कार्ति चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट की और से सबसे बड़ा झटका जिसे देख पी चिंदबरम समेत PM मोदी सन्न

अभी कुछ दिन पहले पूर्व वित्त मंत्री के पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को सीबीआई ने चेन्नई एअरपोर्ट से गिरफ्तार किया था. जिसके बाद कांग्रेस पार्टी में हाहाकार मच गया था. सीबीआई और ईडी द्वारा की गयी कार्रवाई को लेकर कांग्रेस पार्टी ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया. इस कार्रवाई पर कांग्रेस ने कहा कि ये बीजेपी की चाल है. वहीँ बीजेपी नेताओं ने कांग्रेस के इस आरोप को खारिज करते हुए कहा था कि जाँच एजेंसियां अपना काम कर रही हैं इसमें केंद्र सरकार कोई हस्तक्षेप नहीं है. इस गिरफ़्तारी के बाद कांग्रेस बुरी तरह से बौंखला गयी है.

Just a few days ago, Karti Chidambaram, son of former Finance Minister P Chidambaram, was arrested by the CBI from Chennai airport. After that there was a stroke in the Congress party. The Congress party began to target the BJP government over the action taken by the CBI and ED. On this action the Congress said that it is the BJP’s move. The BJP leaders, while rejecting the allegation of Congress, said that the investigating agencies are doing their job. The central government has no interference in it. After this arrest, Congress has been badly bordered.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि INX मीडिया मामले में गिरफ्तार किये गये पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को एक और बड़ा झटका लगा है. जिसे जानने के बाद पूरी कांग्रेस पार्टी सकते में आ जाएगी. कार्ति चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट ने झटका देते हुए समन को रद्द करने की अपील को ठुकरा दिया है. बता दें इसका मतलब ईडी की तरफ से जारी पूछताछ और कार्रवाई पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है. सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई और ईडी को नोटिस जारी कर दो दिनों में जवाब तलब करने का आदेश दिया है. बता दें इस मामले की अगली सुनवाई 8 मार्च को होगी.

For your information, let us know that Karti Chidambaram, son of former finance minister P Chidambaram, arrested in INX media case, has suffered another major setback. After knowing which entire Congress party can come in. Karti Chidambaram has turned down the appeal of cancellation of summons while jerk by the Supreme Court. Let’s say it means no effect on the ongoing inquiry and action taken by ED. The Supreme Court has issued a notice to the CBI and ED and asked to summon the reply within two days. Let the next hearing of this case be on March 8.

गौरतलब है कि 8 मार्च को सुनवाई के बाद अंतरिम राहत पर विचार किया जा सकता है. आगे कोर्ट ने कहा है कि इस नोटिस का असर मामले में चल रही किसी जाँच पर नहीं पड़ने वाला है. बता दें कार्ति इन दिनों 5 दिन की रिमांड पर हैं. कार्ति का रिमांड 6 मार्च को पूरा हो रहा है. बताया जा रहा है कि सीबीआई इस मामले में कार्ति की रिमांड बढ़ाने की अपील कर सकती है. आज यानि 6 मार्च को पटियाला हाउस कोर्ट में इस मामले की सुनावी होने वाली है. बता दें इस सुनवाई में कार्ति चिदंबरम के अलावा उनकी माँ नलिनी चिदंबरम भी कोर्ट पहुंची हैं.

Significantly, interim relief can be considered after the hearing on March 8. The court further said that the effect of this notice is not to be investigated on any ongoing investigation. Tell Karti these days are on remand for 5 days. Karti’s remand is being completed on 6th March. It is being told that the CBI may appeal to increase Karti’s remand in this case. Today ie 6 March, this case will be heard in Patiala House Court. In this hearing, apart from Karti Chidambaram, his mother Nalini Chidambaram has also reached the court.

बता दें कार्ति चिदंबरम ने एक तरफ अपनी जमानत की अर्जी दाखिल की थी. इसी के साथ कार्ति inx मीडिया मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे. कार्ति ने इस मामले में ईडी के समन के खिलाफ याचिका दायर की थी. जिसे सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है. फ़िलहाल में कार्ति सीबीआई की हिरासत में ही हैं. सीबीआई के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया गया है कि कार्ति चिदंबरम पूछताछ के दौरान बिलकुल भी बात नहीं कर रहे हैं और ना ही जाँच में सहयोग दे रहे हैं. इसी वजह से बताया जा रहा है सीबीआई उनकी हिरासत बढ़ाने की मांग कर सकती है. inx मामला 2007 में पी चिदंबरम के वित्त मंत्री रहने के दौरान आईएनएक्स मीडिया के 305 करोड़ रुपये विदेशी फंड हासिल करने से जुड़ा है. इस मामले में आरोप है कि कार्ति की कंपनी को यह फंड दिलवाने के लिए 10 लाख रूपये मिले थे.

Let us say Karti Chidambaram had filed his bail application on one side. With this, Karti came to the Supreme Court on the inx media case. Karti filed a petition against the summon of ED in this case. Which the Supreme Court has dismissed. At present, Karti is in CBI custody. According to information received from CBI sources, it has been reported that Karti Chidambaram is not talking about the matter either during the interrogation or is cooperating in the investigation. For this reason it is being told that the CBI can demand their custody. While P Chidambaram is the finance minister in the 2007 issue of Inx case, INX Media’s 305 crore rupees is linked to foreign fund acquisition. In this case, it is alleged that Karti’s company received 10 lakh rupees for getting this fund

यह भी देखे

https://youtu.be/1YmeDP0wOXs

https://youtu.be/k87GwTUEGuQ

SOURCENAME:POLITICAL REPORT