कासगंज मामले में CM योगी का बड़ा आदेश, घरों में छापे से सामने आया ये बड़ा सच, ख़ुफ़िया तंत्र समेत मोदी जी हैरान…

कासगंज (29 जनवरी) : यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश को अपराध मुक्त बनाने का संकल्प किया हुआ है. उनके आदेश पर यूपी पुलिस ने एनकाउंटरों की झड़ी लगाई हुई है, अब तक 400 से ज्यादा बदमाशों को ठोका जा चुका है. इसके बावजूद कासगंज में जिहादी तत्वों ने दंगा कर दिया और अबतक हालात पर काबू ना पाने पर सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ पुलिस व् प्रशासन के अधिकारियों से नाराज हैं. सीएम योगी के आदेश के बाद एक्शन में आयी पुलिस ने जिहादियों के घरों पर छापेमारी शुरू की, तो सामने आया ऐसा मंजर जिसे देख खुद पुलिस भी हैरान रह गयी.

Kasganj (January 29): UP Yogi Adityanath has pledged to make the state free from crime. On the orders of the UP Police, there have been demonstrations of encouchers, so far more than 400 miscreants have been hit. In spite of this, the jihadist elements in Kasganj have rioted and if the situation is not controlled now, the CM Yogi Adityanath of the province is angry with the police and administration officials. After the order of CM Yogi, the police who came into action started raids on the houses of the jihadis, then it came to light that the police themselves were also surprised.

जिहादियों के घरों से देसी कट्टे, बम व् असला बरामद
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रशासन को दंगाइयों के साथ सख्ती से निपटने के निर्देश दिए हैं. उनके आदेश के बाद मजहबी कट्टरपंथियों के घरों पर पुलिस ने छापेमारी की तो अबतक आधा दर्जन घरों से बम बरामद हुए हैं. इसके अलावा कई घरों से देसी कट्टे और भारी मात्रा में असला बरामद हुआ है.

Landlords, bombs and recovered from the houses of jihadis
UP Yogi Adityanath has instructed the administration to deal with rioters strictly. After their order, police raided the homes of religious fundamentalists, so far the bombs have been recovered from half a dozen houses. In addition to this, many houses have been found in the country’s local area and heavy quantities have been recovered.

ना केवल देसी बंदूकें बल्कि इन मजहबी जिहादियों ने भारी मात्रा में गोलियां भी जमा की हुई थी. पत्थरबाजी करने के लिए पत्थर भी जमा किये हुए थे. ये सब किसी बड़ी साजिश की ओर इशारा करता है. जाहिर सी बात है कि पहले से ही कासगंज को सुलगाने की साजिश की गयी थी.

Not only domestic guns, but these religious jihadis had also collected large amounts of bullets. Stones were also collected for stone stone. All this points to a big conspiracy. Obviously, it was already conspired to smuggle Kasganj.

सुनियोजित साजिश के तहत किया दंगा?
अब तक 60 से ज्यादा लोगों गिरफ्तार किया जा चुका है. ड्रोन के जरिये दंगा प्रभावित शहर पर नजर रखी जा रही है. बताया जा रहा है कि दंगा होने से करीब पांच दिन पहले चामुंडा मंदिर के लिए प्रशासन द्वारा रोड पर अस्थायी बैरिकेड लगाने से जिहादी काफी नाराज थे.

The riot done under a planned conspiracy?
So far, more than 60 people have been arrested. Drought affected city is being monitored. It is being told that the jihadis were very angry with the administration for Chamunda temple by imposing a temporary barricade on the road by the administration about five days before the riots.

त्यौहार के कारण मंदिर रोड पर जाम ना लगे या कोई दुर्घटना ना हो जाए इसके लिए प्रशासन ने अस्थायी बैरिकेड लगाकर यहाँ वाहनों का प्रवेश वर्जित कर दिया था. ये बात मजहबी जिहादियों को नामंजूर थी और उन्होंने उस वक़्त भी बवाल करने की पूरी कोशिश की थी.

Due to the festival, due to lack of traffic on the temple road or any accident, the administration had barred entry of vehicles here by putting temporary barricades. This thing was denied to religious jihadis and they tried their best to organize that time too.

योगी सरकार ने की नर-संहार की साजिश नाकाम
कासगंज दंगा शायद उसी बात का बदला निकालने के लिए सुनियोजित साजिश के तहत किया गया. बड़े पैमाने पर बरामद हुए बम, देसी पिस्तौलें व् असला बड़ी साजिश की ओर इशारा करता है. योगी सरकार ना होती तो शायद ये जिहादी और भी ज्यादा खून-खराबा
व् उत्पात मचाते.

Yogi Sarkar’s Plot Destroyed Plot
The Kasganj riot was probably done under a planned conspiracy to seek revenge for the same thing. Large-scale recovered bombs, indigenous pistols, and point to a big conspiracy. Had not been a yogi government, perhaps this jihadist would have been more bloody
And so forth.

सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक़ जिहादियों के खिलाफ वक़्त रहते सख्त एक्शन ना लेने के लिए सीएम योगी एटा और कासगंज प्रशासन से नाराज बताए जा रहे हैं. माना जा रहा है कि डीएम और एसपी पर गाज गिर सकती है और दोनों को हटाया जा सकता है. इसी के साथ यूपी डीजीपी ओपी सिंह ने कासगंज में जिहादी तत्वों द्वारा भड़काए गए दंगे की बात कबूल कर ली है.

According to the sources quoted in the sources, the CM Yogi is being annoyed with Eta and the Kasganj administration for not taking strict action against the jihadists. It is believed that ghazs can fall on DM and SP and both can be removed. With this, UP DGP OP Singh has confessed to the riots fired by jihadist elements in Kasganj.

जिहादियों को बचाने जुटे अखिलेश यादव
उन्होंने कहा है कि किसी भी कीमत पर दोषियों को नहीं बख्शा जाएगा. घर-घर में तलाशी अभियान जारी है. वहीँ राजनीतिक गिद्ध भी लाशों की राजनीति करने आ पहुंचे हैं. यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ऐसा बयान दिया जिस से कहीं न कहीं चन्दन गुप्ता हत्यारों के परिजनों में खुशी की लहर दौड़ती दिख रही है. पुलिस ने जैसे ही जिहादियों के घरों पर छापेमारी शुरू की, तुरंत अखिलेश यादव ने बयान दिया कि कासगंज में पुलिस कार्यवाही करे, अन्याय नहीं.

Akhilesh Yadav to save the jihadis
They have said that the culprits will not be spared at any cost. In-house search operation is in progress. The same political vulture has also come to fight the corpses. Former Uttar Pradesh Chief Minister Akhilesh Yadav made a statement that, somewhere, Chandan Gupta’s killers are showing a wave of happiness. As soon as the police started raids on the houses of the jihadis, Akhilesh Yadav immediately said that police should take action in Kasganj, not injustice, injustice

यानी पुलिस जिहादियों के घरों पर छापेमारी करके बम व् पिस्तौल बरामद कर रही है तो अखिलेश की नजर में ये अन्याय हो रहा है. एबीपी न्यूज़ जैसे कुछ मीडिया चैनल भी योगी आदित्यनाथ, बीजेपी व् एबीवीपी को दोषी ठहराने में जुट गए हैं. जिहादियों के खिलाफ एक्शन शुरू होते ही समाजवादी पार्टी ने पुलिस जांच पर ही सवाल खड़े कर दिए. साम्प्रदायिक हिंसा को लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नंदा ने प्रदेश की बीजेपी सरकार पर हमला बोल दिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि सपा को पुलिस की जांच पर यकीन नहीं है.

That is, the police raiding the houses of jihadis, recovered the bomb and pistol, and this is being done in the eyes of Akhilesh. Some media channels like ABP News have also begun to blame Yogi Adityanath, BJP and ABVP. As the action against the jihadis started, the Samajwadi Party questioned the police investigation itself. Samajwadi Party’s National Vice-President Kiranmayee Nanda has attacked the state BJP government over communal violence. He also said that SP is not sure about police investigation.

यह भी देखें:

https://youtu.be/LvTwV08DsAo

https://youtu.be/gxWa3r-mlh0

BJP सरकार के खिलाफ जिहादियों की बड़ी साजिश का खुलासा, जुड़े हैं कई बड़े तार…

आप अक्सर सुनते होंगे की ट्रैन पटरी से गिर गयी और एक्सीडेंट हो गया, ऐसे एक्सीडेंट्स में सैंकड़ो लोग मारे जाते है, और पिछले दिनों भारत में कई ट्रेनें पटरी से चलते हुए गिरी भी, और अधिकांश जगहों पर साजिश ही की गयी थी, और हर जगह पटरी काटी गयी थी, तो कहीं पटरी के नट बोल्ट खोले गए थे

You will often hear that the train has collapsed and has become an accident, hundreds of people are killed in such accidents, and in the past many trains in India have collapsed on the tracks, and in most places there was conspiracy, and every The track was cut off, so the nick bolts of the track were opened

उत्तर प्रदेश के गाज़ियाबाद में फुकरान मिया को गिरफ्तार किया गया है, ये शख्स ट्रैन की पटरी के नट खोल रहा था ताकि ट्रैन को पटरी से गिरवा कर सैंकड़ो भारतियों का कत्लेआम कर सके, और अल्लाह से अपने 72 हूर और शराब की नदियां और गिलमा इत्यादि ले सके, ये आतंकवाद नहीं है तो और क्या है, और भैया भारत में फुकरान लोगों द्वारा किये गए आतंकवाद का कोई मजहब नहीं होता

Fukan Mia has been arrested in Ghaziabad in Uttar Pradesh, this man was opening the tracks of the train so that the train could be beaten by hundreds of hundred Indians by slaughtering them, and Allah has given his 72 hoor and rivers of wine and gillamas etc. It is not terrorism, what else is there, and there is no religion of terrorism done by Bhukran people in Bhaiya Bhaiya India

https://twitter.com/JBMIS/status/954669298856771584

इस से पहले उत्तर प्रदेश में भी कई जगहों पर, छत्तीसगाह, मध्य प्रदेश और गुजरता जैसी जगहों पर भी पटरियों को काटने, नट बोल्ट खोलने की कई घटनाएं सामने आयी थी, और अब ग़ाज़ियाबाद में एक जिहादी गिरफ्तार भी कर लिया गया है, पर टीवी मीडिया ने इस खबर को दबा दिया है, जब ऐसी घटनाएं की जा रही थी तभी दैनिक भारत ने अपने पाठको को ट्रैन जिहाद की बात बताई थी तब सेक्युलर तत्व दैनिक भारत को सांप्रदायिक बता रहे थे

Prior to this, in many places in Uttar Pradesh, there were many incidents of cutting of tracks, cutting of nuts bolt in places like Chhattisgarh, Madhya Pradesh and Gujrat, and now a jihadist has been arrested in Ghaziabad, but the TV The media has suppressed this news, when such incidents were being done, daily India had told their readers the story of the train jihad, then the secular elements were telling daily India communal

ट्रैन जिहाद कर रहे है देश में फुकरान जैसे जिहादी, और बदनाम होती है सरकार, ट्रैन का एक्सीडेंट फुकरान जैसे लोग करवाते है और मीडिया तथा बुद्धिजीवी कोसते है सरकार को

The train is jihad in the country like Fukan, jihadis, and the infamous government, people like the traffic Accident of Fukan, and the media and intellectuals are cursing the government

यह भी देखें :

https://youtu.be/LvTwV08DsAo

https://youtu.be/gxWa3r-mlh0

मोदी सरकार के इस “56 इंच” के फैंसले से ओवैसी समेत जिहादियों में मचा जबरदस्त कोहराम !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमेशा सबका-साथ सबका विकास की बात की है l पीएम मोदी ने कभी भी देश के विकास में किसी एक जाति-वर्ग या धर्म विशेष की बात नहीं की है l जबकि विपक्षी पार्टियाँ इस बात को लेकर हमेशा से ही मोदी जी पर निशाना साधते हुए आई हैं लेकिन इस बार पीएम मोदी के इस फैसले के बाद विरोधियों के होश ही उड़ जाएंगे l वोट बैंक की राजनीति के चलते विपक्षी पार्टियाँ हमेशा ही इस मुद्दे से बचती आई हैं l

Prime Minister Narendra Modi has always talked about development of everyone. PM Modi never talked about any kind of caste or religion in the development of the country, whereas the opposition parties always talked about this matter to Modi But this time, after the decision of PM Modi, the opponents will fly away. Because of vote bank politics, opposition parties will always be able to save from this issue. I am

मोदी सरकार ने शुक्रवार को मुस्लिम महिलाओं के हित को देखते हुए विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक यानि ट्रिपल तलाक के बिल को मंत्रिमंडल ने मंजूरी दे दी l इस बिल को अब सरकार इस बिल को संसद में पेश करेगी l दरअसल, यह बिल संसद के शीतकालीन सत्र में सरकार का मुख्य एजेंडा हैं l आपको बता दें कि तीन तलाक पर प्रस्तावित एक कानून के मसौदे में कहा गया है कि एक बार में तीन तलाक गैरकानूनी होगा l ऐसा करने वाले पति को तीन साल के जेल की सजा हो सकती है l इससे मुस्लिम महिलाओं को बड़ी राहत मिलेगी l ऐसे कई मामले देखे गए थे जिनमें मुस्लिम महिलाओं को फोन, एसएमएस और व्हाट्सएप जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण से भी तलाक दिया गया था l

In view of the interest of Muslim women on Friday, the Modi government has approved the bill of marriage rights bill, i.e. the triple divorce bill. Now the government will present this bill in parliament. Actually, this bill will be introduced in the winter session of Parliament. The main agenda of the government. Let me tell you that in the draft of a proposed law on three divorces, it has been said that three divorces will be illegal at one time. B can be sentenced to three years in jail. This will provide great relief to Muslim women. Many such cases were reported in which Muslim women were divorced from electronic equipment such as phones, SMS and WhatsApp.

राजनाथ सिंह के अध्यक्षता में मंत्री समूह द्वारा विचार-विमर्श के बाद बिल का ड्राफ्ट को तैयार किया गया l ड्राफ्ट बिल में तीन तलाक देने के दोषियों को तीन साल तक की सजा और जुर्माना करने का प्रस्ताव भी शामिल है l इस विधेयक के अनुसार अब तीन तलाक एक संज्ञेय और गैर जमानती अपराध माना जाएगा l इस विधेयक के मुताबिक़ इसमें पीड़ित मुस्लिम महिलाओं के हित को देखते हुए गुजारा भत्ते का अधिकार और नाबालिग बच्चों को कस्टडी देने का भी प्रस्ताव शामिल किया गया है l

The draft of the bill was prepared after consultation by the ministerial group under the chairmanship of Rajnath Singh l. Draft bill also includes a proposal to impose three years of sentence for divorce and punishment of up to three years. According to this bill, now three Divorce will be considered as a cognitive and non-bailable offense. According to this bill, in view of the interest of the afflicted Muslim women, the right to livelihood and Nabali Children were also offered custody l

इस ड्राफ्ट को उत्तर- प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने केंद्र के ड्राफ्ट पर अपनी मंजूरी दे दी है l इसके तहत किसी भी तरह का तीन तलाक फिर चाहे वो लिखकर या ईमेल, बोलकर, एसएमएस और व्हाट्सएप जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के जरिए गैरकानूनी होगा l इस ड्राफ्ट को तैयार करने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद, वित्त मंत्री अरुण जेटली और विधि राज्यमंत्री पीपी चौधरी शामिल हुए थे l इस विधेयक को संसद से मंजूरी मिलने के बाद जो मौलाना और मौलवी गलत तरीके से तीन तलाक का फायदा उठाते थे उनकी भी दुकाने अब बंद हो जाएंगी l

This draft has been approved by Uttar Pradesh Yogi Adityanath Government on the draft of the center. Under this, any kind of divorce will be illegal, either by typing or by electronic means such as email, voice, SMS and whatsapp. To prepare the draft, I have joined Foreign Minister Sushma Swaraj, Law Minister Ravi Shankar Prasad, Finance Minister Arun Jaitley and Law Minister PP Chaudhary. Was l After getting approval from parliament the bill was Maulana and clerics took advantage of three divorced incorrectly will lead to the shops so close l

यह भी देखें :

https://youtu.be/aGHeWHD0uXg

source zee news

अभी अभी: एक पाक 1947 में बना पर आज तो पूरे भारत के हिस्से में पाकिस्तानी जिहादी मुस्लिम फ़ैल गए- प्रशांत पटेल

2 बड़ी घटनाये देश के 2 प्रमुख शहरो में हुई है वरंशी जो भारत ही नही दुनिया का सबसे पुराना शहर है, भारत की सांस्क्रतिक राजधानी है ओर जयपुर जो देश का प्रमुख शहर है, पर्यटन स्थल है

2 big events have happened in the two major cities of the country, Varanasi which is not only India but also the oldest city in the world, is the cultural capital of India and Jaipur which is the main city of the country, is a tourist destination

जिहादी भीड़ ने वाराणसी में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये जाने वाले सभी हज यात्री हज यात्रा से वापस आकर वाराणसी में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये

The Jihadi crowd returned from all Haj pilgrims hajj pilgrims shouted slogans of Pakistan Zindabad in Varanasi and returned slogans of Pakistan Zindabad in Varanasi.

वहीं जयपुर को तो 2500 की जिहादी भीड़ ने पूरी तरह जला ही दिया दर्जनों पुलिसकर्मी को अधमरा किया, तेजाब की बोतल, पत्थरों को छतो पर जमा किया, जिहाद की पूरी तैयारी

On the other hand, the 2500 jihadis were burnt completely by the jihadi crowd, dozens of policemen were abusive, the acid bottles, the stones deposited on the terrace, the complete preparation of the jihad

सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत पटेल ने भारत स्तिथि पर एक गंभीर ट्वीट किया है वाराणसी में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे और जयपुर में दंगे एक पाकिस्तान तो १९४७ में भारत को तोड़कर बनाया गया अपर आज भारत के कोने कोने में कई पाकिस्तान बन चुके है

Supreme Court lawyer Prashant Patel has tweeted a serious tweet on India’s situation: The slogan of Pakistan Zindabad in Varanasi and the riots in Jaipur were created by breaking a Pakistan in 1947. Today, India has many Pakistanis in the corner of India.

भारत का सेकुलरिज्म भारत को अंदर लगातार खाए जा रहा है

India’s secularism is being eaten indoors indoors

१९४७ में भी पाक और भारत का बटवारा हुआ था! लेकिन आज तो पूरे पाक ने ही भारत में अपना कब्जा कर लिया है,जिहादियो की संख्या बढती ही जा रही है और वो हिन्दुओ को चोट पहुँचने की फ़िराक में है,

Pak and India were also divided in 1947! But today, the whole Pak has captured itself in India, the number of Jihadis is increasing and it is in the midst of the hurting of the Hindus,

वो ये चाहते है की जल्द से जल्द पाक और जिहादी मुस्लिमो का ही कब्जा हो जाये, वो इसी मौके की फ़िराक में है कि कब हम हिन्दुओ पर सिकंजा कसे और इन्हे दबोच ले,

He wants that soon Pakistan and Jihadi Muslims should be captured, it is in the immediate context of the moment that when we seize and seize Hindus,

इसी के चलते हुए इन्होने अपनी जिहादी मुस्लिम सेना भी तैयार कर ली है ये पूरी तैयारी में है की कब हिन्दू हमारे कब्जे में आये और हम इन्हे मार गिराए

Due to ESI, they have prepared their own jihadist Muslim army. It is in full form when the Hindus came under our control and we killed them.

भारत को अंदर ही अंदर एक डर सा बैठ गया है की कंही इस जंग से बेचारे मासूम ना मारे जाये !

India is sitting inside a fear that inside the innocent, innocent innocent should not be killed!

जिस देश के लोग अपने देश में होने वाली ऐतिहासिक घटनाओं से सबक नहीं लेते वह इतिहास के पन्नों खो जाते है . और जिस देश के लोग अपने देश के शत्रुओं की कपट नीति जाने बिना उन से दोस्ती की अपेक्षा रखते है .

The people of a country who do not take lessons from historical events in their country are lost in the pages of history. And the people of that country expect friendship from them without knowing the falsity of their enemies.

वह लोग उन्ही शत्रुओं के हाथों से नष्ट हो जाते हैं .इतिहास साक्षी है कि लगभग सातवीं शताब्दी से लेकर आजतक मुस्लिम हमलावर , आतंकवादी भारत पर लगातार हमले करते आये हैं .

Those people are destroyed by the hands of their enemies. History is witness to the fact that since the seventh century AD, there have been auspicious Muslim invaders, the terrorists have been constantly attacking India.

पहले जो हमलावर आये थे वह तलवार लेकर इस्लाम का शांति सन्देश फ़ैलाने और यहाँ के हिन्दुओं को मुसलमान बनाने के लिए आये थे .लूटमार करना तो मुसलमानों का स्वभाव है ,

The attackers who had come earlier had come with the sword to spread the message of Islam and to make Hindus here Muslims. To kill is the nature of the Muslims,

जब उन लोगों ने अपने देश बर्बाद कर दिए तो भारत को क्यों छोड़ देते .उनका असली उद्देश्य तो भारत को इस्लामी देश बनाना था . और जब दुर्भाग्य से भारत के जिस भाग में भी इस्लामी हुकूमत बन गयी थी तो मुस्लिम बादशाहों ने बड़े प्रेम से क्रूरता पूर्वक लोगों को मुसलमान बना लिया . और जिसने भी इस्लाम से इंकार किया उनकी शांति पूर्वक सामूहिक हत्याएं करा दी . और प्रेम पूर्वक उनकी औरतों पर बलात्कार किया .

When those people had ruined their country, why did they leave India? Their true purpose was to make India an Islamic country. And when the unfortunate part of India became an Islamic rule, the Muslim rulers became cruel to people with great love. And whoever denied Islam, they peacefully massacred them. And raped their women with love.

यहाँ तक बच्चों को भी दीवाल में जिन्दा चुनाव दिया .क्योंकि इस्लाम प्रेम और शांति का धर्म है , औरअल्लाह ने मुहम्मद को दुनिया के लिए रहमत और दयालुता बनाकर भेजा था .

Even the children were given the live election in the wall. Because Islam is the religion of love and peace, and Allah sent Muhammad to the world by creating mercy and kindness.

हम भारत पर सभी हमलावर , लुटेरों ,आतंकवादियों को अपराधी नहीं बल्कि जिहादी मानते हैं .और जिहाद इस्लाम में अनिवार्य और पवित्र कार्य माना गया है .हमें स्वीकार करना होगा कि मुसलमान जहाँ भी रहेंगे जिहाद करते रहेंगे .

We treat all attackers, robbers, terrorists as criminals, not jihadists on India. And jihad has been considered as mandatory and sacred work in Islam. We have to accept that Muslims will continue to fight Jihad wherever they live.

अंतर केवल इतना है कि पहले जिहादी फौजें लेकर जिहाद करते थे आजकल गुप्त रूप से बम विस्फोट करते हैं .फिर भी जो सेकुलर लोग हिन्दू मुस्लिम एकता की वकालत करते हैं ,हम उन से यह सवाल पूछना चाहते हैं

The only difference is that Jihad used to carry out jihad with jihad in the past, nowadays they secretly bomb. However, the secular people who advocate Hindu Muslim unity, we want to ask this question to them.