बुलंदशहर – राम मंदिर के खिलाफ प्रदर्शन, रामभक्त को डराने के लिए पाकिस्तान से बुलाये गए कट्टरपंथ

Muslims protesting Against ram mandir in Bulandshahar : ऊपर मुस्लिम भीड़ आप जो तस्वीर में देख रहे है ये तस्वीर बुलंदशहर की है जो की दिल्ली के काफी पास उत्तर प्रदेश का एक जिला है 

अधिकतर मीडिया ने इस खबर को दबा दिया है पर इस खबर की पुष्टि सुदर्शन न्यूज़ के पत्रकार ने की है, इसका एक विडियो भी सुदर्शन न्यूज़ के पत्रकार ने जारी किया है जिसे आप नीचे देख सकते है

आज मुसलमानों की भीड़ बुलाई गयी थी अयोध्या में राम मंदिर के खिलाफ प्रदर्शन के लिए और इसमें सबसे बड़ी चीज ये रही की इस कार्यक्रम में पाकिस्तानी मुसलमान भी शामिल थे

हिन्दुओ को डराने और अयोध्या में राम मंदिर के खिलाफ प्रदर्शन कर अपनी शक्ति दिखाने के लिए पाकिस्तानी मुसलमानों को भी बुलाया गया था

इतना ही नहीं जो पाकिस्तानी मुस्लिम इस प्रदर्शन में शामिल है, वो टूरिस्ट वीजा लेकर भारत पहुंचे है, सुदर्शन न्यूज़ के गौरव मिश्रा ने इस खबर की पुष्टि की है

इस भीड़ में भारतीय मुसलमानों के साथ पाकिस्तानी मुसलमान भी शामिल है, राम मंदिर के खिलाफ प्रदर्शन और हिन्दुओ को डराने के लिए अपनी शक्ति दिखाने के लिए पाकिस्तानी मुसलमान भी बुलाये गए

बड़ी चीज ये है की प्रशासन ने इस कार्यक्रम के अयोजको के खिलाफ अभी कोई कार्यवाही नहीं की है, जबकि पाकिस्तानी मुसलमान भारत में आकर हिन्दूओ को डराने के लिए अपनी भीड़ दिखा रहे है

source name:dainikbharat

url:dbn.news

बड़ी खबर राम मंदिर की नींव पर CM योगी ने जड़ा ऐसा पहला पत्थर जिसे देख कांग्रेस समेत कट्टरपंथियों में खलबली

नई दिल्ली : जहाँ एक तरफ सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर को लेकर सुनवाई चल रही है. ऐसे में लगता है इस साल राम मंदिर को लेकर बड़ी खुशखबरी ज़रूर मिल सकती है. तभी प्रदेश में राम मंदिर को लेकर एक के बाद एक बड़े कार्य शुरू हो चुके हैं

New Delhi: Where the hearing is going on in the Supreme Court on the Ram temple. It seems like this year, there may be a great news about the Ram temple. Only then one big task has started after the Ram temple in the state

मंदिर निर्माण के लिए लगातार पत्थरों का आना जारी है. वहीँ अभी 28 साल बाद विशाल अवं भव्य रथ यात्रा शुरू की गयी. साथ ही दशकों बाद रामलीला का मंचन को भी हरी झंडी मिल गयी. तो वहीँ एक बार फिर सीएम योगी ने राम मंदिर को लेकर बेहद शानदार फैसला ले लिया है, जिसे देख कुछ कट्टरपंथियों के पेट में ज़रूर दर्द होने लगेगा.

Continuous rocks are continuing for the construction of the temple. At the same time, after 28 years, the Grand Avant-gorgeous Rath Yatra was started. In addition, for the decades after the demise of Ramlila, the green flag was given. Then again, once again, the CM Yogi has taken a very decisive decision regarding the Ram temple, which will see some radicals strained in the stomach.

राम मंदिर को लेकर सीएम योगी का शानदार फैसला!
अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक केंद्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने ऐलान किया है कि उत्तर प्रदेश के अयोध्या रेलवे स्टेशन को भव्य, आलिशान, नक्काशी,कलाकारी से युक्त बिलकुल राम मंदिर जैसा बनाया जाएगा. मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा अयोध्या में नया रेलवे स्टेशन वीएचपी की तरफ से डिजाइन किए गए राम मंदिर के जैसे होगा. प्रस्तावित राम मंदिर का मॉडल विश्व हिन्दू परिषद की तरफ से 1980 के दशक के आखिर में तैयार किया गया था.

Ram Yogi’s glorious decision about Ram temple!
Union Minister of State for Railways Manoj Sinha has announced that the Ayodhya railway station of Uttar Pradesh will be made like a Ram temple with a grand, luxurious, carvings, artwork. Minister Manoj Sinha said that the new railway station in Ayodhya will be like the Ram temple designed by VHP. The model of the proposed Ram Temple was prepared by the Vishwa Hindu Parishad at the end of the 1980s.

श्री राम की जन्मभूमि पूरी दुनिया का सबसे आकर्षित पर्यटन क्षेत्र!
अयोध्या राज्य को देश की सबसे बड़ा पर्यटन क्षेत्र बनाने के लिए योगी सरकार जोर शोर से लग गयी है. सिन्हा ने कहा अयोध्या को इस तरह से विकसित किया जाएगा कि दुनिया के किसी कोने से कोई भी आए तो गर्व से कह सके कि यह भगवान श्री राम की जन्मभूमि है. राज्य मंत्री ने ये भी कहा कि अयोध्या को ऐसी श्रेणी में लाना है कि देश के हर कोने से रेलगाड़ी अयोध्या

The birthplace of Shri Ram is the world’s most attracted tourist area!
To make the Ayodhya state the biggest tourism sector in the country, the Yogi Sarkar has got a lot of noise. Sinha said that Ayodhya will be developed in such a way that if anyone comes from any part of the world, proudly it can say that this is Lord Rama’s birthplace. The Minister also said that to bring Ayodhya in such a category that the train from Ayodhya

कांग्रेस समेत विरोधियों के निकलेंगे आंसू!
इस फैसले ने उन सभी विरोधियों को तगड़ा झटका दे दिया है जो राममंदिर निर्माण की राह में हर वक़्त रोड़े अटकाते रहते हैं. योगी सरकार में पूरे अयोध्या को भगवान राममयी बनाने की तैयारी में हैं. जिससे जहाँ नज़र पड़ेगी वहां एक मंदिर दिखेगा. वही सरयू नदी के तट पर भगवान राम की 108 फ़ीट ऊँची प्रतिमा पर भी तेज़ी से काम शुरू हो गया है. अब विरोधी जितना जोर लगा ले लेकिन अब अयोध्या का नवीनीकरण कारण से कोई नहीं रोक सकता.

Congress will come out with protesters tears!
This decision has given a great shock to all the opponents who are stuck in the way of building Ram temple. Yogi is preparing to make the entire Ramadan of Ayodhya in the government. A temple will be seen where it will look. On the banks of the river Saryu, work on Lord Rama’s 108 feet high statue has begun to work rapidly. Now as opposed to the opposition, no one can stop Ayodhya due to renewal.

मनोज सिन्हा ने कहा कि अब सरकार अयोध्या और फैजाबाद के स्टेशनों पर काफी काम करा रही है। इसके अंतर्गत अकबरपुर, फैजाबाद, बाराबंकी के रेलवे लाइन को डबल लेन और उसके विद्युतीकरण पर 1116 करोड़ खर्च किए जा रहे हैं. रेल राज्यमंत्री ने मंगलवार को 80 करोड़ की लागत से अयोध्या रेलवे स्टेशन के नए टर्मिनल भवन की आधारशिला रखी और प्रस्तावित रेलवे के मॉडल भवन का प्रदर्शन भी जनता के बीच कराया. अगर ऐसा रेलवे स्टेशन बनता है तो ये देश में पहला ऐसा रेलवे स्टेशन बनेगा. वरना ज़्यादातर रेलवे स्टशनों मुग़ल परस्ती कला नज़र आती है.

Manoj Sinha said that now the government is doing a lot of work on the stations of Ayodhya and Faizabad. Under this, a total of 1116 crores is being spent on double lane and its electrification of Akbarpur, Faizabad, Barabanki railway line. The Minister of State for Railways on Tuesday laid the foundation stone of the new terminal building of Ayodhya railway station at a cost of 80 crores and also demonstrated the model building of the proposed railway between the public. If such a railway station is built then it will become the first railway station in the country. Otherwise most of the railway stations are Mughal outfits.

मोदी सरकार में पर्यटन क्षेत्र में हो रहीं दिन दुगनी रात चौगुनी तरक्की!
आपको बता दें पर्यटन क्षेत्र की मौजूदा हालात में बहुत ही अच्छी स्थिति है जयंती दशकों से नहीं हुआ करती थी. मोदी सरकार में सारे रिकॉर्ड धराशायी होते जा रहे हैं और सरकारी ख़ज़ाने में झमाझम पैसा बरस रहा है.

In the Government of Gujarat, the progress of the tourism sector doubled in the night quadruple!
Tell you, there is a very good condition in the current situation of the tourism sector. Jayanti used to not have been for decades. All the records in the Modi government are going down and the Jhajjham penny is roaming in the government treasury.

भारत विदेशी पर्यटकों के लिए पसंदीदा जगह बनता जा रहा है. साल 2017 भारत के पर्यटन क्षेत्र के लिहाज से ज़बरदस्त साबित हुआ. बीते साल भारत आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या 1 करोड़ के पार पहुंच गई तो दूसरी तरफ इससे होने वाली आमदनी भी 27 अरब डॉलर यानी 1728 अरब रुपये के शानदार आंकड़े तक पहुंच गयी.

India is becoming a favorite destination for foreign tourists. Year 2017 proved to be a tremendous development in India’s tourism sector. The number of foreign tourists coming to India crossed the 1 million mark in the last year, and on the other hand, the revenues of this year also reached the impressive figure of $ 27 billion or 1728 billion rupees.

मोदी सरकार की दूरदर्शी नीतियों के चलते भारत में पर्यटन उद्योग निरंतर नई ऊंचाइयों को छू रहा है. देश में विदेशी पर्यटकों की निरंतर बढ़ती आवाजाही इस बात का सबूत है. यही वजह है कि पर्यटकों की संख्या में हुई बढ़ोतरी से पर्यटन प्रतिस्पर्धात्मकता सूचकांक (Travel & Tourism, Competitiveness Report-2017) में भारत की रैंकिंग में बड़ा सुधार हुआ है. कांग्रेस सरकार में जहाँ भारत 65वें नंबर पर था वहीं अब वह 40वें नंबर पर है.

Due to the visionary policies of the Modi government, tourism industry in India is constantly touching new heights. This is the evidence of the continued movement of foreign tourists in the country. This is the reason that the increase in the number of tourists has resulted in a major improvement in the ranking of India in the Tourism Competition Index (Travel & Tourism, Competitiveness Report-2017). In the Congress government where India was at number 65, it is now at number 40.

sourcename:politicalreport

संबित पात्रा ने आचार्य प्रमोद को दिया मूंह तोड़ जवाब, कहा -राम रहीम की तरह मत उछलो !

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिवाली के मौके पर अयोध्या में पूजा अर्चना की। सीएम योगी ने अयोध्या में सरयू तट पर भगवान राम की 100 मीटर ऊंची मूर्ति स्थापित करने का भी ऐलान किया है। वहीं दिवाली से पहले अयोध्या में एक साथ 1 लाख 80 हजार दीप जलाकर भव्य दिवाली मनाई गई। अयोध्या पर बीजेपी के इन क्रियाकलापों के मद्देनजर हिंदी समाचार चैनल न्यूज़ 18 ने एक डिबेट शो रखा था जिसका विषय यह था कि क्या बीजेपी अयोध्या की आंधी से जीतेगी चुनाव? इस मुद्दे पर बहस करने के लिए तमाम मेहमानों के साथ ही भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा मौजूद थे तो वहीं बीजेपी के विपक्ष में आचार्य प्रमोद कृष्णन मौजूद थे।

Uttar Pradesh’s Chief Minister Yogi Adityanath worshiped in Ayodhya on the occasion of Diwali. CM Yogi has also announced to set up a 100 meter high statue of Lord Rama on the Sarayu coast in Ayodhya. On the other hand, Diwali was celebrated after the massive Diwali celebrations in Ayodhya by burning one lakh 80 thousand lamps. In view of these activities of BJP on Ayodhya, the Hindi news channel News 18 held a debate show, whether the BJP won by the storm of Ayodhya was the election? In order to debate on this issue, along with all the guests, the National Spokesperson of the BJP was present in the address, while the principal of the BJP, Pramod Krishan was present.

News-18 शो में एक वक्त ऐसा आया कि राम मंदिर के मुद्दे पर आचार्य प्रमोद कृष्णन का उत्तेजित व्यवहार देख संबित पात्रा काफी गुस्सा गए और बोलने लगे कि आप पूरा राम रहीम की तरह नजर आ रहे हैं, उछलना बंद कीजिए और मेरी बात सुनिए।

At the time of the news-18 show that it was a rage to see the excitement of Acharya Pramod Krishnan on Ram temple issue and he began to say that you are seen like the entire Ram Rahim, stop jumping and listen to me.

दरअसल हुआ ये कि आचार्य प्रमोद कृष्णन ने बीजेपी प्रवक्ता से पूछ लिया कि आखिर कब तक राम लला यूं ही टाट के अंदर कैद रहेंगे, आखिर कब बनेगा राम मंदिर। सवाल पूछते हुए आचार्य उग्र हो गए और बीजेपी पर आरोप लगाने लगे कि आप लोग राम का नाम सिर्फ राजनीति करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। आप लोगों ने कहा था कि जब आप बहुमत से सत्ता में आएंगे तो राम मंदिर बनवाएंगे। इस पर संबित पात्रा ने उन्हें शांत रहने की हिदायत दी।

Actually, that Acharya Pramod Krishnan asked the BJP spokesman for how long Rama Lala Yun will be imprisoned under the TAT, when will the Ram temple be built? Asked questions, Acharya got furious and began to accuse BJP of using the name of Ram for the sake of politics. You people had said that when you come to power with majority, you will build a Ram temple. The person concerned asked him to keep quiet.

संबित की बात सुन कर आचार्य और भड़क गए और कहने लगे कि आप बस इतना बताओ कि राम मंदिर कब बनेगा। इस बार संबित पात्रा ने कहा आप शांत हो जाइए, हल्ला करते हुए आप बिल्कुल राम रहीम जैसे लग रहे हैं..उछलना बंद कीजिए। दोनों के बीच इस तीखी नोंक-झोंक का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

https://www.youtube.com/watch?v=7alkp7kj-V4

यह भी देखे-

https://www.youtube.com/watch?v=6KzO3XxanXM