कर्नाटक चुनाव से ऍन पहले सिद्धारमैया का बेहद खौफनाक ब्यान, हिन्दुओ पर कर डाली ये शर्मनाक टिप्पड़ी

नई दिल्ली : कर्नाटक के मुख्यमंत्री और वरिष्ट कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री साथ ही उपराष्ट्रपति को आतंकवादी क्रिमिनल अपराधी घोषित कर दिया है, आज सिद्धारमैया ने कहा की जो भी हिन्दू बीजेपी के साथ है या बीजेपी को वोट देते है, या बीजेपी का समर्थन करते है वो सभी अपराधी है, वो सभी आतंकवादी है, कर्णाटक में चुनाव है और सिद्धारमैया की कुर्सी दांव पर है, और अब कर्णाटक में मोदी और योगी की हवा देखकर सिद्धारमैया ने हिन्दुओ को आतंकवादी घोषित कर दिया है.

It is not the first time that the Congress has declared Hindus as a terrorist, even when Sonia Gandhi’s government at the Center, their home minister, saffron terrorists, used to talk of Hindu terrorists and Rahul Gandhi even bigger than Hindu al-Qaeda The threat was told, and today Siddaramaiah declared the millions of Hindus as terrorists.

आपकी जानकारी के लिए बता दें की देश का हर हिन्दू बीजेपी के साथ है ऐसा नहीं है, पर ये भी सच है की करोडो करोडो हिन्दू बीजेपी के साथ है, बीजेपी का समर्थन करते है और बीजेपी को वोट देते है, और आज सिद्धारमैया ने ऐसे करोडो हिन्दुओ को आतंकवादी घोषित कर दिया.

For your information, let us know that every Hindu in the country is not with BJP, but it is also true that millions of crores of Hindus are with BJP, they support BJP and vote for BJP, and today Siddaramaiah has Crores declared Hindus as terrorists.

बता दें की सिद्धारमैया 5 साल से मुख्यमंत्री है, उनके राज्य में हिन्दू कार्यकर्ताओं की बड़े पैमाने पर हत्या हुई है, अब चुनाव है, टीपू भक्ति भी सिद्धारमैया ने खूब की और इनका घोषणापत्र भी लगभग इस्लामिक देशों के घोषणापत्र की तरह है, अब सिद्धारमैया ने उन हिन्दुओ को आतंकवादी बता दिया जो बीजेपी के साथ है, बीजेपी को वोट देते है.

Say that Siddaramaiah has been chief minister for 5 years; Hindu workers have been killed in large scale in their state. Now the election is done; Tipu Bhakti also has a lot of siddaramaiah and its manifesto is almost like the declaration of Islamic countries, now Siddaramaiah Those Hindus who have been with BJP, have voted for the BJP.

वैसे ये कोई पहली बार नहीं है की कांग्रेस ने हिन्दुओ को आतंकवादी घोषित किया हो, जब केंद्र में सोनिया गाँधी की सरकार थी तब भी इनके गृहमंत्री भगवा आतंकी, हिन्दू आतंकी की बात करते थे और राहुल गाँधी ने तो हिन्दुओ को अल कायदा से भी बड़ा खतरा बताया था, और आज सिद्धारमैया ने करोडो हिन्दुओ को आतंकवादी, अपराधी घोषित कर दिया

It is not the first time that the Congress has declared Hindus as a terrorist, even when Sonia Gandhi’s government at the Center, their home minister, saffron terrorists, used to talk of Hindu terrorists and Rahul Gandhi even bigger than Hindu al-Qaeda The threat was told, and today Siddaramaiah declared the millions of Hindus as terrorists.

यह भी देखें :

https://www.youtube.com/watch?v=m7CoPymK4gw

 

https://www.youtube.com/watch?v=8WfEyICu_NM

बड़ी खबर: कर्नाटक चुनाव से ऐन पहले बड़ी साजिश का सनसनीखेज खुलासा, कांग्रेस के इस नेता ने की देश से गद्दारी !

28 जनवरी, 2018 – अभी-अभी कर्नाटक से कांग्रेस का एक और कारनामा सामने आया है. कर्नाटक की कांग्रेस सरकार ने बहुत ही चौंकाने वाला आदेश जारी कर दिया है.

January 28, 2018 – There has been another incident of Congress coming out of Karnataka. The Congress government of Karnataka has issued a very shocking order.

गुजरात में खुद को हिंदू बताने वाली कांग्रेस ने कर्नाटक में अपना असली रंग दिखाना शुरू कर दिया है. बता दें कि कर्नाटक में चुनाव हैं और है. कर्नाटक में कांग्रेस ने दंगे करने वाले मुस्लिमों के सभी केस की फाइल बंद कर दी है.In Gujarat, the Congress, which calls itself a Hindu, has started showing its true colors in Karnataka. Let me tell you there are elections in Karnataka and Congress has become a Muslim in the greed of 15% Muslim votes. In Karnataka, Congress has closed the file of all the cases of riots Muslims.

बीते पांच सालों में मुसलमानों पर जितने भी दंगों के केस दर्ज हुए हैं, कांग्रेस ने उन पर मेहरबान होते हुए सभी केस वापस ले लिए हैं. इतना ही नहीं सिर्फ मुसलमानों पर दंगों के दर्ज हुए केस ही वापस लिए गए हैं और कांग्रेस के राज में जो केस हिन्दुओं पर दर्ज हुए थे उनको वापस नहीं लिया गया है. कांग्रेस का ये स्पेशल ऑफर सिर्फ मुस्लिमों के लिए था, हिन्दुओं के लिए नहीं.

In the last five years, the number of cases of riots registered by Muslims has been taken by the Congress, and all cases have been withdrawn. Not only that, the cases registered against the Muslims have been withdrawn and those cases registered on the Hindus in the Congress rule have not been withdrawn. This special offer of Congress was only for the Muslims, not for the Hindus.

हर राज्य में कांग्रेस का धर्म भी बदलता जाता है. गुजरात में हिन्दू होने का ढोंग करके वोट ले लिए और अब कर्नाटक में मुस्लिमों को खुश करने के लिए एक नई साजिश रच डाली.

The Congress’s religion also changes in every state. In Gujarat, he pretended to be a Hindu and took a vote and now construct a new conspiracy to please Muslims in Karnataka.

कर्नाटक कांग्रेस सरकार के इस फरमान के तुरंत बाद वहां के पुलिस आयुक्त ने पूरे कर्नाटक में आदेश जारी कर दिया कि पिछले 5 सालों के अंदर मुस्लिमों पर दंगों के जो भी केस दर्ज हुए हैं वो सब केस तुरतं वापस ले लिए जाएँ. मुसलमानों पर जो भी केस लगे हुए हैं उनको तत्काल समाप्त कर दो और क्लोजर रिपोर्ट कोर्ट में डालल दो. चाहे कोई भी, कितना भी बड़ा आरोपी हो, चाहे उसके खिलाफ सबूत भी हो तो भी उस केस को ख़त्म कर दो.

Soon after this decree of the Karnataka Congress government, the Commissioner of Police here issued an order in Karnataka that all the cases of riots filed against Muslims in the last 5 years have been withdrawn immediately. Whatever the cases are being put on Muslims, stop them immediately, and put the closure report in court. Even if there is evidence against it, no matter how big a person is, even if there is evidence against it, then eliminate that case.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कर्नाटक चुनाव नजदीक है और कांग्रेस ने इसके लिए जाल बिछाना शुरू कर दिया है. गुजरात और कर्नाटक के हालात बिलकुल अलग हैं, वहां का हिन्दू, हिन्दू न होकर सेकुलर ज्यादा है. जातिवाद भी बहुत अधिक मात्रा में है. लेकिन जो 15% मुस्लिम समुदाय है, वो हर जगह की तरह कर्नाटक में भी पूरी तरह से एकजुट है. इसी को लेकर कांग्रेस ने वोट बैंक के लालच में मुसलमानों पर दर्ज सभी केसों को वापस ले लिया है. .

For your information, let us know that the Karnataka election is near and the Congress has started laying a trap for it. The circumstances of Gujarat and Karnataka are very different, there is more Hinduism than Hindus and Hindus. Racism is also very high. But the 15% Muslim community, like everywhere, is also completely united in Karnataka. The Congress has withdrawn all the cases registered against the Muslims in the greed of the vote bank. .

कला जगत में देखें:

source nishant times