बड़ी खबर: इस मुस्लिम लड़की ने अपनाया हिंदू धर्म, वजह जान PM मोदी समेत मुस्लिम मौलाना के उड़े होश..

New Delhi: उत्तराखंड के हल्द्वानी से एक धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया है। यहां की एक मुस्लिम लड़की ने इस्लाम धर्म को छोड़ हिंदू धर्म अपना लिया है। लेकिन इसकी वजह जानकर मौलाना-मौलवी सोच में पड़ गए है।

New Delhi: A change of religion has come out of Haldwani in Uttarakhand. Here a Muslim girl has adopted Hindu religion, leaving Islam religion. But knowing the reason, Maulana-Maulavi has got into thinking.

बता दें बनभूलपुरा कि 22 साल की शहनवाज़ नाम की ये लड़की शुक्रवार को ही सिटी मजिस्ट्रेट के पास जाकर उन्हें शपथपत्र दिया। इस पत्र में धर्म परिवर्तन की जानकारी दी गई थी। इसके साथ ही शहनवाज़ से सुनीता बनी इस लड़की ने अपनी परिजनों और अन्य लोगों के लिए जान का खतरा बताया है। साथ ही उनकी सुरक्षा की गुहार लगाई है।

Tell me that the 22-year-old Shahnawaz, who came to the city magistrate on Friday, gave the affidavit to him. This paper was informed about the change in religion. Along with this, this girl, made from Shahnawaz, Sunita, has told her life and her life as a threat to others. At the same time, they have asked for their protection.

लड़की ने धर्म परिवर्तन के लिए कारण बताते हुए कहा कि मुस्लिम धर्म में महिलाओं को जीने की पूरी आजादी नहीं मिलती है। इसलिए उसने अपना धर्म बदल लिया है। जिसके बाद मजिस्ट्रेट ने इस पूरे मामले की जांच के लिए स्थानीय पुलिस को सूचित कर दिया है।

Explaining the reasons for the change in religion, the girl said that in Muslim religion, women do not get full freedom to live. That’s why he has changed his religion. After which the magistrate has notified the local police for the investigation of the entire matter.

शहनवाज़ ने कहा कि हिंदू धर्म में महिलाओं को खुलकर जीने के आज़ादी मिलती है, इसके साथ ही किसी तरह की कोई पांबदी भी नहीं होती, इसलिए उसने ये धर्म अपनाया है। हालांकि अब इस पूरे मामले की जांच की जा रही है।

Shahnawaz said that in Hindu religion, women get freedom to live freely, there is no papidi of any kind, therefore they adopted this religion. However, the whole issue is being examined now.

यह भी देखें :

ब्रेकिंग: देश के मौलानाओं पर अबतक का सबसे हाहाकारी फैसला, ओवैसी समेत मौलानाओं को लगा तगड़ा झटका…

आज कोई भी न्यूज़ चैनल की डिबेट उठा कर देख लीजिये आपको पैनल में कम से कम एक मौलाना गला फाड़ते हुए अपना बेबुनियादी पक्ष रखते दिख ही जायेगा. ऐसा तो हो ही नहीं सकता कि कोई डिबेट हो रही हो और उसमें मौलानाओं का पक्ष ना हो, लेकिन अब ये ज्यादा दिन की बात नहीं है. अब आप कहेंगे कि आखिर ऐसा क्यों तो हम आपको बता दें कि ऐसा इसलिए क्योंकि अब बात-बात पर फतवा जारी करने वाले इन मौलानाओं के खिलाफ एक ऐसा फतवा जारी हुआ है जिसे सुनकर बहुतों को सांप सूंघने वाला है.

Today, by raising the debate of any news channel, see that at least one maulana in the panel will be seen to be your baseless side by hanging. It can not be that a debate is happening and there is no favor for maulanas in it, but now it is not a matter of much day. Now you will say that why we should tell you why this is so because now a fatwa has been issued against these maulanas issuing fatwas on the matter, which many people are going to snake sniffing.

जानिए क्या है वो फतवा?
दरअसल अपने आप में अनोखे इस फैसले के अनुसार टीवी न्यूज़ चैनल पर होने वाली डिबेट में भाग लेने वाले मौलानाओं पर दरगाह आलाहज़रत से फतवा जारी किया गया है. फतवे में कहा गया है कि, “इस प्रकार के कार्यक्रमों में मौलानाओं का शामिल होना न सिर्फ शरीयत के खिलाफ है बल्कि हराम भी है. टीवी चैनलों पर डिबेट में शामिल होने पर मौलानाओं के शामिल होना जायज नहीं नाजायज है.”

Know what is fatwa?
In fact, according to this unique decision in itself, a fatwa has been issued from the Dargah on the maulanas who participated in debate on TV news channel. It is said in the fatwa that “Involvement of maulanas in such programs is not only against Shariat but also Haram. Inclusion of maulanas on TV channels is not permissible for joining the debate. ”

सोशल मीडिया पर जारी एक खबर के मुताबिक बरेली विश्व प्रसिद्ध दरगाह आलाहज़रत से आज एक फ़तवा जारी किया है. इस फतवे में लिखा गया है कि, “टीवी चैनलों में होने वाले डिबेट कार्यक्रमों में मौलाना या मौलवियों का शिरकत करने, उसमे भागेदारी लेना शरीयत के खिलाफ है और हराम है.” दरअसल, टीवी चैनलों पर लगातार हो रही डिवेट में मौलानाओं और मौलवियों के शामिल होने पर अभद्र भाषा का प्रयोग होना आम बात हो गई है. जिसको देखते हुए बरेली के पुराना शहर निवासी गुलफाम अंसारी ने दरगाह आलाहज़रत के दारुल इफ्ता से लिखित सवाल डाला गया था.

According to a news release issued on social media, Bareilly has issued a fatwa from the world famous dargah all over the world today. It has been stated in this verse that, “The participation of maulanas or clerics in debate programs occurring in TV channels, taking part in it is against Shariat and haram.” Indeed, in the continuous distribution of TV channels, maulanas and clerics It is common practice to use hate speech when joining. In view of this, Gulfam Ansari, a resident of Bareilly’s old town, had written a written question to Darul Iftaar of the Dargah Allahabad.

यह भी देखे:

https://www.youtube.com/watch?v=2p5FWA_BBz4

https://youtu.be/6KzO3XxanXM

 

बड़ी खबर: इस मुस्लिम लड़की ने अपनाया हिंदू धर्म, वजह जान PM मोदी समेत मुस्लिम मौलाना के उड़े होश..

New Delhi: उत्तराखंड के हल्द्वानी से एक धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया है। यहां की एक मुस्लिम लड़की ने इस्लाम धर्म को छोड़ हिंदू धर्म अपना लिया है। लेकिन इसकी वजह जानकर मौलाना-मौलवी सोच में पड़ गए है।

New Delhi: A change of religion has come out of Haldwani in Uttarakhand. Here a Muslim girl has adopted Hindu religion, leaving Islam religion. But knowing the reason, Maulana-Maulavi has got into thinking.

बता दें बनभूलपुरा कि 22 साल की शहनवाज़ नाम की ये लड़की शुक्रवार को ही सिटी मजिस्ट्रेट के पास जाकर उन्हें शपथपत्र दिया। इस पत्र में धर्म परिवर्तन की जानकारी दी गई थी। इसके साथ ही शहनवाज़ से सुनीता बनी इस लड़की ने अपनी परिजनों और अन्य लोगों के लिए जान का खतरा बताया है। साथ ही उनकी सुरक्षा की गुहार लगाई है।

Tell me that the 22-year-old Shahnawaz, who came to the city magistrate on Friday, gave the affidavit to him. This paper was informed about the change in religion. Along with this, this girl, made from Shahnawaz, Sunita, has told her life and her life as a threat to others. At the same time, they have asked for their protection.

लड़की ने धर्म परिवर्तन के लिए कारण बताते हुए कहा कि मुस्लिम धर्म में महिलाओं को जीने की पूरी आजादी नहीं मिलती है। इसलिए उसने अपना धर्म बदल लिया है। जिसके बाद मजिस्ट्रेट ने इस पूरे मामले की जांच के लिए स्थानीय पुलिस को सूचित कर दिया है।

Explaining the reasons for the change in religion, the girl said that in Muslim religion, women do not get full freedom to live. That’s why he has changed his religion. After which the magistrate has notified the local police for the investigation of the entire matter.

शहनवाज़ ने कहा कि हिंदू धर्म में महिलाओं को खुलकर जीने के आज़ादी मिलती है, इसके साथ ही किसी तरह की कोई पांबदी भी नहीं होती, इसलिए उसने ये धर्म अपनाया है। हालांकि अब इस पूरे मामले की जांच की जा रही है।

Shahnawaz said that in Hindu religion, women get freedom to live freely, there is no papidi of any kind, therefore they adopted this religion. However, the whole issue is being examined now.

यह भी देखें :

https://youtu.be/LvTwV08DsAo

https://youtu.be/gxWa3r-mlh0

VIDEO: कुरान की आयत का मतलब पूंछने पर मौलाना ने दी मुस्लिम महिला एंकर को गलियां |

मुफ्ती ने एंकर और पैनल में मौजूद मुस्लिम महिला को बेशर्म और बेहया कहा, इसके बाद उन्हें स्टूडिया से निकाल दिया गया। ये तमाचा है उन सेक्युलर हिन्दुओं पर जो खुलकर मस्जिद और मंजारों पर जाकर माथा टेकते हैं.बिहार में नई सरकार बनने के साथ ही नया विवाद जुड़ गया है. बिहार सरकार में गन्ना एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद जय श्री राम का नारा लगाने के बाद माफी मांग ली है |

Mufti said that the anchor and the Muslim woman in the panel were shameless and unsound, after which they were fired from the studio. These slogans are those secular Hindus who freely go to the mosque and the shrines and go to the top of the head. With the formation of a new government in Bihar, a new dispute has been added. In Bihar government, sugarcane and minority welfare minister Khurshid alias Firuz Ahmed has apologized after the slogan of Jai Shri Ram.

 

मुस्लिम मौलानाओं ने उन्हें माफ़ी मांगने पर मजबूर किया.एक मुफ्ती द्वारा उनके खिलाफ फतवा जारी किए जाने पर उन्होंने सामने आकर माफी मांग ली. खुर्शीद ने आज कहा कि अगर उनके किसी भी व्यक्त्व से किसी को तकलीफ पहुंची है, तो उसके लिए वे माफी मांगते हैं |

Muslim maulanas forced them to apologize. When a Mufti issued a fatwa against them, they came forward and apologized. Khurshid said today that if anyone has hurt anyone from his person, then they apologize for him.

इस मुद्दे पर कई चैनलों पर बहस भी हुई ऐसे ही एक चैनल में टीवी एंकर रुबिका लियाकत और मुफ्ती एजाज अरशद कासमी के बीच बेहद तल्क बहस हो गई. बहस में शामिल अंबर जैदी को एआईएमआईएम के तरफ से शामिल प्रवक्ता ने अपशब्द कहे इसके जवाब में रुबिका ने ये कह दिया कि ये मदरसा नहीं है. इतना कहते हैं मुफ्ती बढ़क गए और रुबिका और अंबर पर जमकर व्यक्तिगत् हमले किए |

There were debates on this issue on many channels; In such a channel, there was a lot of debate between TV anchor Rubika Liyaqat and Mufti Ejaz Arshad Kasami. In response to this, Amber Zaidi, who was involved in the debate, said that the spokesman involved in AIMIM said that she is not a madrasa. It is said that Mufti grew and attacked Rabika and Amber fiercely.

दोनों को अपशब्द कहे. रुबिका के वंदे मारतम गाने और जय श्री राम बोलने पर ताने मारे गए. मुफ्ती ने एंकर के महिला होने का भी लिहाज नहीं किया उन्हें बेहया बताया, संघ का तोता बोला.रुबिका के वंदे मातरम बोलने पर एतराज जताने पर भी रुबिका ने जोर देकर कहा कि कहूंगी वंदे मातरम |

Saying offensive to both Rabika’s Vande Mataram songs and Jai Shree Ram were stabbed to death. Mufti did not even consider being an anchor woman, she told him a bad thing, said the parrot of the Sangh. Rabika also insisted on expressing her objection on speaking Verma Mataram, saying that Vande Mataram will do it.

देख लो आँखे खोलकर सेक्युलर हिन्दुओं इन्हें जय श्री राम बोलने से भी तकलीफ है और हम लोग इनकी मस्जिदों में जाते है.सबसे बड़ा सवाल हम क्यों इनकी अज़ान सुने जब ये जय श्री राम तक नहीं सुन सकते!

Seeing the eyes, Secular Hindus also suffer from speaking Jai Shri Ram and we go to their mosques. The biggest question is why we can listen to them when they can not hear Jai Shri Ram!

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=6KzO3XxanXM&t=6s

मौलाना का घटिया बयान “राम को बेच रही है बीजेपी” – साम्बित ने पात्रा दिया ऐसा मुँहतोड़ जवाब की हो गयी बोलती बंद।

अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद एक दशक से लंबे समय तक बने रहे हैं और इस मामले को अक्सर “संवेदनशील” और “भावुक” मुद्दा कहा जाता है। विभिन्न नेताओं के बीच विभिन्न कारणों के चलते अतीत में कई सरकारें इस मामले का हल ढूंढने में विफल रही हैं।

The Ram temple and the Babri Masjid dispute in Ayodhya have remained for a decade and it is often called the “sensitive” and “passionate” issue. Due to various reasons among various leaders, many governments in the past have failed to find a solution to the issue.

कथित तौर पर, विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए पत्थर इकट्ठा करना शुरू किया और कहा कि यह आश्वस्त है कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार भी है।राजस्थान में भरतपुर से राम मंदिर के निर्माण के लिए दो ट्रक पत्थर पहुँचाये गये ।और यह संवेदनशील मुद्दे पर विकास का पहला पड़ाव है।

Allegedly, the Vishwa Hindu Parishad (VHP) started collecting stones for the construction of the Ram Temple in Ayodhya and said that it is convinced that there is a BJP government in Uttar Pradesh. To build Ram Mandir from Bharatpur in Rajasthan Two truck stones were transported. And this is the first stop for development on sensitive issues.

इसके बाद, विभिन्न विभिन्न राजनीतिक दलों के पैनल के सदस्यों के बीच विभिन्न समाचार चैनलों पर चर्चा की जाने वाली यह गर्म विषय था। वीएचपी ने इस कदम से समुदायों और राजनीतिक दलों के बीच तनाव पैदा कर दिया है। एक समाचार चैनल पर बहस के दौरान मौलाना साजिद रशीदी ने एक बार फिर भगवान राम का अपमान करने की कोशिश की और एक अपमानजनक वक्तव्य दिया जो हर हिंदू के खून को उगल देगा। उन्होंने कहा कि बीजेपी भगवान राम को अपने लाभों के लिए बेच रही है।। भाजपा प्रवक्ता समिताब पत्रा ने उसके बाद मौलाना को मुँहतोड़ जवाब दिया।

After this, it was a hot topic to discuss various news channels among the panel members of various different political parties. VHP has created a tension between the communities and the political parties through this move. During the debate on a news channel, Maulana Sajid Rashidi once again tried to insult Lord Rama and gave an abusive statement which would spark the blood of every Hindu. He said that BJP is selling Lord Rama for its benefits .. BJP spokesman Samitab Patra then postponed the maulana.

कई मौकों पर विपक्षी नेता और मौलाना ने भगवान राम का अपमान किया और राम मंदिर के निर्माण के समर्थन में भाजपा पर अपमानजनक टिप्पणी की। लेकिन इस मौलाना ने अपनी सीमा को पार कर दिया, जिसके लिए उन्हें भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के जवाब ने मौलाना का मुंह बंद कर दिया गया।

On several occasions, opposition leader and Maulana insulted Lord Rama and in support of the construction of the Ram temple, he made derogatory comments on the BJP. But this maulana crossed the border, for which the maulana was silenced by the reply of the BJP spokesperson.

 

वीडियो के 12 वें मिनट के हिस्से से देखें

Watch from the 12th minute part of the video

यह ही देखे-

https://www.youtube.com/watch?v=6KzO3XxanXM

VIDEO: मूर्ख कांग्रेसी नेता बोला अल्लाह हूँ अकबर, जब मौलना को ‘जय श्री राम’ बोलने को कहा गया तो, मौलाना ने लगाया जोरदार थप्पड़

नई दिल्ली: जब से राम मंदिर मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा है की दोनों समुदाय आपसी सहमति से इस मसले का हल निकले! जिस वजह से देश के सभी बड़े न्यूज़ चॅनेल आये दिन कोई न कोई कार्यकर्म करके लोगो का विचार सामने रख रहे है, इसी कड़ी में आजतक न्यूज़ चैनल पर एक डिबेट चल रहा था लेकिन वहा एक वाक्या हुआ जिसे देखकर सेक्युलर हिंदुओं की आंखें खुल जाएगी!

New Delhi: Since the Supreme Court has said on the Ram temple issue, the two communities have resolved this issue with mutual consent! Because of which all the big news channels of the country are keeping the view of the people by doing some work on the day, there was a debate on the news channel on this day, but there was a word that will see the eyes of secular Hindus open!

डिबेट में शामिल कोंग्रेसी नेता ने कुछ ऐसा कर डाला जिसकी उमींद नहीं की जा सकती, इस कार्यकर्म के जरिये आज कांग्रेस के पाखंडी अजेंडे की पोल भी खुल कर सामने आ गयी! कांग्रेस ने हमेशा से वोटों की खातिर मुस्लिम समुदाय को हिंदुओं से ऊपर रखा! मुस्लिम वोट बैंक की राजनीती करने वाली कांग्रेस पार्टी की असलियत अब हिंदू समाज के सामने आ गई है!

The Congress leader, who was involved in the debate, did something that can not be expected, through this act, the Congress’s hypocritical agenda was opened today. Congress always kept the Muslim community above the Hindus for votes! Now the Hindu society has come to the connotation of the reality of the Muslim vote bank politics!

कांग्रेस अपनी इसी वोट बैंक और तुस्टीकरण की राजनीती की वजह से आज सिमट कर एक छोटी से पार्टी बनते जा रही है! आज हालत ये हो गई है कि कांग्रेस अपनी पार्टी को खत्म होने से बचाने के लिए मुस्लिमों पर निशाना साधना लगे हैं और खुद को हिन्दु प्रेमी साबित करने में लगे हैं!

The Congress is going to be reduced to a small party because of its own vote bank and Tuition of Politics. Today the condition has been that the Congress has been targeting Muslims to save their party from the end and they are trying to prove themselves as a Hindu lover!

ऐसे ही आजतक की एक डिबेट में कांग्रेसी प्रवक्ता राजीव त्यागी हिंदुत्व की परिभाषा समझाते हुए जोश में उठे और बोले मैं अल्लाह हूँ अकबर बोलूंगा और मेरे भाई मौलाना अंसार रजा जय श्री राम बोलेंगे!

Similarly, in a debate of Aaj Tak, Congress spokesman Rajiv Tyagi said in the echo of the definition of Hinduism and said, “I am Allah, I will speak Akbar” and my brother Maulana Ansar Raja Jai Shri Ram speaks!

लेकिन मौलाना ने जो किया वो राजीव और तमाम कांग्रेस के मुंह पर एक जोरदार तमाचा है! श्री राम बोलना तो छोड़िये, मौलाना तो टस से मस नहीं हुए और उल्टा त्यागी का हाथ पकड़ कर बैठा लिया! कांग्रेस की ये अपनी ही करनी है!

But what Maulana has done is a strong slap on the face of Rajiv and all the Congress! Leave Ram to speak, the Maulana did not get rid of the tussle, and in the reverse, hold the hand of the Tyagi! The Congress has to do its own!

ऊँ..मुर्ख कांग्रेसी की मूर्खता चलो सच इनके सामने भी आया !!आज तक चैनल पर गर्मागर्म डिबेट राष्ट्र बनाम हिन्दू राष्ट्र कांग्रेसी प्रवक्ता राजीव त्यागी हिंदुत्व की परिभाषा समझाते हुए जोश में उठे और बोले मैं अल्लाह हूँ अकबर बोलूंगा और मेरे भाई मौलाना अंसार रजा जय श्री राम बोलेंगे राजीव त्यागी – अल्लाह हू अकबर मौलाना – चुपपब्लिक – हाँ हां बोलोमौलाना – चुपराजीव त्यागी – आइये मेरे भाई बोलियेमौलाना – खीस निपोरते हुए चुपराजीव त्यागी – आइये आज बोल ही दीजियेमौलाना – ने त्यागी का हाथ पकड़ कर बैठा लिया कांग्रेसी चपड़गंजुओ ये जो तुमने 70 साल टोपी पहनी है न ये उसी का नतीजा है ….. तुम्हारे इसी तुष्टिकरण ने देश को बर्बाद कर दिया …. और अब यही तुष्टिकरण तुम्हे बर्बाद कर रही है…..

Posted by Amit Sharma on Friday, April 7, 2017

ये विडियो भी देखें

https://youtu.be/6KzO3XxanXM

VIDEO: कुरान की आयत का मतलब पूंछने पर मौलाना ने दी मुस्लिम महिला एंकर को गलियां |

मुफ्ती ने एंकर और पैनल में मौजूद मुस्लिम महिला को बेशर्म और बेहया कहा, इसके बाद उन्हें स्टूडिया से निकाल दिया गया।

Mufti said that the anchor and the Muslim woman in the panel were shameless and unsound, after which they were fired from the studio.

ये तमाचा है उन सेक्युलर हिन्दुओं पर जो खुलकर मस्जिद और मंजारों पर जाकर माथा टेकते हैं.बिहार में नई सरकार बनने के साथ ही नया विवाद जुड़ गया है. बिहार सरकार में गन्ना एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद जय श्री राम का नारा लगाने के बाद माफी मांग ली है.

These slogans are those secular Hindus who freely go to the mosque and the shrines and go to the top of the head. With the formation of a new government in Bihar, a new dispute has been added. In Bihar government, sugarcane and minority welfare minister Khurshid alias Firuz Ahmed has apologized after the slogan of Jai Shri Ram.

मुफ्ती ने एंकर और पैनल में मौजूद मुस्लिम महिला को बेशर्म और बेहया कहा, इसके बाद उन्हें स्टूडिया से निकाल दिया गया।

Mufti said that the anchor and the Muslim woman in the panel were shameless and unsound, after which they were fired from the studio.

ये तमाचा है उन सेक्युलर हिन्दुओं पर जो खुलकर मस्जिद और मंजारों पर जाकर माथा टेकते हैं.बिहार में नई सरकार बनने के साथ ही नया विवाद जुड़ गया है. बिहार सरकार में गन्ना एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद जय श्री राम का नारा लगाने के बाद माफी मांग ली है.

These slogans are those secular Hindus who freely go to the mosque and the shrines and go to the top of the head. With the formation of a new government in Bihar, a new dispute has been added. In Bihar government, sugarcane and minority welfare minister Khurshid alias Firuz Ahmed has apologized after the slogan of Jai Shri Ram.

मुस्लिम मौलानाओं ने उन्हें माफ़ी मांगने पर मजबूर किया.एक मुफ्ती द्वारा उनके खिलाफ फतवा जारी किए जाने पर उन्होंने
सामने आकर माफी मांग ली. खुर्शीद ने आज कहा कि अगर उनके किसी भी व्यक्त्व से किसी को तकलीफ पहुंची है, तो उसके लिए वे माफी मांगते हैं.

Muslim maulanas forced them to apologize. When a fatwa was issued against them by a Mufti, they
Came forward and apologized. Khurshid said today that if anyone has hurt anyone from his person, they apologize for him.

इस मुद्दे पर कई चैनलों पर बहस भी हुई ऐसे ही एक चैनल में टीवी एंकर रुबिका लियाकत और मुफ्ती एजाज अरशद कासमी के बीच बेहद तल्क बहस हो गई. बहस में शामिल अंबर जैदी को एआईएमआईएम के तरफ से शामिल प्रवक्ता ने अपशब्द कहे इसके जवाब में रुबिका ने ये कह दिया कि ये मदरसा नहीं है. इतना कहते हैं मुफ्ती बढ़क गए और रुबिका और अंबर पर जमकर व्यक्तिगत् हमले किए.

There were debates on this issue on many channels; In such a channel, there was a lot of debate between TV anchor Rubika Liyaqat and Mufti Ejaz Arshad Kasami. In response to this, Amber Zaidi, who was involved in the debate, said that the spokesman involved in AIMIM said that she is not a madrasa. It is said that Mufti grew and attacked Rabika and Amber fiercely.

देखिये ये वीडियो :

Watch this video:

https://youtu.be/C2-cPnrsCSY

दोनों को अपशब्द कहे. रुबिका के वंदे मारतम गाने और जय श्री राम बोलने पर ताने मारे गए. मुफ्ती ने एंकर के महिला होने का भी लिहाज नहीं किया उन्हें बेहया बताया, संघ का तोता बोला.रुबिका के वंदे मातरम बोलने पर एतराज जताने पर भी रुबिका ने जोर देकर कहा कि कहूंगी वंदे मातरम.

Saying offensive to both Rabika’s Vande Mataram songs and Jai Shree Ram were stabbed to death. Mufti did not even consider being an anchorwoman, she told him a bad thing, the parrot of the Sangh spoke. Rabika insisted on expressing her objection on speaking Verma Mataram, saying that Vande Mataram will say that.

देख लो आँखे खोलकर सेक्युलर हिन्दुओं इन्हें जय श्री राम बोलने से भी तकलीफ है और हम लोग इनकी मस्जिदों में जाते है.सबसे बड़ा सवाल हम क्यों इनकी अज़ान सुने जब ये जय श्री राम तक नहीं सुन सकते!

Seeing the eyes, Secular Hindus also suffer from speaking Jai Shri Ram and we go to their mosques. The biggest question is why we can listen to them when they can not hear Jai Shri Ram!

ये विडियो भी देखें

Also, watch these videos

https://youtu.be/6KzO3XxanXM