं है. इसके बारे में यहां पहुंचने पर हमें पता चला. हम बेहद हैरान हैं ऐसा लग रहा है कांग्रेस कोचिंग सेंटर वालों से मिले हुए हैं तभी ऐसी मांग उठा रहे है.”

Ravinder of class 12th of RP School said, “This is not our demand, why would I be given an average number like others? I should be given numbers based on my performance in other disciplines. Even if I have solved the 40 number of questions, even if 70’s. “Ravinder’s schoolmate Yogesh on average marking said,” This is not our demand at all. We got to know about it here. We are very surprised that the Congress coaching center has met those people, and then we are demanding such a demand. ”

रविंदर और योगेश अपने स्कूल के कई साथियों के साथ आजादपुर मंडी से प्रोटेस्ट के लिए आजादपुर मंडी पहुंचे थे. यहां पहुंचकर उन्हें बड़ा धक्का लगा कि इस प्रोटेस्ट को कांग्रेस के कॉलेज के छात्र संगठन NSUI चला रहे थे.

Ravinder and Yogesh reached Azadpur Mandi with protesters from Azadpur Mandi along with many of his schoolmates. He was shocked that he was running the student organization NSUI of Congress college.

हम्ज़ा अब्बास ने कहा NSUI के लोग अच्छे हैं!

सेंट कोलंबा स्कूल के कक्षा 12वीं के छात्र हम्ज़ा अब्बास ने एनएसयूआई के साथ मिलकर जो मांगे HRD मंत्रालय को भेजी है उसमे सबसे प्रमुख है ‘सीबीएसई चेयरमैन को हटाने की मांग’ हम्ज़ा अब्बास ने कहा “मैंने एनएसयूआई के साथ मिलकर यह प्रोटेस्ट ऑर्गनाइज किया और मैं एनएसयूआई के सदस्यों के साथ गया क्योंकि वे अच्छे लोग हैं.”

Hamza Abbas said the people of NSUI are good!

Hamza Abbas, a class 12th student of St. Colombo School, joined with the NSUI, the demand for the removal of the CBSE chairman, “the demand for the removal of the CBSE chairman”. “I organized this Protest in association with the NSUI and I Went with NSUI members because they are good people. ”

कांग्रेस की वजह से छात्र वापस लौटे!

तो वहीँ NSUI की इन मांगों से 12वी के छात्र भड़क उठे हैं. आर्मी पब्लिक स्कूल के 12वीं के छात्र आयुष कुमार ने कहा कि एचआरडी मंत्री के सामने जो मांगे रखी गई हैं उनके बारे में उन्हें नहीं बताया गया. उन्होंने कहा, “हम ऐसा नहीं चाहते हैं. कांग्रेस की वजह से अब कई छात्र वापस हताश होकर लौट रहे हैं. कांग्रेस ने इस आंदोलन को अपना राजनीति मंच बना लिया है.”

Students return due to Congress!

So these same demands of NSUI students of 12 V have been eroded. Ayush Kumar, 12th student of Army Public School, said that they were not told about the demands that were placed before the HRD minister. They said, “We do not want this. Because of the Congress, many students are returning back desperate. Congress has made this movement its own political platform. ”

कांग्रेस NSUI ने कहा ये मांगें छात्रों के साथ मीटिंग में तय की गयी हैं, जबकि हर छात्र कह रहा है हमें मीटिंग में शामिल ही नहीं किया गया. कुछ छात्रों ने यह भी कहा कि कोशिश करने के बाद भी एनएसयूआई ने उनसे बात नहीं की. आयुष ने कहा, “और हम सीबीएसई चेयरमैन को हटाने की मांग क्यों करेंगे. हमें सीबीएसई के मैनेजमेंट और इसकी कार्यप्रणाली से कोई मतलब नहीं है.”

Congress NSUI said that these demands have been fixed in the meeting with the students, whereas every student is saying we were not included in the meeting. Some students also said that even after trying, the NSUI did not talk to them. Ayush said, “And why would we demand the removal of the CBSE chairman?” We have nothing to do with CBSE’s management and its functioning. ”

वहीं एसआरएस मिशन स्कूल के छात्र पंकज ने कहा, “हमारी मांग वही है जो कल थी. या तो री-टेस्ट को रद्द किया जाए या फिर पूरी बोर्ड परीक्षा दोबारा कराई जाए.”

Meanwhile, Pankaj, a student of the SRS Mission School, said, “Our demand is that which was yesterday. Either re-test can be canceled or the whole board examination should be done again. ”

यह भी देखे:

https://youtu.be/Uzs16fYnw1k

https://youtu.be/VxtYK7YXsQ8

source name :political report