योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने पर फट पड़ा ओवैसी का गुस्सा,काँपे जिसे देख अखिलेश और कांग्रेस समेत मुस्लिम मैं हाहाकार

पटना : अभी कुछ ही वक़्त पहले यूपी के कासगंज में तिरंगा यात्रा पर पथराव व् गोलीबारी हुई थी, जिसमे चन्दन गुप्ता नाम के एक युवक की मौत हो गयी थी और इसके बाद वहां दंगे भड़क उठे थे. कुछ वही हाल राम नवमी के मौके पर बिहार व् बंगाल में भी रहा. शोभा यात्रा पर कट्टरपंथियों द्वारा पथराव किया गया, जिसने दंगे का रूप ले लिया. वहीँ मीडिया का एक धड़ा एक बार फिर कट्टरपंथियों के बचाव में खड़ा हो गया है.

Patna: Just a few days ago, there was a stone pelting and firing on the Tiranga yatra in UP, in which a young man named Chandan Gupta was killed and after that there were riots. Some were also in Bihar and Bengal on the occasion of Ram Navami. Shobha Yatra was stoned to death by the extremists, who took the form of riots. At the same time, one faction of the media has once again stood in the defense of the fundamentalists.

क्या है पूरा मामला?

औरंगाबाद में सोमवार को निकाली गई रामनवमी की शोभायात्रा पर कट्टरपंथियों ने पथराव कर दिया, जिसके बाद लोग भड़क उठे. आक्रोशित भीड़ ने कई दुकानों में आग लगा दी और बवाल किया. कट्टरपंथियों के पथराव में शोभायात्रा में शामिल छह से अधिक लोग घायल हुए वहीं कई अधिकारियों को भी चोटें आई हैं.

What is the whole matter?

After the raid on Ramnavmi in Aurangabad on Monday, the fundamentalists hurled stones at them, after which the people got upset. The angry crowd set fire to many shops and made a fire. More than six people involved in the Shobhayatra were injured in the stone pelting stones, while many officials have also been injured.

सवाल ये है कि आखिर शोभा यात्रा पर पत्थरबाजी की ही क्यों गयी? आखिर कब तक लोग कट्टरपंथियों के पत्थर खाते रहेंगे? वहीँ मीडिया का एक धड़ा फिर से सक्रिय हो गया है और दंगों का सारा दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ा जा रहा है.

The question is, why did it go rocking on Shobha? After all, how long will people keep on stoning stones of fanaticism? At the same time a faction of the media has been activated and all the blame on the riots is being planted on the Hindus only.

पथराव से गुस्साए हिन्दू युवक

बताया जा रहा है कि कट्टरपंथियों की पत्थरबाजी से गुस्साए कुछ हिन्दू युवकों ने बिहार के समस्‍तीपुर के रोसड़ा कस्‍बे में स्थित जामा मस्जिद पर धावा बोल दिया. युवक मस्जिद के ऊपर चढ़ गए और उसपर भगवे झंडे फहरा दिए. हालांकि समस्‍तीपुर के एसपी दीपक रंजन के मुताबिक़ जब पुलिस वहां पहुंची तो उन्‍हें भगवा झंडे नहीं मिले, केवल तिरंगा लगा हुआ मिला.

Hindu youth angry with stone pelting

It is being told that some Hindu youths, angry at the stone-throwing stones, attacked the Jama Masjid in Rosda town of Samastipur, Bihar. The youth climbed to the mosque and hoisted the saffron flag on it. However according to SP Deepak Ranjan of Samastipur, when the police arrived there, they did not get the saffron flag, only got the tricolor.

कट्टरपंथी शिक्षा देने वाले एक मदरसे पर भी धावा बोला गया और उसे तहस-नहस कर दिया गया. खबर के मुताबिक रोसड़ा के गुदरी बाजार स्थित मस्जिद के पास से सोमवार को माता दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन को जा रही थी. ये बात कट्टरपंथी युवकों से सहन नहीं हुई और उन्होंने मूर्ति की ओर चप्‍पल फेंक दी. इसी के विरोध में सैकड़ों लोग मस्जिद के पास इकट्ठा होकर आरोपी की बलि देने की मांग करने लगे.

A madrasa who gave fundamental education was also attacked and it was demolished. According to the news, the statue of Mata Durga was going to immersion on Monday near Mosad, situated in Gudri Bazaar in Rosda. This thing was not tolerated by fundamentalist youths and they threw slippers towards the idol. In protest against this, hundreds of people gathered near the mosque and demanded the sacrifice of the accused.

बिहार-बंगाल में कट्टरपंथियों का आतंक

बता दें कि औरंगाबाद में ठाकुरबाड़ी की तरफ से रामनवमी की शोभायात्रा बाजार के लिए प्रवेश किया था. इस्लाम टोली मोड़ के पास कट्टरपंथियों की भीड़ ने अचानक पथराव शुरू कर दिया. जिससे लोग भड़क गए. कट्टरपंथी शोभायात्रा को वहां से जाने तक नहीं देना चाहते थे. बड़ी मुश्किल से मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों ने किसी तरह जुलूस को पार कराया.

Terror of fanatic in Bihar-Bengal

Please tell that on behalf of Thakurbadi in Aurangabad, Ramanavami’s Shobhayatra entered the market. A crowd of fundamentalists suddenly started stone pelting near Islam Toli Mutt. Thereby, people flared up. The fundamentalists did not want to give Shobhayatra away from there. The police officers present on the spot barely passed the procession.

ये खबर आग की तरह फैली और देखते ही देखते दूसरी और खड़े लोग भड़क उठे और एक-एक कर दुकानों में आग लगाई जाने लगी. एक दर्जन से अधिक दुकानों और गुमटियों को फूंक दिया गया. यहाँ ध्यान देने वाली बात ये है कि कट्टरपंथियों द्वारा पत्थरबाजी के बाद ही दंगे की शुरुआत हुई, मगर मीडिया ने बड़ी ही आसानी से सारा दोष आरएसएस व् हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया.

The news spread like a fire, and seeing the other people standing standing broke out and each one started setting fire to shops. More than a dozen shops and dummies were blown up. The point here to note is that after the rhetoric by the fundamentalists, the riots took place, but the media easily eased the blame on RSS and Hindus only.

इसी बहाने से नितीश कुमार पर कीचड उछाला जाना भी शुरू हो गया. वहीँ बंगाल में हिन्दुओं के अलावा पुलिस अधिकारी तक दंगों में घायल हो गए, मगर ममता से सवाल पूछने या बंगाल दंगों की खबर चलाने की जगह देश के मीडिया ने बड़ी सफाई से उस खबर को छिपा लिया.

With this excuse Nitish Kumar also started to throw the kitchad. In addition to the Hindus in Bengal, police officials were injured in the riots, but instead of asking questions from Mamata or playing the news of the Bengal riots, the country’s media hid that news with great cleanliness.

यह भी देखे

https://youtu.be/Uzs16fYnw1k

https://youtu.be/VxtYK7YXsQ8

SOURCE NAME POLITICAL REPORT

नितीश कुमार ने दिया वो महान बड़ा आदेश जिसका आप सभी को था इंतज़ार, जिसे देख PM मोदी समेत सभी हिन्दू संगठन रह गये दंग..

पटना : अचानक ही बिहार में बहार आनी कैसे शुरू हो गयी है इस खबर को पढ़ने के बाद आप भी चौंक उठेंगे. बिहार में सत्ता परिवर्तन क्या हुआ भाजपा के साथ हाथ मालते ही नितीश कुमार दनादन एक्शन में आ गए हैं. अभी नितीश ने अवैध बूचड़खानों पर ताले लगवाने का फैसला लिया था लेकिन इस बार तो नितीश कुमार ने ग़ज़ब कर दिखाया.

Patna: You will be shocked after reading this news that suddenly how come out of Bihar and how it has started. Nitish Kumar has been in the daily action as soon as the power change in Bihar happened with the BJP. Right now, Nitish had taken the decision to set up locks on illegal slaughterhouses, but this time, Nitish Kumar has made a ghazb.

अचानक ही बदल गया है बिहार….दे दिया वो महान आदेश

अभी कुछ वक़्त पहले ही बिहार में कभी जय श्री राम के नारों से लालू यादव के बेटे को दिक्कत हुआ करती थी भले ही वो भगवान कृष्ण के वेश में फोटो खिचवा लेते रहे हों. उसी बिहार में अचानक धर्म का मार्ग अपना लिया है. नितीश के इस ज़बरदस्त फैसले से अचानक ही बिहार का मौसम बदलने लगा है.

Patna: You will be shocked after reading this news that suddenly how come out of Bihar and how it has started. Nitish Kumar has been in the daily action as soon as the power change in Bihar happened with the BJP. Right now, Nitish had taken the decision to set up locks on illegal slaughterhouses, but this time, Nitish Kumar has made a ghazb.

जी हाँ बिहार के सीएम नितीश कुमार ने अभी आदेश जारी किये हैं कि अब एक भी गौ माता या गौ वंश सड़क पर आवारा घूमता हुआ नहीं दिखना चाहिए. यदि दिखा तो उससे सम्बंधित विभाग पर सख्त कार्यवाही होगी.

गाय के गोबर और गोमूत्र का करो इस्तेमाल

Use of cow dung and cow urine

इससे पहले नितीश कुमार कह चुके हैं कि उन्हें महागठबंधन में घुटन सी महसूस होने लगी थी. यही नहीं नितीश कुमार ने सबको आश्चर्यचकित करते हुए आदेश दिया कि आवारा घूमने वाली गायों और बैलों को गौशाला में ऱख कर उनके गोबर और और मूत्र का इस्तेमाल ऑर्गेनिक खाद बनाने में किया जाएगा. उन्होंने गौ वंश को प्रकृति व् इश्वर का एक बड़ा वरदान बताया है. सीएम के आदेश मिलते ही गौशालाओं का निर्माण तेज़ी से शुरू हो गया है.

Earlier, Nitish Kumar had said that he was feeling suffocated in the alliance. Not only this, Nitish Kumar, who gave surprise to everyone, ordered that the cows and oxen roaming cows and oxen will be kept in the cows and their dung and urine will be used to make organic manure. He has described Gau Dynasty as a great boon of nature and God. The construction of the Gaushalas has started rapidly as soon as the CM orders are received.

ऑर्गेनिक खाद

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि ये गाय भले ही दूध न देती हो, लेकिन इनका गोबर और गौमूत्र काफी उपयोगी होता है और इनका इस्तेमाल ऑर्गेनिक खाद बनाने में किया जाएगा. जिस से किसानो को महंगी खाद आदि का खर्चा नहीं देना पड़ेगा. इसके लिए बड़ी से बड़ी गौशालाएं बनायीं जाएँ.

Organic manure

Chief Minister Nitish Kumar said that even though these cows do not give milk, but their dung and cow urine are very useful and they will be used to make organic compost. The farmers will not have to pay the cost of expensive manure etc. Make large gaushalas for this.

अभी हाल ही मे हुए एक सम्बोधन में नितीश कुमार के तेवर बदले से नज़र आने लगे. जाहिर है अब वो बीजेपी के साथ बिहार में सरकार चला रहें हैं. इस मौके पर बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी मौजूद थे.

In a recent conversation, Nitish Kumar’s transformation began to appear. Clearly, now he is running the government in Bihar with BJP. Bihar Deputy Chief Minister Sushil Kumar Modi was also present on this occasion.

आपकी जानकारी के लिए बता दें अभी हाल ही मे नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी ने पटना के बीर कुंअर सिंह आजादी पार्क में पेड़ों को रक्षा सूत्र बांध कर रक्षाबंधन का त्योहार मनाया था . इस पर नीतीश कुमार ने कहा कि वह 2011 से पेड़ों को रक्षा सूत्र बांध रहे हैं, ताकि लोगों में पर्यावरण के प्रति जागरूकता बढ़े. उन्होंने कहा कि हम पेड़ों को राखी बांध कर उनकी सुरक्षा का संकल्प लेते हैं.

For your information, just recently, Nitish Kumar and Sushil Kumar Modi celebrated the Raksha Bandhan by cutting a protective form of trees in Bir Kunar Singh Azadi Park in Patna. On this Nitish Kumar said that since 2011, he has been setting up protective sources for trees, so that awareness of the environment in people is increased. He said that we take a pledge of protection by binding rakhis to trees.

नीतीश कुमार ने इस अवसर पर अविरल गंगा और निरंतर गंगा की बात की और कहा कि गंगा की अविरलता बनी रही इसके लिए उन्होंने दिल्ली और पटना में कई अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार कराये, विशेषज्ञों की राय ली. गंगा की सफाई के लिए अब पटना में बड़े बड़े ट्रीटमेंट प्लांट लगाने का काम भी जल्द शुरू हो जायेगा.

Nitish Kumar talked about the unrestricted Ganga and the continuous Ganga on this occasion and said that for the continuation of the Ganga, he made several international seminars in Delhi and Patna and took the opinion of the experts. For the cleaning of Ganga, now the construction of a large treatment plant in Patna will also start soon.

यह भी देखे

https://youtu.be/k87GwTUEGuQ

https://youtu.be/hsfxfSRtdUs

SOURCE NAME  :POLITICAL REPORT

ब्रेकिंग:भागलपुर में ,कट्टरपंथियों ने कर दिया कुछ ऐसा खौफनाक कांड, जिसे देख सीएम नितीश ने गुस्से में भेजी भारी फाॅर्स

नई दिल्ली : आज पूरे देश में हिन्दू कैलेंडर के मुताबिक नए साल का जश्न मनाया जा रहा है. हर्षोउल्लास के इस मौके पर भी कट्टरपंथियों ने रंग में भंग डालने का काम किया है. कासगंज के बाद अब बिहार के भागलपुर में कट्टरपंथियों ने बड़ा दंगा भड़काया है जिसके बाद से पूरे इलाके में पुलिस फाॅर्स QRT टीम को तैनात करना पड़ा है.

New Delhi: According to the Hindu calendar in whole country today the celebration of the new year is being celebrated. On this occasion of Harshowlas, fundamentalists have done the work of dissolving in color. After Kasganj, now a big riot has been launched in Bhagalpur in Bihar after which fanatics have to deploy Police Force QRT team throughout the area.

आप नव वर्ष का जश्न मना रहे थे वहां भागलपुर में हो गया बड़ा कांड

अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक शनिवार शाम को हिंदू कैलेंडर विक्रम संवत को लेकर बीजेपी और आरएसएस ने बाइक जुलूस निकाला था. विक्रम संवत नव वर्ष की पूर्वसंध्या पर निकाले गए इस जुलूस की शुरुआत बुधनाथ मंदिर से हुई और पूरे शहर से होते हुए यह नाथनगर पहुंचा. जिसके बाद यह जुलूस जैसे ही मदनी चौक मुस्लिम बहुल इलाके से गुज़रा वहां कट्टरपंथियों ने गाने बजने को लेकर हंगामा किया.

You were celebrating the New Year, there was a big scandal in Bhagalpur

According to the big news now, on Saturday evening, BJP and RSS took out a bike procession about the Hindu calendar Vikram Samvat. The procession, taken on the eve of Vikram Samvat, on the eve of New Year, began with the Buddhanath temple and reached Nathnagar via the whole city. After this process, as soon as the Madani Chowk passed through Muslim-dominated areas, the fanatics raged for the songs to be played.

कट्टरपंथियों ने डाला जश्न में खलल, ताबड़तोड़ पत्थरबाज़ी, बमबाज़ी हुई

इससे पहले यूपी में कासगंज में तिरंगा यात्रा को मुस्लिम बहुल इलाके से निकालने पर ज़बरदस्त पत्थरबाज़ी हुई थी. जिसमे चन्दन युवक की कट्टरपंथियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. सीएम योगी पहले ही कह चुके हैं जुलूस है कोई शमशान यात्रा तो है नहीं जो मौन हो कर निकल जायेगी. साल में एक बार नववर्ष का जश्न भी जिहादी मानसिकता वालों से नहीं देखा गया.

Fundamentalists throw away celebration, rocketing, bombardment

Earlier, there was tremendous stone-throwing at the time of removal of the Tiranga Yatra in Kasganj from a Muslim-dominated area. In which the youth of the Chandan youth was shot and killed by the fundamentalists. The CM Yogi has already said that the procession is not a crematorium, but it will go out of silence. Once a year, the celebration of the New Year was not seen in the Jihadi mindset.


60 लोग घायल

जिसके बाद किसी तरह से पुलिस के बीच बचाव के बाद जुलूस आगे निकल सका. लेकिन कट्टरपंथियों से साल में एक बार हिन्दू जश्न देखा नहीं गया. जुलूस के आगे निकलते ही ज़ोरदार हिंसक झड़प हुई. कटरपंथियों ने दर्जनों दुकानें जला दी,उपद्रवियों ने गाड़ियों के शीशे तोड़ डाले, मोटरसाइकिल फूंकी गई. उपद्रवियों ने 15 राउंड फायरिंग की और चार बम भी फोड़़े. हिंसक झड़प में 60 लोग घायल हो गए हैं और दो दर्ज़न पुलिसवालों घायल हो गए हैं.

60 people injured

After which somehow the proceedings after the rescue between the police could overtake. But once a year, Hindu celebrations were not seen by fanatics. Ahead of the procession there was a violent clash. The custodians burnt dozens of shops, the miscreants broke the glasses of the cart, the motorcycle was blown. The miscreants fired 15 rounds and also burst four bombs. In the violent clashes, 60 people have been injured and two dozen policemen have been injured.

इंस्पेक्टर ने मंदिर में छुपकर जान बचाई

तनाव को देखते हुए क्षेत्र में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है. कई घंटे तक पथराव, बमबाजी, फायरिंग और तोडफ़ोड़ हुई. जिसके बाद चार जिलों की पुलिस बुलाई गई, स्पेशल फोर्सेज बुलाई गयी. ईंट-पत्थर लगने से डीएसपी और कई इंस्पेक्टर जख्मी हो गए. नाथनगर इंस्पेक्टर ने मंदिर में छुपकर जान बचाई. इसके बाद क्विक रिएक्शन टीम (क्यूटीआर), पुलिस लाइन और सीटीएस से प्रशिक्षु जवानों के अलावा अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाना पड़ा.

Inspector saved life by hiding in the temple

Given the tension, internet service has been discontinued in the area. Stacking, bombardment, firing and collapsing for several hours. After which police of four districts were convened, Special Forces were convened. DSP and many inspectors were injured due to brick-stone. Nathnagar inspector saved his life by hiding in the temple After this, additional police forces had to be called in addition to the trainee jawans from the Quick Reaction Team (QTR), Police line and CTS.

यह भी देखे

https://youtu.be/k87GwTUEGuQ

https://youtu.be/k87GwTUEGuQ

SOURCE NAME :POLITICAL REPORT

PM मोदी के आदेश पर नितीश ने लिया लालू के खिलाफ हाहाकारी फैसला, जिसे देख पूरा देश रहा गया दांग

लालू यादव की हालत इन दिनों रोने जैसी हो गयी है सत्ता तो सो गयी सालों तक भ्रष्टाचार करके जो जमीन-जायदाद जमा की वो भी सब जब्त हो गयी है. मगर अब जो खबर बिहार से सामने आ रही ,है वो वो निसंदेह बेहद सनसनीखेज है और देश के लिए अच्छी मगर लालू परिवार के लिए एक बुरी खबर बनकर सामने आयी है.

Lalu Yadav’s condition has become like crying these days. The power that has been deposited in corruption by years of corruption has also been seized. But now the news that is coming out of Bihar is undoubtedly very sensational and it has emerged as a bad news for the good but good for the Lalu family.

मोदी सरकार ने लालू यादव के खिलाफ एक ऐसा कदम उठाने का फैसला किया है जो आज से पहले भारत में किया ,सर्कार के इस कदम के बाद देश में भर्ष्टाचार करने से पहले नेता हजार बार सोचेंगे.

The Modi government has decided to take a step against Lalu Yadav in India, which is done before today, after this move of the government, leaders will think thousand times before doing corruption in the country.

लालू की जब्त की गयी जमीन पर खुलेंगे अनाथालय, स्कूल-कॉलेज-

दरअसल रेलवे घोटले मामले में लालू यादव के ऊपर CBI जाँच चल रही है लालू ने रेलमंत्री पद का दुरपयोग करके एक निजी कंपनी को रेलवे के रांची और भुवनेश्वर में दो होटल को चलाने का ठेका दिलवा दिया था और बदले में उस कंपनी से पठना में एकड़ जमीन ली थी

Lalu’s land will be opened on the confiscated ground, orphanage, school-college-

In fact, CBI probe is underway in Laloo Yadav’s case in Railway Ghotala case: Lalu, after misusing the Railway Minister’s post, gave a contract to a private company to run two hotels in Ranchi and Bhubaneswar in the railway and in return, Was Lee

उनकी न केवल वो सारी जमीन सरकार ने जब्त कर ली बिहार सरकार से आग्रह किया किया गया है कि वो इस जमीन पर अनाथ बच्चो के लिए आनाथालया खोले
Not only that, the government has confiscated all those land, the Bihar government has been urging that they open the orphanage for orphaned children on this land.

बता दे कि निजी कंपनी को रेलवे के दो होटल चलाने का ठोका देने के बदले लालू परिवार को जो पठना के सगुना मोड़ इलाके में 3 एकड़ जमीन मिली थी उस पर लालू परिवार को 750 करोड़ का आलीशान मॉल बनवा रहा था,मगर कांग्रेस का राज तो अब रहा नहीं जहा लूट चलती रहे किसी को कानोकान खबर तक न हो

nstead of giving a private company a chance to run two railway hotels, the Lalu family had been building a luxury mansion of Rs 750 crore on the Lalu family, which got 3 acres of land in the Saguna Mound area of ​​the reading, but the Congress Now stay

नितीश भी बीजेपी के सुझाव से सहमत

मोदी राज में लालू के इस घोटले का पर्दा भी फाश हो गया जमीन फ़ौरन जब्त कर ली गयी उस पर बनाया जा रहा मॉल निर्माण कार्य तुरंत रोक दिया गया लालू यादव ने गंठबंधन टूटने के बाद नितीश को पानी पी-पी कर गालियां दी,मगर अब बिहार में बिहार में नितीश सरकार ने जो फैसला किया है उसे देखकर लालू की आँखों में आंसूआ जायंगे

Nitish also agreed with BJP’s suggestion

In Modi Raj, the curtain of this scam of Lalu was also seized. The land which was immediately seized, the building being built on it was immediately stopped. Laloo Yadav, after breaking the alliance, gave Nitish drinks and drunk water, but now Lalu’s eyes will be tears in view of Nitish Kumar’s decision in Bihar in Bihar

बताये जा रहा है कि मुख्यमंत्री नितीश कुमार को मॉल की जगह अनाथलय बनाने का BJP का ये प्रस्ताव काफी पसंद आया है बिहार BJP नेता व् उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है किलालू के पास CBI की जबाब देने के लिए कोई त्या नहीं है कि आखिर उनके पास यह तीन एकड़ की जमीन कैसे आई? सुशील मोदी ने कहा कि लालू यादव को कबूल कर लेना चाहिए कि उन्होंने घोटाला किया है.

It is being told that Bihar Chief Minister Nitish Kumar has preferred this proposal to make the orphanage instead of a mall, Bihar BJP leader and Deputy Chief Minister Sushil Kumar Modi has said that
There is no one to answer the CBI’s complaint to Lalu, how did he come to this three acres of land? Sushil Modi said that Lalu Yadav should confess that he has made a scam.

लालू जाएंगे जेल, उनकी सम्पत्तियाँ आएँगी गरीबों के काम-

अब बिहार सरकार इस पर अनाथालय या फिर स्कूल और कॉलेज खुलने कि योजना बना रही है लालू और तेजस्वी की CBI पूछताछ पर बोलते हुए सुशिल मोदी ने कहा दोनों बाप-बेटे के पास इस बात जबाब नहीं है

Lalu will go to jail, his properties will come in the work of the poor-

Now the Bihar government is planning to open an orphanage or school and college on this. Speaking on the CBI inquiry of Lalu and Tashwati, Sushil Modi said that both father and son do not have the answer

कि आखिर क्यों यूपीए सरकार में के मंत्री और लालू के बेहद करीबी प्रेमचंद गुप्ता ने अपनी कंपनी डिलाइट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड और तीन एकड़ जमीन तेजस्वी यादव को महज पांच लाख में बेच दिया.सुशील मोदी ने कहा कि लालू और तेजस्वी के पास इस बात का भी जवाब नहीं है कि आखिर कैसे इस तीन एकड़ की जमीन पर लालू परिवार का 750 करोड़ के मॉल का निर्माण हो रहा था? गलत धंधों से कमाई लालू की सारी दौलत, जमीन व् सम्पत्तियाँ अब गरीबों के काम आएँगी.

After all, why did the Minister of UPA Government and Laloo’s close friend Premchand Gupta sold his company, Delight Marketing Pvt Ltd and three acres of land, to Chakshy Yadav in just five lakhs.
Sushil Modi said that Lalu and Radhivi did not even answer that how was the construction of the 750 million mall of Lalu family on this three acres of land? Earning from the wrong businesses Lalu’s wealth, land and properties will now be used for the poor.

लालू जेल में बैठ कर अपनी जमीनों पर चलने वाले सरकारी अनाथालयों व् स्कूल-कॉलेजों के बारे में सोच-सोच कर रोयेंगे.यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

Laloo will sit in jail and talk about government orphanages and school-colleges running on their land. If you want to make your contribution to the public awareness, then definitely share it on Facebook. The more the share will be, the more public the more aware. The stock buttons are given below for your convenience.

SOURCENAME :POLITICALREPORT

सता से बेदखल बेरोजगार कांग्रेस ने अपने ही पार्टी अध्यक्ष के साथ किया ये बड़ा शर्मनाक कारनामा

सोशल मीडिया पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी की एक तस्वीर आजकल जमकर वायरल हो रही हैl इसमें राहुल गाँधी की तारीफों के पुल ऐसे बंधे हुए हैं कि जो इसे देख रहा है अपनी हंसी पर लगाम नहीं लगा पा रहाl लोगों ने इसे देखने के बाद राहुल गाँधी को खूब ट्रोल भी किया!

A picture of Congress vice-president Rahul Gandhi on social media is becoming more viral nowadays. In this, Rahul Gandhi’s praises are bound to be tied up so that anyone who is watching it can not restrain his laugh. After watching this, Rahul Gandhi Have Too Trol!

इस तस्वीर में राहुल की बड़ाई करते हुए ये कहा गया है कि सभी राहुल गाँधी के खिलाफ हैं, पर न जाने राहुल गाँधी कौन सी मिटटी के बने हैं कि तब भी हार नहीं मानते! इस वाक्य को पढ़ हर कोई हंसी से लोट पोट हो लियाl ये तस्वीर फेसबुक पर ‘द फ्रस्ट्रेटेड इंडियन’ नाम के एक फेसबुक पेज ने अपने अकाउंट से डाली है!

While praising Rahul in this picture, it has been said that all Rahul Gandhi is against Gandhi, but do not know what Gandhi Gandhi made of that soil, even then do not accept defeat! Everybody laughed after reading this sentence and got laughing. This photo is posted on Facebook by a Facebook page called ‘The Frustrated Indians’!

 

मगर इस फोटो में एक बहुत बड़ी गलती भी है! वैसे तो पूरा पोस्टर राहुल गाँधी के प्रचार (प्रमोशन) के लिए होना चाहिए था, लेकिन इसमें एक लाइन में लिखा है “राहुल गाँधी: राहुल गाँधी के खिलाफ”! बस इस ही लाइन पर राहुल गाँधी और कांग्रेस को लोगों ने फिर एक बार बुरी तरह ट्रोल कर डाला!
But there is a big mistake in this photo too! Although the entire poster should have been for Rahul Gandhi’s promotion (promotion), but in one line it is written “Rahul Gandhi: Rahul Gandhi against”! Just on this line Rahul Gandhi and Congress people once again troll badly!

हालांकि इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि ये कांग्रेस की ये पोस्टर कांग्रेस की तरफ से ही प्रचार के लिए बनाया गया हैl लेकिन पोस्टर पर जो मेसेज लिखा है, पार्टी का चिन्ह और राहुल की तस्वीर लगी है उससे बहुत हद तक लगता है कि कांग्रेस की तरफ से ही ये पोस्टर प्रचार के लिए बनाया गया था जिसमें एक गलती हो गई!

However, it has not been confirmed that this poster of Congress has been made for campaigning on behalf of the Congress. But the message which is written on the poster, the sign of the party and the picture of Rahul is very much to the extent that From the Congress side, this poster was made for publicity, which made a mistake!

2019 के लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी भले ही राहुल गांधी को अपना चेहरा बनाने की सोच रही हो, लेकिन कांग्रेस के कई ऐसे नेता और सांसद हैं जिन्हें राहुल गांधी की काबिलियत पर शक है। ऐसे नेता निजी बातचीत में स्वीकार भी करते हैं कि 2019 के आम चुनाव में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी में पीएम नरेन्द्र मोदी को टक्कर देने की करिश्माई नेतृत्व क्षमता मौजूद नहीं है।

For the 2019 Lok Sabha elections, if the Congress Party is thinking of making Rahul Gandhi its face, there are many Congress leaders and MPs who are skeptical of Rahul Gandhi’s ability. Such leaders also accept in private talks that in the General Election of 2019, there is no charismatic leadership ability to conquer the PM Narendra Modi in Congress Vice President Rahul Gandhi.

यह भी देखे

https://youtu.be/6KzO3XxanXM

https://youtu.be/BVuWDLCqpCM

sourcename:politicalreport

 

लालू प्रसाद यादव के जेल जाने के बाद बिहार के मसीहा पर चारा चोरों का जानलेवा हमला !

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बक्सर में भीड़ ने हमला कर दिया. भीड़ ने मुख्यमंत्री के काफिले पर पत्थर फेंके और नीतीश के खिलाफ नारेबाजी की. पत्थराव होते ही सुरक्षाकर्मियों ने नीतीश को अपने घेरे में ले लिया और उन्हें सुरक्षित गाड़ी में बैठा दिया. इस घटना में नीतीश के सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं. यह घटना बक्सर के नंदन में उस समय हुई जब नीतीश कुमार ‘समीक्षा यात्रा’ में शामिल हो रहे थे|

Patna: The Bihar Chief Minister Nitish Kumar attacked the crowd in Buxar. The crowd threw stones at the Chief Minister’s convoy and sloganeering against Nitish. As stones started, security personnel took Nitish into his coat and placed him in a safe vehicle. Nitish’s security personnel were injured in this incident. This incident took place at Nandan in Buxar when Nitish Kumar was attending a ‘review journey’.

बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों विकास कार्यों की हकीकत जानने के लिए बिहार राज्य में आयोजित समीक्षा यात्रा पर हैं. पिछले साल सात दिसंबर को समीक्षा यात्रा पश्चिम चंपारण जिले से शुरू हुई. यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री प्रशासनिक अधिकारियों के साथ हर जिले का दौरा कर रहे हैं और जिले के विकास कामों की समीक्षा कर रहे हैं|

Explain that Chief Minister Nitish Kumar is on a review visit in Bihar today to know the realities of development work. The review journey started on December 7 last year from West Champaran district. During the visit, the Chief Minister is visiting every district with administrative officials and is reviewing development works of the district.

समीक्षा यात्रा के दौरान हर जिले में ‘सात निश्चय’ से संबंधित योजनाओं की प्रगति, शराबबंदी, बाल विवाह मुक्त एवं दहेज उन्मूलन कार्यक्रम, बिहार लोक शिकायत निवारण कानून के क्रियान्वयन सहित विभिन्न कार्यक्रमों में की गई घोषणाओं का अनुपालन और अन्य विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा की जा रही है. नीतीश की यह यात्रा 18 जनवरी तक जारी रहेगी. इस दौरान कुछ दिनों के लिए मुख्यमंत्री पटना लौटेंगे और फिर कुछ दिनों के अंतराल पर पुन: यात्रा पर निकल जाएंगे. नीतीश अंतिम पड़ाव में 16 से 18 जनवरी के बीच नवादा, गया, औरंगाबाद और जहानाबाद जिले में यात्रा करेंगे|

During the review visit, the compliance of the announcements made in various programs including implementation of ‘seven decisions’ related to the progress of all districts, prohibition of the prohibition of marriage, child marriage-free and dowry eradication programs, implementation of Bihar Public Grievances Redressal Law and other development and welfare schemes. Being reviewed. This journey of Nitish will continue till January 18 During this, Chief Minister will return to Patna for a few days and then they will be on a journey again for a few days. Nitish will travel in the last stages between January 16 and 18 in Nawada, Gaya, Aurangabad and Jehanabad districts.

इस समीक्षा यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री को लोगों के विरोध का भी सामना करना पड़ रहा है. मधुबनी में समीक्षा यात्रा के दौरान वित्त रहित शिक्षकों द्वारा मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाए गए. नीतीश कुमार ने जैसे ही भाषण की शुरुआत की, वैसे ही शिक्षकों ने काले झंडे दिखाकर उनका विरोध किया|

During this review visit, the Chief Minister is also facing opposition from the people. During the review visit in Madhubani, black flags were shown to the Chief Minister by the Finance teachers. As soon as Nitish Kumar started the speech, the teachers protested against showing black flags.

जब मुख्यमंत्री ने यह समीक्षा यात्रा शुरू की थी तब राष्ट्रीय जनता दल (RJD) प्रमुख लालू प्रसाद ने विकास समीक्षा यात्रा को लेकर नीतीश की आलोचना करते हुए कहा था कि यह यात्रा एक घोटाला है, जिसमें सरकारी खजाने से करोड़ों रुपए छवि निर्माण पर खर्च किये जा रहे हैं. प्रसाद ने दावा किया कि यात्रा में शामिल प्रत्येक जिले के लिए 10 करोड़ रुपए सरकारी खजाने से खर्च किये जा रहे हैं|

When the Chief Minister began this review journey, then the RJD chief Lalu Prasad criticized Nitish about the development review visit saying that the visit was a scandal, in which the government spent crores rupees on image creation Are going Prasad claimed that 10 crores of rupees are being sent from the government treasury for each district involved in the journey.

नीतीश कुमार समीक्षा यात्रा के दौरान जब शेखपुरा जिले के एक गांव पहुंचे तो वहां उन्होंने एक ऐसे स्तूप की खोज की जो 3000 साल पुराना बताया गया. नीतीश की नजर जब इस स्तूप पर पड़ी, तब उन्होंने पाया यह तो कोई ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक महत्व वाला स्थान प्रतीत होता है. इसके बाद ही मुख्य सचिव ने चौधरी को फोन किया था. मुख्यमंत्री की पहल पर स्तूप की जांच शुरू हुई. इन अवशेषों में मिट्टी के पात्र या बर्तन हैं, इनके पुरातात्विक महत्व हैं|

When the Chief Minister began this review journey, then the RJD chief Lalu Prasad criticized Nitish about the development review visit saying that the visit was a scandal, in which the government spent crores rupees on image creation Are going Prasad claimed that 10 crores of rupees are being sent from the government treasury for each district involved in the journey.

केपी जायसवाल अनुसंधान संस्थान के कार्यकारी निदेशक बिजॉय कुमार चौधरी ने कहा कि हमने उस जगह का दौरा किया और वहां कई अवशेषों को देखकर हम काफी रोमांचित हुए. ये अवशेष उनके पुरातन अस्तित्व का संकेत देते हैं. राज्य सरकार द्वारा संचालित यह संस्थान पटना संग्रहालय भवन में स्थित है, जो इतिहास एवं पुरातत्व के क्षेत्र में अनुसंधान करता है|

Bijoy Kumar Chaudhary, Executive Director, KP Jaiswal Research Institute said that we visited that place and we were quite thrilled to see many residues there. These relics indicate their ancient existence. This institute, run by the state government, is located in Patna Museum Building, which conducts research in the field of history and archeology.

सूत्रों के मुताबिक बिहार के मसीहा कह जाने वाले नितीश कुमार पर यह हमला चारा चोरों ने करवाया था| यह तो सभी जानते हैं की नितीश कुमार और लालू में शुरू से ही बनती नहीं थी और लालू नितीश के सामने कुछ और नितीश के पीछे कुछ और बोलते थे और उनके जेल जाने के बाद नितीश के विरोधियों और चारा चोरों का यह बड़ा गेम प्लान हो सकता है|

According to sources, Nitish Kumar, who was called the mosque of Bihar, was attacked by thieves. It is known to all that Nitish Kumar and Lalu did not get started from the beginning and Laloo used to speak in front of Nitish some more in front of Nitish and after going to jail, Nitish’s opponents and fodder thieves could have a big game plan. Is there.

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=4Tyz5onsJbA

https://www.youtube.com/watch?v=dsJje-_3hzs

नितीश कुमार ने मीलॉर्ड से लिया पंगा, पद्मावती पर सुनाया हाहाकारी फैसला, भंसाली समेत ममता हैरान !

नई दिल्ली : संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ के लिए मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रहीं. देश भर में विवाद बढ़ता ही जा रहा है. हालाँकि कल सुप्रीम कोर्ट ने उन याचिकाओं को ठुकरा दिया जिसमें कहा गया था फिल्म रिलीज़ न होने दी जाय और भंसाली के खिलाफ केस चलाया जाय, क्यूंकि इसमें इतिहास के साथ छेड़छाड़ की गयी है. लेकिन अब इसी कड़ी में भंसाली को एक और बड़ा झटका लग गया है.एमपी सीएम शिवराज के बाद नितीश कुमार ने भी कड़ा फैसला लिया है |

New Delhi: Sanjay Leela Bhansali’s ‘Padmavati’ did not name the end of the trouble. There is a growing dispute across the country. However, yesterday the Supreme Court rejected the petitions which said that the film should not be released and the case should be filed against Bhansali, because history has been tampered with. But now in this episode Bhansali has suffered another major setback. After the CM CM Shivraj, Nitish Kumar has also taken a tough decision.

अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में फिल्म पर पहले से ही तलवार लटक रही है. तो वहीँ अब नितीश कुमार ने भी पद्मावती फिल्म को लेकर बिहार में बैन करने के आदेश दे दिए हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य में फिल्म तब तक रिलीज नहीं होगी जब तक सभी पार्टियां इसे लेकर किसी निष्कर्ष पर न पहुंच जाएं |

According to the big news now available, the sword is already hanging on the film in Rajasthan, Gujarat, Uttar Pradesh and Madhya Pradesh. So, now, Nitish Kumar has now ordered to ban the Padmavati film in Bihar. Chief Minister Nitish Kumar said that in the state, the film will not be released until all parties reach this conclusion.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक बिहार के कला, संस्कृति, खेल और युवा मामलों के मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि ने कहा है कि जब तक पद्मावती” से विवादित दृश्य निकाले नहीं जाते, तब तक फिल्म राज्य में रिलीज नहीं होने नहीं दी जाएगी|

According to the news agency ANI, Krishan Kumar Rishi, Bihar’s Minister of Arts, Culture, Sports and Youth has said that till the controversial scene is removed from Padmavati, the film will not be released in the state.

यह फैसला ऐसे वक्त में आया है जब एक दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने मामले को लेकर मुख्यमंत्रियों को फटकार लगाई थी. कोर्ट ने कहा था कि मुख्यमंत्री किसी फिल्म पर बैन नहीं लगा सकते. साथ ही कोर्ट ने मुख्यमंत्रियों से फिल्म के खिलाफ माहौल नहीं बनाने के लिए भी कहा था |

This decision has come at a time when the Supreme Court rebuked the Chief Ministers on the issue a day earlier. The court had said that the Chief Minister can not ban any film. At the same time, the court had also asked Chief Ministers not to create an atmosphere against the film.

कोर्ट ने कहा था कि जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों को अपने शब्दों पर ध्यान देना चाहिए. सेंसर बोर्ड के फिल्म पर फैसले से पहले ही इस मामले पर कोई टिप्पणी न करने के लिए भी कोर्ट ने कहा था. हालाँकि कोर्ट ने ने उन लोगों के बारे में एक शब्द भी नहीं बोला जो रानी पद्मावती को काल्पनिक बताते हैं और मज़ाक उड़ा रहे हैं और ना ही उन लोगों के खिलाफ कुछ बोला जिन्हे देश में असहिणुता दिखने लगी है, उन्हें भारतीय होने पर शर्म होने लगी है |

The court had said that people sitting in responsible positions should pay attention to their words. Even before the decision on the censor board’s film, the court had also asked not to comment on this matter. However, the court did not even mention a word about those people who say that the queen of Padmavati is imaginary and is not joking or speaks against those people who have started showing innocence in the country, they become ashamed of being Indian Is there.

जहाँ एक तरफ पूरे देश में पद्मावती फिल्म का विरोध हो रहा है है वहीँ दूसरी तरफ बंगाल सीएम ममता बैनर्जी ने अपना लग ही राग अलाप रखा है. उन्होंने कहा है कि हम भंसाली का बंगाल में स्वागत करते हैं. हम पद्मावती को बंगाल में ज़रूर दिखाएंगे |

On one side, the whole country is opposing the Padmavati film; on the other hand, the Bengal CM, Mamta Banerjee, has kept the chord with herself. He has said that we welcome Bhansali in Bengal. We will definitely show Padmavati in Bengal.

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=6KzO3XxanXM

खास खबर: नीतीश कुमार ने लालू पर खेला ये बड़ा दाव, ट्वीट पर दे डाला ऐसा मुंहतोड़ जवाब !

New Delhi: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लगातार दूसरे दिन राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के सुप्रीमो लालू यादव पर तंज कसते हुए ट्वीट किया है। नीतीश ने अपने ट्वीट में लालू यादव की देशभक्ति पर सवाल उठाए हैं।

New Delhi: Bihar Chief Minister Nitish Kumar has tweeted tantrums on the second day of the National Janata Dal (RJD) supremo Lalu Yadav. Nitish has questioned Laloo Yadav’s patriotism in his tweet.

नीतीश ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘जान की चिंता, माल-मॉल की चिंता, सबसे बड़ी देशभक्ति है!’

Nitish has written in his tweet, ‘The worry of life, the worry of the Mall-Mall, the biggest patriotism!’

CM नीतीश कुमार ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर के जरिए अपने विरोधियों पर लगातार दूसरे दिन तीखा प्रहार करते हुए लिखा, “जान की चिंता, माल-मॉल की चिंता, क्या सबसे बड़ी देशभक्ति है।” हालांकि अपने ट्वीट में मुख्यमंत्री ने किसी का नाम तो नहीं लिया लेकिन उनका ट्वीट राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को जवाब के रूप में देखा जा रहा है।

Chief Minister Nitish Kumar, on micro blogging site Twitter, hit his opponents for the second consecutive day, writing “The worry of life, the concern of goods and mall, is the biggest patriotism.” However, in his tweet, Not taken but his tweet is seen as a reply to the Rashtriya Janata Dal (RJD) president Lalu Prasad Yadav and former deputy chief minister Tandav Yadav.

बता दें कि नीतीश ने लालू यादव की हाल में की गई सुरक्षा में कमी पर हुए बवाल पर ये तंज कसा है। साथ ही उन्होंने जमीन और अन्य घोटालों को लेकर भी लालू पर यह ट्वीट किया है।

Let me tell you how Nitish did this taint at the lacuna on the safety of Lalu Yadav’s recent security. At the same time, he has tweeted this on Lalu with land and other scandals.

बता दें कि हाल ही में लालू प्रसाद यादव की जेड प्लस श्रेणी की सिक्युरिटी कम करके जेड श्रेणी की सिक्यूरिटी की गई है। इस पर मंगलवार को भी नीतीश ने ट्वीट किया था।

Let me tell you that recently Zade category security has been secured by reducing the security of Z. Plus category of Lalu Prasad Yadav. Nitish had also tweeted this on Tuesday.

मंगलवार को ट्वीट करते हुए नीतीश ने लिखा था, ‘राज्य सरकार द्वारा ‘जेड’ प्लस और एसएसजी की मिली हुई सुरक्षा के बावजूद केंद्र सरकार से एनएसजी और सीआरपीएफ के सैकड़ों सुरक्षा कर्मियों की उपलब्धता के जरिए लोगों पर रौब गांठने की मानसिकता, साहसी व्यक्तित्व का परिचायक है!’

While tweeting on Tuesday, Nitish had written, “Despite the security of ‘Z’ plus and SSG by the state government, through the availability of hundreds of NSG personnel and CRPF security personnel, the mentality of courageous person, courageous personality It’s familiar! ‘

उल्लेखनीय है कि लालू की सुरक्षा में कटौती के बाद उनके दोनों पुत्र तेजस्वी प्रसाद यादव और तेज प्रताप यादव ने भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा था। तेज प्रताप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की खाल उधेड़ने तक की धमकी तक दे डाली थी।

It is to be mentioned that after the reduction of Lalu’s security, both his sons, Tejaswas Prasad Yadav and Sharad Pratap Yadav, also targeted the central government. Pratap gave up till the threat of Prime Minister Narendra Modi.

इससे पूर्व मंगलवार को भी मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमों, जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की सुरक्षा श्रेणी में कटौती करने के केंद्र के फैसले को लेकर जारी बयानबाजी के बीच सोशल मीडिया के जरिए विरोध पर तंज किया था। उन्होंने ट्वीट के जरिए विरोधियों पर हमला करते सवाल किया कि राज्य सरकार द्वारा जेड प्लस श्रेणी और राज्य सुरक्षा गार्ड (एसएसजी) की मिली हुई सुरक्षा के बावजूद केंद्र सरकार से राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) एवं केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआपीएफ) के सैकड़ों सुरक्षाकर्मियों की उपलब्धता के जरिए लोगों पर रौब झाड़ने की मानसिकता क्या साहसी व्यक्तित्व का परिचायक है।

Earlier on Tuesday, the Chief Minister also issued a statement regarding the central government’s decision to cut the security category of former Janata Dal United (JDU) former National President Sharad Yadav and former Chief Minister Jitan Ram Manjhi. The media had to quell the protest through the media. They attacked the opponents through tweets that despite the security of the Z-plus category and the State Security Guard (SSG) by the state government, hundreds of security personnel of National Security Guard (NSG) and Central Reserve Police Force (CAPF) from the Central Government What is the mentality of rubbing people on the basis of the availability of the daring personality?

यह भी देखें :

https://youtu.be/6KzO3XxanXM

https://youtu.be/KZmJrB0_U64

source aaj tak

मोदी राज में नितीश कुमार ने लालू यादव के इस घोटाले का किया सनसनीखेज खुलासा, लालू की जेल जाने की तैयारी हुई पक्की !

पटना : लालू यादव की हालत इन दिनों रोने जैसी हो गयी है, सत्ता तो उनके हाथ से गयी सो गयी, इतने सालों तक भ्रष्टाचार करके जो जमीन-जायदाद जमा की वो भी सब जब्त हो गयी है. मगर अब जो खबर बिहार से सामने आ रही है, वो निसंदेह बेहद सनसनीखेज है और देश के लिए अच्छी मगर लालू परिवार के लिए एक बुरी खबर बनकर सामने आयी है. मोदी सरकार ने लालू यादव के खिलाफ एक ऐसा कदम उठाने का फैसला किया है, जो आज से पहले भारत में किसी ने किया. सरकार के इस कदम के बाद देश में भर्ष्टाचार करने से पहले नेता हजार बार सोचेंगे.

Patna: The condition of Laloo Yadav has become like crying these days, the power soaked in his hands, all the possessions of land and property which have been collected for corruption for so many years have been seized. But now the news that is coming out of Bihar, is undoubtedly very sensational and has come out as a bad news for the country but for the Lalu family. The Modi government has decided to take such a step against Lalu Yadav, who has done something in India before today. The leaders will think thousands of times before the government initiates the corruption in this country.

लालू की जब्त की गयी जमीन पर खुलेंगे अनाथालय, स्कूल-कॉलेज
दरअसल रेलवे घोटाला मामले में लालू के ऊपर सीबीआई जांच चल रही है. लालू ने अपने रेलमंत्री पद का दुरूपयोग करके एक निजी कंपनी को रेलवे के रांची और भुवनेश्वर में दो होटल को चलाने का ठेका दिलवा दिया था और बदले में उस कंपनी से पटना में 3 एकड़ जमीन ली थी. उनकी ना केवल वो सारी जमीन सरकार ने जब्त कर ली है बल्कि अब बिहार सरकार से आग्रह किया गया है कि वो इस जमीन पर अनाथ बच्चों के लिए अनाथालय खोले.

Unlawful, school-colleges will open on Lalu’s seized land
In fact, in the Railway scam case, CBI probe is on to Lalu. Laloo misused his railway minister’s post to get a contract to run two hotels in Ranchi and Bhubaneswar for a private company and in return, he took 3 acres of land from that company in Patna. The government has not only seized the entire land, but now the Bihar government has requested that they open orphanage for orphaned children on this land.

बता दें कि निजी कंपनी को रेलवे के दो होटल चलाने का ठेका देने के बदले लालू परिवार को जो पटना के सगुना मोड़ इलाके में 3 एकड़ जमीन मिली थी, उस पर लालू परिवार 750 करोड़ का आलीशान मॉल बनवा रहा था, मगर कांग्रेस का राज तो अब रहा नहीं, जहाँ लूट चलती रहे और किसी को कानोकान खबर तक ना हो.

Let’s tell that instead of giving contract to run two railway hotels, the Laloo family was getting 3 acres of land in Patna’s Saguna Mod area, on which Laloo was making a luxurious mansion of 750 million, but the Congress’s rule was No longer, where looters continue to run and no one can even hear Kanokan news.

नितीश भी बीजेपी के सुझाव से सहमत
मोदी राज में लालू के इस घोटाले का पर्दा भी फाश हो गया और जमीन फ़ौरन जब्त कर ली गयी. उस पर बनाया जा रहा मॉल निर्माण कार्य तुरंत रोक दिया गया. लालू यादव ने गठबंधन टूटने के बाद नितीश को पानी पी-पी कर गालियां दी, मगर अब बिहार में नितीश सरकार ने जो फैसला किया है, उसे देखकर लालू की आँखों में आंसू आ जाएंगे.

Nitish also agreed with BJP’s suggestion
In Modi Raj, the scandal of Lalu’s scandal was also foiled and the land was immediately seized. The mall construction work being built on it was immediately stopped. Laloo Yadav, after breaking the alliance, gave naught to Nitish to drink water and abused him, but after seeing Nitish Kumar’s decision in Bihar, now he will tear in Lalu’s eyes.

बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री नितीश कुमार को मॉल की जगह अनाथालय बनाने का बीजेपी का ये प्रस्ताव काफी पसंद आया है. बिहार बीजेपी नेता व् उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि लालू के पास सीबीआई को जवाब देने के लिए कोई तथ्य नहीं है कि आखिर उनके पास यह तीन एकड़ की जमीन कैसे आई? सुशील मोदी ने कहा कि लालू यादव को कबूल कर लेना चाहिए कि उन्होंने घोटाला किया है.

It is being told that the proposal of Chief Minister Nitish Kumar to make an orphanage in place of the mall has been very favorable. Bihar BJP leader and deputy chief minister Sushil Kumar Modi has said that Lalu does not have any facts to answer the CBI, how did they come to this three acres of land? Sushil Modi said that Lalu Yadav should confess that he has made a scam.

लालू जाएंगे जेल, उनकी सम्पत्तियाँ आएँगी गरीबों के काम
अब बिहार सरकार इस पर अनाथालय या फिर स्कूल और कॉलेज खोलने की योजना बना रही है. लालू और तेजस्वी की सीबीआई पूछताछ पर बोलते हुए सुशील मोदी ने कहा कि दोनों बाप-बेटे के पास इस बात का जवाब नहीं है कि आखिर क्यों यूपीए सरकार में कॉरपोरेट मामलों के मंत्री और लालू के बेहद करीबी प्रेमचंद गुप्ता ने अपनी कंपनी डिलाइट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड और तीन एकड़ जमीन तेजस्वी यादव को महज पांच लाख में बेच दिया.

Lalu will go to jail, his properties will come to the poor
Now the Bihar government is planning to open an orphanage or school and college. Speaking on CBI inquiries of Lalu and Tulsi, Sushil Modi said that both the father and son do not have the answer to why the corporate affairs minister and Laloo’s close friend Premchand Gupta in the UPA government, their company, Delight Marketing Pvt. Ltd. And sold three acres of land for only five lakhs of stunning Yadavs.

सुशील मोदी ने कहा कि लालू और तेजस्वी के पास इस बात का भी जवाब नहीं है कि आखिर कैसे इस तीन एकड़ की जमीन पर लालू परिवार का 750 करोड़ के मॉल का निर्माण हो रहा था? गलत धंधों से कमाई लालू की सारी दौलत, जमीन व् सम्पत्तियाँ अब गरीबों के काम आएँगी. लालू जेल में बैठ कर अपनी जमीनों पर चलने वाले सरकारी अनाथालयों व् स्कूल-कॉलेजों के बारे में सोच-सोच कर रोयेंगे.

Sushil Modi said that Lalu and Radhi did not even answer that how was the construction of the 750 million malls of Lalu family on this three acres of land? Earning from the wrong businesses Lalu’s wealth, land and properties will now be used for the poor. Laloo will sit in jail and cry about governmental orphanages and school-colleges running on their lands.

source dd bharti