बड़ी खबर: पागल हुए किम जोंग ने अमेरिका की जगह खुद के शहर पर किया ऐसा भयानक कांड, मच गई भयंकर तबाही..

New Delhi: अपनी मिसाइल का परीक्षण कर पूरी दुनिया में हड़कंप मचाने वाले उत्तरी कोरिया से बड़ी चूक हुई है.. खबरों के मुताबिक उत्तरी कोरिया की मिसाइल लांच करने के चंद मिनटों के बाद अपने ही एक शहर में जा गिरी। इस दुर्घटना में इमारतों को काफी नुकसान पहुंचा लेकिन इसमें कितने लोगों की मौत हुई इस बारे में कोई जानकारी सामने नहीं आई है।

New Delhi: According to reports, North Korea’s missile has hit a city after a few minutes of launching its missile by examining its missile. In this accident, buildings were badly damaged but no information was found about how many people died in it.

अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि पिछले साल 28 अप्रैल को मध्यम दूरी के बैलिस्टिक मिसाइल ह्वासॉन्ग-12 का परीक्षण किया जा रहा था, जो छोड़े जाने के बाद हवा में ही नष्ट हो गया। हालांकि इस बारे आई नई जानकारी के मुताबिक यह मिसाइल उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग से 145 किलोमीटर दूर तोकचोन शहर में गिरा था। तोकचोन की आबादी करीब 2 लाख से ज्यादा है।

US officials said that on April 28 last year, mid-range ballistic missile breathing -12 was being tested, which was destroyed in the air after release. However, according to the new information about this, the missile had fallen into Tokkon city, 145 kilometers away from Pyongyang, North Korea. Tokchon’s population is more than 2 million.

द डिप्लोमैट’ मैगजीन की रिपोर्ट के मुताबिक, मिसाइल में धमाका हुआ था जिसकी वजह से शहर में मौजूद इमारतें क्षतिग्रस्त हो गईं। खबर के मुताबिक, यह मिसाइल पुकेंग हवाईअड्डे से लॉन्च की गई थी, जिसके बाद यह 38 किलोमीटर की दूरी तक उड़ी और 69 किलोमीटर ऊंची गई।

According to the report of The Diplomat ‘Magazine, there was a blast in the missile, due to which buildings in the city were damaged. According to the news, the missile was launched from Pukeng Airport, after which it stretched 38 kilometers and reached 69 kilometers high.

अमेरिकी सरकार के सूत्र के मुताबिक, मिसाइल के पहले स्टेज का इंजन इसके लॉन्च के एक मिनट बाद ही फेल हो गया था। हालांकि, मैगजीन ने यह भी कहा है इस घटना से होने वाली मौतों की जानकारी इसलिए नहीं मिल पाई है क्योंकि उत्तर कोरिया में खबरें गुप्त रखी जाती हैं।

According to the US government’s source, the first stage engine of the missile failed a minute after its launch. However, the magazine has also said that the information about deaths from this incident is not available because news in North Korea is kept secret.

यह भी देखें:

https://youtu.be/LvTwV08DsAo

https://youtu.be/gxWa3r-mlh0

source political report

ताजा खबर: उत्तर कोरिया ने जापान पर दागी बैलिस्टिक मिसाइल, अमेरिका समेत जापान में हाहाकार !

नई दिल्ली: दुनियाभर की चेतावनियों को धता बता कर उत्तर कोरिया ने एक बार फिर बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है. परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया ने कहा कि उसने एक नये अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया है जिसकी जद में पूरा अमेरिकी महाद्वीप आ गया है. सरकारी टेलीविजन द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार, उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन ने ह्वासोंग-15 मिसाइल का परीक्षण करने की घोषणा की. अमेरिका ने इस परिक्षण पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए इसे दुनिया के लिए खतरा बताया है. अमेरिकन समय के मुताबिक, उत्तर कोरिया ने बुधवार की सुबह बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया.

New Delhi: Defying the warnings from around the world, North Korea has once again tested ballistic missile. North Korea, equipped with nuclear weapons, said that he has successfully tested a new intercontinental ballistic missile that has reached the entire American continent. According to the information provided by the official television, the North Korean leader Kim Jong-un announced the test of the Hwang-15 missile. While expressing strong reaction to the test, the US has described it as a threat to the world. According to American time, North Korea tested ballistic missile on Wednesday morning.

दक्षिण कोरिया की मीडिया के मुताबिक, दक्षिणी प्योंगान प्रांत से इस मिलाइल को जापान के सागर में छोड़ा गया था. इसका धमाका दूर तक सुना गया. यह एक अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल थी. उत्तर कोरिया ने भी ताल ठोकते हुए कहा कि अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (ICBM) ह्वासोंग-15 का परीक्षण सफलता पूर्वक हुआ है.

According to the media of South Korea, this millet was left in the Sea of Japan from the southern Pyongyan province. Its blast heard far far away. It was an intercontinental ballistic missile. North Korea also said that the trial of the intercontinental ballistic missile (ICBM) Hwasong-15 has been successful.

जापान के रक्षा मंत्री ने कहा कि यह मिसाइल उनके विशेष आर्थिक जोन में गिरी है. जापान ने भी इस परिक्षण की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए आपात बैठक बुलाई है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी किम जोंग उन की चुनौती को स्वीकार करते हुए कहा कि हम संभाल लेंगे राजनीतिक विशेषज्ञ इसे उत्तरी कोरिया की अमेरिका को खुली चुनौती मान कर चल रहे हैं. बता दें कि उत्तर कोरिया अपनी सैन्य ताकत बढ़ाते हुए लगातार परमाणु परिक्षण कर रहा है. उत्तर कोरिया ने पिछले साल नौ सितंबर को पांचवां परमाणु परीक्षण किया था. उसने एक सप्ताह पहले ही छठा परीक्षण किया और दावा किया कि यह एक हाइड्रोजन बम था जो मिसाइल पर लगाया जा सकता है.

The Defense Minister of Japan said that the missile has fallen into its special economic zones. Japan has also convened an emergency meeting condemning this test in strong words. American President Donald Trump also acknowledged the challenge of Kim Jong, who said, “We will handle it, political analysts are treating it as an open challenge to North Korea.” Explain that North Korea is continuously testing nuclear while increasing its military strength. North Korea conducted a fifth nuclear test on September 9 last year. He did a sixth test a week ago and claimed that it was a hydrogen bomb that could be mounted on the missile.

इस कदम की वैश्विक स्तर पर निंदा हुई. इसके बाद इस साल जुलाई में भी दो अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया था.

अमरीकी रक्षा मंत्री जेम्स मेटिस ने उत्तरी कोरिया के इस कदम को पूरी दुनिया के लिए ख़तरा बताया है. इससे पहले सितंबर में भी उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन एक परीक्षण कर चुके हैं. बता दें कि अमेरिका कई बार उत्तर कोरिया को चेतावनी दे चुका है कि वह परमाणु परीक्षण या अन्य प्रकार के सैन्य परीक्षण ना करे. ऐसा करना उसके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संयुक्त महासभा मे मौजूद नेताओं के समक्ष 19 सितंबर को चेतावनी दी कि अगर किम जोंग उन का परमाणु हथियारों से लैस शासन अपने पड़ोसियों के लिए खतरा बना रहता है तो अमेरिका को उत्तर कोरिया को तबाह करना पड़ सकता है.

This step has been condemned globally. After this, in July this year, two intercontinental ballistic missiles were tested.

US Defense Secretary James Matis called North Korea’s threat to the whole world. Earlier in September, even North Korea’s ruler Kim Jong has done a test. Tell us that America has warned North Korea many times that it does not conduct nuclear tests or other types of military tests. This may prove to be harmful for him. President Donald Trump warned on September 19 before the leaders present in the United Nations General Assembly that if Kim Jong, his nuclear armed government remains a threat to its neighbors, then the United States may have to destroy North Korea.

दुनियाभर की चेतावनियों को धता बता कर उत्तर कोरिया ने एक बार फिर बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है. अमेरिका ने इसे दुनिया के लिए खतरा बताया है.

Defying the warnings from around the world, North Korea has once again tested ballistic missiles. America has called it a threat to the world.

खास बातें
बुधवार तड़के उत्तर कोरिया ने किया बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण
दक्षिणी प्योंगान प्रांत से मिसाइल जापान के सागर में दागी गई थी
मिसाइल जापान के विशेष आर्थिक जोन गिरी, बुलाई आपात बैठक

Special things
North Korea did ballistic missile test Wednesday
Missile from southern Pyongyon province was torn into the Sea of Japan
Missile Special Economic Zone Zone of Japan, convening emergency meeting

यह भी देखें :

https://youtu.be/KZmJrB0_U64

source aajtak