कन्हैया कुमार की पिटाई पर AAP के संजय सिंह ने CM योगी को कहा शर्म करो, यूज़र्स ने दिखाई औकात !

जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम में भारी विरोध का सामना करना पड़ा। लखनऊ के शिरोज में लिटरेरी फेस्टिवल में कन्हैया जैसे ही मंच पर बोलने आये तो वहां मौजूद एबीवीपी मेम्बर्स ने उसके खिलाफ ”देश का गद्दार व मुर्दाबाद” के नारे लगाए। वहीँ कुछ एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने कन्हैया को दो तीन थप्पड़ भी मार दिए।

JNU alumnus union president Kanhaiya Kumar faced heavy opposition in a program organized in Lucknow. As soon as Kanhaiya came to speak at the Literary Festival in Lucknow’s Shiroj, the ABVP members present there came slogans against the “Ghadar and Muradabad of the country” against him. Some ABVP workers also killed Kanhaiya with two or three slaps.

अब उस बात का विरोध आम आदमी पार्टी के नेता कर रहे हैं। इस पर राजनीति करके CM योगी को कोस रहे हैं – आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने ट्वीट कर CM योगी पर हमला करते हुवे कहा कि – अदब के शहर लखनऊ में कन्हैया के साथ मारपीट करके भाजपाईयों ने हमारी मेहमानवाज़ी की परम्परा को अपमानित किया है,शर्म करो योगी जी |

Now the leaders of the Aam Aadmi Party are protesting that matter. The CM is cursing the Yogi by politicizing this – Aam Aadmi Party leader Sanjay Singh tweeted that the attack on the CM Yogi: – By assaulting Kanhaiya in Lucknow city of Lucknow, the BJP has humiliated the tradition of our guests. Shame, Yogi ji.

मार कन्हैया कुमार को पड़ी और दर्द आम आदमी पार्टी वालो को हो रहा है , और राजनीती कर रहे हैं, और इसका ठीकरा सीएम योगी पर फोड़ना चाहते हैं। लेकिन यूज़र्स ने संजय सिंह की अक्ल ठिकाने लगा दी। दिए मुहतोड़ जवाब।

Kanhaiya Kumar has fallen and pain is happening to the common man party, and politicians are doing it, and its rightful CM wants to crack on the yogi. But the users put the suspicions of Sanjay Singh. Given answer.

ट्विटर पर यूसेर्स ने संजय सिंह की खूब खिचाई करी | किसी ने उन्हें देशद्रोही कहा किसी ने उन्हें कहा तेरी मरम्मत हम करेंगे | संजय सिंह के इस तवीत के बाद ट्विटर पर मानों युद्ध सा छिड गया हो | एक के बाद एक एक त्वीट्स आ रहे थे और सब संजय सिंह की ऐसी तेसी कर रहे थे वो सब संजय सिंह को पीटना चाहते थे और उनकी औकात दिखाना चाहते थे |

On Twitter, the Usors did a great deal of Sanjay Singh. Someone called them a traitor, someone said to them, we will do our repair. After this  Sanjay Singh’s tweet, the war has fallen on Twitter. One after another, the Tweats were coming and everybody was doing such a thing like Sanjay Singh, who wanted to beat Sanjay Singh and wanted to show his innocence.

 

https://twitter.com/Jeetnkh/status/929274196739334144

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=8ImzYyVUuNQ

 

VIDEO: आज तक के रिपोर्टर निशांत चतुर्वेदी ने ममता बनर्जी का किया भांडाफोड़, खुद देखिये विडियो

ममता बनर्जी हेमशा से ही तुष्टिकरण और वोट बैंक की राजनीति करती आयी है, ममता समुदाय विशेष को अधिक तवज्जो देती है, जिसकी वजह से आज पश्चिम बंगाल में हिन्दुओं की स्थिति काफी ख़राब होती जा रही है, हिन्दू त्योहारो पर तरह-तरह की रोक लगाई जाती है!

Mamta Banerjee has come from Hemsha to appease the politics of vote bank and Mamata gives special attention to the community, due to which the condition of Hindus in West Bengal is getting worse today, there is a variety of restrictions on Hindu festivals. She goes!

यहाँ तक की दुर्गा माँ के बंगाल में ही दुर्गा पूजा के विसर्जन को भी मुहर्रम के वजह से बाधित कर देती है, उनका कहना था की मोहर्रम के वजह से दुर्गा प्रतिमा का विसर्जन दशमी के दिन ही होगा, क्युकी अगले दिन मुहर्रम था! वही दूसरी तरफ मुस्लिम समुदाय के लोगो पर कोई रोक टोक नहीं किया जाता है! आज बंगाल में हिन्दू परेशांन होकर विकल्प की तलाश में जुट गया है, जिस वजह से बंगाल में बीजेपी की जनाधार दिनों दिन बढ़ रही है |

Even Durga mother of Bengal, in Durga Puja, is immersed in Bengal due to Muharram, she said that due to Muharram, the immersion of the Durga statue will be on the day of Dasami, that was the next day Muhraham! On the other side, there is no bar on the people of the Muslim community! Today, in Bengal, Hindus have gathered in trouble looking for alternatives, due to which the BJP’s base in Bengal is increasing day by day!

अगर ममता बनर्जी की बात करे तो उन्होंने अपने राजनितिक जीवन की शुरुआत कांग्रेस की छात्र नेता के तौर पर की थी! पढाई के दौरान ममता बनर्जी का विषय था इस्लामिक हिस्ट्री! ममता बनर्जी बाद में कांग्रेस से अलग होकर अपनी पार्टी बनायीं और बंगाल के मुख्यमंत्री बन बैठी! लेकिन ममता बनर्जी ने सिर्फ और सिर्फ एक समुदाय विशेष को बढ़ावा देने का काम किया है! मदरसों को आर्थिक मदद देना और स्कूलों में सरसवती पूजा पर प्रतिबन्ध लगाना!

If Mamta Banerjee talked about her, she started her political life as a student of Congress. During the study, Mamta Banerjee’s theme was Islamic History! Mamta Banerjee later separated from the Congress and formed her party and became the Chief Minister of Bengal! But Mamta Banerjee has done just one and only to promote a community special! Financial aid to madarsas and ban on Saraswati worship in schools!

बंगाल में मुस्लिम समुदाय जमकर उत्पात मचा रहा है और ममता बनर्जी इनके खिलाफ कड़ा कदम उठाने के बजाय इन्हे बढ़ावा देती दिखाई दे रही है! इन्ही सब मुद्दों पर आज तक न्यूज चॅनेल के बरिष्ट पत्रकार ने फेसबुक लाइव के तहत खुलाशा किया है! निशांत चतुर्वेदी ने बताया कि 2013 में बंगाल में 106 सम्प्रदायिंग दंगे हुए जबकि उससे पहले पिछले पांच सालो में 12 से 40 सांप्रदायिक दंगे हुए थे

In Bengal, the Muslim community is fiercising and Mamata Banerjee appears to be promoting them instead of taking strong action against them! On all these issues, news channels of news channels have published under Facebook Live! Nishant Chaturvedi said that there were 106 communal riots in Bengal in 2013 while there were 12 to 40 communal riots in the last five years.

अगर पश्चिम बंगाल की आबादी की बात करे तो मुस्लिमो की कुल आबादी 27% है और अगर अवैध बांग्लादेशियो को मिला दिया जाये तो बंगाल में कुल 30% मुस्लिम रहते है! और इनमे बहुत से कट्टरपंथी भी है, और कहा ये जाता है की ममता बनर्जी इन्ही कट्टरपंथियों को खुश करने की कोशिश कर रही है!

If the West Bengal population speaks of the total population of Muslims, 27% of the total population and if illegal Bangladeshi is mixed, then 30% of Muslims live in Bengal. And there are many fundamentalists, and it is said that Mamata Banerjee is trying to please these fundamentalists!

निशांत चतुर्वेदी ने बसीरहाट दंगे की बात करते हुए कहा की, एक माइनर लड़के ने फेसबुक पर अप्पतिजनक पोस्ट डाली, जो की गलत था और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया लेकिन फिर भी वह हिन्दुओं के साथ मारपीट किये गए, उनके घर और दुकाने जलाई गयी ये खा से सही है, क्या ममता बनर्जी को इसे रोकना नहीं चाहिए था! उन्होंने कहा की ये वही ममता बनर्जी है जो मदरसों को हार्ड कॅश देती है और इनके कृत्यों पर चप्पी साध लेती है!

Talking about the Basirhat riots, Nishant Chaturvedi said that a minor boy posted an objectionable post on Facebook, which was wrong and the police arrested him but still he was assaulted with the Hindus, his house and shops were lit This is correct with eating, should not Mamata Banerjee stop it! He said that this is the same Mamta Banerjee who gives hard cash to the madarsas and takes action on their actions!

निशांत चतुर्वेदी ने ममता बनर्जी के सैट्स सामने रखे, उन्होंने बताया की साल 2012 में ममता बनर्जी ने 32 हजार मस्जिदों को पैसा देना शुरू किया! ! जिसे विवाद बढ़ने पर बाद में बख्त बोर्ड के तहत कर दिया गया! और तो और इसको लेकर कोलकाता में इमामो ने एक बहुत बड़ी रैल्ली की और मांग किया की इस राशि को बढाकर 20000 रुपये मंथली कर देना चाहिए

Nishant Chaturvedi kept Mamata Banerjee’s sets in front, he said that in 2012, Mamta Banerjee started paying money to 32 thousand mosques! ! As the controversy grew, it was later reduced to under the Board! And in this case, in Imphal, in Kolkata, a large rally was made and demanded that this amount should be increased to 20000 rupees.

आगे निशांत चतुर्वेदी ने धूलगढ़ के दंगो का भी जिक्र किया! उनोने बताया की धूलगढ़ दंगा क्यों हुआ था! धूलगढ़ दंगा 12 दिसंबर 2016 को शुरू हुआ था, उस दिन ईद था और जोर जोर से लाउडस्पीकर बजाये जा रहे थे, जिसके बाद हिन्दुओं ने कहा की लाउंडस्पीकर की आवाज थोड़ी काम कर दी जाये जिसपर मुस्लिम समुदाय के कट्टरपंथी भड़क उठे और हिन्दुओं की मकान और दुकाने जलनि शुरू कर दी!

Further Nishant Chaturvedi also mentioned the riots of Durggarh! He told why there was a dusting riot! The Durggarh riots started on December 12, 2016, the Eid that day and loud loudspeakers were playing loudly, after which the Hindus said that the sound of the loudspeaker should be done in a little bit, on which the fundamentalists of the Muslim community got burnt and the houses of the Hindus and The shops started burning!

अब सवाल यह उठता है की ईद जैसे तयोहार पर ये लाठी, डंडे और किरोसिन लेकर निकलते है लेकिन इनके खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया जाता है! कोई गिरफ़्तारी नहीं की जाती है! ये बढ़ावा देना नहीं है तो और क्या है?

Now the question arises that on Eid like Eid, they come out with sticks, poles and kerosene but no action is taken against them! No arrests are made! What does it do if it does not promote?

क्या ममता बैनर्जी ने पश्चिम बंगाल को पाकिस्तान बना दिया है ? Shocking Facts 😡 Join In Live…..

Posted by Nishant Chaturvedi on Saturday, July 8, 2017

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=8ImzYyVUuNQ

बड़ा खुलासा – तो इसलियें देश से कर रहे गद्दारी कमल हासन, भगवा आतंक कह कर हिन्दुओं को लगातार कर रहे बदनाम !

चेन्नई: अभिनेता कमल हासन ने शनिवार (4 नवंबर) को अपने विरोधियों को करारा जवाब देते हुए कहा कि जो लोग आलोचना के सामने खड़े नहीं हो सकते, अब वे उनकी जान लेना चाहते हैं | कमल ने किसानों के एक समूह को संबोधित करते हुए कहा, “अगर हम उन पर सवाल उठाते हैं तो वे हमें राष्ट्र-विरोधी करार देते हैं और जेल भेजना चाहते हैं |

Chennai: Actor Kamal Haasan, responding to his opponents on Saturday (November 4th), said that those who can not stand in front of criticism, now they want to take his life. Talking to a group of farmers, Kamal said, “If we question them, then they call us anti-national and want to send them to jail.

अब चूंकि जेलों में तो कोई जगह खाली नहीं है, इसलिए वे हमें गोली मारकर खत्म करना चाहते हैं.” उन्होंने यह बातें अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के उपाध्यक्ष अशोक शर्मा के बयान पर प्रतिक्रिया में कहीं | शर्मा ने हासन के ‘हिन्दू उग्रवादी’ वाले बयान पर कहा था कि उनके जैसे लोगों की ‘गोली मारकर जाने ले लेनी चाहिए’ |

Now since there is no vacancy in the jails, therefore, they want to finish us by shooting us. “He said these things in response to the statement of Ashok Sharma, the Vice-President of All India Hindu Mahasabha, Sharma. Hassan’s ‘Hindu extremist’ statement But said that people like him should “shoot and go”.

अखिल भारतीय हिंदू महासभा के वरिष्ठ नेता ने बीते शुक्रवार (3 नवंबर) को प्रसिद्ध तमिल अभिनेता कमल हासन द्वारा ‘हिंदू आतंकवाद’ पर दिए बयान के लिए उन्हें आड़े हाथ लिया और कहा कि इस तरह के लोगों को ‘गोली मार देनी चाहिए.’ हासन द्वारा एक सप्ताहिक पत्रिका में हिंदू आतंकवाद को लेकर दिए बयान की ओर इशारा करते हुए महासभा के नेता पंडित अशोक शर्मा ने कहा इस तरह के लोग अपने पक्षपातपूर्ण संप्रादायिक एजेंडे के तहत हिंदुत्व मानने वालों का संबंध हिंदू आतंक से जोड़ते हैं | उन्होंने कहा, “कमल हासन जैसे लोगों से निपटने के लिए फांसी पर चढ़ा देने या गोली मार देने के अलावा और कोई रास्ता नहीं है” |

A senior leader of All India Hindu Mahasabha, on Friday (November 3rd), took a stand against the statement by famous Tamil actor Kamal Haasan on ‘Hindu terrorism’ and said that such people should be shot ‘. Pointing to a statement made by Hassan on the issue of Hindu terrorism in a weekly magazine, Pandit Ashok Sharma, a leader of the General Assembly, said such people linked Hindus to Hindu terror under their partial communal agenda. He said, “There is no other way than to hang on to hang people or to shoot people like Kamal Haasan”.

कमल हासन के बयान से गुस्साये संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शर्मा ने कहा, “जो भी लोग इस तरह की भाषा का प्रयोग करते हैं या हिंदू धर्म और इसके विश्वास के प्रति पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाते हैं | उन्हें जीने का कोई अधिकार नहीं है|” महासभा सदस्य ने 62 वर्षीय अभिनेता की सभी फिल्मों और उनके परिवार के सदस्यों की भी सभी फिल्मों का बहिष्कार करने की घोषणा की है |

Sharma, the national vice president of the organization, angry with Kamal Haasan, said, “Anyone who uses such language or adopts a biased attitude towards Hinduism and its beliefs, they have no right to live.” The General Assembly member has announced the boycott of all the 62-year-old actor’s films and his family members too.

वाराणसी की एक स्थानीय अदालत ने अभिनेता कमल हासन के खिलाफ हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को कथित रूप से आहत करने वाली टिप्पणी के खिलाफ एक शिकायत पर शनिवार (4 नवंबर) को सुनवाई करते हुए मामला दर्ज करने का आदेश दिया | अधिवक्ता कमलेश चंद्र त्रिपाठी ने वाराणसी के एसीजेएम की अदालत में एक याचिका दायर कर हासन पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाया था |

A local court in Varanasi ordered a case against actor Kamal Haasan on Saturday (November 4th) on a complaint against the comment that allegedly hurt the religious sentiments of Hindus. Advocate Kamlesh Chandra Tripathi had filed a petition in the court of ACJM of Varanasi and accused Hasan of hurting religious sentiments.

कमल हासन की बेटी श्रुति हासन हिंदी फिल्मों में काम करती है | संगठन ने और लोगों से भी इस तरह के लोगों की फिल्मों का बहिष्कार करने को कहा है | इस पर सुनवाई करते हुए न्यायधीश सुधाकर दुबे ने मामला दर्ज करने का आदेश दिया | एसीजेएम की अदालत ने याचिका पर अगली सुनवाई के लिए 22 नवम्बर की तारीख निर्धारित की है |

Kamal Haasan’s daughter Shruti Haasan works in Hindi films. The organization has asked more people to boycott the films of such people. While hearing this, Justice Sudhakar Dubey ordered the case to be registered. The court of ACJM has fixed the date for the next hearing on November 22.

काफी समय से कमल हासन राजनीती में आना चाह रहे थे | और हाल ही में कमल हासन ने राजनीती का हिस्सा बन्ने की भी घोषणा करी थी | उन्होंने कहा था के वे जल्द ही राजनीती में कदम रखने वाले हैं | तो क्या ये हिंदुत्व आतंकवाद का खेल खुद कमल हसान ने तो नहीं रचा ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग उन्हें पहचाने और इसी पोलिटिकल स्टंट की आड़ में वे राजनीती में प्रवेश कर जाएँ |

For a long time, Kamal Haasan wanted to come to politics. And recently Kamal Haasan had also announced to be a part of the politics. He said that he is going to soon step in politics. So does this Hindutva terrorism game itself Kamal Hasan did not make it so that more and more people recognized him and under the patronage of this political stunt, he would enter politics.

बात है साल 2013 की, कमल हसन ने एक फिल्म बनाई थी, जिसके निर्माता भी वही थे, इस फिल्म का नाम था विश्वरूपम, इस फिल्म में आतंकवाद के दृश्य थे, आतंकवाद की कहानी पर ये फिल्म आधारित थी, कमल हसन ने इस फिल्म को बनाने में मार्किट से भी बहुत पैसा उठाया था, काफी खर्चा किया था |

 विश्वरूपम का विरोध करते मुस्लिम संगठन, फिल्म के बारे में जैसे ही तमिलनाडु और केरल में मुस्लिम संगठनो को पता चला, उन्होंने इसका विरोध शुरू कर दिया, जगह जगह कमल हसन के पुतले जलाये जाने  लगे, राजनितिक दबाव बनाया जाने लगा, कांग्रेस और वामपंथी नेता साथ ही PFI, मुस्लिम लीग जैसे जिहादी संगठन कमल हसन का विरोध करने लगे, कमल हसन को जान से मारने  की धमकी के अलावा बेटी से बलात्कार की भी धमकियाँ दी जाने लगी |

हले से फिल्म में बहुत पैसा लगा चुके कमल हसन की स्तिथि टाइट होने लगी, कट्टरपंथियों के साथ तो वैसे भी राजनेता होते है, कमल हसन की फिल्म को बैन करने की भी बातें होने लगी, फिल्म के रिलीज से पहले बहुत बुरी स्तिथि हो गयी थी कमल हसन की
 
 
और इसी के बाद कमल हसन एक दिन सामने आये और रोते हुए उन्होंने कहा की, मैंने इस फिल्म में अपना सबकुछ लगा दिया है, और मुझे कट्टरपंथी इस्लामिक संगठनो से बचाओ, वरना मैं देश छोड़ने पर मजबूर हो जाऊंगा, 2013 में रो रो कर कमल हसन ने खुद को कट्टरपंथी मुस्लिमो से  बचाने की अपील की थी |
और आज वो कमल हसन जो 2013 में कट्टरपंथी मुस्लिमो के कारण रो रहे थे, देश छोड़ने की बात कर रहे थे, वो राजनीती में आने के लिए हिन्दुओ को आतंकी बता रहे है, साफ़ होता है की 2013 में हिन्दुओ ने जो कमल हसन का साथ दिया था, हिन्दुओ से वो बड़ी भूल हो गयी थी क्यूंकि जिस शख्स को हम मनोरंजन का चाची 420 समझकर बैठे हुए थे, वो तो अब्दुल 786 निकला |
SOURCE: zeenews.com

एक बार फिर मणिपुर चुनावों में बीजेपी की हुई बड़ी जीत, कांग्रेस में छाया मातम !

कांग्रेस पंजाब के गुरदासपुर संसदीय सीट जीतकर काफी खुश हो रही थी लेकिन उसके बाद कांग्रेस के खेमे में सिर्फ मायूसी ही आयी है | अभी पीछे ही मणिपुर ग्राम पंचायत चुनाव नतीजे 2017 में बीजेपी ने इतिहास रच दिया था,जहाँ बीजेपी का कोई बजूद नहीं था आज वहां बीजेपी ने वो कर दिखाया था जो कोई नही कर सका,ये लोगों का विस्वास है,और अब जिला परिषद चुनाव में बीजेपी ने अपना डंका बजाते हुए सबका सूपड़ा साफ़ कर दिया है और सभी 6 सीट पर जीत दर्ज की है |

Congress was happy to win the Gurdaspur parliamentary seat of Punjab, but after that there has been only disappointment in the Congress camp. Manipur gram panchayat election results back in 2017, when BJP had created history, where there was no development of BJP, today the BJP showed it that no one could do it, it is the people’s trust, and now in the Zilla Parishad elections The BJP has cleared all the slogans while playing its rug and won all six seats.

मणिपुर में पाचवें ग्राम पंचायत चुनाव के नतीजे 14 तारीख को आए थे इसी महीने में.बीजेपी की उन चुनावों में बहुत बड़ी जीत हुई थी लेकिन मीडिया में इस बात की चर्चा नहीं की थी | आपको बता दें इसी साल दो राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं | यही वजह है कि मीडिया इस खबर को टीवी पर नहीं दिखा रही है हाँ अगर बीजेपी हारती तो खबर जरूर आती | अब जैसे कि जिला परिषद चुनावों में भी बीजेपी ने सबका सूपड़ा साफ़ कर दिया है तो ये खबर भी मीडिया में नहीं आई है |

The results of the fifth Gram Panchayat elections in Manipur came on the 14th of this month. The BJP had won a lot in those elections, but this was not discussed in the media. Let us tell you that assembly elections are going to be held in two states this year. This is the reason why the media is not showing this news on TV, yes if the BJP loses, the news will definitely come. Now, even in the Zilla Parishad elections, BJP has cleared all the sums, then the news has not come in the media.

इसी महीने मणिपुर राज्‍य के छह जिलों में 60 जिला परिषद,सीट में से 40 सीट पर जीत हासिल करके इतिहास रचा था | एक समय था जब कांग्रेस बोलती थी की बीजेपी का कभी बजूद नहीं बना पाएगा इन राज्यों में लेकिन वहां की जनता ने दिखा दिया वो किसके साथ है | अभी हाल ही में मणिपुर में बीजेपी ने अपना पहला मुख्यमंत्री राज्य को दिया था और अब बीजेपी का अच्छा प्रदर्शन जारी है | खुद मणिपुर के मुख्यमंत्री ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी

In this month, 60 district councils in six districts of Manipur state had won history by winning 40 out of the seats. There was a time when the Congress used to say that the BJP will never be able to create a place in these states but the people there have shown who it is with. More recently, in Manipur, BJP gave its first Chief Minister to the state and now BJP is doing a good show. The Chief Minister of Manipur himself tweeted this information.

जिस तरह से बीजेपी की जीत पहले महारष्ट्र फिर गुजरात निकाय चुनावों में हुई और अब मणिपुर में ये जनता का साफ़ संदेश है कि उनका विस्वास आज भी बीजेपी है और मोदी जी पर है | नार्थ ईस्ट में बीजेपी की पकड अब धीरे-धीरे मजबूत होती जा रही है जो आने वाले लोकसभा चुनावों के नजरिये से शुभ संकेत है |

The way in which the BJP won the first elections in Gujarat and then in the Gujarat body elections and now there is a clear message of public that Manipur is still BJP and Modi is on the side. The BJP’s grip in the North East is gradually getting stronger, which is an auspicious sign from the perspective of the upcoming Lok Sabha elections.

VIDEO: कुरान की आयत का मतलब पूंछने पर मौलाना ने दी मुस्लिम महिला एंकर को गलियां |

मुफ्ती ने एंकर और पैनल में मौजूद मुस्लिम महिला को बेशर्म और बेहया कहा, इसके बाद उन्हें स्टूडिया से निकाल दिया गया। ये तमाचा है उन सेक्युलर हिन्दुओं पर जो खुलकर मस्जिद और मंजारों पर जाकर माथा टेकते हैं.बिहार में नई सरकार बनने के साथ ही नया विवाद जुड़ गया है. बिहार सरकार में गन्ना एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद जय श्री राम का नारा लगाने के बाद माफी मांग ली है |

Mufti said that the anchor and the Muslim woman in the panel were shameless and unsound, after which they were fired from the studio. These slogans are those secular Hindus who freely go to the mosque and the shrines and go to the top of the head. With the formation of a new government in Bihar, a new dispute has been added. In Bihar government, sugarcane and minority welfare minister Khurshid alias Firuz Ahmed has apologized after the slogan of Jai Shri Ram.

 

मुस्लिम मौलानाओं ने उन्हें माफ़ी मांगने पर मजबूर किया.एक मुफ्ती द्वारा उनके खिलाफ फतवा जारी किए जाने पर उन्होंने सामने आकर माफी मांग ली. खुर्शीद ने आज कहा कि अगर उनके किसी भी व्यक्त्व से किसी को तकलीफ पहुंची है, तो उसके लिए वे माफी मांगते हैं |

Muslim maulanas forced them to apologize. When a Mufti issued a fatwa against them, they came forward and apologized. Khurshid said today that if anyone has hurt anyone from his person, then they apologize for him.

इस मुद्दे पर कई चैनलों पर बहस भी हुई ऐसे ही एक चैनल में टीवी एंकर रुबिका लियाकत और मुफ्ती एजाज अरशद कासमी के बीच बेहद तल्क बहस हो गई. बहस में शामिल अंबर जैदी को एआईएमआईएम के तरफ से शामिल प्रवक्ता ने अपशब्द कहे इसके जवाब में रुबिका ने ये कह दिया कि ये मदरसा नहीं है. इतना कहते हैं मुफ्ती बढ़क गए और रुबिका और अंबर पर जमकर व्यक्तिगत् हमले किए |

There were debates on this issue on many channels; In such a channel, there was a lot of debate between TV anchor Rubika Liyaqat and Mufti Ejaz Arshad Kasami. In response to this, Amber Zaidi, who was involved in the debate, said that the spokesman involved in AIMIM said that she is not a madrasa. It is said that Mufti grew and attacked Rabika and Amber fiercely.

दोनों को अपशब्द कहे. रुबिका के वंदे मारतम गाने और जय श्री राम बोलने पर ताने मारे गए. मुफ्ती ने एंकर के महिला होने का भी लिहाज नहीं किया उन्हें बेहया बताया, संघ का तोता बोला.रुबिका के वंदे मातरम बोलने पर एतराज जताने पर भी रुबिका ने जोर देकर कहा कि कहूंगी वंदे मातरम |

Saying offensive to both Rabika’s Vande Mataram songs and Jai Shree Ram were stabbed to death. Mufti did not even consider being an anchor woman, she told him a bad thing, said the parrot of the Sangh. Rabika also insisted on expressing her objection on speaking Verma Mataram, saying that Vande Mataram will do it.

देख लो आँखे खोलकर सेक्युलर हिन्दुओं इन्हें जय श्री राम बोलने से भी तकलीफ है और हम लोग इनकी मस्जिदों में जाते है.सबसे बड़ा सवाल हम क्यों इनकी अज़ान सुने जब ये जय श्री राम तक नहीं सुन सकते!

Seeing the eyes, Secular Hindus also suffer from speaking Jai Shri Ram and we go to their mosques. The biggest question is why we can listen to them when they can not hear Jai Shri Ram!

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=6KzO3XxanXM&t=6s

VIDEO: सोचिये क्या होगा भारत का अगर नरेंद्र मोदी 2019 के आम चुनाव में हार जाएँ ?

मोदी ‘भाखत’ शायद शीर्षक को पढ़ने के बाद जहर उगलने लगेगा। कुछ अंधे अनुयायियों का आह्वान हो सकता है कि भारत 18 घंटे तक काम करने वाले प्रधान मंत्री को खोने का जोखिम नहीं उठा सकता। लेकिन 201 9 के चुनावों में अगर नरेंद्र मोदी पराजित हो जाएंगे तो भारत निश्चित रूप से लाभ उठाएगा ।

Modi ‘Bhakhat’ probably will start to spit poison after reading the title. Some blind followers can be called upon to say that India can not afford to lose the Prime Minister who works for 18 hours. But if Narendra Modi is defeated in the 2019 elections, then India will surely benefit.

नम्र और ईमानदार विपक्षी पार्टी नेताओं ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने प्रभावी विपणन नीति तैयार करके 2014 के चुनावों में जीत हासिल की, तो हम इस पर सहमत हो जाएं। राहुल गांधी और केजरीवाल जैसे ईमानदार विपक्षी नेताओं ने कहा कि मोदी लहर गायब हो गई है, लेकिन मोदी की भाजपा एक दूसरे के बाद एक चुनाव जीत रही है, फिर भी हम इन विपक्षी नेताओं से सहमत हैं।

Modest and honest Opposition party leaders said that if Narendra Modi won the 2014 elections by formulating an effective marketing policy, then we would agree on it. Honest opposition leaders like Rahul Gandhi and Kejriwal said that Modi wave has vanished, but Modi’s BJP is winning one election after each other, yet we agree with these opposition leaders.

विपक्षी पार्टी के नेताओं ने इटली, आतंकवादी समर्थक और नक्सली समर्थक के साथ संबंधों का अनुमान लगाया है कि 201 9 के लोकसभा चुनावों में मोदी को एक विनाशकारी हार का सामना करना होगा। तो क्या आप जानते हैं कि क्या उनकी कल्पनाएं सच हो जाएंगी? ठीक है, यहां लाभों की एक सूची दी गई है, जो भारत नरेंद्र मोदी को हराया जाता है या नहीं।

Opposition party leaders have speculated that relations with Italy, terrorist supporters and Naxalite supporters will have to face a devastating defeat in the 2019 Lok Sabha elections. So do you know if their fantasy will come true? Okay, here is a list of benefits that India or Narendra Modi is defeated or not.

1. भारत अचानक सहिष्णु राष्ट्र बन जाएगा। जिन भारतीयों ने धन और स्थिति के लालच के लिए ‘असहिलता’ शब्द को प्रेरित किया, वे भारत में मिले सहिष्णुता की प्रशंसा करना शुरू कर देंगे।

1. India will become a suddenly tolerant nation. The Indians who inspired the word ‘non-violence’ for the greed of money and position, they will start praising the tolerance found in India.

2.GST धीरे धीरे हटा दिया जाएगा; भविष्य के सुधारों में कोई दूरदृष्टि नहीं होगी और निश्चित रूप से एक महान अवसाद के लिए भारतीय अर्थव्यवस्था को धक्का देगी।

2.GST will be removed gradually; There will be no vision in future reforms and will definitely push the Indian economy for a great depression.

3. शब्द ‘घोटाले’ धीरे-धीरे भारतीय रक्षा खरीद में घुस जाएगा क्योंकि आयोग को इटली के माफिया डॉन और कई अन्य राष्ट्रों में वापस कर दिया जाएगा। सेना को फिर से कम गुणवत्ता वाले हथियारों और गोला-बारूद के साथ समायोजित करना होगा।

3. The word ‘scandal’ will gradually enter Indian defense procurement because the commission will be returned to Italy’s Mafia don and many other nations. The army will again have to adjust with low quality weapons and ammunition.

4. अमीर और शाहरुख खान भारत में ही रहना पसंद करेंगे। धर्मनिरपेक्षता भारत के सभी राज्यों में पाई जाएगी और यहां तक कि भारत से ‘हनन’ भी गायब हो जाएगा।

4. Amir and Shah Rukh Khan would prefer to stay in India. Secularism will be found in all the states of India and even ‘abasement’ from India will also disappear.

5. प्रतिष्ठित सरकारी पदों को हत्या, बलात्कारियों और गिरोहियों को सौंप दिया जाएगा।

5. The prestigious government posts will be handed over to the murderers, rapists and gangsters.

6. कश्मीर के स्टोन पेल्टर और गुमराह युवा धीरे-धीरे शांति प्रेमियों बन जाएगा। सेपरेटिस्ट्स छाल लेंगे कि कश्मीरी एक स्वर्ग है और वे “आजाद कश्मीर” नहीं चाहते हैं

6. Stone Palter of Kashmir and misguided youth will gradually become peace lovers. Separatists will bark that Kashmiri is a paradise and they do not want “Azad Kashmir”

7. पाकिस्तान को भारत सरकार में एक आकर्षक स्थान मिलेगा क्योंकि लोकसभा चुनावों में मोदी को हराने के लिए मनु शंकर अय्यर की मदद की गई थी।

7. Pakistan will find an attractive place in the Indian government because Manu Shankar Aiyar was helped to defeat Modi in the Lok Sabha elections.

8. लव जिहाद, गाय तस्करी और तीन तलेक वैध होंगे। सरकार उन प्रतिष्ठित सामाजिक सुधारों को पूरा करने वाले युवाओं को अनुदान भी दे सकती है।

8. Love jihad, cow smuggling and three tricks can be valid. The government can also grant grants to those young people who fulfill these prestigious social reforms.

9.अगैन, धर्मनिरपेक्ष ओवैसी भाइयों को सिर्फ 15 मिनट में 100 करोड़ हिंदुओं को खत्म करने के लिए आत्मविश्वास हासिल हो सकता है।

9. Againe, secular Owais brothers may get confidence to eliminate 100 million Hindus in just 15 minutes.

10.ममता बनर्जी स्वर्ग को प्राप्त करेंगे क्योंकि वे पश्चिम बंगाल को बांग्लादेशी आप्रवासियों को सौंप देंगे। पश्चिम बंगाल में शांति बहाल करने के बाद शीघ्र ही बहाल हो जाएंगे।

10.Mamata Banerjee will get Paradise because she will hand over West Bengal to Bangladeshi immigrants. Restoring peace in West Bengal will be restored shortly.

11. एक महान कॉमेडियन ए.के.ए. युवा आइकन भारत का प्रधान मंत्री बन जाएगा। पाकिस्तान के प्रधान मंत्री को फिर से भारतीय प्रधान मंत्री को ‘गांव की महिला’ कहने की हिम्मत मिल जाएगी।

11. A great comedian A.K.A. The youth icon will become the Prime Minister of India. The Prime Minister of Pakistan will again get the courage to call the Indian Prime Minister a ‘village lady’.

12. सरकार द्वारा उद्यमियों को प्रोत्साहित किया जाएगा। इसके परिणामस्वरूप, श्री रॉबर्ट वाड्रा औपचारिक रूप से हरियाणा राज्य को उनके फार्म हाउस में बदल सकते हैं।

12. The entrepreneurs will be encouraged by the government. As a result, Mr. Robert Vadra can formally convert the Haryana State into his farmhouse.

13. मोदी ने भारत में किसी भी घोटाले की अनुमति नहीं देकर भारतीयों को धोखा दिया था। इसलिए भारत आजादी के बाद शुरुआती दशकों की तरह एक और घोटाले के बाद एक साक्षी के लिए धन्य होगा। कोयला घोटाले के नायकों, 2 जी स्पेक्ट्रम घोटाले, बोफोर्स घोटाले फिर से अपने कौशल का प्रदर्शन करेंगे।

13. Modi had cheated Indians by not allowing any scandal in India. Therefore, India will be blessed for one witness after the other decades after independence, like the first decades after Independence. Coal scam heroes, 2G spectrum scam, Bofors scam will showcase their skills again.

14. सरकार पुरस्कारों को “पुरस्कार वाप्सी” गिरोह को वापस लौटा देगी और माफी मांगेगी। इसके अलावा, इन्हें भी विश्व स्तर पर भारत की छवि को खराब करने में उनके योगदान के लिए पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया जाएगा।

14. The Government will award rewards to the “Prize Wages” gang and will apologize. Apart from this, they will also be honored with the Padma Awards for their contribution in destroying the image of India globally.

15. सरकार की परियोजनाओं का नाम फिर से गांधी परिवार के नाम पर रखा जाएगा। शायद, यहां तक कि सरकारी शौचालयों को यह विशेष सम्मान मिलेगा

15. The government’s projects will be renamed after the Gandhi family. Perhaps, even government toilets will get this special honor

16.मीडिया फिर से एक सुनहरा पैच के माध्यम से चलेगा क्योंकि वे कभी भी टूटने से बाहर नहीं होंगे & amp; सनसनीखेज खबर है कि भारत में घोटालों को नियमित रूप से किया जाएगा

16. The media will again run through a golden patch because they will never break out & amp; The sensational news is that scams in India will be done regularly

17. मोदी मोदी एक बार फिर गुजरात के मुख्यमंत्री बन सकते हैं क्योंकि उस राज्य के लोग जानते हैं कि केवल मोदी उन्हें विकास दे सकते हैं।

17. Modi Modi can once again become Chief Minister of Gujarat because people of that state know that only Modi can give them development.

18. ‘स्किल इंडिया’ को ‘स्कैम इंडिया’ में बदल दिया जाएगा, क्योंकि मंत्रियों ने घोटाले को पूरा करने और भारत के आम लोगों को लूटने की योजना बनाई है।

18. ‘Skil India’ will be changed to ‘Scam India’, because the ministers have planned to complete the scam and loot the common people of India.

19. आतंकवादी हमलों के दौरान, भारतीय सेना को सरकार से अनुमति देने के लिए 5 दिनों तक इंतजार करना होगा। वास्तव में, यह आतंकवादियों के लिए “अच्छे दिन” होगा

19. During the terrorist attacks, the Indian army will have to wait for 5 days to allow the government. In fact, it will be a “good day” for the terrorists

20. मीडिया 15 साल तक मोदी को सताते हुए थक चुके थे, जबकि वे गुजरात के मुख्यमंत्री थे। इसलिए ध्यान मुख्यमंत्री श्री योगी की ओर बढ़ेगा जो कि मोदी के रूप में सांप्रदायिक है।

20. Media was tired of harassing Modi for 15 years, while he was the Chief Minister of Gujarat. Therefore meditation will move towards the Chief Minister Shri Yogi, who is communal in the form of Modi.

21. इंदिरा और राजीव गांधी के नाम मुख्यधारा की राजनीति में आएंगे क्योंकि सभी नए परियोजनाओं का नाम उनके नाम पर रखा जाएगा।

21. Indira and Rajiv Gandhi’s names will come in mainstream politics because all new projects will be named after them.

22. उत्तर पूर्वी राज्यों को पूरी तरह से केंद्र सरकार द्वारा त्याग दिया जाएगा जो निश्चित रूप से चीनी को इन राज्यों पर अपनी पकड़ को कसने में मदद करेगा।

22. North Eastern states will be completely abandoned by the Central Government, which will definitely help the Chinese to tighten their hold on these states.

23. अरविंद केजरीवाल को भारत में “स्वच्छ राजनीति का संत” घोषित किया जाएगा।

23. Arvind Kejriwal will be declared a “saint of clean politics” in India.

24. प्राकृतिक संसाधनों पर पहला अधिकार मुसलमानों को दिया जाएगा क्योंकि यह श्री मनमोहन सिंह का सपना था।

24. The first rights on natural resources will be given to the Muslims as it was the dream of Mr. Manmohan Singh.

25. अब तक, लोगों ने महसूस किया होगा कि उन्होंने मोदी को हराने के द्वारा एक बड़ी गलती की है। लेकिन वे असहाय होंगे क्योंकि भारत दुर्घटना की स्थिति की ओर बढ़ रहा होगा।

25. So far, people have realized that they have made a big mistake by defeating Modi. But they will be helpless because India will be moving towards the situation of the accident.

26. लालू प्रसाद यादव, शशिकला, अरविंद केजरीवाल, रॉबर्ट वाड्रा, जगन मोहन रेड्डी, डीके शिवकम

26. Lalu Prasad Yadav, Shashikala, Arvind Kejriwal, Robert Vadra, Jagan Mohan Reddy, DK Shivakumar

27.और श्री नरेंद्र मोदी …..

27. And Mr. Narendra Modi …..

मोदी की उम्मीद के मुताबिक, समाज के उपेक्षित वर्गों के उत्थान के लिए अपने सभी पेंशन धन दान करेंगे। वह अपने दैनिक दिन के खर्चों का प्रबंधन करने के लिए चाय भी बेच सकते हैं। धीरे-धीरे वह राष्ट्र की स्थिति को देखकर पछतावा भी शुरू करेगा। यह देशभक्त अपने अंतिम सांस तक “वंदे मातरम्” नारा का गीत गाता है।

According to Modi’s hopes, donate all their pension funds for the upliftment of the neglected sections of society. He can also sell tea to manage his day-to-day expenses. Gradually he will also start regretting the situation of the nation. This patriot sings the song “Vande Mataram” slogan till his last breath.

“देश को जो कुछ भी हो, जो कोई भी भारत पर शासन करे, यह मेरे लिए कोई फर्क नहीं पड़ता”, अगर यह लिखना पढ़ने के बाद भी यह तुम्हारा दिमाग है, तो मुझे अपनी मूर्खता को सलाम करना चाहिए।

Whatever the country, whoever rules India, it does not make any difference to me “, even if it is your mind after reading this writing, then I should salute my stupidity.

आपका एक वोट परमाणु बमों की तुलना में अधिक शक्तिशाली है जो हिरोशिमा और नागासाकी पर गिरा दिया गया था। इसलिए इसे चालाकी से उपयोग करें और सही उम्मीदवार (मोदी) को चुनें। आतंकवादियों को भारतीय सैनिकों के खून में होली खेलने के लिए न दें, बल्कि मोदी को वोट दें ताकि भारतीय सेना पाकिस्तानी आतंकवादियों के शरीर को अलग करे।

One of your votes is more powerful than atomic bombs that were dropped on Hiroshima and Nagasaki. So use it smartly and choose the right candidate (Modi). Do not let the terrorists play Holi in the blood of Indian soldiers, but vote for Modi so that the Indian army separates the body of Pakistani terrorists.

यदि भारत प्रगति के रास्ते में यात्रा करना चाहता है, तो उसके पास 201 9 के लोकसभा चुनावों में प्रधान मंत्री मोदी को गले लगाने की कोई अन्य विकल्प नहीं है।

If India wants to travel in progress, then she has no other option to embrace Prime Minister Modi in the 2019 Lok Sabha elections.

देखें ये विडियो :

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=6KzO3XxanXM&t=1s