बड़ी खबर: P.Chidambaram ने सोनिया का फोड़ा ‘भांडा’, अब जेल जाएंगा गाँधी परिवार !

नई दिल्ली : सीबीआई के साथ-साथ ईडी का शिकंजा भी पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदम्बरम के बेटे कार्ति चिदम्बरम पर कसता जा रहा है. बताया जा रहा है कि सीबीआई और ईडी के हाथ ऐसे पुख्ता सबूत लग चुके हैं कि कार्ति चिदम्बरम तो हर हाल में जेल जाएगा और वो भी लम्बे वक़्त के लिए. अपने बेटे को फंसता हुआ देख पी. चिदम्बरम ने सीधे सोनिया और राहुल को इसमें खींच लिया है कि यदि उनका बेटा जेल गया तो सब जेल जाएंगे.

New Delhi: Besides the CBI, the scandal of the ED is also being tightened on Karti Chidambaram, son of former Finance Minister P. Chidambaram. It is being told that CBI and ED have seen strong evidence that Karti Chidambaram will be jailed in every case and that too for a long time. Seeing his son stuck, P. Chidambaram pulled Sonia and Rahul directly into that if all his son went to jail he would go to jail.

चिदम्बरम ने सोनिया पर फोड़ा ‘लैटर बम’ !
दरअसल जब वित्तमंत्री थे चिदंबरम, तब हमेशा ही बीजेपी पर हमला बोलते थे, लेकिन आज जब उनका बेटा जेल जाने को है तो उनके बेटे के बचाव में कांग्रेस पार्टी या उसका कोई भी नेता सामने नहीं आ रहा है. अपने बेटे पर ख़तरा बढ़ता देख पी. चिदम्बरम ने सोनिया व राहुल से मिलने का समय मांगा, मगर उनकी इस मांग को गांधी परिवार ने सुनकर भी अनसुना कर दिया.

Chidambaram boils down on Sonia’s ‘Letter Bomb’!
In fact, when Finance Minister Chidambaram used to attack BJP always, but today, when his son is going to jail, the Congress party or any of its leaders is not coming to the rescue of his son. Seeing the danger on his son, P. Chidambaram asked for a meeting with Sonia and Rahul, but his request was rejected by the Gandhi family.

बताया जा रहा है कि इसके बाद चिदंबरम ने सोनिया गांधी से फोन पर बात करनी चाही मगर सोनिया लाइन पर नहीं आई. राहुल गांधी के अमरीका जाने से 3 दिन पहले से चिदंबरम उनसे मिलने का समय मांग रहे थे, मगर उनके अनुग्रह और फरियाद को जब गांधी परिवार ने अनसुना कर दिया तो वो आपे से बाहर हो गए.

It is being told that after this Chidambaram wanted to talk to Sonia Gandhi on the phone but Sonia did not come to the line. Chidambaram had been demanding a meeting with Rahul Gandhi three days before visiting America, but when his grace and complaint If the Gandhi family ignored it then they got out of their way.

कार्ति जेल गया तो सब फंसेंगे !
बताया जा रहा है कि चिदंबरम ने अब कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गाँधी को एक तीखा पत्र लिखा है कि यदि उनका बेटा जेल चला गया तो ये किसी के लिए ठीक नहीं होगा, न उनके लिए, न पार्टी के लिए और न गांधी परिवार के लिए. मतलब सीधे तौर पर चिदंबरम ने धमकी दी है कि यदि उनका बेटा जेल गया तो सबकी पोल खुलेगी और फिर सभी जेल जाएंगे.

If Karti gets in jail, all will be trapped!
It is being told that Chidambaram has now written a letter to Congress President Sonia Gandhi that if her son goes to jail, then it will not be suitable for anyone, neither for them nor for the party nor for the Gandhi family. That means, directly, Chidambaram has threatened that if his son goes to jail, everybody’s pole will open and then all will go to jail.

अपने पत्र में चिदंबरम ने लिखा कि मंत्री रहते हुए उन्होंने जो भी किया, वो सब उन्होंने गांधी परिवार के कहने पर ही तो किया था. अभी फैसले कांग्रेस पार्टी आलाकमान, सरकार और गांधी परिवार के कहने पर ही लिए थे. वो राजनीति छोड़ सकते हैं, मगर अपने बेटे को नहीं छोड़ सकते हैं.
कांग्रेस उत्तरी बचाव में !

In his letter, Chidambaram wrote that whatever he had done while living as a minister, he did all this on the sayings of the Gandhi family. The decisions were not only on the sayings of the Congress high command, the government, and the Gandhi family. They can leave politics, but can not leave their son.
Congress in the northern defense!

साफ़ है कि चिदंबरम ने विद्रोह के संकेत दे दिए हैं. चिदंबरम की भांडा फोड़ने की धमकी काम आ गयी है और पत्र पढ़ते ही सोनिया के पैरों तले जमीन खिसक गयी. तुरंत 10 जनपथ से चिदंबरम के लिए मिलने का बुलावा आ गया है. बताया जा रहा है कि चिदंबरम से पार्टी आलाकमान ने कहा है कि वो पार्टी के इतने वरिष्ठ नेता हैं, ऐसे में उन्हें ऐसी भाषा शोभा नहीं देती.

It is clear that Chidambaram has given signals of revolt. Chidambaram’s threat of bursting has come in handy and after reading the letter, the ground in Sonia’s feet was slipped. The call to meet for the Chidambaram has come immediately from 10 Janpath. It is being told that the party high command from Chidambaram has said that he is such a senior leader of the party, in such a situation he does not give such language.

बहरहाल अब चिदंबरम की धमकी से डरे कोंग्रेसी नेता उनके बेटे कार्ति चिदंबरम के बचाव में मैदान में कूद पड़े हैं. घबराई कांग्रेस ने चिदंबरम और उनके बेटे के बचाव में अगले ही दिन बाकायदा एक प्रैस कांफ्रेंस की और बीजेपी पर उन्हें फंसाने का उलटा आरोप लगा दिया.

However, now with the threat of Chidambaram, the fearsome Congress leader jumped into the field in the defense of his son Karti Chidambaram. Troubled Congress convinced Chidambaram and his son to hold a press conference on the next day and in the reverse of trapping them on BJP.

ये विडियो भी देखें :

https://youtu.be/6KzO3XxanXM

गुजरात चुनाव से ऐन पहले कांग्रेस ने खेला बड़ा दाव कहा हमे कश्मीर को आजाद कर देना चाहिए |

कल सोनिया गाँधी के सबसे करीबी नेता अहमद पटेल के ISIS आतंकी से तार जुड़े और आज पूर्व गृहमंत्री  और कांग्रेस के वरिष्ठनेता पी चिदंबरम ने एक ऐसी बात कही जिससे साफ हो गया की अंग्रेज अफसर हयूम द्वारा बनाई गई ये कांग्रेस पार्टी भारत के लिए कितना बड़ा खतरा है. ये पार्टी देश को बर्बाद करने की ठान चुकी है!

Yesterday, Sonia Gandhi, the closest leader of Sonia Gandhi, joined the ISIS terrorists and today the former Home Minister and senior Congress leader P. Chidambaram said such a thing, that it was clear that the Congress party created by the British officer Haume, how big a threat to India is. This party has decided to ruin the country.

पी चिदंबरम का मानना है कि कश्मीर को भारत से अलग कर देना चाहते है, आजाद कर देना चाहते है.आज चिदंबरम ने एक कार्यक्रम मे कहा कि कश्मीर के लोग आजादी चाहते है और हमे उनकी मांग को सुनना चाहिए. यानि वो लोग जो चाहते है हमे वो करना चाहिए. कश्मीर को भारत से आजाद कर देना चाहिए. इनको आजादी मिलनी चाहिए!

P Chidambaram believes that Kashmir wants to separate India from India and want to liberate it. Today, Chidambaram said in a program that the people of Kashmir want freedom and we must listen to their demands. That is, the people who want us, we should do that. Kashmir should be liberated from India. They should get freedom.

कांग्रेस पार्टी के इस वरिष्ठ नेता ने अपने बयान से साफ कर दिया की ये कश्मीर को भारत का हिस्सा नहीं मानता और इसके अनुसार भारत ने कश्मीर को गुलाम बना रखा है. अब एक छोटा सा विशलेषण कीजिये कि कश्मीर नाम ही ऋषि कश्यप के नाम पर रखा गया है, ये हजारों साल से इस्लाम के अस्तित्व में आने से भी पहले से भारत का हिस्सा है. यहाँ के लोग कश्मीर हिन्दू है, न की अरबी मुस्लिम, हिन्दू कभी भी कश्मीर को भारत से अलग करने की मांग नहीं करते!

This senior Congress leader has made it clear by his statement that he does not consider Kashmir as part of India and accordingly, India has made Kashmir a slave. Now make a small analysis that Kashmir is named after Rishi Kashyap, it is also a part of India even before coming into existence of Islam for thousands of years. People here are Kashmiri Hindus, not Arabs of Muslims, Hindus never demand separation of Kashmir from India.

सेकुलरिज्म ने जिहादियों को संरक्षण दिया, जिहादियों ने अपनी संख्या कश्मीर में बधाई, और उसके बाद मूल हिन्दुओं को वहा से क़त्ल कर भगा दिया, और सेकुलरों ने भी जिहादियों का साथ दिया, और अब सेक्युलर कह रहे है की कश्मीर के लोग यानि जिहादी लोग, आजादी चाहते है कश्मीर को आजादी कर दो. गिलानी, मीरवाइज, मशरत आलम, यासीन मालिक जैसे लोग कश्मीर को भारत से अलग करने की मांग करते है. और चिदंबरम जो कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता है उनका समर्थन करते है, उनको आजादी दे दो.

The secularism protected the jihadis, the jihadis congratulated their numbers in Kashmir, and after that the original Hindus were murdered there, and the secularists also supported the jihadis, and now the secular is saying that the people of Kashmir, i.e. jihadi people People want freedom, let Kashmir be free. People such as Geelani, Mirwaiz, Mushrat Alam, Yasin Bane demand separation of Kashmir from India. And Chidambaram, who is a senior Congress leader, supports them, give them freedom.

https://twitter.com/JagratiShukla29/status/924271816687808512

पहले तो नेहरु ने आधे कश्मीर पर पाकिस्तान को कब्ज़ा करने दिया, फिर धारा 370 लगाकर अन्य भारतीयों का कश्मीर में बसना नामुमकिन कर दिया, और फिर वहां से हिन्दुओं को भाग दिया गया और अब चिदंबरम कहते है कश्मीरियों को आजाद दे दो. आखिर ये लोग चाहते क्या है और करना क्या चाहते है ये तो साफ जाहिर हो रह है!

First, Nehru allowed Pakistan to occupy half of Kashmir, and then by making Article 370, it was impossible for other Indians to settle in Kashmir, and then from there the Hindus were divided and now Chidambaram says that let the Kashmiris free. It is clear that what you want and what you want to do.

यह भी देखें!

https://youtu.be/6KzO3XxanXM

source : dainik-bharat.org