अख़लाक़ काण्ड पर योगी सरकर का इंसाफ, हिन्दुओं पर लिया यह बड़ा फैसला !

बेशक अब उत्तर प्रदेश में एक ऐसी सरकार है जो हिन्दुओ को ख़त्म करने पर नहीं तुली हुई और वो है योगी सरकार, योगी सरकार के आने के बाद उत्तर प्रदेश के हालात ठीक होने लगे है, अन्यथा उत्तर प्रदेश इस्लामिक स्टेट बनने को अग्रसर था |

Of course, now there is a government in Uttar Pradesh which has not been bent on eliminating Hindus and after the arrival of the Yogi Sarkar, the Yogi Sarkar, the situation in Uttar Pradesh has started to recover, otherwise, Uttar Pradesh was going to become an Islamic State.

आपको ध्यान होगा दादरी में अख़लाक़ काण्ड, मोहम्मद अख़लाक़ नाम के एक जिहादी शख्स ने गाय के बछड़े की हत्या की थी, और उसके पुरे परिवार ने उसका मांस खाया था, इन लोगों ने गौहत्या की थी, जिसके बाद दंगे हुए थे और अख़लाक़ मारा गया था |

You will notice that the Akhlaqand in Dadri, a jihadist named Mohammed Akhalak, had killed the cow’s calf, and his whole family had eaten his flesh; these people had made a cow, after which there were riots and the game killed.

पर इसके बाद अख़लाक़ को निर्दोष घोषित कर दिया गया, और अखिलेश यादव की सरकार ने गौहत्यारे के परिवार के लिए सरकारी खजाने का मुँह खोल दिया, और इलाके के कई हिन्दुओ को फंसा दिया गया, एक हिन्दू जिसका नाम था रवि उसकी तो मृत्यु भी हो गयी |

After this Akhilak was declared innocent, and Akhilesh Yadav’s government opened the mouth of government treasury for the family of the cow, and many Hindus of the area were trapped, a Hindu whose name was Ravi also died. Added.

पर सबको अख़लाक़ की पड़ी थी जो की गौहत्यारा था, हिन्दुओ पर भीषण अत्याचार किये गए, उन्हें झूठे केस में फंसाया गया और प्रताड़ित किया गया, पर उत्तर प्रदेश में बदलाव आया और योगी सरकार आयी, और अब इस सरकार में न्याय हो रहा है |

But all had to be ignorant, who was a coward, they were subjected to horrendous tortures, were trapped in false cases and tortured, but Uttar Pradesh changed and the Yogi government came, and now justice is being done in this government.

https://twitter.com/RAJSONI30881709/status/919807681317105664

जिन निर्दोष हिन्दुओ को फंसाया और प्रताड़ित किया था उन्हें नौकरियां तथा मृतक रवि की पत्नी को आर्थिक सहायता तथा नौकरी, अखिलेश यादव ने तो गौहत्यारे और अपराधी मोहम्मद अख़लाक़ के परिजनों को आर्थिक मदद, फ्लैट और नौकरियां दी थीं, हिन्दुओ पर भीषण अत्याचार किये गए थे, पर योगी सरकार में न्याय हो रहा है, अब बेशक कहा जा सकता है की देश में कोई नेता तो है जो हिन्दुओ का है और उनका भला चाहता है और उनके अस्तित्व को बचाना चाहता है |

The innocent Hindus who had tortured and tortured them were given financial help, flats, and jobs to the jobs and jobs of the deceased Ravi’s wife, and the job, Akhilesh Yadav, the villagers of Gauhitre and criminal Mohammed Akhlaq, were subjected to horrific torture on Hindus. But justice is happening in Yogi Sarkar, now it can be said that there is a leader in the country who is Hindu and wants his good and his Titv wants to save

यह भी देखे :

https://www.youtube.com/watch?v=6KzO3XxanXM

अयोध्या में दीपावली कार्यक्रम कर योगी ने की नौटंकी, विकास तो हमने सैफई में किया था |

 

योगी सरकार ने अयोध्या में नयी शुरुवात की है
एक परंपरा की शुरुवात की गयी है |

दीपावली पूरी दुनिया में हिन्दू मनाते है, पर दीपावली की शुरुवात तो अयोध्या से ही हुई है
योगी सरकार ने दीपावली पर अयोध्या, जिसे हमेशा से ही अछूत बनाकर रखा गया वहां भव्य कार्यक्रम करवाया |

Yogi Sarkar launches a new beginning in Ayodhya
A tradition has been started.

Deepawali celebrates Hindus all over the world, but Deepawali has started from Ayodhya
The Yogi Government organized a grand program in Ayodhya on Deepawali, which was always kept untouchable.

योगी सरकार ने एक परंपरा को शुरू करने की कोशिश की अगले साल इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री भी शामिल होंगे, इस कार्यक्रम से पर्यटन भी बढ़ेगा और पर्यटन का सीधा मतलब है विकास | योगी सरकार ने एक अच्छी पहल की है, उत्तर प्रदेश की सरकार को मिलने वाले टैक्स का 95% पैसा हिन्दुओ से आता है, ऐसे में अयोध्या पर अगर सरकार ध्यान दे रही है तो इसमें क्या बुराई है |

पर बहुत से लोगों को ये कार्यक्रम पसंद नहीं आया, दिन भर समाजवादी पार्टी के नेता और प्रवक्ता टीवी पर आलोचना करते , समाजवादी पार्टी वही पार्टी है जिसकी पहले सरकार उत्तर प्रदेश में थी| सपा के सारे नेता और प्रवक्ता योगी सरकार की इस पहल से नाखुश दिखाई दिए और इसे नौटंकी बताया गया, पैसे की बर्बादी भी बताया गया |

Yogi Sarkar tries to start a tradition; The prime minister will also be involved in this program next year, this program will also increase tourism and tourism means direct development. Yogi Sarkar has taken a good initiative, 95% of the tax paid to the government of Uttar Pradesh comes from Hindus, in this case if the government is paying attention to Ayodhya then what is wrong in it.

But many people did not like this program, the Samajwadi Party leaders and spokesmen criticizing the TV all day long, Samajwadi Party is the same party which was earlier in Uttar Pradesh. All the leaders and spokesmen of the SP were unhappy with this initiative of Yogi Sarkar and it was told to be nautanki, a waste of money was also told.

 

असल में इन लोगों ने अयोध्या जाने की कभी कोशिश भी नहीं की, अयोध्या को एकदम अछूत बना दिया था अब पहली बार जनता देख रही है की कोई मुख्यमंत्री वहां भी जा रहा है यही देख इन लोगों में खलबली मची हुई है | समाजवादी पार्टी को अयोध्या में दीपावली के मौके पर योगी सरकार द्वारा किया गया कार्यक्रम नौटंकी लगा पैसे की बर्बादी लगा, हेलीकाप्टर का इस्तेमाल कर पैसे बर्बाद किये गए |

In fact, these people have never tried to go to Ayodhya, made Ayodhya completely untouchable. Now for the first time the public is watching that any Chief Minister is going there too, seeing this, these people have been upset. Samajwadi Party organized a program organized by the Yogi Government on the occasion of Deepawali in Ayodhya, was a waste of money, money wasted using helicopter.

ये वही लोग है जो अपनी सरकार के दौरान सरकारी पैसे से सैफई महोत्सव के नाम पर कारोड़ो के वारे न्यारे अश्लील नाच पर खर्च किया करते थे आपने सैफई महोत्सव का नाम तो सुना ही होगा, न कोई सांस्कृतिक इतिहास न ही कोई महत्त्व |

These are the same people who used to spend money on public sex in the name of the Saifai festival during the government money in the name of saffai festival, you must have heard the name of the Saifai festival, neither any cultural history nor any significance.

बस नेता जी का गृह इलाका है इसलिए सैफई महोत्सव का आयोजन किया जाता था
और वहां सरकारी धन से अश्लील नाच करवाया जाता था, देखिये कुछ तस्वीरें

Just the leader of the leader’s house, so the Saifai Festival was organized
And there was obscene dancing with government money, see some pictures

ये देखिये फ़िल्मी सितारों को बुलाने के लिए प्राइवेट जेट का इस्तेमाल किया जाता था
उसका पैसा भी अखिलेश सरकार देती थी

See, the private jet used to call the film stars
Akhilesh had given his money to the government

जो लोग इस तरह के अश्लील डांस कर हंस हंस कर देखा करते थे, मजे लिया करते थे उन्हें अयोध्या में दीपावली पर किया गया कार्यक्रम भला अच्छा कैसे लगेगा |

Those who used to see such swabs of swans and swan, used to have fun, how would they feel good in the program on Diwali in Ayodhya?

 

दीपावली कार्यक्रम अयोध्या 2017

Deepawali Program Ayodhya 2017

दीपावली पर किया गया कार्यक्रम नौटंकी है, पैसे की बर्बादी है, पर सैफई जिसका न कोई इतिहास है, न विरासत न ही सांस्कृतिक इतिहास वहां अश्लील डांस करवाना प्राइवेट जेट का इस्तेमाल करना बिलकुल सही बात है |

The program done on Deepawali is a nautanki, it is a waste of money, but it is absolutely right to use Saifai, which has no history, neither heritage nor cultural history, it is a private dance junking private jet.

source: dainik-bharat.org

यह भी देखे-

https://www.youtube.com/watch?v=6KzO3XxanXM