बड़ा खुलासा : तारिक फतह के मुताबिक भारतीय मीडिया कायर है, जो की इस्लामिक आतंकवाद पर चर्चा तक करने से डरती है!

हाल ही में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने भारतीय मीडिया को दुनिया की सबसे घटिया और अविश्वसनीय बताते हुए आखरी दूसरा पायदान दिया और ये माना जा रहा है कि कही ना कही भारतीय मीडिया इस स्थान पर अच्छी भी लगती है। भारत की जनता का भी यही कहना है कि भारत की मीडिया दलाल बन चुकी है!

Recently, the World Economic Forum gave the Indian media the world’s worst and unbelievable second and second place, and it is believed that none of the Indian media seems good at this place. The people of India also say that the media broker of India has become.

इसी चलते भारत की जनता भारतीय मीडिया पर पूरी तरह विश्वास भी नही करती। सबसे बड़े शर्मनाक बात तो यह है कि आज विश्व भर में भारतीय मीडिया के इन दोगोलेपन को देखा जा चूका है। आज सभी लोग ये जान गए है कि भारतीय मीडिया इन पाकिस्तानियों के हाथों बिक गई है!

This way, the people of India do not even believe in the Indian media completely. The most embarrassing thing is that today the world of Indian media has seen these diagonals. Today all people know that the Indian media has been sold to these Pakistanis.

अब तारिक फतह ने भी भारतीय मीडिया को भी अपने शिकंजे में लिया और जो बोला उसे सुन बिकाऊ मीडिया के होश उड़ जायेंगे…
Now Tariq Fateh also took the Indian media into its clutches and listening to what he said would get the sensitivity of the lucrative media..

अब तारिक फतह ने भी भारतीय मीडिया को आड़े हाथों लिया है, और भारतीय मीडिया को बुजदिल और नपुंसक तक करार दे दिया है. उनका मानना है की भारतीय मीडिया या तो इस्लामिक आतंकियों से डरती है या फिर इनकी गुलाम बनकार दलाली कर रही है! भारतीय मीडिया को भारतीय कहलाने का कोई अधिकार नहीं है!

Now Tariq Fathah has also taken the Indian media back on the horizon and has given the Indian media a boisterous and impotent one. He believes that the Indian media is either afraid of Islamic terrorists or their slave is doing brokering! Indian media has no right to be called Indian.

असल में हुआ ये था की, 20 जनवरी को अमरीका में डोनाल्ड ट्रम्प का शपथ समारोह था ट्रम्प ने शपथ लिया, और मंच में भाषण देते हुए, “इस्लामिक आतंकवाद को दुनिया से ख़त्म करने की बात कही”.ट्रम्प ने अपने भाषण में कहा की अब इन मुस्लिम आतंकियों को मनमानी नही चलने देंगे. उनके हर हमले का मुहँ तोड़ जवाब देंगे. विश्व से आतंक का नामोनिशान मिटा देंगे!

Actually, it was on January 20 that Trump took oath in Donald Trump’s oath ceremony in the United States, and while delivering a speech at the forum, “talked about ending the Islamic terrorism with the world”. Trump said in his speech Now these Muslim militants will not let the arbitrariness run. They will answer their every attack. The world will wipe out the horror of terror.

तारिक फतह ने कहा की, “ट्रम्प ने भाषण में कहा की वो इस्लामिक आतंकवाद को दुनिया से उखाड़ फकेंगे, पर किसी भी भारतीय मीडिया में हिम्मत नहीं है की, वो डोनाल्ड ट्रम्प के भाषण के इस मसले पर किसी भी प्र्रकार की चर्चा करे, मीडिया ने तो ट्रम्प के भाषण के इस हिस्से को गायब ही कर दिया”तारिक फतह ने ये भी कहा की “भारतीय मीडिया कायर है!

Tariq Fatah said that, “Trump said in the speech that they will uproot Islamic terrorism from the world, but no Indian media has the courage to discuss any question on this issue of Donald Trump’s speech, the media Touched this part of Trump’s speech disappeared. “Tariq Fateh also said that” Indian media is cowardly.

बुजदिल है, जो की इस्लामिक आतंकवाद पर चर्चा तक करने की हैसियत नहीं रखती क्या इनकी इतनी भी हैसियत नहीं के वे इन आतंकियों के खिलाफ जनता को जागरूक कर सके.क्या ये सच्चाई को सामने लेन से कतराती है, ये मीडिया सच्चाई नहीं दिखा सकती, क्योंकि इसमें हिम्मत ही नहीं” सच को जनता के सामने लाने की डरती है इन आतंकियों से दलाल बन चुकी है इनकी!

It is heartwarming, who does not have the capacity to discuss the issue of Islamic terrorism, is not enough of them to make the public aware of these terrorists. Does this truth strike the front lane, this media can not show the truth, Because there is no courage in it. “The fear of bringing the truth to the public is a broker from these terrorists.

यह भी देखें :

https://youtu.be/aGHeWHD0uXg

source : guiltfree.online

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *