खास खबर: शांतिदूतों पर टूटा मौत का ज़बरदस्त कहर, मस्जिद बम ब्लास्ट में राख हुए नमाज़ी

नई दिल्ली : आतंकवाद आज केवल एक देश या एक धर्म के खिलाफ नहीं रह गया है | जो आतंकवाद को पालेगा पोसेगा उसे भी यह आतंकवाद खा जाएगा और मासूम लोगों पर तो कहर बरपाता ही रहता है | अगर एक धर्म के लोगों को लगता है कि वे आतंकवाद से बच जायेंगे तो ये उनकी ग़लतफहमी है | ऐसी ही खबर अभी नाइजीरिया से आ रही है जहाँ एक मस्जिद में भयंकर धमाका हुआ है |

New Delhi: Terrorism is no longer against a single country or a religion Even if terrorism is found, it will also eat terrorism and continue to torment innocent people. If people of one religion think that they will escape terrorism, then this is their misunderstanding Such a news is just coming from Nigeria where there is a huge explosion in a mosque.

अभी-अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक पूर्वोत्तर नाइजीरिया की एक मस्जिद में बड़े आत्मघाती हमले में कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई है ओर दर्जनों घायल बताये जा रहे हैं | एडमवा राज्य में किशोर बॉम्बर ने उस समय खुद को उड़ा दिया जब लोग मस्जिद में सुबह की नमाज़ अदा करने के लिए पहुंच रहे थे | किशोर ने अपने जैकेट में घातक बम लगा रखा था | धमाका इतना भीषण था कि लोगों कि चीथड़े तक नहीं मिल पा रहे हैं |

According to the latest news, at least 50 people have died and dozens more injured are being reported in a major suicide attack in a mosque in northeast Nigeria. Kishore Bomber blew himself in the state of Edwawa when people were arriving in the mosque for morning prayer. The teenager had put a deadly bomb in his jacket The explosion was so gruesome that people are not able to get the screw.

धमाके की तीव्रता इतनी ज़्यादा थी कि मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है | पुलिस प्रवक्ता ओथमान अबुबकर ने बताया कि वारदात में मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है | हालांकि हमले की जिम्मेदारी का किसी आंतकी संगठन ने कोई दावा नहीं किया लेकिन “बोको हरम” पर इस हमले की आशंका जताई जा रही है | ये इस्लामी चरमपंथी समूह पड़ोसी राज्य बोर्नो में स्थित है और इस तरह के कई हमलों के लिए दोषी ठहराया जा चुका है |

The intensity of the blast was so great that the number of people killed is increasing Police spokesman Othman Abubakar said that the number of people killed in the incident can increase Although no terrorist organization claimed responsibility for the attack, but the “Boko Haram” is being feared for this attack. These Islamic extremist groups are located in neighboring Bornoo and have been convicted for many such attacks.

डमवा का शहर मुबी है जहां 2014 में बोको हरम का कब्‍जा था लेकिन बाद में सेना ने 2015 में आतंकियों को निकाल दिया था. आज ये आतंकवादी संगठन ही आपस में एक दूसरे के आतंकी संगठन के खात्मे पर तुले हुए हैं. हर कोई अपने आतंकवाद को एक दूसरे की आतंकवाद से ऊँचा बताने पर तुला हुआ है. जिसकी कीमत उन निर्दोष लोगों को अपनी जान गँवा कर चुकाना पड़ रहा है और यहाँ कुछ लोग भारत को असहिष्णु देश बताते हैं |

The town of Damwa is a mubi where Boko Haram was occupied in 2014 but later the army fired the terrorists in 2015. Today, these terrorist organizations are bent upon the end of each other’s terrorist organization. Everyone is bent on telling terrorism higher than each other. The price of those innocent people has to be lost due to their lives and some people here call India an intolerant country.

भारत छोड़ कर दूसरे देश में बसने की बात करते हैं | जबकि दूसरे बड़े देशों बड़े आतंकी हमले हो रहे हैं | अमेरिका में अभी एक शख्स ने ‘अल्लाह हू अकबर’ बोलकर लोगों पर ट्रक चढ़ा दिया. जिसके बाद कई मुस्लिम देशों के लोगों की एंट्री पर ही बैन लगा दिया है | तो वहीँ चीन ने तो मुस्लिम लोगों से कुरान और नमाज़ की चटाई तक छीन ली |

Talk about leaving India and settling in another country While other major countries are facing big terror attacks In America, a person has ordered a truck on people to speak ‘Allah Hu Akbar’. After which the people of many Muslim countries have banned the entry of the people So China itself took away the Muslim people from the Koran and Namaz mat

यह भी देखे :

source political report

BREAKING NEWS – रोहिंग्या छोड़िए अब हिन्दुओं को लेकर आयी बेहद चौंकाने वाली रिपोर्ट,पहली बार पहली बार कोई मानवाधिकार जायगा मिलने PM मोदी से

नई दिल्ली : दुनियाभर में रोहिंग्या मुद्दे को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है. सात समुन्द्र पार बैठे मानवाधिकार आयोग को भी रोहिंग्या की हालत नज़र आ रही है. भारत में भी कई जगह रोहिंग्या को लेकर शांतिप्रिय समुदाय प्रदर्शन करता रहता है.

New Delhi: Awareness campaign is being organized across the world for Rohingya issues. The Human Rights Commission, sitting across seven seas, is also seen in Rohingya condition. Peaceful community continues to exhibit Rohingya in many places in India too.

पहली बार जागा मानवाधिकार
लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी मानवाधिकार के एक सदस्य की अंतरात्मा जाग गयी है और उसे हिन्दुओं का दर्द दिखा है, उसके बाद उसने वो खौफनाक खुलासा किया है जिसे देख अच्छे अच्छों की आखें फटी रह जाएँगी, लेकिन कुछ दोगलो पर अब भी कोई असर नहीं पड़ेगा.

First place human rights
But this is the first time that the conscience of a member of human rights has awakened and he has shown the pain of the Hindus, after that he has exposed the horrific disclosure that the eyes of good ones will be torn apart, but some people still Will not affect.

रोहिंग्या छोड़िये हिन्दुओं को लेकर हुआ बड़ा खुलासा
अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक पहली बार किसी मानवाधिकार कार्यकर्ता ने संगठन से हटकर हिन्दुओं के दुःख दर्द को समझा है. मानवाधिकार कार्यकर्ता और प्रोफेसर रिचर्ड बेंकिन ने खुलासा किया है कि बांग्लादेश में हिंदू समुदाय का लगातार सफाया हो रहा है. जिससे वो लगातार सिमटता जा रहा है. लेकिन सब इसे अनदेखा कर रहे हैं.

Leave Rohingya big reveals to Hindus
According to the big news nowadays, for the first time a human rights activist has understood the sadness of the Hindus suffering from the organization. Human rights activist and professor Richard Benkin has revealed that the Hindu community is being wiped out in Bangladesh continuously. From which he is constantly falling. But all are ignoring it.

एक वक़्त वो भी तक जब 1974 में बांग्लादेश की करीब एक-तिहाई आबादी हिंदुओं की हुआ करती थी. लेकिन साल 2016 में यह घटकर कुल आबादी का 15वां हिस्सा रह गई है. इसका मतलब जानते हैं आप सीधा 33% से घटकर 7% के करीब हिन्दू रह गए है जबकि 93% मुस्लिम हैं और पाकिस्तान में तो और बुरे हालत हैं वहां केवल 2% हिन्दू हैं.

At one point, even when in 1974 nearly one-third of Bangladesh’s population used to belong to the Hindus. But in 2016, it is reduced to 15th of the total population. This means that you have been reduced from 33% straight to 7% Hindus, while 93% are Muslims and in Pakistan there is only worse condition, only 2% are Hindus.

अमेरिकी मानवाधिकार कार्यकर्ता और प्रोफसर रिचर्ड बेंकिन लगातार बांग्लादेश की यात्रा करते रहते हैं. वहां अपनी यात्रा के दौरान बताया कि वह इस दक्षिण एशियाई देश में हिंदुओं के जातीय सफाए के खिलाफ कार्य कर रहे हैं.

American human rights activist and professor Richard Benkin constantly travels to Bangladesh During his visit, he told that he is working against the ethnic cleansing of Hindus in this South Asian country.

बेंकिन ने कहा “शेख हसीना और खालिदा जिया के अंतर्गत बांग्लादेशी सरकारें उन लोगों के खिलाफ कोई सख्त कदम उठाने में नाकाम रहीं हैं जो हिंदुओं के खिलाफ काम कर रहे हैं.”

Benkin said “Bangladeshi governments under Sheikh Hasina and Khaleda Zia have failed to take any stern steps against those people who are working against the Hindus.”

जानबूझकर हिन्दू महिलाओं और बच्चों को किया जा रहा है टारगेट
बेंकिन यहां भारतीय विचार केंद्रम द्वारा आयोजित कार्यक्रम में व्याख्यान देने आए थे. उन्होंने बेहद चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा कि बांग्लादेश में हिंदू महिलाओं और बच्चों के लापता होने के मामले सामने आए हैं. उन्होंने कहा कि पूरा विचार महिला को खत्म करने का है ताकि वह हिंदू को जन्म न दे सके. साथ ही बच्चों को इसलिए निशाना बनाया जा रहा है कि जिससे हिंदुओं की अगली पीढ़ी को समाप्त किया जा सके.

Intentionally targeting Hindu women and children
Benin came here to give a lecture in the program organized by the Indian Idea Center. He revealed a very shocking disclosure and said that cases of disappearance of Hindu women and children have been revealed in Bangladesh. He said that the whole idea is to eliminate the woman so that she could not give birth to the Hindu. Besides, children are being targeted so that the next generation of Hindus can be eliminated.

दरअसल हिन्दू समुदाय के पूरी तरह सफाय में जुटे लोगों की ये मंशा है हिन्दू महिलाओं,बच्चों को निशाना बनाओ जिससे कोई हिंदू पैदा ना हो और नई पीढ़ी भी समाप्त हो जाए. इससे पहले आय दिन मंदिरों में मूर्तियों को भी तोड़ने का काम ज़ोरों पर किया जा रहा है.

In fact, the intention of the people of the entire community to be completely defeated is to target Hindu women and children, so that no Hindu can be born and the new generation will end. Earlier, on the eve of the day, the work of breaking the idols in the temples is being done.

बेंकिन ने कहा “शेख हसीना और खालिदा जिया के अंतर्गत बांग्लादेशी सरकारें उन लोगों के खिलाफ कोई सख्त कदम उठाने में नाकाम रहीं हैं जो हिंदुओं के खिलाफ काम कर रहे हैं.”

Benkin said “Bangladeshi governments under Sheikh Hasina and Khaleda Zia have failed to take any stern steps against those people who are working against the Hindus.”

जानबूझकर हिन्दू महिलाओं और बच्चों को किया जा रहा है टारगेट
बेंकिन यहां भारतीय विचार केंद्रम द्वारा आयोजित कार्यक्रम में व्याख्यान देने आए थे. उन्होंने बेहद चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा कि बांग्लादेश में हिंदू महिलाओं और बच्चों के लापता होने के मामले सामने आए हैं. उन्होंने कहा कि पूरा विचार महिला को खत्म करने का है ताकि वह हिंदू को जन्म न दे सके. साथ ही बच्चों को इसलिए निशाना बनाया जा रहा है कि जिससे हिंदुओं की अगली पीढ़ी को समाप्त किया जा सके.

Intentionally targeting Hindu women and children
Benin came here to give a lecture in the program organized by the Indian Idea Center. He revealed a very shocking disclosure and said that cases of disappearance of Hindu women and children have been revealed in Bangladesh. He said that the whole idea is to eliminate the woman so that she could not give birth to the Hindu. Besides, children are being targeted so that the next generation of Hindus can be eliminated.

दरअसल हिन्दू समुदाय के पूरी तरह सफाय में जुटे लोगों की ये मंशा है हिन्दू महिलाओं,बच्चों को निशाना बनाओ जिससे कोई हिंदू पैदा ना हो और नई पीढ़ी भी समाप्त हो जाए. इससे पहले आय दिन मंदिरों में मूर्तियों को भी तोड़ने का काम ज़ोरों पर किया जा रहा है.

In fact, the intention of the people of the entire community to be completely defeated is to target Hindu women and children, so that no Hindu can be born and the new generation will end. Earlier, on the eve of the day, the work of breaking the idols in the temples is being done.

यह भी देखे

https://youtu.be/k87GwTUEGuQ

https://youtu.be/k87GwTUEGuQ

SOURCE POLITICAL REPORT

हार के बाद CM योगी का बड़ा बयान, क्या बीजेपी को हराने का मिल गया फार्मूला ?

बिहार के अररिया में हुए लोकसभा उपचुनाव में लालू यादव की पार्टी RJD का उमीदवार सरफराज आलम जीत गया, सरफराज आलम की जीत के तुरंत बाद उसके समर्थको ने अररिया में नारे लगाए – “पाकिस्तान जिंदाबाद, भारत तेरे टुकड़े होंगे”, बता दें की अररिया में सरफराज आलम को 2 अल्पसंख्यक बहुल विधानसभा सीटों में लाख-लाख से ज्यादा वोट मिले जिसके कारण उसकी जीत हुई

n the Lok Sabha bypoll in Bihar’s Araria, Lalu Yadav’s party won the candidature of the RJD candidate Sarfaraz Alam, immediately after the victory of Sarfaraz Alam, his supporters shouted slogans in Araria – “Pakistan Zindabad, India will be divided into pieces”, tell us that in Araria Sarfaraz Alam got more than lakh lakh votes in two minority-dominated assembly seats, which led to his victory.

जीत का जश्न मनाते हुए उसके समर्थको ने पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी की साथ ही भारत के टुकड़े होंगे की भी बात कही, इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है

While celebrating the victory, his supporters also slogan in support of Pakistan, along with the fragments of India, even a video of it is becoming viral on social media

आप वीडियो में देख सकते है की सरफराज आलम के समर्थक किस प्रकार पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे है, साथ ही पीछे से ये भी नारा लगाया जा रहा है की भारत तेरे टुकड़े होंगे, इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज किया है, सरफराज आलम के ये समर्थक अभी फरार चल रहे है, और पुलिस इनकी तलाश कर रही है

In the video, you can see how the supporters of Sarfaraz Alam are shouting slogans of Pakistan, along with the slogan that India will be your fragments, in this case the police has registered a case, Sarfaraz Alam These supporters are still absconding, and the police are searching for them

बता दें की सरफराज आलम वही शख्स है जिसने 2016 में दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी ट्रैन में हिन्दू महिला के साथ छेड़छाड़ की थी, इस मामले में इसकी गिरफ़्तारी भी हुई थी, बाद में इसे जमानत मिल गयी थी, वो अब अररिया से RJD का सांसद है,और इसके समर्थक भारत तेरे टुकड़े होंगे, और पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे है

Tell that Sarfaraz Alam is the same person who had tampered with the Hindu woman in the Delhi-Dibrugarh capital train in 2016, it was also arrested in this case, it was later arrested, he is now a RJD MP from Araria , And its supporters will be India’s fragments, and Pakistan is slamming zindabad

यह भी देखे

https://youtu.be/hDs_CdEp_u8

https://youtu.be/hsfxfSRtdUs

SOURCE POLITICAL REPORT

सावधान भारत : पाकिस्‍तान से आए हिंदुओं ने किया खौफनाक खुलासा, बताई भारत की तबाही की तारीख- मोदी जी समेत पूरा देश सन्न

यह तो सब जानते है, पाकिस्तान किस तरह का देश है, और वह पर हिन्दू परिवारों के साथ कितना बुरा सलूक किया जाता है, यह बात तो सिर्फ वहां पर जो हमारे हिन्दू भाई रह रह रहे है, केवल वही इस बात को जानते है, और वहां पर किस तरह नरक में अपनी जिंदगी को काट रहे है, ऐसा ही हिन्दू परिवार पाकिस्तान से लोट कर अपने देश आ कर सुनाई अपनी दर्द भरी दास्तान!

It is known to all, what kind of country Pakistan is, and how badly it is done with Hindu families, only this thing which our Hindu brothers are living there, only they know this thing, And how they are cutting their lives in hell, the same Hindu family came to their country by laughing with their own painful story!

पाकिस्तान में बड़े पैमाने पर हिन्दुओं के साथ शारीरिक तथा मानसिक उत्पीड़न हो रहा है, जिसके कारण पाकिस्तान से हिन्दू भारत की तरफ भारी मात्रा में आ रहे है, इसके साथ ही भारत पहुंचे पाकिस्तानी हिन्दुओं ने उनके ऊपर हो रहे अत्याचारों के बारे में बताया, जिसे सुन ऐसा लग रहा है, मानो उन्हें वहां सांस लेने की भी आजादी ना हो!

In Pakistan, physical and mental harassment is happening with the Hindus on a large scale, due to which Hindu Hindus from Pakistan are coming in huge quantities towards India, along with the Pakistani Hindus who came to India, told about their atrocities Look, it sounds like they do not even have the freedom to breathe there!

उन्होंने यह भी बताया की बहुत जल्द यहाँ के बहुसंख्यक के अधिकार छीन लिए जायेंगे और अल्पसंख्यक हावी होकर भारत को भी मुस्लिम राष्ट्र में तब्दील कर देंगे ऐसा करने के लिए पाक और isis उन्हें लगातार भड़का रहा है जिसका सबूत मुजफ्फरनगर के दंगे है जिसमे खुद राहुल गाँधी ने कहा था की भारत के मुसलमान isi के सम्पर्क में है

They also told that very soon the rights of the majority will be stripped and minorities will dominate India into a Muslim nation. To do this, Pakis and Isis are constantly spreading them, which is proof of Muzaffarnagar riots, in which Rahul Gandhi himself Had said that the Muslims of India are in contact with isi

दरअसल पाकिस्‍तानी हिंदू परिवार मुजफ्फरनगर में थाना मंसूरपुर क्षेत्र के गांव दुधाहेड़ी में समाजसेवी जयविंद्र फौजी के आश्रम में पहुंचे , पाकिस्तानी हिन्दुओं का Set featured imageमुज्जफरनगर के लोगों ने स्वागत किया, और स्वामी प्रणवानंद ने मंत्र उच्चारण के साथ सभी पाकिस्तानी हिंदुओं का तिलक भी किया,

In fact, the Pakistani Hindu family reached the ashram of social worker Jaiwindra Fauji in Dudhhedi village of Mansoorpur area in Muzaffarnagar, the people of Pakistani Hindus were welcomed by the people of Muzaffarnagar, and Swami Pranavanand even tilak of all Pakistani Hindus with mantra,

इस अवसर पर वहां के लोगों ने पीड़ित परिवारों को रोजो-रोटी के साथ उनकी हर मुमकिन मदद करने का भरोसा दिलाया , और कहा कि वे उनके जीवन यापन के लिए जमीन और काम देगें, पीड़ि‍तों को शरण देने वाले जेविंद्र फौजी ने बताया कि अपनी करोड़ों की संपत्ति छोड़कर आए ये लोग अभी दिल्ली में ठहरे हुए हैं, लेकिन चार साल से किसी ने इनकी तरफ ध्यान तक नहीं दिया है !

On this occasion, the people of the city assured the victims families their help in every possible way, and said that they would give land and work for their livelihood, Javindra Fauji, who gave shelter to the victims, told that their crores These people who have left the property are still staying in Delhi, but for four years nobody has paid attention to them!

सब कुछ लिख पाना असंभव है आप यह विडियो देख लीजिये !!

https://youtu.be/27wySC5YcBQ

यह भी देखें:

source political news

बड़ी खबर: सुप्रीम कोर्ट ने छीन लिये मुस्लिमों के ये बड़े अधिकार, हिन्दुओं को दे दिया अबतक का सबसे बड़ा तोहफा..

नई दिल्ली: भारत में आजादी के बाद से अब तक रही कांग्रेस सरकार ने अपने वोटबैंक की राजनीति को अंजाम देने के खातिर वो हर मुमकिन काम करती आयी है जिससे मुस्लिम समुदाय कांग्रेस का साथ देता रहे! मुस्लिमो को अल्पसंख्यक के नाम पर तरह तरह के सुभिदाये मुहैया कराती रही है! भारत के पूर्व कांग्रेसी प्रधानमंत्री ने तो यहाँ तक कह दिया था कि देश की प्राकृतिक संसाधनों पर पहला अधिकार मुस्लिमो का है, लेकिन अब देश बदल रहा है और मोदी जी ने सबका साथ सबका विकास करने का संकल्प लिया है!

New Delhi: Since the independence of India in India, the Congress government has done every possible thing in order to carry out its vote bank politics, so that the Muslim community continues to support the Congress! In the name of the minority, Muslims have been providing different kind of privileges! The former Congressman Prime Minister of India had even said that the first right on the country’s natural resources is Muslim, but now the country is changing and Modi has resolved to develop everyone with everyone!

आज आजादी के 67 साल बाद हिन्दुओं को मिला उनका अधिकार! आपको बता दे जम्मू कश्मीर भारत का एक ऐसा राज्य जहाँ पकिस्तान अपने नापाक मंसूबो को अंजाम देने के लिए आतंकियों को भेजती है और वह के अलगाववादी नेताओ को उकसाते रहती है, खबरों की माने तो कश्मीर के अलगावादी नेताओ को अंदर खाने पाकिस्तान का समर्थन भी प्राप्त है! अभी तक की सरकारे जम्मू कश्मीर में शांति बनाये रखने और वहां के नागरिको की सुरक्षा के लिए हर साल केंद्र सरकार करोड़ो रूपए खर्च करती है!

67 years after Independence, Hindus got their rights! Let us tell you, Jammu Kashmir is a state of India where Pakistan invites terrorists to execute its nefarious designs and provokes the separatist leaders of the country, even if news reports say Kashmiri separatist leaders get Pakistan support inside. is! So far the governments of India spend millions of rupees every year to maintain peace in Jammu and Kashmir and to protect the citizens there!

जम्मू कश्मीर के अल्पसंख्यको के लिए सरकार ने अनेको सुविधाए और योजनाए चल राखी है, बता दें कि यहां जितनी भी सरकारी योजनाओं की सुविधाएं हैं वो केवल मुसलमानों के हित को देखते हुए लागु की गयी थी, अभी कुछ दिन पहले इसी सिलसिले में अंकुर शर्मा नाम के एक शख्स ने आवाज उठाई थी और हिन्दुओ के खिलाफ हो रहे इस अत्याचार के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की जिसपर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई करते हुए इस मामले को लेकर एक बड़ा आदेश जारी किया है!

For the minority of Jammu and Kashmir government, many schemes and schemes are going on, let us know that the facilities of the government schemes were implemented only in view of the interests of the Muslims, just a few days ago, in this sequence Ankur Sharma A man had raised a voice and filed a petition in the Supreme Court for this atrocities against Hindus, which was heard in the Supreme Court The C case has issued a big order!

सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया कि केन्द्र और राज्य सरकार इस बारे में एक बैठक करें और एक रिपोर्ट तैयार करे कि राज्य में कौन बहुसंख्‍यक है ? और कौन अल्पसंख्‍यक ? इसी रिपोर्ट के आधार पर अब उन्हें सरकारी योजनाओं का फायदा दिया जाएगा! याचिका में कहा गया कि पिछले 50 साल से जम्मू-कश्‍मीर में अल्पसंख्‍यकों की गिनती नहीं हुई है और उस वक्त मुस्लिम अल्पसंख्‍यक थे!

The Supreme Court ordered that the Center and the State Government should make a meeting about this and prepare a report that there is a majority in the state? And who is the minority? Based on this report, they will now be given the benefit of government schemes! The petition said that in the last 50 years minorities have not been counted in Jammu and Kashmir and at that time the Muslims were minority!

दरअसल उसी आधार पर आज तक उन्हें तमाम सरकारी योजनाओं का फायदा मिलता आया है लेकिन इन 50 सालों में इतना परिवर्तन हुआ है कि अब वहां हिन्दू अल्पसंख्‍यक हो चुका है! इसलिए सुविधाओं का बंटवारा सही तरीके से होना चाहिए! इस पर सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि अल्पसंख्‍यक विभाग के सचिव और जम्मू-कश्‍मीर के मुख्‍य सचिव की अगुवाई में संयुक्त कमेटी बनाई जाएगी! जो इस मुद्दे पर रिपोर्ट तैयार करेगी कि किसे अल्पसंख्‍यक और किसे बहुसंख्‍यक माना जायेगा!

In fact, on the basis of that, till now, they have benefitted from all government schemes, but there has been a change in these 50 years that now there has been a Hindu minority! Therefore, sharing of features should be done correctly! On this, the government has told the Supreme Court that a joint committee will be formed under the leadership of secretary of minority department and chief secretary of Jammu and Kashmir. Who will prepare a report on the issue of who will be considered as a minority and who will be the majority!

बता दें कि सरकार का मानना है कि 31 जुलाई तक कमेटी अपनी रिपोर्ट तैयार कर लेगी! इस पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के लिए 31 जुलाई की तारीख निश्चित की है! कहा जा रहा है कि इस रिपोर्ट से साफ हो जायेगा कि अब जम्मू-कश्‍मीर में मुस्लिम अल्पसंख्यक नही रहे अपितु बहुसंख्यक हो गये है और ऐसा होने पर उनसे तमाम सु‍ख-सुविधाएं छीन कर अल्पसंख्‍यक हो चुके हिन्दू वर्ग के लोगों को दे दी जाएँगी!

Let the government believe that by July 31 the committee will prepare its report! The Supreme Court has fixed July 31 for the hearing on this! It is being said that this report will be made clear that now there is no Muslim minority in Jammu and Kashmir but has become a majority, and if this happens, they will be stripped of all the facilities and will be given to the minority Hindu community.

देखें ये वीडियो :

source http://indiamirrors.in

खास खबर: इस मुस्लिम देश के प्रधानमंत्री ने PM मोदी को लेकर दे डाला ये बड़ा बयान, लगाये ऐसे गंभीर आरोप…

मॊदी जी के फिलिस्तीन यात्रा को लेकर वहां के राजदूत और लोग बहुत ही उत्सुक हैं। भारत और फिलिस्तीन के लिहाज से यह यात्रा ऐतिहासिक मानी जा रही है क्योंकि फिलिस्तीन जानेवाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री है मोदी जी। मॊदी जी के भेट को लेकर फिलिस्तीन के प्रधानमंत्री डॉ. रामी हमदल्लाह अधिक प्रसन्न हैं। भास्कर को दिये गये अपने संदर्शन में उन्होंने कहा है कि मोदी जी विश्व नायक है और मोदी जी में इतनी क्षमता है कि वे फिलिस्तीन और इसरायल के बीच के उनके मन मुटाव को खत्म कर सकते हैं। दुनिया के सभी देश मॊदी जी के नायकत्व को स्वीकार रहे हैं। फिलिस्तिनी राजदूतों के अनुसार, मॊदी जी का स्वागत खुद फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास करनेवाले हैं।

Ambassador and people are very excited about the visit of Modi to Palestine. This visit is considered to be historic in terms of India and Palestine because Modi is the first Indian Prime Minister to visit Palestine. The Prime Minister of Palestine, Dr. Rami Hamadullah, is more pleased with the visit of Mody Ji. In his presentation to Bhaskar, he has said that Modi is a world hero and Modi has so much capability that he can eliminate his mindset between Palestine and Israel. All the countries of the world are accepting the heroism of Mody Ji. According to the Palestinian ambassadors, welcome to Mudi ji is the Palestinian President Mahmoud Abbas himself.

हमदल्लाह ने कहा कि दावोस में मोदी जी के जलवायु परिवर्तन और विश्व आर्थिक सहयोग को लेकर जॉइंट ग्लोबल एक्शन का आह्वान किया था, उसका वे समर्थन करते हैं। उन्होंने आश जताई कि फिलिस्तीन जैसे विकासशील देशों के लिए भारत का आर्थिक और राजनीतिक ताकत के तौर पर उभरना अच्छी बात है। उनका मानना है, यह यात्रा भारत-फिलिस्तीन के बीच सहयोग के नए अवसर पैदा करेगी। फिलिस्तीनी प्रधानमंत्री ने माना कि पाकिस्तान की रैली में मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के साथ उनके राजदूत का मंच साझा करना आकस्मिक भूल थी और इसे जायज़ ठहराया नहीं जा सकता। उन्होंने उम्मीद जताया कि इस घटना से दोनों देशों के दशकों पुराने रिश्ते पर आंच नहीं आएगी।

Hamadullah said that he had called Joint Global Action about Modi’s climate change and world economic cooperation in Davos, he supports it. He expressed the hope that it is a good thing for emerging countries like Palestine to emerge as the economic and political power of India. He believes this visit will create new opportunities for cooperation between India and Palestine. The Palestinian Prime Minister acknowledged that sharing the platform of his ambassador with the mastermind of Hafiz Saeed of the Mumbai attacks in Pakistan rally was a sudden mistake and it can not be justified. He hoped that this incident will not affect the decades-old relationship of the two countries.

उन्होंने कहा कि मोदी जी की यात्रा भारत-फिलिस्तीन के बीच मजबूत रिश्तों की सूचक है। 15 नवंबर 1988 को आजादी की घोषणा के बाद फिलिस्तीन को मान्यता देने वाले पहले देशों में भारत शामिल था। भारत और फिलिस्तीन मुक्ति संगठन (पीएलओ) के बीच संबंध 1974 में कायम हुए। पीएलओ ने फिलिस्तीन में 1975 में कार्यालय खोला और दोनों देशों के बीच 1980 में राजनैतिक संबंध स्थापित हो गए। उनको उम्मीद है कि मोदी जी के यात्रा से दोनों देश के बीच व्यापार, संस्कृति, तकनीक और सूचना के क्षेत्र में सहयोग बढ़ेगा।

He said that Modi’s visit is an indicator of the strong relationship between India and Palestine. After the declaration of independence on 15th November 1988, India was involved in the first countries that recognized Palestine. The relationship between India and the Palestine Liberation Organization (PLO) was established in 1974. The PLO opened the office in Palestine in 1975, and political relations between the two countries began in 1980. They hope that the visit of Modi will increase cooperation between the two countries in the field of trade, culture, technology and information.

भारत ने येरूशलम को इजरायल की राजधानी बनाने के प्रस्ताव पर अमेरिका के खिलाफ जाकर यूएन में वोट दिया था लेकिन इसके बाद खुले मन से इजरायल के प्रधानमंत्री नेतन्याहू का स्वागत किया और नेतन्याहू ने भी भारत के नेतृत्व की जमकर सराहना की थी। अंतराष्ट्रीय मंच पर देशों के बीच के समीकरण बहुत तेज़ी से बदल रहे है। छॊटे-बड़े देश भारत की भूमिका को सम्मान की दृष्टि से देख रहे हैं। भारत विश्व में एक बड़ी आर्थिक शक्ति के रूप में उभर रहा है। दुनिया के देश भारत को अब नज़र अंदाज़ नहीं कर सकते और उनको आशा है कि भारत ही एक मात्र ऐसा देश है जो दुनिया के बीच बढ़ रहे तनाव को कम कर विश्व में शांती बहाल करने की क्षमता रखता है। भारत की नसॊं में सनातन परंपरा दौड़ती है। अब भारत का नायकत्व एक ऐसे व्यक्ति के हाथॊं में है जो सनातन परंपरा को अपने जीवन में घॊल कर पी चुके हैं।

India had voted in the UN on the proposal to make Jerusalem Israel’s capital on the proposal to make Israel’s capital, but afterwards welcomed Israeli Prime Minister Netanyahu with an open mind and Netanyahu also fervently lauded the leadership of India. The equations between countries on the international stage are changing very rapidly. A small country is looking at India’s role with respect. India is emerging as a major economic power in the world. The countries of the world can not ignore India now and they hope that India is the only country which has the capacity to bring peace to the world by reducing the growing tension between the world. Sanatan tradition runs in India’s non-Hindus. Now the heroism of India is in the hands of a person who has enjoyed the eternal tradition in his life.

मॊदी जी ‘वसुदैव कुटुंबकम’ में विश्वास रखते है। अपने इसी लक्ष को पूर्ण करने के लिए वे दुनिया के सभी देशों को एक दूसरे के करीब ला रहे हैं। निश्चित ही एक बार फिर भारत विश्व गुरू बननेवाला है। हमको मॊदी जी के साथ खड़ा रहकर उनके काम में उनका साथ निभाना है।

Mudi ji believes in ‘Vasudeva Kutumbakam’. In order to fulfill their own goal, they are bringing all countries of the world closer to each other. Surely once again India is going to be a World Guru. We have to stand with Mody Ji and keep up with them in their work.

यह भी देखे:

source post card

बड़ी खबर: कासगंज में दंगे के दौरान मारे गये चन्दन गुप्ता पर भड़के मीलॉर्ड ने सुनाया ये चौंका देने फैसला- हिन्दुओं में हडकंप..

3 फरवरी, 2018 – हिन्दुओं को बड़े-बड़े झटके देने वाले मीलॉर्ड का एक और कारनामा सामने आया है. कासगंज में चन्दन की हत्या होने के बाद मीलॉर्ड ने भड़कते हुए फिर से हिन्दुओं को निराश किया है.

February 3, 2018 – Another event has emerged from the Mildard, who gave big shocks to the Hindus. After Chandan was murdered in Kasganj, Melende was provoked again and again disappointed Hindus.

चन्दन के परिवार ने अदालत पर बेहद भरोसा किया था. उन्हें पूरा विश्वास था कि याचिका डालने वाले भाजपा के नेता दिलीप श्रीवास्तव के अथक प्रयासों से उनके बेटे की आत्मा को शांति मिलेगी लेकिन उनकी ये उम्मीद पूरी तरह से टूट गयी. साथ ही कट्टरपंथी समाज इस फैसले से बेहद खुश है क्योंकि ये याचिका उनके लिए खौफ बनी हुई थी.

The Chandan’s family had relied heavily on the court. He believed that BJP’s Dilip Srivastav’s tireless efforts would bring peace to his son’s soul, but his hopes were completely broken. At the same time, the radical society is very happy with this decision because the petition was awe for him.

कासगंज में हुई हिंसा के मुद्दे को लेकर इलाहबाद पीठ हाईकोर्ट ने बलिदानी चन्दन के परिवार वालों और याचिका डालने वाले भाजपा के नेता दिलीप श्रीवास्तव को निराश करते हुए उनकी उम्मीदों को चकनाचूर कर दिया है. इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने भाजपा नेता की उस याचिका को ख़ारिज कर दिया है, जिसमे उन्होंने तिरंगा यात्रा में मारे गए चन्दन गुप्ता को शहीद का दर्जा देने की मांग की थी.

In view of the issue of violence in Kasganj, Allahabad Peeth High Court has demolished their hopes of dismissing the BJP’s Dilip Srivastav, who has filed a petition in the families of Balidani Chandan and petitioned him. The Lucknow Bench of the Allahabad High Court has dismissed the petition of BJP leader, in which he had demanded that Chandan Gupta, who was killed in a tri-color journey, be given martyr status.

डाली गयी इस याचिका की खासियत ये थी कि आतंक का सफाया करने वाली NIA से कासगंज के दरिंदों को सख्त से सख्त सजा दिलाने की मांग के साथ चन्दन के परिजनों को 50 लाख मुआवजा करने की मांग की गयी थी. इस मुद्दे को लेकर न्यायाधीश ने कहा कि चन्दन को शहीद का दर्जा दे ही नहीं सकते. साथ ही आदालत ने मुआवजा राशि में बढ़ोत्तरी को ठुकराते हुए इस मामले की NIA जाँच की मांग को भी सिरे से ख़ारिज कर दिया है.

The specialty of this petition was that the NIA, which eliminated terror, demanded a compensation of Rs 50 lakh to the families of Chandan, demanding strict punishment for the desolation of Kasganj. Regarding this issue the judge said that the moon can not be given martial status. Along with this, Adalat has rejected the demand for NIA investigation by rejecting the increase in the compensation amount.

न्यायाधीश महोदय का इस मामले को लेकर मानना था कि जब राज्य सरकार ने इस पुरे मामले की जाँच एसआईटी को सौंपी है, साथ ही जाँच शुरू भी हो गयी है, ऐसे में NIA का किसी प्रकार का आदेश नहीं दिया जा सकता है. NIA की जाँच की मांग को ख़ारिज होने के बाद कासगंज के जिहादियों में ख़ुशी की लहर है.

The judge believed in the matter of the matter that when the state government has given the SIT the investigation of this entire matter, and the investigation has begun, no such order of NIA can be given. After dismissing the demand for NIA investigation, there is a wave of happiness in the jihadis of Kasganj.

यह भी देखे

https://youtu.be/BVuWDLCqpCM

https://youtu.be/BVuWDLCqpCM

sourcename:political report

भारत में मुस्लिमों को पूजा जाता है और पाक में हिन्दुओं के साथ हो रहा ये शर्मनाक काम, देख आपकी आखें फटी रह जाएँगी..

कराची. पाकिस्तान में सिंध प्रांत के थरपरकर जिले में बाइक सवार लुटेरों ने गोली मारकर दो हिंदुओं की हत्या कर दी। मारे गए दोनों शख्स भाई थे और अनाज का कारोबार करते थे। इस घटना के बाद इलाके में हिंदू अल्पसंख्यकों ने दुकानें बंद कर दीं और विरोध-प्रदर्शन किया। हाईवे पर धरना दिया, जिससे जाम लग गया।

Karachi Pakistanis killed two Hindus by shooting a bike rider robbers in Tharparkar district of Sindh province. The dead were both brothers and used to trade grains. After this incident, the Hindu minorities closed shops and protested in the area. Hiked on the highway, there was a jam.

पुलिस ने कहा- जिले में लूट की पहली घटना
– पुलिस के मुताबिक, “दोनों कारोबारी भाई शहर के मिठी इलाके में स्थित अपनी दुकान खोल रहे थे, तभी वहां पहुंचे दो बाइक सवार लुटेरों ने उनसे पैसे छीनने की कोशिश की। विरोध करने पर लुटेरों ने गोली मारकर दोनों की हत्या कर दी।”

Police said – the first incident of robbery in the district
– According to the police, “Both businessmen were opening their shop located in the hugely situated area of the city, and then two bike rider robbers came there trying to snatch away money from them. The robbers shot and killed both of them for protest. ”

– मारे गए दोनों भाइयों के नाम दिलीप कुमार और चंदर माहेश्वरी थे। पुलिस के मुताबिक, थरपरकर शहर में लूट की यह पहली घटना है।

पुलिस पर लगा देर से आने का आरोप
– स्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिस घटनास्थल पर देर से पहुंची।
– रिपोर्ट के मुताबिक, ज्यादातर पुलिसवाले मीरपुरखास में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) की रैली में सिक्युरिटी के लिए भेजे गए हैं। वहां पाकिस्तान के पूर्व प्रेसिडेंट आसिफ अली जरदारी का भाषण होना है।

Police accused of coming late
– Local people have alleged that police reached late on the spot.
– According to the report, most of the policemen have been sent for security in the Pakistan People’s Party (PPP) rally in Mirpurkhas. There is a speech by Pakistan’s former President Asif Ali Zardari.

सिंध के होम मिनिस्टर क्या बोले?
– सिंध प्रांत के होम मिनिस्टर सोहेल अनवर सियाल ने इस घटना पर उमरकोट के एसएसपी को जांच के निर्देश दिए हैं।
– उन्होंने कहा “हम जल्द ही दोनों हिंदू भाइयों की हत्या की डीटेल्स आपसे शेयर करेंगे।

What did the Sindhu Home Minister say?
– Home Minister Sohail Anwar Seal of Sindh province has instructed the investigation of the SSP of Umarkote on this incident.
– He said “we will soon share details of the killing of both Hindu brothers with you.”

कला जगत में देखें:

https://youtu.be/fBRvBB-0gH0

ताजा खबर: पाकिस्तानी हिन्दू का बड़ा खुलासा, बताई भारत की तबाही की तारीख- मोदी जी समेत पूरा देश सन्न

नई दिल्ली. पाकिस्तान से भारत आने वाली थार एक्सप्रेस से शनिवार को तीन परिवार भारत आ गए. उन्होंने बताया कि उनके गांव में स्कूलों की कमी है इसलिए अपने बच्चों का भविष्य बनाने के लिए वे भारत आ गए. तीनों परिवार अपना घर और मवेशी बेचकर भारत आ गए.

new Delhi. Three families came to India on Saturday from Thar Express coming to India from Pakistan. He told that there is a shortage of schools in his village, so he came to India to make his children’s future. The three families have come to India by selling their house and cattle.

जोधपुर. थार एक्सप्रेस से शनिवार को तड़के 507 यात्री जोधपुर पहुंचे. इसमें तीन परिवार ऐसे भी थे, जो अपने बच्चों का भविष्य बनाने के लिए पाकिस्तान में अपना घर और मवेशी बेचक हमेशा के लिए भारत चले आए. पाकिस्तान में दूर दराज के गावों में स्कूल की कमी ने वहां के लोगों को भारत आने पर मजबूर कर दिया है. राजस्थान पत्रिका की खबर के मुताबिक अब वे लोग जोधुपर में रहकर बच्चों को स्कूल में भर्ती कराएंगे.

Jodhpur 507 passengers reached Thane Express from Jodhpur on Saturday. There were also three families in it, who made their home and cattle bakery in Pakistan to come to India to make their children’s future. The lack of school in far-flung villages in Pakistan has forced the people there to come to India. According to the news of the Rajasthan magazine, now they will stay in Jodhupar and recruit children to school.

पाकिस्तान से खुमाणदान, दुर्गदान और हरदान का परिवार शनिवार सुबह थार एक्सप्रेस से भारत की धरती पर उतरा. हरदान ने बताया कि वे सिंध प्रांत के मीठी जिले के रहने वाले हैं. उनके पास 10 गायें और 6 बकरियां हैं. उनकी 2 बेटियां और एक बेटा है. हरदान बताते हैं कि गांव में स्कूल नहीं है इसलिए वे अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए अपना सब कुछ बेचकर भारत आ गए.

From Pakistan, the family of Khumanan, Durgan and Haradan landed on the Indian soil with Thar Express on Saturday morning. Haradan told that he is a resident of Mithi district of Sindh province. They have 10 cows and 6 goats. He has 2 daughters and a son. Hariadan explains that the village does not have a school, so he has come to India by selling all his things to teach his children.

सब कुछ लिख पाना असंभव है आप यह विडियो देख लीजिये !!

https://youtu.be/27wySC5YcBQ

यह तो सब जानते है, पाकिस्तान किस तरह का देश है, और वह पर हिन्दू परिवारों के साथ कितना बुरा सलूक किया जाता है, यह बात तो सिर्फ वहां पर जो हमारे हिन्दू भाई रह रह रहे है, केवल वही इस बात को जानते है, और वहां पर किस तरह नरक में अपनी जिंदगी को काट रहे है, ऐसा ही हिन्दू परिवार पाकिस्तान से लोट कर अपने देश आ कर सुनाई अपनी दर्द भरी दास्तान!

It is known to all, what kind of country Pakistan is, and how badly it is done with Hindu families, only this thing which our Hindu brothers are living there, only they know this thing, And how they are cutting their lives in hell, the same Hindu family came to their country by laughing with their own painful story!

पाकिस्तान में बड़े पैमाने पर हिन्दुओं के साथ शारीरिक तथा मानसिक उत्पीड़न हो रहा है, जिसके कारण पाकिस्तान से हिन्दू भारत की तरफ भारी मात्रा में आ रहे है, इसके साथ ही भारत पहुंचे पाकिस्तानी हिन्दुओं ने उनके ऊपर हो रहे अत्याचारों के बारे में बताया, जिसे सुन ऐसा लग रहा है, मानो उन्हें वहां सांस लेने की भी आजादी ना हो!

In Pakistan, physical and mental harassment is happening with the Hindus on a large scale, due to which Hindu Hindus from Pakistan are coming in huge quantities towards India, along with the Pakistani Hindus who came to India, told about their atrocities Look, it sounds like they do not even have the freedom to breathe there!

उन्होंने यह भी बताया की बहुत जल्द यहाँ के बहुसंख्यक के अधिकार छीन लिए जायेंगे और अल्पसंख्यक हावी होकर भारत को भी मुस्लिम राष्ट्र में तब्दील कर देंगे ऐसा करने के लिए पाक और isis उन्हें लगातार भड़का रहा है जिसका सबूत मुजफ्फरनगर के दंगे है जिसमे खुद राहुल गाँधी ने कहा था की भारत के मुसलमान isi के सम्पर्क में है

They also told that very soon the rights of the majority will be stripped and minorities will dominate India into a Muslim nation. To do this, Pakis and Isis are constantly spreading them, which is proof of Muzaffarnagar riots, in which Rahul Gandhi himself Had said that the Muslims of India are in contact with isi

यह भी देखें:

https://youtu.be/LvTwV08DsAo

https://youtu.be/gxWa3r-mlh0

source zee news

बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने फिर से दिए हिंदू विरोधी होने के सबूत, इस झांकी में सामने आयी ये खतरनाक सच्चाई..

28 जनवरी, 2018 – पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की झांकी में एक बेहद खतरनाक मामला सामने आया है, जिससे हिंदू समाज गुस्साया हुआ है.

January 28, 2018 – A very dangerous case has emerged in the tableau of West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee, which has made the Hindu society angry.

https://l.facebook.com/l.php?u=http%3A%2F%2Fhindi.rntimes.in%2Fnation%2Findias-entire-dancer-in-south-asia-asean-countries-raised-such-a-step-that-the-sweat-of-china-pak%2F&h=ATPJIXWORa5uX_F8tH7pWfjLoCMxuCKNZWyYW-61u7I9FIqalPDih3G6W8RW08l6V2GgGfOCN-PBybuxTLKcZCsBHbyUhccCqv3CvwMAuHEAUoxmlC4pAaNNRcpodOsG1QEjz2lhan8px40 पूरे दक्षिण एशिया में भारत का बजा डंका! ASEAN देशों ने उठाया ऐसा कदम कि चीन-पाक के छूटे पसीने! तुरंत SHARE करें!

दरअसल ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर एक झांकी निकाली थी. इस झांकी के द्वारा ममता बनर्जी हिन्दू-मुस्लिम एकता का सन्देश दे रही थी. ये झांकी बंगाल की सड़कों से होते हुए निकली थी.

Actually Mamata Banerjee’s party Trinamool Congress had brought a tableau on the occasion of Republic Day. Through this tableau, Mamta Banerjee was sending messages of Hindu-Muslim unity. These tablets came out through the streets of Bengal.

इस झांकी में ममता की पार्टी ने एक हिन्दू लड़की को मुस्लिम के बगल में खड़ा करके दिखाया हुआ है और हिन्दू लड़की का हाथ मुस्लिम लड़के के हाथों में थमाया हुआ है. इस तरह की बेहूदा हरकत करके ममता बनर्जी सन्देश देना चाहती है कि हिन्दू-मुस्लिम इसी तरह से साथ रहो.

In this table, Mamta’s party has shown a Hindu girl standing next to the Muslim and the hand of the Hindu girl is placed in the hands of a Muslim boy. Mamata Banerjee wants to give a message that such Hindus and Muslims should stay in the same way.

बता दें कि इस झांकी को ममता बनर्जी की पार्टी ने हावड़ा जिले में निकाला था. और इसी झांकी में सबके सामने हिन्दू लड़की का हाथ मुस्लिम लड़के के हाथ में दिखाया गया था. इस झांकी का उद्देश्य हिंदू-मुस्लिम एकता के बारे में सन्देश देना नहीं बल्कि लव जिहाद को बढ़ावा देना है.

Please tell that this table was taken by Mamta Banerjee’s party in Howrah district. In this table, the hand of the Hindu girl was shown in front of everyone in the hands of a Muslim boy. The purpose of this tableau is not to send messages about Hindu-Muslim unity but to promote love jihad

क्यूंकि हिन्दू लड़के के हाथ में मुस्लिम लड़की का हाथ नहीं दिखाया गया, सिर्फ हिन्दू लड़की का हाथ मुस्लिम लड़के के हाथ में दिखाया गया. वे चाहते तो बगल में हिंदू लड़के को खड़ा करके उसका हाथ मुस्लिम लड़की के हाथ में भी दिखा सकते थे. लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया.

Because the hand of a Muslim girl was not shown in the hands of the Hindu boy, only the hand of the Hindu girl was shown in the hands of a Muslim boy. If they want, they could stand on the side of the Hindu boy and show his hand in the hands of a Muslim girl. But they did not do this.

इस बेहूदा हरकत से साफतौर पर पता चलता है कि ममता बनर्जी हिन्दू-मुस्लिम एकता के नाम लव जिहाद को बढ़ावा देने का सन्देश दे रही है. पूरा देश जानता है कि लव जिहाद के सबसे ज्यादा केस पश्चिम बंगाल में ही होते हैं, लेकिन सेकुलर मीडिया ऐसी ख़बरों को कभी नहीं दिखाते.

This ridiculous act clearly shows that Mamta Banerjee is sending messages of encouragement to Hindu-Muslim unity to promote love jihad. The whole nation knows that the most cases of love jihad are in West Bengal, but the secular media never shows such stories.

यह भी देखे :

https://youtu.be/LvTwV08DsAo

https://youtu.be/gxWa3r-mlh0